home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

ये सिगरेट कहीं आपको नपुंसक न बना दे, जानें इससे जुड़ी हैरान करन देने वाली बातें

ये सिगरेट कहीं आपको नपुंसक न बना दे, जानें इससे जुड़ी हैरान करन देने वाली बातें

एक्या आप जानते हैं कि सिगरेट पीने वाले लोगों की सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाती है? अधिक स्मोकिंग करने वाले लोगों के पास खड़े होने वाले 6 लाख लोग भी हर साल मर रहे हैं? हैरान रह गए न? इतना ही नहीं तम्बाकु के सेवन की वजह से हर छह सेकंड में एक व्यक्ति की मौत हो रही है। ध्रूमपान और तम्बाकु से जुड़े ऐसे ही शॉकिंग फैक्ट्स आप जानेंगे इस आर्टिकल में, जो आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे।

मौत को गले शौक से लगा रहे हैं

सिगरेट के पैकेट पर कैंसर से जुड़ी साफ चेतावनी लिखी रहती है कि इससे कैंसर होता है। बावजूद इसके लोग शौक से इसे गले लगा रहे हैं। आज तम्बाकु से होने वाली बीमारियों पर लोग करोड़ों रुपए खर्च कर हैं, जीवित रहने के लिए ईश्वर से भीख मांग रहे हैं पर उन्हें सिगरेट पीते वक्त यह सब याद नहीं आता।

और पढ़ें: सिगरेट पर कितना किया खर्च यहां जानें

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स ( Smoking Related Facts)

  • हर दिन 18 वर्ष से कम उम्र के लगभग 2000 बच्चे पहली बार सिगरेट पीते हैं। वहीं, हर दिन 18 से कम उम्र के लगभग 300 से भी अधिक लोग रेगुलर सिगरेट पीने वाले बन जाते हैं।
  • धूम्रपान जनित रोगों से निपटने में भारत सरकार का लगभग 27 हजार करोड़ रूपए प्रतिवर्ष खर्च हो रहा है।
  • अमेरिका के शहर मोंटाना में 2002 में धूम्रपान पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद हार्ट अटैक की घटनाओं में 40 प्रतिशत की कमी आई है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, आज दुनिया में लगभग 110 करोड़ (1.1 बिलियन) धूम्रपान करने वाले लोग हैं। यदि यह सिलसिला जारी रहा, तो वर्ष 2025 तक यह संख्या बढ़कर 160 करोड़ (1.6 बिलियन) तक पहुंचने का अनुमान है।

  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के अनुसार हर साल करीब छह लाख लोग पैसिव स्मोकिंग (passive smoking) से मरते हैं। पैसिव स्मोकर्स यानी ये लोग तम्बाकु का सेवन नहीं करते हैं लेकिन, सिगरेट के धुंए के संपर्क में आने की वजह से बीमार हो जाते हैं। इसलिए, कोई आपके पास धूम्रपान कर रहा हो तो उसे मना करें नहीं तो आप भी पैसिव स्मोकिंग के शिकार हो सकते हैं। पैसिव स्मोकिंग से मृत्यु होने वाले लोगों में एक तिहाई छोटे बच्चे शामिल हैं।

और पढ़ें : सिगरेट की जगह इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पीने वाले हो जाएं सावधान

  • दिनभर में चाहे एक सिगरेट पिएं या दो, इससे लंग्स को नुकसान पहुंचता ही है। इसलिए स्मोकिंग छोड़ना ही बेहतर ऑप्शन है।
  • स्टडीज के अनुसार ई-सिगरेट में भी नॉर्मल सिगरेट की तरह हानिकारक केमिकल्स पाए जाते हैं। इससे भी कैंसर की समस्या हो सकती है।
  • धूम्रपान पुरुषों में स्तंभन दोष (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) यानी नपुंसकता का एक बड़ा कारण है। इससे आपकी सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाती है और आपकी पार्टनर संतुष्ट नहीं रहेगी।

और पढ़ें : ई-सिगरेट पीने से अमेरिका में सैकड़ों लोग बीमार, हुई 5 लोगों की मौत

  • 1.6 करोड़ से भी अधिक अमेरिकी लोग वर्तमान में तम्बाकु से संबंधित बीमारी के साथ जी रहे हैं, जिसमें क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसऑर्डर (सीओपीडी) भी शामिल है।
  • 90 प्रतिशत मुंह का कैंसर, 90 प्रतिशत फेफड़े का कैंसर (Lung cancer) और 77 प्रतिशत नली का कैंसर स्मोकिंग की वजह से होता है।
  • जिन बच्चों के पेरेंट्स धूम्रपान करते हैं उनके बच्‍चों के जन्‍म लेने के एक से दो साल के अंदर ही निमोनिया या दमे की बीमारी का खतरा 30 फीसदी तक बढ़ जाता हैं।
  • अगर आप रोज 20 सिगरेट (माना एक सिगरेट की कीमत 12 रुपए) पीते हैं, तो आप एक दिन में 240 रुपए कि सिगरेट पीते हैं और एक साल में 87, 600 रुपए की सिगरेट पी जाते हैं।

और पढ़ें: कहीं आप अनजाने में थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तो नहीं हो रहें?

आज ही सिगरेट छोड़ें ( Quit Smoking’s)

अब शायद धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स देखकर आपको समझ में आ गया होगा कि स्मोकिंग से पैसों के साथ-साथ हेल्थ को तो नुकसान पहुंचता है साथ ही दूसरे लोग भी इससे प्रभावित होते हैं। लंबे समय तक स्मोकिंग की वजह से हृदय रोग, ब्रोंकाइटिस (Bronchitis), अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों की शिकायत हो सकती है। इसके अलावा ई-सिगरेट में रेगुलर सिगरेट जैसे ही नुकसानदायक पदार्थों का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए, पूरी तरह से इसे भी सुरक्षित कहना गलत होगा। बेहतर होगा कि आप आज ही सिगरेट छोड़ दें।

अगर आप जानना चाहते हैं कि आप अबतक अपनी सिगरेट पर कितना खर्च कर चुके हैं तो इस सिगरेट कॉस्ट कैलक्युलेटर का इस्तेमाल करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shikha Patel द्वारा लिखित
अपडेटेड 22/11/2019
x