home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Smoking: धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स से ना रहें अंजाना

Smoking: धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स से ना रहें अंजाना

एक्या आप जानते हैं कि सिगरेट पीने वाले लोगों की सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाती है? अधिक स्मोकिंग करने वाले लोगों के पास खड़े होने वाले 6 लाख लोग भी हर साल मर रहे हैं? हैरान रह गए न? इतना ही नहीं तम्बाकु के सेवन की वजह से हर छह सेकंड में एक व्यक्ति की मौत हो रही है। तम्बाकु या धूम्रपान से जुड़े ऐसे ही शॉकिंग फैक्ट्स (Smoking Related Facts) आप जानेंगे इस आर्टिकल में, जो आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे।

और पढ़ें : ई-सिगरेट पीने से अमेरिका में सैकड़ों लोग बीमार, हुई 5 लोगों की मौत

मौत को गले शौक से लगा रहे हैं!

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी फॉर इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार धूम्रपान (Smoking) करते समय तंबाकू में मौजूद एक नहीं, बल्कि हजारों तरह के रासायन फेफड़ों के सेल (Lungs cells) की नुकसान पहुंचाते हैं। सिगरेट के पैकेट पर कैंसर से जुड़ी साफ चेतावनी लिखी रहती है कि इससे कैंसर (Cancer) होता है। बावजूद इसके लोग शौक से इसे गले लगा रहे हैं। आज तम्बाकु से होने वाली बीमारियों पर लोग करोड़ों रुपए खर्च कर हैं, जीवित रहने के लिए ईश्वर से भीख मांग रहे हैं पर उन्हें सिगरेट पीते वक्त यह सब याद नहीं आता।

और पढ़ें: सिगरेट पर कितना किया खर्च यहां जानें

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स (Smoking Related Facts)

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स (Smoking Related Facts)

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स (Smoking Related Facts) निम्नलिखित हैं। जैसे:

  • हर दिन 18 वर्ष से कम उम्र के लगभग 2000 बच्चे पहली बार सिगरेट पीते हैं। वहीं, हर दिन 18 से कम उम्र के लगभग 300 से भी अधिक लोग रेगुलर सिगरेट पीने वाले बन जाते हैं।
  • धूम्रपान जनित रोगों से निपटने में भारत सरकार का लगभग 27 हजार करोड़ रूपए प्रतिवर्ष खर्च हो रहा है।
  • अमेरिका के शहर मोंटाना में 2002 में धूम्रपान पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद हार्ट अटैक (Heart attack) की घटनाओं में 40 प्रतिशत की कमी आई है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, आज दुनिया में लगभग 110 करोड़ (1.1 बिलियन) धूम्रपान करने वाले लोग हैं। यदि यह सिलसिला जारी रहा, तो वर्ष 2025 तक यह संख्या बढ़कर 160 करोड़ (1.6 बिलियन) तक पहुंचने का अनुमान है।
  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के अनुसार हर साल करीब छह लाख लोग पैसिव स्मोकिंग (Passive smoking) से मरते हैं। पैसिव स्मोकर्स यानी ये लोग तम्बाकु का सेवन नहीं करते हैं लेकिन, सिगरेट के धुंए के संपर्क में आने की वजह से बीमार हो जाते हैं। इसलिए, कोई आपके पास धूम्रपान कर रहा हो तो उसे मना करें नहीं तो आप भी पैसिव स्मोकिंग के शिकार हो सकते हैं। पैसिव स्मोकिंग से मृत्यु होने वाले लोगों में एक तिहाई छोटे बच्चे शामिल हैं।
  • दिनभर में चाहे एक सिगरेट पिएं या दो, इससे लंग्स (Lungs) को नुकसान पहुंचता ही है। इसलिए स्मोकिंग छोड़ना ही बेहतर ऑप्शन है।
  • स्टडीज के अनुसार ई-सिगरेट (E-Cigarette) में भी नॉर्मल सिगरेट की तरह हानिकारक केमिकल्स पाए जाते हैं। इससे भी कैंसर (Cancer) की समस्या हो सकती है।
  • धूम्रपान पुरुषों में स्तंभन दोष (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) यानी नपुंसकता का एक बड़ा कारण है। इससे आपकी सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाती है और आपकी पार्टनर संतुष्ट नहीं रहेगी।
  • 1.6 करोड़ से भी अधिक अमेरिकी लोग वर्तमान में तम्बाकु से संबंधित बीमारी के साथ जी रहे हैं, जिसमें क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसऑर्डर (सीओपीडी) भी शामिल है।
  • 90 प्रतिशत मुंह का कैंसर, 90 प्रतिशत फेफड़े का कैंसर (Lung cancer) और 77 प्रतिशत नली का कैंसर स्मोकिंग की वजह से होता है।
  • जिन बच्चों के पेरेंट्स धूम्रपान करते हैं उनके बच्‍चों के जन्‍म लेने के एक से दो साल के अंदर ही निमोनिया या अस्थमा (Asthma) की बीमारी का खतरा 30 फीसदी तक बढ़ जाता हैं।
  • अगर आप रोज 20 सिगरेट (माना एक सिगरेट की कीमत 12 रुपए) पीते हैं, तो आप एक दिन में 240 रुपए कि सिगरेट पीते हैं और एक साल में 87, 600 रुपए की सिगरेट पी जाते हैं।

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स से अंजाना ना रहें। बदलती जीवनशैली में कई चीजें बदल चुकी हैं। ऐसे में गलत आदतें आपकी शारीरिक या मानसिक परेशानियों को बढ़ा सकती हैं।

और पढ़ें: कहीं आप अनजाने में थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तो नहीं हो रहें?

आज ही सिगरेट छोड़ें ( Quit Smoking)

धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स (Smoking Related Facts)

अब शायद धूम्रपान से जुड़े फैक्ट्स देखकर आपको समझ में आ गया होगा कि स्मोकिंग से पैसों के साथ-साथ हेल्थ को तो नुकसान पहुंचता है साथ ही दूसरे लोग भी इससे प्रभावित होते हैं। लंबे समय तक स्मोकिंग की वजह से हृदय रोग (Heart disease), ब्रोंकाइटिस (Bronchitis), अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों की शिकायत हो सकती है। इसके अलावा ई-सिगरेट में रेगुलर सिगरेट जैसे ही नुकसानदायक पदार्थों का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए, पूरी तरह से इसे भी सुरक्षित कहना गलत होगा। बेहतर होगा कि आप आज ही सिगरेट छोड़ दें।

अगर आप जानना चाहते हैं कि आप अबतक अपनी सिगरेट पर कितना खर्च कर चुके हैं तो इस सिगरेट कॉस्ट कैलक्युलेटर का इस्तेमाल करें।

और पढ़ें: कहीं आप अनजाने में थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तो नहीं हो रहें?

स्वस्थ रहने के लिए और हेल्दी हैबिट्स के साथ-साथ योग को भी अपने डेली रूटीन में शामिल करें। नीचे दिए वीडियो लिंक पर क्लिक करें और जानें कैसे योग सेहतमंद रहने का राज है।

कैंसर रिसर्च यूके (Cancer research UK) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार धूम्रपान छोड़कर लोग दो प्रकार के लाभ पा सकते हैं। दरअसल तंबाकू की वजह से नुकसान पहुंचने वाले फेफड़ों के सेल को बचाया जा सकता है और आप अपने फेफड़े के सेल्स यानी कोशिकाओं को नुकसान होने से भी बचा सकते हैं।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया रिवरसाइड में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार स्मोकिंग सिर्फ स्मोक करने वाले और उनके आसपास खड़े होने वालों को ही अपना शिकार नहीं बनाती, बल्कि स्मोकिंग की वजह से उस जगह जाने वालों को भी अपना शिकार बना सकती है। अगर इसे आसान शब्दों में कहें, तो जो लोग स्मोकिंग करते हैं, उनके हाथों, कपड़ों और उनके कॉन्टैक में आने वाली कोई भी व्यक्ति सिगरेट में मौजूद हानिकारक केमिकल्स के संपर्क में आसानी से आ जाती है, क्योंकि स्मोक करने वाला व्यक्ति उन जगहों या वस्तुओं के संपर्क में रहता है, जिसका असर नॉन स्मोकर्स (Non smokers) पर भी पड़ना तय माना जाता है।

फेफड़े काफी महत्वपूर्ण अंग हैं, लेकिन धूम्रपान (Smoking) की लत कई गंभीर बीमारियों को दावत कर आपके शरीर को आशियाना बना सकती हैं। इसलिए स्मोकिंग की लत से दूर रहें। इससे जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Smoking/https://medlineplus.gov/smoking.html/Accessed on 18/06/2021

Health Consequences of Smoking, Surgeon General fact sheet/https://www.hhs.gov/surgeongeneral/reports-and-publications/tobacco/consequences-smoking-factsheet/index.html/Accessed on 18/06/2021

Tobacco/https://www.cdc.gov/tobacco/Accessed on 18/06/2021

What are the effects of secondhand and thirdhand tobacco smoke?/https://www.drugabuse.gov/publications/research-reports/tobacco-nicotine-e-cigarettes/what-are-effects-secondhand-thirdhand-tobacco-smoke#:~:text=This%20phenomenon%2C%20known%20as%20%22thirdhand,or%20touching%20walls%20and%20furniture./Accessed on 18/06/2021

Thirdhand Smoke: State of the Science and a Call for Policy Expansion/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4765971/Accessed on 18/06/2021

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/06/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड