home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कहीं आप अनजाने में थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तो नहीं हो रहें?

कहीं आप अनजाने में थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तो नहीं हो रहें? 

स्मोकिंग बुरी आदत है और हम में से कई लोग ऐसे हैं, जो स्मोकिंग (Smoking) करते भी नहीं हैं। लेकिन अगर कोई आपको कहे कि स्मोकिंग नहीं करते या स्मोकिंग जोन से भी परहेज करते हैं, तो भी आप स्मोकिंग से होने वाली बीमारियों के शिकार हो सकते हैं, तो आप क्या कहेंगे? अगर आपका जवाब ना है, तो गलत है और इसका जवाब छिपा है थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) में। अब शायद आप सोच रहें हों कि स्मोकिंग (Smoking) और पैसिव स्मोकिंग (Passive smoking) जैसे शब्दों से तो आप परिचित हैं, लेकिन ये थर्ड हैंड स्मोक (THS) कौन सी बला है और इसका सेहत से क्या संबंध है? … तो अब प्लीज आप अपनी टेंशन ना बढ़ाएं, क्योंकि आपकी टेंशन बढ़ाने नहीं, बल्कि थर्ड हैंड स्मोक (Third hand Smoke) से आपको परिचय करवाते हैं, जिससे आप रह सकें हेल्दी और थर्ड हैंड स्मोक से दूर। तो चलिए जानते हैं-

और पढ़ें : क्या स्मोकिंग, सिर और गर्दन के कैंसर का मुख्य कारण हैं, जानिए इस बारे में विस्तार से

क्या है थर्ड हैंड स्मोक? (What is Third Hand Smoke [THS]?)

स्मोकिंग सिर्फ स्मोक करने वाले और उनके आसपास खड़े होने वालों को ही अपना शिकार नहीं बनाती, बल्कि स्मोकिंग के बाद उस जगह जाने वालों को भी अपना शिकार बना सकती है। अगर इसे आसान शब्दों में कहें, तो जो लोग स्मोकिंग करते हैं, उनके हाथों, कपड़ों और उनके कॉन्टैक में आने वाली कोई भी व्यक्ति सिगरेट में मौजूद हानिकारक केमिकल्स के संपर्क में आसानी से आ जाती है, क्योंकि स्मोक करने वाला व्यक्ति उन जगहों या वस्तुओं के संपर्क में रहता है, जिसका असर नॉन स्मोकर्स (Non smokers) पर भी पड़ना तय माना जाता है। दरअसल यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया रिवरसाइड द्वारा किये गए रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है। रिसर्च के अनुसार डेटा सेट में लगभग 10,000 जीनों में से कुल 382 जीनों में महत्वपूर्ण रूप से ज्यादा बदलाव और सात अन्य जीनों में कम बदलाव देखे गए। साल 2020 में सिर्फ 18 से 24 साल के आयु वाले 72 प्रतिशत लोग स्मोकिंग करते हैं, तो इससे अंदाजा लगाना आसान हो जाता है कि स्मोकिंग ना करने के बावजूद थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) के शिकार लोग तेजी से हो रहे हैं। ऐसे में क्या बचाव थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) से बचने का?

और पढ़ें : स्मोकिंग छोड़ने के लिए वेपिंग का सहारा लेने वाले हो जाएं सावधान!

थर्ड हैंड स्मोक स्वास्थ्य के लिए क्यों हानिकारक माना जाता है? (Why Third Hand Smoke is dangerous?)

थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke)

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (American Heart Association) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार सिगरेट में 5000 से भी ज्यादा केमिकल्स मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। ऐसी स्थिति में कैंसर (Cancer), हार्ट डिजीज (Heart disease) और प्रीमैच्योर डेथ (Premature death) का खतरा अत्यधिक बढ़ जाता है। हालांकि यहां ध्यान ये देना जरूरी है कि आप स्मोकिंग करें या ना करें, लेकिन सिगरेट (Cigarette) में मौजूद केमिकल्स आपका साथ हमेशा चाहते हैं, तभी तो थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) आपको अपना दोस्त बना लेता है, लेकिन आपके लिए जान के दुश्मन से कम नहीं होता है। वैसे थर्ड हैंड स्मोकिंग (THS) की स्थिति तब सबसे ज्यादा होती है, जब परिवार का कोई भी सदस्य स्मोकिंग करता हो तब। आर्टिकल में थर्ड हैंड स्मोकिंग (Third Hand Smoking) की वजह से पड़ने वाले नेगेटिव प्रभाव को एक-एक कर समझते हैं।

और पढ़ें : No Smoking Day: क्या फ्लेवर्ड सिगरेट हेल्थ के लिए कम नुकसानदायक होती है? जानें क्या है सच

थर्ड हैंड स्मोक का बच्चों पर क्या पड़ता है असर? (Third Hand Smoke effects in children)

बच्चों पर थर्ड हैंड स्मोकिंग का अत्यधिक बुरा प्रभाव पड़ता है। एक रिसर्च के अनुसार बच्चे थर्ड हैंड स्मोकिंग के शिकार तेजी से होते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि बच्चे किसी भी जगह या ऑब्जेक्ट को छूने से पहले सोचते हैं। थर्ड हैंड स्मोक की वजह से बच्चों में निम्नलिखित शारीरिक परेशानी हो सकती है। जैसे:

नोट: नवजात (Infants) शिशुओं में भी थर्ड हैंड स्मोकिंग के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं और बड़े बच्चों में होने वाली बीमारी ही नवजात में देखे जा सकते हैं।

और पढ़ें : लगातार कई सालों से अपनी स्मोकिंग की आदत मैं कैसे छोड़ सकता हूं?

थर्ड हैंड स्मोक के कारण एडल्ट्स में होने वाले साइड इफेक्ट्स क्या हैं? (Third Hand Smoke effects in adults)

थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke)

वयस्कों में थर्ड हैंड स्मोक की वजह से कैंसर (Cancer) का खतरा सबसे ज्यादा होता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (American Heart Association) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार लंग कैंसर (Lung cancer) का खतरा भी बना रहता है। कैंसर के अलावा थर्ड हैंड स्मोकिंग के और भी साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे:

  • ब्लैडर (Bladder) से जुड़ी समस्या
  • सर्विक्स (Cervix) में परेशानी
  • किडनी (Kidney) डिजीज
  • मुंह (Mouth) की बीमारी
  • पेनक्रियाज (Pancreas) से जुड़ी समस्या
  • गले (Throat) से संबंधित परेशानी

इन साइड इफेक्ट्स के अलावा वयस्कों में थर्ड हैंड स्मोक की वजह से कफ (Cough) की समस्या भी सामान्य से ज्यादा हो सकती है।

और पढ़ें : अपनी 70 साल की उम्र को भी नहीं आने दिया कैंसर के सामने, हिम्मत से किया पार: लंग कैंसर वॉरियर, नरेंद्र शर्मा

थर्ड हैंड स्मोक के कारण गर्भवती महिलाओं पर होने वाले साइड इफेक्ट्स क्या हैं? (Third Hand Smoke effects in pregnant women)

थर्ड हैंड स्मोकिंग का असर गर्भवती महिलाओं (Pregnant women) पर पड़ने के साथ-साथ गर्भ में पल रहे शिशु पर भी पड़ना तय माना जाता है। दरअसल सिगरेट में मौजूद केमिकल्स के संपर्क में आने कारण ऐसा होता है। एक रिसर्च के अनुसार थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) की वजह से गर्भ में पल रहे शिशु के लंग्स (Lungs) के विकास में बाधा पहुंच सकती है। वहीं नवजात के जन्म के बाद शिशु को सांस संबंधी बीमारियों (Respiratory Illnesses) का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए यह प्रेग्नेंट लेडी (Pregnant women) और फीटस (Fetus) दोनों के लिए नुकसानदायक होता है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान स्मोकिंग करने से बच्चा हो सकता है बहरा

अगर आप स्मोकिंग नहीं छोड़ पा रहें हैं, तो किन-किन बातों का ध्यान रखें?

निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखें। जैसे:

  1. नवजात शिशु, बच्चे, गर्भवती महिलाओं, घर में और कार में स्मोकिंग ना करें।
  2. स्मोकिंग के बाद हाथों को अच्छी तरह से क्लीन करें और आपने कपड़ों को एंटीसेप्टिक लिक्विड या डिटर्जेंट से जरूर साफ करें।
  3. स्मोकिंग करने के दौरान अन्य लोगों से डिस्टेंस मेंटेन करें, जिससे धुएं का शिकार कोई अन्य ना हो।
  4. स्मोकिंग के लिए स्मोकिंग जोन में जायें।
  5. सिगरेट के पैकेट को भी कहीं भी ना रखें और बच्चों की पहुंच से दूर ही रखें।

इन ऊपर बताई 5 बातों को जरूर ध्यान रखें। इससे कुछ हद तक स्मोकिंग की वजह से होने वाली परेशानियों या बीमारियों से बचने में मदद मिल सकती है।

और पढ़ें : ऐसे जानें आपका नवजात शिशु स्वस्थ्य है या नहीं? जरूरी टिप्स

थर्ड हैंड स्मोकिंग से खुद को कैसे बचाएं? (How to Protect Against Thirdhand Smoke)

थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke)

थर्ड हैंड स्मोक से बचने और अपनी फैमिली को इससे बचाने का सबसे अच्छा तरीका स्मोकिंग को छोड़ना ही होगा। यदि आप स्मोक नहीं करते, तो इससे बचने के लिए आपको ऐसे घरों और कॉमन एरियाज जहां लोग स्मोक करते हैं, उनकी पूरी तरह अवॉइड करना होगा। दुर्भाग्य से, थर्ड हैंड धुएं को कार या घर से “बाहर” तक ही आसानी से नहीं छोड़ा जा सकता है। खिड़कियों को खुला रखने या अपने पंखे को चालू रखने से सतहों से रासायनिक अवशेष नहीं हटेंगे। आप किसी क्षेत्र के एक हिस्से में धूम्रपान करके ऐसी उम्मीद नहीं कर सकते हैं कि अवशेष इस तक ही सीमित रहेंगे। अवशेष आपके कपड़ों और अन्य सतहों से घर के अन्य हिस्सों में फैल सकते हैं।

यदि आप या आपका घर सिगरेट के धुएं के संपर्क में आया है, तो ऐसे कुछ कदम हैं जो आप उस अवशेष से छुटकारा पाने के लिए उठा सकते हैं:

  • अपने सारे कपड़े धो लो।
  • बेडशीट धो लें।
  • घर के फर्श और दीवारों को पोंछ लें।
  • अपने कालीनों को अच्छी तरह से साफ करें।
  • सभी खिलौनों को साफ करें।
  • फर्नीचर सहित अपने घर के अन्य सभी कपड़ों को धो लें।
  • यदि घर में धुएं की तरह गंध आ रही है, तो संभवतः सतहों पर अवशेष रह गए हैं और पूरी तरह से सफाई की आवश्यकता है।

थर्ड हैंड स्मोक के अवशेषों को दूसरों तक फैलने से रोकने का एक अन्य तरीका यह सुनिश्चित करना है कि धूम्रपान करने वाले अपने कपड़े बदल लें और अक्सर अपने हाथ धोते रहें। बच्चों और शिशुओं के संपर्क से पहले यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

थर्ड हैंड स्मोकिंग से बचाव के लिए निम्नलिखित टिप्स भी फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

  • अपने घर (Home) या अपनी गाड़ी (Car) में किसी को भी स्मोक करने की इजाजत ना दें।
  • अपने बच्चों, बुजुर्गों या अपने पास स्मोकिंग (Smoking) नहीं करने दें। यही नहीं अगर आपके पास पैट है, तो उसके सामने भी स्मोकिंग करने नहीं दें।
  • ई-सिगरेट (E-cigarette) की भी इजाजत किसी को ना दें।

और पढ़ें : लंग्स को हेल्दी रखने में मदद कर सकती हैं ये आसान ब्रीदिंग एक्सरसाइज

थर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) से जुड़ी 5 महत्पूर्ण बातें-

  1. थर्ड हैंड स्मोक से कैंसर (Cancer) का खतरा होता है।
  2. थर्ड हैंड स्मोकिंग की वजह से डीएनए (DNA) पर नेगेटिव प्रभाव पड़ता है।
  3. स्मोकिंग की वजह से बचे हुए अवशेष से कार्सिनोजेन्स (carcinogens) का निर्माण हो सकता है।
  4. बच्चों पर सबसे ज्यादा थर्ड हैंड स्मोकिंग (Third Hand Smoke) का प्रभाव पड़ता है।
  5. सिगरेट के अवशेषों को हटाना अत्यधिक कठिन कार्य होता है। इसलिए हमेशा एश ट्रे का ही इस्तेमाल करें।

ये हुईं तरह हैंड स्मोकिंग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां। अब आगे जानते हैं स्मोकिंग की लत से बचने के लिए क्या हैं उपाय।

और पढ़ें : धूम्रपान से दांतों को नुकसान: स्मोकिंग की लत दांतों को कर सकती है धुआं-धुआं

कैसे दूर करें स्मोकिंग की लत?

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन (New England Journal of Medicine) में पब्लिश्ड एक रिपोर्ट के मुताबिक निकोटिन (Nicotine) की मदद से सिगरेट की लत को धीरे-धीरे कम करने में मदद मिल सकती है। वहीं मार्केट में ऐसे पैच भी उपलब्ध हैं, जिससे स्मोकिंग की लत से छुटकारा मिल सकता है।

स्मोकिंग की लत से कैसे बचें? जानने के लिए खेलें ये क्विज

और पढ़ें : पुरुषों की स्मोकिंग की वजह से शिशु में होने वाली परेशानियां

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के मुताबिक स्मोकिंग से जुड़े फैक्ट्स जरूर जानने चाहिए। जैसे:

  1. धूम्रपान से बीमारी और विकलांगता होती है और शरीर के लगभग हर अंग को नुकसान पहुंचता है।
  2. पूरे विश्व में हर दिन तकरीबन 1600 युवा वर्ग स्मोकिंग की शुरुआत करते हैं
  3. कई स्मोकर्स स्मोकिंग की लत से बचने की कोशिश भी करते हैं।
  4. दुनिया भर में तंबाकू का उपयोग प्रति वर्ष 7 मिलियन से अधिक मौतों का कारण है। वहीं यदि दुनिया भर में धूम्रपान का पैटर्न नहीं बदलता है, तो साल 2030 तक तंबाकू के उपयोग से होने वाली बीमारियों से एक वर्ष में 8 मिलियन से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो सकती है।
  5. पुरुषों में होने वाली बीमारी इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction) का मुख्य कारण स्मोकिंग होता है।
  6. स्मोकिंग की वजह से कैंसर (Cancer), हार्ट डिजीज (Heart disease), स्ट्रॉक (Stroke), लंग डिजीज (Lung diseases) एवं क्रोनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) होने की संभावना ज्यादा होती है।
  7. नॉन स्मोकर्स की तुलना में स्मोकिंग करने वाले लोगों की उम्र 10 साल कम हो जाती है।

अगर आप पथर्ड हैंड स्मोक (Third Hand Smoke) या स्मोकिंग से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x