home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सिगरेट पीने से रोकने वाली हेल्थ वॉर्निंग्स के बारे में इतना सब नहीं जानते होंगे आप

सिगरेट पीने से रोकने वाली हेल्थ वॉर्निंग्स के बारे में इतना सब नहीं जानते होंगे आप

अक्सर हमने और आपने सिगरेट के पैकेट पर लिखी चेतावनी (smoking health warning) को पढ़ा होगा, लेकिन शायद ये कभी नहीं सोचा होगा कि ये हेल्थ वाॅर्निंग कितनी महत्वपूर्ण हैं। जो लोग सिगरेट के आदी होते हैं वे शायद इन हेल्थ वाॅर्निंग को इग्नोर कर देते हों, लेकिन आपको बता दें कि ये हेल्थ वाॅर्निंग यूं ही सिर्फ खानापूर्ति के लिए नहीं लिखी जातीं। इन चेतावनियों ने कई लोगों की सिगरेट को कम करने और उसे छोड़ने में मदद की है। इन वॉर्निंग्स को तैयार करने के लिए कड़ी रिसर्च की गई है। यहां तक कि इनके लिए नियम तक बताए गए हैं। शायद आप ना जानते हों कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) फ्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन टबैको कंट्रोल (एफसीटीसी) का आर्टिकल 11 तंबाकू उत्पादों की पैकेजिंग और लेबलिंग पर केंद्रित है। आर्टिकल 11 के अनुसार तंबाकू प्रोडक्ट की पैकेजिंग पर तंबाकू के हानिकारक प्रभावों की जानकारी होना आवश्यक है। इसके साथ ही पैकेज तंबाकू प्रोडक्ट्स के हानिकारक प्रभावों के बारे में लोगों को सूचित करने के लिए अन्य रिलेवेंट इंफॉर्मेशन प्रदान करते हो। सिफारिश की गई है कि तंबाकू उत्पादों पर स्वास्थ्य चेतावनी लेबल्स (health warning labels) या (स्मोकिंग वॉर्निंग लेबल्स) पैक के सामने वाले हिस्से का न्यूनतम 50% कवर करें। वॉर्निंग पर पिक्चर लगाना भी जरूरी बताया गया है। आइए इस बारे में विस्तार जानते हैं।

स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स क्या हैं? (What are health warning labels on tobacco products?)

स्मोकिंग हेल्थ वार्निंग-smoking health warnings

स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स में टेक्स्ट और पिक्चर्स के द्वारा तंबाकू प्रोडक्ट्स के हार्मफुल इफेक्ट्स के बारे में बताया जाता है। वाॅर्निंग के रूप में दिए गए मैसेज में तंबाकू (Tobacco) के फिजिकल और साइकोलॉजिकल इफेक्ट्स के बारे में बताते हैं। पहले सिर्फ टेक्स्ट वाॅर्निंग मैसेज सिगरेट (cigarette) के पैकेट पर होते देते थे, लेकिन ऐसे सबूत मिले हैं कि फोटो के साथ टेक्स्ट का उपयोग ज्यादा प्रभावी है। स्मोकिंग हेल्थ लेबल्स वाॅर्निंग एक सस्ता और आसान तरीका है ये बताने का कि स्मोकिंग कितनी खतरनाक है और इसको छोड़ने के कितने फायदे हैं। स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स कई सालों से सिगरेट के पैकेट पर निरंतर दिखाई देते हैं। ये वाॅर्निंग लेबल दूसरे तंबाकू प्रोडक्ट्स जैसे कि सिगार और धुआंरहित तंबाकू प्रोडक्ट्स पर भी दिखाई देते हैं। यहां पर दी गई वाॅर्निंग सिगरेट पैकेट्स पर दी गई वाॅर्निंग से अलग हो सकती हैं। अब जानते हैं कि हेल्थ वॉर्निंग लेबल का यूज क्यों किया जाना चाहिए।

और पढ़ें: स्मोकिंग छोड़ने के लिए अपनाएं ये आसान उपाय, बढ़ जाएगी आपकी उम्र

स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल का यूज क्यों किया जाना चाहिए? Why should health warning labels be used?

स्मोकिंग हेल्थ वार्निंग smoking health warnings

स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स के दो उद्देश्य होते हैं। पहला उद्देश्य वॉर्निंग तंबाकू प्रोडक्ट्स के यूज के रिस्क के बारे में जानकारी देती है। यद्यपि ये सबको पता है कि तंबाकू प्रोडक्ट्स (Tobacco Products) हानिकारक हैं, लेकिन फिर भी कई लोग इसके स्वास्थ्य पर होने वाले संपूर्ण नकारात्मक प्रभाव को लेकर अंजान रहते हैं और ये काम ये हेल्थ वॉर्निंग कर देती हैं। स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग का दूसरा उद्देश्य प्रोडक्ट के यूज को कम करवाना है। जिसमें तंबाकू यूज के प्रति लोगों को हतोत्साहित करना, जो इसका यूज नहीं करते उनको शुरुआत करने से रोकना और कुछ लोगों में दोबारा इसके उपयोग को रोकना है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में स्मोकिंग का बच्चे और मां पर क्या होता है असर?

स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स कितने प्रभावी हैं? How effective are smoking health warning levels?

ऐसे कई सबूत मिलते हैं कि जो ये दर्शाते हैं कि तंबाकू प्रोडक्ट्स पर उपलब्ध स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग लेबल्स निम्न तरीकों से काम करते हैं।

  • तंबाकू प्रोडक्ट्स के हानिकारक प्रभावों के बारे में जानकारी बढ़ाकर
  • स्मोकिंग छोड़ चुके यूजर्स को उस स्थिति में कायम रखकर
  • स्मोकिंग की शुरुआत करने वाले टीनेजर और युवाओं को डराकर
  • सिगरेट पी रहे युवा को दूसरा सिगरेट यूज करने से रोककर
  • स्मोकर्स के स्मोकिंग छोड़ने की इच्छा ओर प्रयास को बढ़ाकर
  • सिगरेट पैक्स की अपील कम कराकर
  • सिगरेट छोड़ने में मदद करने वाले संसाधनों को प्रमोट करके

और पढ़ें: लगातार कई सालों से अपनी स्मोकिंग की आदत मैं कैसे छोड़ सकता हूं?

तंबाकू उत्पादों पर स्वास्थ्य चेतावनी लेबल कहां लागू किया गया है? Where have health warning labels on tobacco products been implemented?

फैमिली स्मोकिंग प्रिवेंशन एंड टोबैको कंट्रोल एक्ट (TCA) विशेष रूप से सिगरेट पैकेज और विज्ञापनों में नए चेतावनी लेबल शामिल करने की आवश्यकता बताता है। जून 2011 में, एजेंसी ने एक अंतिम नियम प्रकाशित किया जिसमें नौ टैक्चुअल वाॅर्निंग स्टेटमेंट के साथ धूम्रपान के नकारात्मक स्वास्थ्य परिणामों (smoking side effects) को दर्शाने वाले कलरफुल ग्राफिक्स की आवश्यकता को बताया गया। हालांकि, कई तंबाकू कंपनियों द्वारा अंतिम नियम को अदालत में चुनौती दी गई थी। मार्च 2013 में, संघीय सरकार (Federal government) ने अदालत के फैसले की आगे की समीक्षा नहीं करने के अपने निर्णय की घोषणा की।

उस समय से, एफडीए (FDA) ने नई स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग सिगरेट के समर्थन में व्यापक अनुसंधान और विकास गतिविधियां आयोजित कीं, जिसमें विज्ञान और कानून दोनों के आधार पर – TCA की आवश्यकताओं को पूरा करने का नियम प्रस्तावित था। कई सार्वजनिक स्वास्थ्य समूहों द्वारा दायर एक मुकदमे के बाद, मैसाचुसेट्स (Massachusetts) जिले के लिए अमेरिकी जिला न्यायालय में न्यायाधीश ने मार्च 2019 में एक आदेश जारी कर एफडीए को अगस्त 2019 तक नया प्रस्तावित नियम प्रकाशित करने और मार्च 2020 में एक अंतिम नियम जारी करने का निर्देश दिया।

और पढ़ें: पैसिव स्मोकिंग क्या है? जाने आपको कैसे करती है प्रभावित

नई स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग कौन सी हैं? (New smoking Health warnings)

एफडीए (FDA) ने तैरह नई स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग्स प्रस्तावित की हैं। जो निम्न हैं।

चेतावनी:. तंबाकू का धुआं आपको बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है
चेतावनी:तंबाकू के धुएं के कारण नॉनस्मोकर्स को घातक फेफड़ों की बीमारी होती है
चेतावनी:स्मोकिंग सिर और गले के कैंसर का कारण बन सकती है
चेतावनी:स्मोकिंग से ब्लैडर कैंसर का कारण बन सकती है, जिसमें यूरिन में ब्लड आता है
चेतावनी:गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान भ्रूण के विकास को रोकता है
चेतावनी:धूम्रपान करने से दिल की बीमारी हो सकती है और धमनियां अवरुद्ध हो सकती हैं
चेतावनी:स्मोकिंग सीओपीडी (COPD) का कारण बन सकती है। यह फेफड़ों से जुड़ी बीमारी है जो घातक साबित हो सकती है

चेतावनी:धूम्रपान करने से अंगों में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है, जिससे अंगों को नुकसान पहुंच सकता है।

चेतावनी:स्मोकिंग टाइप 2 डायबिटीज का कारण बनती है, जिससे ब्लड शुगर बढ़ता है।

चेतावनी: धूम्रपान से मोतियाबिंद होता है, जिससे अंधापन हो सकता है
चेतावनी:स्मोकिंग एज रिलेटेड मस्क्युलर डीजनरेशन होता है जिससे अंधापन हो सकता है।

चेतावानियां तो आपने जान ली। आपको बता दें कि इन स्मोकिंग हेल्थ वॉर्निंग में कुछ भी गलत नहीं कहा गया है। सीडीसी के अनुसार स्मोकिंग कई बीमारियों का कारण बनती है और बॉडी के लगभग सभी अंगों को नुकसान पहुंचाती है। जान लेते हैं इसके कुछ नुकसानों के बारे में।

स्मोकिंग के नुकसान (side effects of smoking)

स्मोकिंग के नुकसान निम्न हैं।

  • अमेरिका में लगभग 1 करोड़ 60 लाख से लोग स्मोकिंग के कारण होने वाली बीमारियों के साथ जीवन बिता रहे हैं
  • धूम्रपान के कारण मरने वाले प्रत्येक व्यक्तियों में कम से कम 30 लोग धूम्रपान से संबंधित गंभीर बीमारी के साथ रहते हैं
  • धूम्रपान से कैंसर (Cancer), हृदय रोग (Heart disease), स्ट्रोक (stroke), फेफड़ों के रोग, मधुमेह (diabetes) और सीओपीडी होता है, जिसमें वातस्फीति और पुरानी ब्रोंकाइटिस शामिल हैं

लंग कैंसर की जानकारी के लिए नीचे दिए इस 3 D मॉडल पर क्लिक करें।

  • धूम्रपान से टीबी, कुछ आंखों की बीमारियों और प्रतिरक्षा प्रणाली की समस्याओं के लिए जोखिम बढ़ जाता है, जिसमें अर्थराइटिस (Arthritis) भी शामिल है
  • वहीं सेकेंड हैंड स्मोक (Second hand smoke) एक्सपोजर से हर साल लगभग 41,000 नॉनस्मोकिंग एडल्ट्स और 400 शिशुओं की मौत होती है
  • सेकेंड हैंड धुएं से वयस्कों में स्ट्रोक, फेफड़ों का कैंसर और कोरोनरी हृदय रोग होता है
  • जो बच्चे सेकेंड हैंड धुएं के संपर्क में आते हैं, उनमें सडन इंफेंट डेथ सिंड्रोम, तीव्र श्वसन संक्रमण, मध्य कान की बीमारी, अधिक गंभीर अस्थमा और धीमी गति से फेफड़ों के विकास के लिए जोखिम बढ़ जाता है

और पढ़ें: स्मोकिंग छोड़ने के लिए वेपिंग का सहारा लेने वाले हो जाएं सावधान!

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और स्मोकिंग हेल्थ वाॅर्निंग से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

लंग्स हेल्थ की जानकारी के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x