आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

कम हो या ज्यादा स्मोकिंग छोड़ने में है आपकी भलाई, जानें धूम्रपान कैसे छोड़ें?

कम हो या ज्यादा स्मोकिंग छोड़ने में है आपकी भलाई, जानें धूम्रपान कैसे छोड़ें?

धूम्रपान कैसे छोड़ें ? “मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया, हर फिक्र को धुएं में उड़ाता चला गया…” जरा ठहरिए! क्या सच में धुएं के साथ आप जिंदगी का साथ निभा रहे हैं? अगर हां तो आपकी ये सोच गलत है। अगर आपने अभी सिगरेट पीना शुरू किया है या शुरू करने की सोच रहे हैं तो ये लेख आपके लिए ही है।

धूम्रपान कैसे छोड़ें ? शायद इसे पढ़ने के बाद आप स्मोकिंग छोड़ने (Quit smoking) के बारे में जरूर सोचेंगे। हाल ही में हुए एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि आप अगर दिन भर में पांच सिगरेट पीते हैं तो वो आपके फेफड़ों को उतना ही नुकसान पहुंचाएगा जितना कि सिगरेट की पूरी पैकेट।

और पढ़ेंः जानें स्मोकिंग छोड़ने के लिए हिप्नोसिस है कितना इफेक्टिव

क्या कहती है रिसर्च?

धूम्रपान कैसे छोड़ें – लैंसेट रेस्पीरेट्री मेडिसीन द्वारा किए गए रिसर्च में 25,000 अमेरिकन को शामिल किया गया, जिनकी उम्र 17 से 93 साल के बीच की थी। ये वे लोग थे जो स्मोकिंग करते हैं। ऐसे में इनके फेफड़ों पर रेस्पीरोमेट्री टेस्ट किया गया। इस टेस्ट से ये जानने की कोशिश की गई कि इन लोगों के फेफड़े एक सेकेंड में कितनी हवा भीतर ले पा रहे हैं और बाहर छोड़ पा रहे हैं। रिसर्च में शामिल लोगों की 20 सालों तक निगरानी की गई। इसके बाद फिर से एक बार रेस्पीरोमेट्री टेस्ट किया गया, जिसमें चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है।

और पढ़ेंः क्या जानते हैं सांस लेने के ये 13 रोचक तथ्य?

लोगों के फेफड़ों ने सांस लेना कम कर दिया। मेडिकल के शब्दों में कहा जाए तो उन्हें क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (Chronic obstructive pulmonary disease) होने का खतरा बढ़ गया है। इस पूरे अध्ययन में शामिल 10,000 लोग जो कभी स्मोक नहीं करते थे, 7,000 लोगों ने सेमोकिंग छोड़ दी थी, वहीं 5,800 लोग स्मोकिंग करते हैं और छोड़ने का प्रयास कर रहे हैं। इसके अलावा 2,500 वे लोग थे अभी भी धूम्रपान करते हैं। तो इन लोगों की जब रिजल्ट आया तो पाया गया कि जिन लोगों ने स्मोकिंग छोड़ दी और जो कर रहे हैं या धूम्रपान कैसे छोड़ें की सोच रहे हैं, उन सभी के फेफड़े समान रूप से डैमेज पाए गए।

लैंसेट रेस्पीरेट्री मेडिसीन की रिसर्च में ये निष्कर्ष निकल कर सामने आया कि पांच सिगरेट भी इंसान के फेफड़ों को उतना ही असर पहुंचाता है, जितना सिगरेट की पूरी पैकेट पी जाना। इसलिए अगर आप सोचते हैं कि एक सिगरेट आपके फेफड़े को नुकसान नहीं पहुंचाती है तो ये गलत है।

क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) क्या है?

धूम्रपान कैसे छोड़ें ? क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) फेफड़ों में होने वाली बीमारियों का समूह है। ये एम्फाईसीमा और क्रॉनिक ब्रॉन्काइटिस जैसी दो बीमारी का समूह है। जिसमें इंसान के फेफड़े में पाए जाने वाले श्वास नली में सूजन आ जाती है। ये नली फेफड़ों में हवा ले जाने का काम करती है, जो क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज में धीरे-धीरे नष्ट हो जाती है। वहीं, वायु छिद्र (Alveoli) की इलास्टिसिटी कम हो जाती है, जिससे वे फेफड़ों में हवा भरते समय तनाव को कम कर देते हैं। इसलिए अभी भी वक्त है, अगर अपने फेफड़ों का ख्याल रखना चाहते हैं, तो स्मोकिंग छोड़ना ही बेहतर विकल्प है।

और पढ़ेंः स्मोकिंग और सेक्स में है गहरा संबंध, कहीं आप अपनी सेक्स लाइफ खराब तो नहीं कर रहे?

धूम्रपान कैसे छोड़ें?

स्मोकिंग छोड़ने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

खुद को तैयार करें

धूम्रपान कैसे छोड़ें ? यह एक लत है जिसमें आपका दिमाग पहले से ही निकोटिन का आदि हो चुका होता है। इसलिए अपने आपको तैयार करना होगा। इसके लिए अपने डॉक्टर से हर उस तरीके के बारे में जानने की कोशिश करें जो आपकी मदद कर सकते हैं। जैसे कि दवाइयां, योग, एक्सरसाइज, निकोटिन पैच (यह निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरेपी में यूज होता है) इत्यादि। तभी आप अगले स्टेप के लिए पूरी तरह तैयार हो पाएंगे।

धूम्रपान कैसे छोड़ें: अपनों की मदद लेना है बेहतर विकल्प

अपने परिवार, अपने दोस्तों से स्मोकिंग छोड़ने के बारे में चर्चा करें। इसका फायदा यह होगा की जब कभी आपकी इच्छाशक्ति कम पढ़ने लगेगी तो यह लोग आपको प्रोत्साहित करेंगे। वैसे आजकल तो ऐसे कई ग्रुप भी बन गए हैं। जहां धूम्रपान छोड़ने के इच्छुक अनेक लोग मिल जुलकर एक दूसरे की मदद करते हैं और अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हैं। आप ऐसे ग्रुप का हिस्सा बन सकते हैं।

और पढ़ेंः बीड़ी और सिगरेट दोनों हैं खतरनाक, जानें क्या है ज्यादा जानलेवा

शरीर और दिमाग को राहत दें

कई लोग स्ट्रेस को कम करने के लिए भी स्मोकिंग करते हैं। तो अगर आप स्मोकिंग छोड़ रहे हैं तो आपको अपने शरीर को राहत देना चाहिए, ताकि, आप फिर से स्मोकिंग की तरफ न मुड़ें। इसके लिए बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं जैसे कि व्यायाम करना, संगीत सुनना, घूमना, मेडिटेशन करना इत्यादि। अपने आप को इन में व्यस्त रखने की कोशिश करें।

धूम्रपान कैसे छोड़ें: हेल्दी डायट पर लगाएं ध्यान

कई अध्ययनों के अनुसार नॉनवेज या कुछ और अन्य फूड प्रोडक्ट्स ऐसे हैं, जिसके बाद आपको स्मोकिंग (Smoking) की तलब लग सकती है। वहीं पनीर, फल और सब्जियां सिगरेट के स्वाद को खराब करते हैं। जिससे आपका स्मोकिंग की तरफ आकर्षण खत्म होने लगता है। इसलिए कोशिश करें कि जब आप स्मोकिंग छोड़ने का प्रयत्न कर रहे हैं इस दौरान ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां और फल आपके आहार का हिस्सा हो।

धूम्रपान कैसे छोड़ें: निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरिपी

जब आप धूम्रपान छोड़ते हैं, तो आपके शरीर से निकोटिन निकलने पर सिरदर्द हो सकता है। इसके साथ ही आपका मूड प्रभावित हो सकता है और आपको ऊर्जा की कमी महसूस हो सकती है। केवल एक ड्रैग की भूख को मिटा पाना बेहद मुश्किल होने लगता है। निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरिपी इसमें मदद करती है।

अध्ययनों में यह पाया गया है कि निकोटिन की मीठी गोलियां, च्युइंग गम और पैच धूम्रपान छोड़ने की संभावना को बढ़ा देते हैं।

धूम्रपान कैसे छोड़ें: शराब और अन्य नशीले पदार्थों से दूर रहें

शराब का सेवन करते समय धूम्रपान छोड़ने की स्थिति मुश्किल हो सकती है। इसलिए जब भी आप धूम्रपान छोड़ने का निर्णय लें तो शराब का सेवन भी बंद कर दें। इसके साथ ही अगर आप कॉफी (Coffee) के साथ स्मोकिंग (Smoking) करना पसंद करते हैं, लेकिन अब धूम्रपान कैसे छोड़ें के बारे में जानना चाहते हैं तो कॉफी की बजाए चाय पीना शुरू कर दें।

अगर आप के मन में भी ये सवाल आता है कि धूम्रपान कैसे छोड़ें तो बता दें कि अपनी धूम्रपान की आदत को अन्य आदतों से बदलने की कोशिश करें। जैसे कि यदि आपको खाना खाने के बाद स्मोक करना पसंद है तो इसकी बजाए खाना खाने के बाद ब्रश करें या टहलने जाएं और किसी दोस्त से मिलें। धूम्रपान कैसे छोड़ें? इसके लिए माइंड को डाइवर्ट करने की कोशिश करें। इसके साथ ही आप चाहें तो निकोटिन की दवा या च्युइंग गम का भी सेवन कर सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Health Effects of Cigarette Smoking |  https://www.cdc.gov/tobacco/data_statistics/fact_sheets/health_effects/effects_cig_smoking/index.htm/ | Accessed on 14/08/2020

Health Effects | https://smokefree.gov/quit-smoking/why-you-should-quit/health-effects/ | Accessed on 14/08/2020

Smoking – effects on your body | https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/smoking-effects-on-your-body/ | Accessed on 14/08/2020

Tools & Tips | https://smokefree.gov/ | Accessed on 14/08/2020

Smoking | https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK537066/ | Accessed on 28/12/2021

Q&A: Smoking and How It Affects Women | https://www.womenshealth.gov/blog/koh-qa | Accessed on 28/12/2021

Health Effects of Cigarette Smoking | https://www.cdc.gov/tobacco/data_statistics/fact_sheets/health_effects/effects_cig_smoking/index.htm | Accessed on 28/12/2021

Quitting smoking | https://www.healthdirect.gov.au/quit-smoking-tips | Accessed on 28/12/2021

The Effects of Smoking on the Body | https://www.healthline.com/health/smoking/effects-on-body | Accessed on 28/12/2021

 

लेखक की तस्वीर
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/12/2021 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड