home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

स्मोकिंग छोड़ने के लिए अपनाएं ये आसान उपाय, बढ़ जाएगी आपकी उम्र

स्मोकिंग छोड़ने के लिए अपनाएं ये आसान उपाय, बढ़ जाएगी आपकी उम्र

किसी भी चीज की लत बुरी होती है। अगर आपको ऐसी चीज की लत है जिससे आपके साथ ही अन्य लोगों को भी नुकसान पहुंचता हो तो उसे तुरंत छोड़ देना चाहिए। ऐसी ही एक लत है स्मोकिंग की। स्मोकिंग छोड़ने के लिए लोग अगर सही से प्रयास करें तो इस बुरी आदत को छोड़ा जा सकता है। कई लोग स्मोकिंग तो छोड़ना चाहते हैं लेकिन उनके मन में डर बना रहता है। स्मोकिंग छोड़ने के बाद आप अपने स्वास्थ्य के साथ ही अन्य लोगों की जिंदगी को भी सुरक्षित कर सकते हैं। बेहतर रहेगा कि एक बार समय रहते हुए स्मोकिंग की बुरी आदत छोड़ दें। अगर आपको नहीं पता है कि स्मोकिंग कैसे छोड़ी जाए तो ये आर्टिकल जरूर पढ़ें। आप चाहे तो अपने संबंधी या दोस्त को भी इस बुरा आदत से बचने के उपाय की जानकारी दे सकते हैं।

और पढ़ें : World COPD Day: स्मोकिंग को बाय-बाय बोल कर सीओपीडी से बचें

स्मोकिंग छोड़ने के लिए ढूढ़ें वजह

आपको स्मोकिंग छोड़ने के लिए सबसे पहले सॉलिड रीजन ढूढ़ना होगा। आखिर स्मोंकिग क्यों छोड़नी चाहिए। स्मोकिंग करने से आप अपने परिवार, अपने बच्चों को सैकेंड हैंड/पैसिव स्मोकिंग के खतरे से बचा सकते हैं। स्मोकिंग से लंग कैंसर (Lung cancer), हार्ट डिसीज (Heart disease) या अन्य कंडीशन से बचने में मदद मिलती है। साथ ही स्मोकिंग छोड़ने से त्वचा पर बुरा प्रभाव भी पड़ना बंद हो जाता है। ये सब वो कारण हैं जिनके बारे में सोचने पर आपको एहसास होगा कि स्मोकिंग सिर्फ थोड़ी नहीं बल्कि बहुत ही घातक चीज है। ये आपके साथ ही आपके परिवार को भी खतरे में डाल सकती है। अगर आपको कुछ हो गया तो भी आपका परिवार खतरे में पड़ जाएगा। एक बार सारी बातें सोचिए और छोड़ दीजिए स्मोकिंग।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए करें पहले से तैयारी

स्मोकिंग छोड़ने के लिए एक दिन की प्रैक्टिस काफी नहीं है। आपको स्मोकिंग छोड़ने के लिए पहले से प्लानिंग करने की जरूरत पड़ेगी। स्मोकिंग करना लत है और लत को आसानी से नहीं बल्कि समझदारी से छोड़ना पड़ता है। इसके लिए आपको डॉक्टर की हेल्प लेनी चाहिए। डॉक्टर आपको काउंसलिंग मेडिकेशन के साथ ही क्विट स्मोकिंग क्लासेस लेने की सलाह देगा। आप चाहें तो क्विट स्मोकिंग एप्लीकेशन की हेल्प भी ले सकते हैं। आपको स्मोकिंग छोड़ने के लिए अपने आपको कुछ समय देने की जरूरत पड़ेगी।

और पढ़ें : क्या स्मोकिंग स्टिलबर्थ का कारण बन सकती है?

स्मोकिंग छोड़ने के लिए निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी

अगर आप अचानक से स्मोकिंग छोड़ देते हैं तो आपको सिर में दर्द की समस्या और बेचैनी महसूस हो सकती है। ऐसे में तुरंत सिगरेट पीने का मन करेगा। निकोटीन शरीर में न पहुंच पाने के कारण क्रेविंग होती है। ऐसे में निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी लेना बहुत जरूरी होता है। स्टडी में ये बात सामने आई है कि जो लोग स्मोकिंग छोड़ने के लिए निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी अपनाते हैं, उन्हें कम दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आप स्मोकिंग छोड़ने के लिए इनका इस्तेमाल कर सकते हैं,

  • गम (Gum)
  • पैच (Patches)
  • स्प्रे (Sprays)
  • इनहेलर (Inhalers)
  • मीठी गोलियों (Lozenges)

पैच को बिना किसी फार्मेसी हेल्प के खरीदा जा सकता है। पैच शरीर में धीरे-धीरे निकोटीन की मात्रा को पहुंचाने का काम करते हैं। स्किन की हेल्प से निकोटीन शरीर में एब्जॉर्व होता है। ऐसा करने से शरीर को कुछ समय बाद कम निकोटीन की आवश्यकता होती है। फिर कुछ समय बाद लोगों को इस पैच की जरूरत नहीं महसूस होती है और स्मोकिंग की आदत छूट जाती है। कुछ लोग पैच को हमेशा लगाए रहते हैं। वहीं कुछ लोगों को रात में भी पैच की आवश्यकता महसूस होती है। आपको कब पैच लगाना चाहिए और कैसे लगाना चाहिए, इस बारे में डॉक्टर से जरूर पूछें।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए पिल्स लें समय पर

स्मोकिंग में मेडिसिन की हेल्प से क्रेविंग के समय राहत मिलती है। ऐसे में सिगरेट पीने से सेटीस्फेक्शन फील नहीं होता है। इस कारण से स्मोकिंग की आदत धीरे-धीरे छूट जाती है। डिप्रेशन की समस्या से राहत मिलने के साथ ही एकाग्रता में भी समस्या नहीं होती है। हो सकता है कि स्मोकिंग छोड़ने के लिए आपको थोड़ा समय लगे, लेकिन धैर्य अपनाकर स्मोकिंग की समस्या से राहत पाई जा सकती है।

और पढ़ें : स्मोकिंग छोड़ने के लिए वेपिंग का सहारा लेने वाले हो जाएं सावधान!

इस बारे में लखनऊ की शहानी नर्सिंग होम की डायरेक्टर डॉक्टर संतोष शहानी का कहना है कि वैसे तो स्मोकिंग हर प्रकार से सेहत के लिए नुकसानदेह होती है। लेकिन प्रेग्नेंसी के समय तो बेहद ही नुकसानदेह होती है स्मोकिंग। प्रेग्नेंसी के दौरान स्मोकिंग से मां और बच्चे दोनों को ही नुकसान हो सकता है। जो महिलाएं पहले से ही स्मोकिंग कर रही होती है, उन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान अचानक से स्मोकिंग छोड़ने में काफी दिक्कत होती है। इसलिए प्रेग्नेंसी प्लानिंग के पहले ही धीरे-धीरे स्मोकिंग को धीरे-धीरे कम और फिर छोड़ना चाहिए। यदि आप स्मोकिंग को अचानक से छोड़ेंगी, तो न ही आप इसे छोड़ पाएगी और यह आपके शरीर को नुकसान देह हो सकता है। इसके लिए आप डॉक्टर की सलाह लें और उनके बताए अुनसार धीरे-धीरे छोड़ें। फिर कुछ महीने बाद सभी बॉडी टेस्ट करवाकर प्रेग्नेंसी प्लान करें। स्मोकिंग छोड़ने के लिए ये जानना बहुत जरूरी है कि आपको कितने प्रतिशत निकोटीन (Nicotine) की रोजाना जरूरत पड़ती है। आपको स्मोकिंग छोड़ने के लिए डॉक्टर से बात करनी चाहिए, ताकि आपको किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए लें अपनों का साथ

जीवन में जब भी कोई समस्या आती है तो सबसे पहले हम लोग अपनों की हेल्प लेते हैं। स्मोकिंग छोड़ने के लिए भी अपनों का साथ जरूर लें। आप स्मोकिंग छोड़ने जा रहे हैं तो इस बारे में अपने परिवार या दोस्तों को भी अवगत कराएं। ऐसा करने से दोस्त और परिवार के सदस्य जरूरत पड़ने पर आपको हेल्प करेंगे और स्मोकिंग से मन हटाने की कोशिश भी करेंगे। आप चाहे तो सपोर्ट ग्रुप की भी हेल्प ले सकते हैं, जिसमे स्मोकिंग छोड़ने वाले लोगों को शामिल किया गया हो। काउंसलर के कुछ सेशन भी स्मोकिंग छोड़ने में आपकी हेल्प कर सकते हैं।

स्मोकिंग छोड़ने के बाद दें खुद को ब्रेक

स्मोकिंग करने का मुख्य कारण खुद को रिलेक्स फील कराना होता है। जब स्मोकिंग छोड़ी जाती है तो कुछ ऐसे ऑप्शन का चुनाव जरूर कर लें जो आपको रिलेक्स फील करवाते हों। आप चाहें, तो एक्सरसाइज के साथ ही स्वस्थ्य रहने के लिए अन्य उपाय अपना सकते हैं। साथ ही काम के दौरान जब भी थकावट महसूस हो, तुरंत अपना फेवरेट म्युजिक सुन सकते हैं। आपको स्मोकिंग छोड़ने के एक हफ्ते बाद तक ध्यान देने की जरूरत है। आप चाहे तो अपनी हॉबी को एंजॉय कर स्ट्रेस (Stress) को दूर कर सकते हैं।

वैरेनिकलाइन का इस्तेमाल

वैरेनिकलाइन (Varenicline) का यूज करने से डोपामाइन रिलीज में हेल्प मिलती है। डोपामाइन एक केमिकल मेसेंजर होता है जो ब्रेन (Brain) के प्लेजर सेंटर को कंट्रोल करने का काम करता है। स्मोकिंग करने वाले व्यक्तियों में इस फील गुड केमिकल का लेवल बढ़ जाता है। यहीं कारण है कि स्मोकिंग छोड़ने वाले लोगों को अक्सर डिप्रेशन और चिंता (Tension) महसूस होती है। इसी कारण से वैरिनलाइन का यूज करके डोपामाइन की रिलीज को ट्रिगर किया जाता है। डोपामाइन रिलीज होने से स्मोकिंग की जरूरत कम महसूस होती है।

और पढ़ें : धूम्रपान (Smoking) ना कर दे दांतों को धुआं-धुआं

स्मोकिंग छोड़ने के लिए बुप्रोपियन का यूज

बुप्रोपियन( Bupropion) एक एंटीडिप्रेसेंट है जो स्मोकिंग को छोड़ने में मदद करता है। वैरिनलाइन की तरह ही बुप्रोपियन का यूज किया जाता है। ये शरीर में डोपामाइन की कमी को पूरा करने का काम करता है। इसे लेने से व्यक्ति को स्मोकिंग छोड़ने के बाद भी चिड़चिड़ाहट और डिप्रेशन (Depression) की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। साथ ही ध्यान केंद्रित करने में भी समस्या नहीं होती है।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए किताब का सहारा

आपने शायद पहले नहीं सुना होगा, लेकिन आप स्मोकिंग छोड़ने के लिए किताबों का सहारा भी ले सकते हैं। ऑनलाइन कई ऐसी किताबें मौजूद हैं जो स्मोकिंग छुड़ाने के लिए फेमस हैं। किताब में लिखी बातों को फॉलो करके और अपनी गलतफहमी को दूर करके आप स्मोकिंग की बुरी लत को आसानी से छोड़ सकते हैं। किताब में स्मोकर्स (Smokers) की कई बातों का सीधे शब्दों में जवाब दिया गया है। किताब के माध्यम से 13 महीनों में आप स्मोकिंग से पीछा छुड़ा सकते हैं। एक स्टडी में भी ये बात सामने आई है कि स्मोकिंग की आदत से पीछा छुड़ाने के लिए किताब का सहारा लेने वाले लोगों में अन्य लोगों की तुलना में छह गुना कम स्मोकिंग की लत बची थी।

और पढ़ें : ये सिगरेट कहीं आपको नपुंसक न बना दे, जानें इससे जुड़ी हैरान करन देने वाली बातें

विटामिन बी और सी का करें सेवन

स्टडी में ये बात सामने आई है कि जो लोग अधिक स्मोकिंग करते हैं उनमें विटामिन-बी (Vitamin-B) और और विटामिन-सी (Vitamin-C) की मात्रा अन्य लोगों के कंपेयर में कम पाई गई है। स्मोकिंग करने वाले अधिकतर लोग स्ट्रेस को ट्रिगर के रूप में यूज करते हैं और अधिक मात्रा में सिगरेट पीते हैं। विटामिन बी को एंटी स्ट्रेस के रूप में लिया जा सकता है क्योंकि ये मूड को बैलेंस करने का काम करती है। जबकि विटामिन सी पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करती है जो लंग को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाने का काम करता है। जब भी आप स्मोकिंग स्टॉप करने का सोच रहे हो तो इस सप्लीमेंट को लेना बिल्कुल भी न भूलें।

हैबिट को समझने के लिए ऐप

स्मोकिंग छोड़ने के लिए आपको अपनी गंदी और अच्छी दोनों प्रकार की आदतों पर ध्यान देना होगा। गंदी आदतें जैसे कि कब आपको स्मोकिंग (Smoking) की ज्यादा जरूरत महसूस होती है, और अच्छी आदत की कब आपको हेल्दी फूड (Healthy Habit) और हेल्दी हैबिट्स को अपनाना है। इसके लिए आप एप्लीकेशन की हेल्प ले सकती हैं। एप्लीकेशन की हेल्प से आप रोजाना की हैबिट को एप्लीकेशन के माध्यम से याद कर सकती हैं और बुरी आदतों से दूरी बना सकती हैं। आप एप्लीकेशन में कुछ सेटिंग करके उसे एक्टिवेट कर सकती हैं। साथ ही प्रोग्रेस को ट्रेक किया जा सकता है।

और पढ़ें : ई-सिगरेट पीने से अमेरिका में सैकड़ों लोग बीमार, हुई 5 लोगों की मौत

लिस्ट बनाना है जरूरी

स्मोकिंग छोड़ना आपकी इच्छाशक्ति पर निर्भर करता है। अगर आप स्मोकिंग छोड़ना चाहते हैं तो इसके लिए एक लिस्ट भी तैयार करें। उस लिस्ट में कुछ खास बातों को भी जगह दें। लिस्ट में स्मोकिंग छोड़ने के लाभ के बारे में लिखें। इससे घरवालों को क्या लाभ होंगे और आपके बजट पर क्या असर पड़ेगा, इस बारे में भी लिखें। सभी पहलुओं को सकारात्मक भाव से लिस्ट में शामिल करें और जब सिगरेट पीने का मन करें तो तुरंत लिस्ट देख लें।

  • ओवरऑल हेल्थ का इंप्रूवमेंट
  • पैसे की बचत
  • बच्चों के लिए अच्छा उदाहरण सेट करना
  • बुरी आदत को छोड़कर अच्छा महसूस करना
  • खुद में कंट्रोल रख एडिक्शन से फ्री होना
  • लिस्ट को रोजाना देखकर मुश्किल समय में हिम्मत पैदा करना और धूम्रपान (Smoking) के नुकसान को सोचकर उसे न देखने का मन बनाना।

और पढ़ें : आप स्मोकिंग छोड़कर कितना पैसा बचा सकते हैं ये जानने के लिए यूज करें हमारा ये कैलक्युलेटर

पॉसिटिव थिंकिंग की हेल्प से आप अपनी इच्छाशक्ति पर काबू पा सकते हैं। ऐसा करने से स्मोकिंग छोड़ने में आपको बहुत मदद मिलेगी।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए योगा

स्मोकिंग छोड़ने के लिए योगा का सहारा भी लिया जा सकता है। एक स्टडी में ये बात सामने आई है कि जो लोग ताई ची ( Tai Chi) योगा को हफ्ते में तीन बार करते हैं, उन्हें स्मोकिंग छोड़ने में ज्यादा समस्या नहीं होती है। योगा करने से ब्लड प्रेशर में नियंत्रण के साथ ही स्ट्रेस लेवल में भी कमी आती है। योगा और मेडिटेशन को ड्रग फ्री ट्रीटमेंट के तौर पर अपनाया जा सकता है।

अगर स्मोकिंग छोड़ने के बारे में आपने सोच लिया है तो यकीन मानिए ये बहुत ही अच्छा फैसला है। इस फैसले में अपने परिवार और दोस्तों को भी शामिल करें। किसी भी प्रकार की समस्या से बचने के लिए बेहतर होगा कि एक बार डॉक्टर से संपर्क कर लें। डॉक्टर आपको उचित राय देगा। साथ ही अपनी इच्छाशक्ति में काबू रखने का भी प्रयास करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/09/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड