home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें जॉगिंग को आसान बनाने के टिप्स और जॉगिंग के दौरान बॉडी पॉश्चर कैसी हो?

जानें जॉगिंग को आसान बनाने के टिप्स और जॉगिंग के दौरान बॉडी पॉश्चर कैसी हो?

लोग वजन घटाने के लिए कई तरीके अपनाते हैं। कुछ लोग डायटिंग करते हैं, तो कुछ जिमिंग। इसके अलावा वेट लॉस के लिए योगा, जुंबा जैसी एक्टिविटी भी कई लोग करते हैं। इनमें से अधिकतर लोगों का सीधा मकसद होता है, वजन कम करना। इसके अलावा, कई लोग वजन कम करने के लिए जॉगिंग भी करते हैं। वजन घटाने के लिए अच्छी डायट के साथ-साथ वर्कआउट करना भी बहुत जरूरी है, क्योंकि वर्कआउट करने से शरीर में मौजूद कैलोरी बर्न होती है और आपका वजन आसानी से कम हो सकता है। वर्कआउट का सबसे आसान और बेहतर तरीका है जॉगिंग। आइए जानते हैं जॉगिंग के फायदे वजन कम करने की प्रक्रिया में किस प्रकार मदद करता है…

जानिए जॉगिंग के फायदे

जॉगिंग के निम्न फायदे हैंः

1. वॉर्मअप करना

वॉर्मअप करना, जॉगिंग करने का पहला स्टेप है, इससे आप शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार हो जाते हैं। अगर आप बहुत ज्यादा मोटापे का शिकार हैं तो शुरू में हलके-फुल्के वार्म अप करें फिर धीरे-धीरे स्पीड और कसरत बढ़ाते जाएं| वॉर्म-अप ना करने से व्यायाम करते समय आप को सही गति मिल पाती है, जिससे आप आगे के कठिन वर्कआउट के लिए तैयार हो जाते हैं। वजन घटाने की कोशिश में वॉर्म-अप बहुत महत्त्वपूर्ण है।

और पढ़ें : वजन घटाने के लिए फॉलो कर सकते हैं डिटॉक्स डाइट प्लान

2. ट्रेडमिल पर दौड़ना

यदि आप मौसम और पर्यावरण के कारण बाहर सड़क पर जॉगिंग करना नहीं चाहते हैं, तो ट्रेडमिल आपके लिए बेहतरीन विकल्प है। ट्रेडमिल हर जिम में आसानी से उपलब्ध होता है। ट्रेडमिल में पहले से प्रोग्राम सेट किए जा सकते हैं, जिसके कारण आपको वजन कम करने में मदद मिलती है। आप अपनी गति और क्षमता के हिसाब से अपना लक्ष्य सेट कर सकते हैं। ज्यादा तेज गति का चयन न करें, इससे आप गिर कर घायल हो सकते हैं।

3. शारीरिक मुद्रा पर ध्यान दें

दौड़ते समय हर कोई अलग-अलग मुद्रा में दौड़ता है, कुछ लोग अपनी एड़ियों का प्रयोग करते हैं तो कुछ पैरों की उंगलियों का। एड़ियों पर जोर देकर दौड़ने से आपके घुटनों पर बुरा असर पड़ सकता है, जबकि जो लोग जॉगिंग करने के लिए पैर की उंगलियों का प्रयोग करते हैं वह पैरों के दर्द का शिकार हो जाते हैं। दौड़ते समय पैरों की उंगलियों को सीधा रखें और उसे ज्यादा मोड़ने से परहेज करें, न ही आगे की ओर झुकाव बनाए रखें|

और पढ़ें : वजन कम करने में मदद कर सकती है हल्दी (Turmeric), जानें 5 फायदे

4. कैसे कम होगा आपका वजन

जॉगिंग से वजन घटाना हो तो आपको चाहिए कि एक खास रुटीन का पालन करें। कोशिश करें कि हर रोज उस रुटीन के अनुसार जॉगिंग करें। तेज रफ्तार से जॉगिंग करने के बजाय, लंबे समय तक करने की कोशिश करें। आपको कितनी कैलोरी बर्न करनी है यह आपके शरीर के वजन और चलने की स्पीड पर निर्भर करता है। अगर आप 6 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलते हैं तो आपकी एक घंटे में लगभग 400 कैलोरी बर्न होती हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप एक दिन में 6 किलोमीटर चलें। अगर आप एक दिन में चार किलोमीटर चलते हैं तो भी आपके शरीर से अधिक कैलोरीज को घटाया जा सकता है|

जॉगिंग एक बेहतरीन वर्कआउट है जो संपूर्ण स्वस्थ के लिए बहुत फायदेमंद है। हर रोज एक घंटा दौड़ने से आप 705 से 864 तक कैलोरीज बर्न कर सकते हैं। नियमित रूप से जॉगिंग की जाए तो आपके शरीर से वसा को भी पिघला कर कम किया जा सकता है।

और पढ़ें : स्वस्थ सेहत के लिए रनिंग (Running) है जरुरी

आइए, जानते हैं जॉगिंग के अन्य फायदे क्या हैं?

जॉगिंग के फायदे सिर्फ वेट लॉस के लिए ही नहीं हैं। इसके और भी कई शारीरिक फायदे हैं, जिनके बारे में हम नीचे बताने जा रहे हैं। जानिए जॉगिंग के अन्य फायदे, जो आपको फिट रखने में मदद करते हैं :

  • तनाव से दे राहत: अगर आपको तनाव रहता है, तो जॉगिंग आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। रोजाना सुबह 15-30 मिनट जॉगिंग करने से जहां आप फिट रह पाते हैं, वहीं जॉगिंग करने से हम लोग तेज सांस लेते हैं जिससे शरीर में फ्रेश ऑक्सिजन जाती है। ऐसा करने से डिप्रेशन और तनाव से राहत मिलती है।
  • डायबिटीज में जॉगिंग के फायदे: अगर आप डायबिटीज के पेशेंट हैं, तो आपको रोजाना जॉगिंग करना चाहिए। रोजाना जॉगिंग करने से डायबिटीज में काफी फायदा होता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए जॉगिंग के फायदे बताते हुए डॉक्टर्स कहते हैं कि डायबिटीज पेशेंट्स को सामान्य लोगों की तुलना में फिजिकल वर्कआउट ज्यादा करना चाहिए। अगर आप रोजाना नियमित रूप से जॉगिंग करेंगे, डायबिटीज में काफी फायदा पहुंचेगा और इसका फर्क आप कुछ ही दिनों में देख पाएंगे।
  • हार्ट अटैक का खतरा कम करे जॉगिंग: आपको जानकर हैरानी होगी कि नियमित रूप से जॉगिंग करने से हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है। अगर आप नियमित रूप से रोजाना सुबह शाम जॉगिंग करेंगे तो आपका ब्लड सर्क्युलेशन सही रहता है, जिससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक आने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।
  • जॉगिंग से करें वजन कम: अगर आप अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो दौड़ने की ही तरह जॉगिंग से भी आप वजन कम कर सकते हैं।

और पढ़ें : Quiz: क्या आपके रनिंग का तरीका सही है? जाननें के लिए खेलें रनिंग क्विज

  • जॉगिंग से आती है अच्छी नींद: अगर आपको नींद आने में समस्या होती है यदि आपको रात में अच्‍छी नींद नहीं आती तो जॉगिंग करना शुरू करें क्‍योंकि इससे शरीर का पूरा व्यायाम हो जाता है और अच्छी नींद आती है।
  • पाचन रखें दुरुस्त: अगर आपको पाचन संबंधी समस्याएं हैं, तो जॉगिंग आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। पाचन की प्रॉब्लम होने पर आप नियमित रूप से जॉगिंग करें। समय मिले तो सुबह शाम दोनों समय आधे-आधे घंटे की जॉगिंग करें। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपको पाचन संबंधी परेशानियों से राहत मिलेगी।
  • मांसपेशियां बने मजबूत: आपको शायद न पता हो कि जॉगिंग करने से मांसपेशियां और हड्डियां भी मजबूत होती हैं। हिप्‍स, पैरों और पीछे की मासपेशियां मजबूत होते हैं। यह पैरों को भी बहुत मजबूत बनाता है, लेकिन इसके साथ आपको हेल्‍दी डायट लेना भी जरूरी है।
  • एंटी-एजिंगः एंटी-एजिंग के लिए दौड़ करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं। स्किन के लिए जॉगिंग के फायदे ऐसे हैं कि इसे करने से आप फ्रेश और जवां दिखने लगते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रनिंग त्वचा को अधिक ऑक्सीजन और रक्त मिलना सुनिश्चित करता है।
  • इम्यूनिटी बढ़ाए जॉगिंग: अगर आप नियमित रूप से दौड़ने जाते हैं, तो इससे आपकी इम्यूनिटी भी अच्छी होती है। इम्यूनिटी अच्छी होने से आपको बार-बार होने वाले खांसी, जुकाम, बुखार जैसी समस्या नहीं होती है।

किस समय करना चाहिए जॉगिंग?

सुबह के वक्त जॉगिंग करना सेहत के लिए अत्यंत लाभकारी होता है। क्योंकि सुबह के समय वातावरण शांत रहता है और प्रदूषण भी कम होता है। सुबह के समय जॉगिंग के दौरान आप फ्रेश होते हैं, जिससे जॉगिंग के दौरान आपको परेशानी महसूस नहीं होती है। खाली पेट के दौरान जॉगिंग करने से कैलोरी बर्न भी आसानी से किया जा सकता है। लेकिन अगर आप किसी भी कारण मॉर्निंग में जॉगिंग नहीं कर पा रहें हैं, तो आप शाम के वक्त जॉगिंग पर जा सकते हैं। सिर्फ आपको सुबह या शाम के वक्त नियमित जॉगिंग पर जाने की जरूरत है।

और पढ़ें : दिमाग को शांत करने के लिए ट्राई करें विपरीत करनी आसन, और जानें इसके अनगिनत फायदें

जॉगिंग से जुड़ी अहम जानकारी क्या है?

जॉगिंग के फायदे के लिए इसे सही तरह से करना ज्यादा लाभकारी होता है। यहां जानिए जॉगिंग के लिए बेस्ट टेक्निक क्या है? जॉगिंग का बेहतर रिसल्ट पाने के लिए बॉडी पॉश्चर ठीक होना बेहद जरूरी है। जिस तरह से व्यायाम के दौरान बॉडी पॉश्चर ठीक नहीं होने की स्थिति में मसल्स खिंच जाते हैं। अगर जॉगिंग के वक्त भी बॉडी सही पॉश्चर में नहीं रहती है, तो इसका नेगेटिव प्रभाव पड़ना तय माना जाता है। इसलिए नीचे बताये टिप्स को फॉलो करें-

सिर- जॉगिंग के दौरान सिर को सीधा रखें और सामने की ओर देखें। सिर को नीचे न झुकाएं, क्योंकि ऐसा करने से आपकी पूरी बॉडी नीचे की ओर झुक सकती है और आपको आपका शरीर और भारी महसूस हो सकता है।

कंधा- जॉगिंग या दौड़ने से पहले कंधों को रिलैक्स और ठीक तरह से स्ट्रेच करना न भूलें। ऐसा करने से आप बेहतर तरह से जॉगिंग कर पाएंगे।

बॉडी (धर)- बॉडी का कोई भी हिस्सा अगर जॉगिंग के झुका हुआ रहता है, तो आप ठीक तरह से ब्रीदिंग नहीं कर पाएंगे। इस दौरान हिप्स का पॉश्चर भी ठीक रहना चाहिए। अगर यह पुजिशन ठीक नहीं हुई तो लोवर बैक पेन की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए सिर के पिछले हिस्से के लेवल में हिप्स भी होना चाहिए।

पैर- दौड़ते या जॉगिंग करते समय पैर सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है। घुटनों को बहुत ज्यादा ऊंचा उठाने से आपकी जॉगिंग की गति धीमी हो जाएगी और कम उठाने से आप ठीक तरह से जॉगिंग कर पाएंगे।

एड़ी- जॉगिंग की स्पीड आपके एड़ी पर भी निर्भर करती है। अगर एड़ी पर ज्यादा दवाब दिया जाएगा, तो जॉगिंग करने में आप परेशानी महसूस कर सकते हैं। इसलिए एड़ियों पर कम से कम प्रेशर दें।

आर्म्स- अगर आपका आर्म्स ठीक पुजिशन में नहीं होगा, तो आपके जॉगिंग की स्पीड तेज या कम हो सकती है। इसलिए शोल्डर को आगे से पीछे की ओर ले जाएं। ऐसा करने से आपके हाथों की मूवमेंट ठीक तरह से होगी इस दौरान अपने एल्बो को 90 डिग्री पर रखें।

और पढ़ें : स्ट्रेस बस्टर के रूप में कार्य करता है उष्ट्रासन, जानें इसके फायदे और सावधानियां

बॉडी पॉश्चर के साथ-साथ जूतों का सलेक्शन भी ठीक तरह करना जरूरी है।

कैसा हो जॉगिंग के लिए जूता?

  • आपके नॉर्मल जूतों से जॉगिंग करने वाले जूतों का साइज थोड़ा बड़ा होना चाहिए (ध्यान रखें ज्यादा बड़ा जूता न पहने)
  • जॉगिंग शू स्लिप करने वाले नहीं होने चाहिए
  • बिना जुराब के जूते न पहनें
  • जॉगिंग शू को सबसे पहले पहनकर वॉक करें और ध्यान दें की आपको कोई तकलीफ तो नहीं हो रही है

किन लोगों को जॉगिंग नहीं करना चाहिए?

  • अगर आपको अत्यधिक कमजोरी महसूस होती है, तो जॉगिंग पर जाने पहले डॉक्टर से सलाह लें।
  • हार्ट पेशेंट को जॉगिंग या रनिंग नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपको सांस से संबंधित परेशानी रहती है, तो भी जॉगिंग या रनिंग न करें

किन बातों को न करें इग्नोर

  1. किसी भी ड्रेस में जॉगिंग पर न जाएं। आरमदायक और पसीने को एब्सॉर्ब करने वाले ड्रेस पहनें
  2. पुराने या अनकंफर्टेबल जूते न पहनें
  3. वॉर्मअप करना न भूलें

इन छोटी-छोटी पॉइंट्स को ध्यान में रखें और जॉगिंग पर जाएं। अगर आप जॉगिंग से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो फिटनेस एक्सपर्ट से समझना बेहतर होगा। अगर जॉगिंग के वक्त आपको चोट लग जाती है और तेज ब्लीडिंग होती है, तो डॉक्टर के पास जल्द से जल्द जाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Running and jogging – health benefits. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/running-and-jogging-health-benefits. Accessed On 14 September, 2020.

Health benefits of physical activity: the evidence. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1402378/. Accessed On 14 September, 2020.

Benefits of Jogging. https://www.rxresource.org/fitness/benefits-of-jogging.html. Accessed On 14 September, 2020.

Exercise and Physical Fitness. https://medlineplus.gov/exerciseandphysicalfitness.html. Accessed On 14 September, 2020.

Running for health: Even a little bit is good, but a little more is probably better. https://www.health.harvard.edu/blog/running-health-even-little-bit-good-little-probably-better-201407307310. Accessed On 14 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mubasshera Usmani द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/07/2019
x