आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

गर्दन की झुर्रियां करनी है कम? ट्राई करें ये तरीके

    गर्दन की झुर्रियां करनी है कम? ट्राई करें ये तरीके

    उम्र बढ़ने के साथ ही हमारे शरीर में भी परिवर्तन होने लगता है। उम्र बढ़ना और शरीर के कई हिस्सों में झुर्रियों का आना एक नैचुरल प्रॉसेस है। हम लोग उम्र बढ़ने को तो नहीं रोक सकते हैं लेकिन गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए कुछ उपाय जरूर कर सकते हैं। त्वचा पर दिखाई देने वाली झुर्रियां इंसान को बूढ़ा बना देती हैं। अगर ऐसा किसी यंग के साथ होता है तो व्यक्ति को बहुत हीनता महसूस होती है। आज के समय में जब इतनी अवेयरनेस और एंटी-एजिंग इंडस्ट्री आ चुकी है, तो कोई भी ओल्ड नहीं दिखना चाहता है। आज इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि किस तरह से गर्दन की झुर्रियां कम की जा सकती हैं।

    यह भी पढ़ें : स्टेप-बाय-स्टेप जानें हेयर स्ट्रेटनर से घर पर बाल सीधा करने का सही तरीका

    गर्दन पर ज्यादा झुर्रियां पड़ना

    कुछ लोगों के चेहरे में ज्यादा झुर्रियां नहीं होती हैं, लेकिन गर्दन में होती हैं। इस कारण से चेहरे और गर्दन की उम्र अलग-अलग दिखाई देने लगती है। इस बारे में दिल्ली की कंसल्टेंट डर्मेटोलॉजिस्ट और कॉस्मेंटोलॉजिस्ट डॉ. गुलहिमा अरोड़ा ने गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए कुछ टिप्स शेयर किए।

    यह भी पढ़ें : हेयर कलर आईडिया : ट्रेंड में हैं ये 7 कलर्स, ऐसे पाएं एकदम नया लुक

    डॉ. गुलहिमा कहती हैं कि स्किन में झुर्रियों का कारण कोलेजन और इलास्टिन की कमी होना है। कोलेजन और इलास्टिन त्वचा को फर्म (मजबूत) रखने का काम करते हैं। इनकी कमी त्वचा को अंदर से शिथिल बना देती है। गर्दन में झुर्रियां होने के अन्य कारण भी हो सकते हैं। सूरज की किरणों के कारण डैमेज, स्मोकिंग, अनियमित खानपान, डिहाइड्रेशन, पॉल्युशन, फेशियल एक्सप्रेशन और नींद का अभाव मुख्य कारण हैं। डॉ आगे कहती हैं कि कम उम्र में त्वचा की देखभाल बहुत जरूरी है।

    यह भी पढ़ें : यह वैक्सिंग टिप्स (waxing tips) फॉलो कर पाएं वैक्सिंग के बाद होने वाली समस्याओं से निजात

    रेगुलर स्किन केयर

    आप जिस तरह से अपने फेस की देखभाल करते हैं, ठीक वैसे ही गर्दन की भी करें। गर्दन भी आपके शरीर का ही हिस्सा है। गर्दन को पराया न समझे, पार्लर में फेस के साथ ही गर्दन को भी शामिल करें। गर्दन को रोजाना अच्छी तरह से मॉस्चराइज करें। मॉश्चराइजिंग गर्दन के लिए अच्छा मास्क है। ये गर्दन हो हाइड्रेशन देता है। आप नारियल, आर्गन, जैतून, जोजोबा या अंगूर के तेल का उपयोग कर सकती हैं। पैराबेन-फ्री सनस्क्रीन का यूज करके गर्दन को सूर्य की किरणों से बचाया जा सकता है। 30 spf और 50spf का यूज दिन में तीन बार किया जा सकता है। अगर आप बाहर घूमने जा रही हैं तो भी इस बात का ध्यान रखें। साथ ही धूम्रपान करना छोड़ें। ये आपकी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है।

    यह भी पढ़ें : फेशियल के बाद कभी न करें ये गलतियां, हो सकता है नुकसान

    अच्छी नींद लें

    शरीर की अच्छी सेहत के लिए आठ घंटे की नींद बहुत जरूरी है। अगर आप किसी कारण से ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो अपनी दिनचर्या बदल लें। अच्छी नींद न ले पाने से गर्दन में झुर्रियों के साथ ही अन्य समस्या भी खड़ी हो सकती है।

    हेल्दी डायट पर दें ध्यान

    खाने में सब्जियां और फलों के साथ ही संतुलित आहार बहुत जरूरी होता है। स्वस्थ त्वचा के लिए आवश्यक खनिज, विटामिन और एंटी-ऑक्सिडेंट लेना चाहिए। मछली और सोया को भी खाने में शामिल करें। दिन में 8-10 ग्लास पानी पिएं। एंटी-ऑक्सिडेंट्स जैसे ग्रीन टी, पालक, अखरोट, बादाम, कीवी, बीन्स, टमाटर आदि का सेवन करें। ये गर्दन की झुर्रियां कम करने में मदद करेंगे। आप जिलेटिन को भी डायट में शामिल करें।

    यह भी पढ़ें : स्किन टाइप के हिसाब से चुनें अपने लिए बॉडी लोशन

    घर पर करें गर्दन की झुर्रियां कम करने का उपाय

    • गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए केले और पपीते का मास्क, खनिजों से भरपूर और त्वचा को हाइड्रेट करता है। आप इसे गर्दन में लगाएं।
    • गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए अंडे की सफेदी, नींबू और शहद का पैक खनिज, विटामिन-सी और त्वचा को हाइड्रेट करने का काम करता है।
    • एलोवेरा जूस हाइड्रेशन फिक्स के रूप में कार्य करता है। इसे उपयोग में लाएं।
    • गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए मालिश और एक्यूपंक्चर का सहारा भी लिया जा सकता है। लेकिन इनमे लंबा समय लगता है।

    कॉस्मेटिक प्रोसीजर (cosmetic procedures)

    केमिकल पीलिंग (Chemical Peeling)

    आप गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए केमिकल पीलिंग का भी यूज करती हैं। ये मृत त्वचा को हटाकर कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने का काम करेगा।

    माइक्रोडर्माब्रेशन (Microdermabrasion)

    यह ठीक लाइनों और झुर्रियों के लिए एक सुरक्षित मशीन द्वारा किया जाने वाला उपचार है। यह कोलेजन उत्पादन को उत्तेजित करता है।

    फोटोफेशियल (Photofacials)

    ये क्षतिग्रस्त त्वचा की बनावट को सुधारने और त्वचा को मेंटेन करने में मदद करता है।

    लेजर (Lasers)

    लेजर के जरिये भी झुर्रियों को कम किया जा सकता है। इस तरीके का इस्तेमाल काफी लोग करते हैं। लेजर की हेल्प से कोलेजन का विकास होता है।

    यह भी पढ़ें : कब तक कराते रहेंगे थ्रेडिंग, ब्लीचिंग? ऐसे हटाएं चेहरे से जिद्दी अनचाहे बाल

    बोटुलिनम टॉक्सिन बॉटॉक्स टीएम (Botulinum Toxin BOTOX TM)

    यह गर्दन की झुर्रियां को गायब करने के लिए उपयोग किए जाने वाले एकमात्र उपचार है।

    फिलर्स

    फिलर्स की हेल्प से झुर्रियों को हटाया जाता है। इसमें हाइलूरोनिक एसिड को फिलर्स के रूप में भरा जाता है।

    प्लेटलेट रिच प्लाज्मा ट्रीटमेंट पीआरपी

    गर्दन की झुर्रियां कम करने के लिए आपके खून में उपस्थित स्टेम सेल का यूज किया जाता है।

    मेसोथेरिपी

    मेसोथेरिपी भी गर्दन की झुर्रियां कम करने का एक अच्छा तरीका है। इस उपचार में झुर्रियों को रोकने के लिए एक माइक्रो इंजेक्शन लगाया जाता है।

    स्किन केयर मेडिसिन

    गर्दन की झुर्रियां को स्किन में जल्दी आने से रोकने के लिए मार्केट में कई मेडिसिन उपलब्ध हैं। एंटी-ऑक्सिडेंट टेबलेट के अलावा बहुत की एंटी-रिंकल क्रीम और सीरम, टॉपिकल विटामिन-सी सीरम और रेटिनॉयड क्रीम भी एंटी एजिंग के तौर पर दी जाती है।

    अगर आपको कम उम्र में गर्दन में झुर्रियों की समस्या हो गई है तो इससे बचने के लिए डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। कोई भी मेडिसिन या ट्रीटमेंट लेने से पहले इसके साइडइफेक्ट भी जान लें। उम्मीद है ये आर्टिकल गर्दन की झुर्रियां कम करने के बारे में आपकी जानकारी बढ़ाने में मदद करेगा और आपको कौन सा ट्रीटमेंट लेना है उसका फैसला लेने में भी मदद करेगा।

    हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

    और पढ़ें :-

    एसी भी हो सकता है आपके बालों के टूटने-झड़ने का कारण

    स्किन एलर्जी से जुड़े सवालों का जवाब मिलेगा क्विज से, खेलें और जानें

    स्किन कैंसर के 10 लक्षण, जिन्हें आप अनदेखा न करें

    स्किन टाइप के हिसाब से चुनें अपने लिए बॉडी लोशन

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/08/2020 को
    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड