बॉडी में दिखने वाले इन 10 संकेतों से समझें हो गई है विटामिन-सी (Vitamin C) की कमी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट August 6, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हमारे शरीर में अगर कुछ खास पोषक तत्वों या मिनरल की कमी हो, तो हमारा शरीर कई रोगों से पीड़ित हो सकता है। इनमें से एक है विटामिन-सी, जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन-सी (Vitamin C) न केवल हमारे शरीर, बल्कि दिमाग के लिए भी आवश्यक है। विटामिन-सी की शरीर में कमी न हो, इसके लिए आपको इसकी रोजाना सही मात्रा लेनी चाहिए। अगर आपके शरीर में विटामिन-सी (Vitamin C)  की कमी होगी, तो स्वास्थ्य सबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं। 

शरीर में नए टिश्यूज के निर्माण और उनकी ग्रोथ के लिए विटामिन-सी बहुत आवश्यक है। विटामिन सी की कमी को स्कर्वी कहते हैं। जब शरीर में विटामिन सी की कमी होती है तो एनीमिया , मसूड़ों की बीमारी , स्किन प्रॉब्लम ,थकान, शरीर में जगह-जगह सूजन जैसी परेशानियां होती हैं। विटामिन सी हमारी इम्यूनिटी को भी प्रभावित करता है। जानिए कुछ ऐसे संकेतों के बारे में, जिनसे आपको पता चलेगा कि आपके शरीर में विटामिन-सी की कमी है।

और पढ़ें :हर उम्र में दिखना है जवां, तो अपनाएं कोलेजन डायट

आपके शरीर में विटामिन-सी की कमी है, क्या हैं इसके संकेत?

1.मसूड़ों में समस्या

विटामिन-सी मसूड़ों और दांतों की सुरक्षा के लिए बहुत आवश्यक है। अगर आप इसे रोजाना सही मात्रा में नहीं लेते हैं, तो आपके मसूड़ों में सूजन हो सकती है। अगर आप इसके बाद भी अपने दांतों पर ध्यान नहीं देते हैं, तो आपके मसूड़ों से खून आने की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए, अपने आहार में पर्याप्त विटामिन-सी लें।

और पढ़ें : इन स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर है करौंदा, जानिए इसके 7 लाभ

2.घाव भरने में समय

अगर आपके घाव या चोट को भरने में समय लगता है, तो हो सकता है कि आपके शरीर में विटामिन-सी की कमी हो, लेकिन अगर आप हर रोज विटामिन-सी लेते हैं, तो इन समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। घाव भरने के लिए ये बहुत जरूरी होता है कि उसके ऊपर लेयर जल्द आ जाए। जिन लोगों में विटामिन सी की कमी होती है, उनमें ब्लीडिंग की अधिक संभावना बढ़ जाती है। विटामिन सी घाव के साथ ही छोटे कट को भी ठीक करने में मदद करता है। इसलिए बच्चों से लेकर बूढ़ों तक, विटामिन सी आवश्यकता सभी को होती है।

यही नहीं, अगर आपको बहुत जल्दी खरोंचे लग रही हैं, तो यह भी इस बात की तरफ संकेत है। हालांकि, घावों को देरी से भरना कुछ अन्य कारणों से भी हो सकता है जैसे, डायबिटीज की समस्या आदि।

3.बालों का झड़ना

अगर आपके बाल सामान्य से अधिक झड़ या टूट रहे हैं, तो इसका अर्थ है कि आप सही से विटामिन-सी नहीं ले रहे हैं। इसलिए, अपने बालों के लिए उत्पादों पर खर्च करने की जगह आप विटामिन-सी युक्त आहार जैसे, ब्रोकली ,संतरा, कीवी, आंवला आदि का सेवन करें। विटामिन-सी हमारे बालों को मजबूत बनाता है। इसके साथ ही, नाखूनों का जल्दी टूटना भी विटामिन-सी की कमी के कारण हो सकता है।

4.जोड़ों में दर्द

जोड़ों में दर्द या सूजन होना भी शरीर में विटामिन-सी की कमी होने का एक संकेत है। विटामिन-सी (Vitamin C)  एक बेहतरीन एंटी-ऑक्सिडेंट है, जिसकी शरीर में कमी होने से जोड़ों में दर्द और सूजन होती है। यही नहीं, अगर लगातार शरीर में दर्द हो रहा हो तो यह भी विटामिन-सी की कमी का प्रतीक है। इसके लिए अपने आहार में पर्याप्त विटामिन-सी लें।

और पढ़ें : कैसे बनाएं हेल्दी फूड हैबिट्स? जानिए कुछ आसान तरीके

5.कमजोर इम्युनिटी

अगर आप लगातार किसी बीमारी से पीड़ित हैं, जैसे सर्दी, खांसी, जुकाम या इंफेक्शन आदि, तो समझ लें कि शायद आपके शरीर में विटामिन-सी की कमी है। विटामिन-सी सफेद रक्त कोशिकाओं के अधिक उत्पादन में मदद करता है, जिससे हमारा शरीर इंफेक्शन या एलर्जी से बचे रहते हैं । लेकिन, विटामिन-सी की कमी होने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होगी। 

कोरोना महामारी से बचाव के लिए अच्छी इम्यूनिटी की होना बहुत जरूरी है। जिन लोगों की इम्यूनिटी अच्छी होती है, उन लोगों को इंफेक्शन का खतरा कम होता है। अगर आपको जानकारी नहीं है तो हम आपको बताते चले कि विटामिन सी इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम भी करता है। इम्यूनिटी यानी प्रतिरोधक क्षमता अगर आपकी मजबूत होगी तो आप इंफेक्शन से लड़ने के लिए सक्षम हो जाते हैं। विटामिन सी का सेवन करने से शरीर में वाइट ब्लड सेल्स के प्रोडक्शन में बढ़त हो जाती है। ऐसा होने से शरीर खुद को वायरस या बैक्टीरिया से बचाने में अधिक सक्षम हो जा जाता है। दिन में आपको कितनी विटामिन सी की मात्रा लेनी है, आप इस बारे में डॉक्टर से जानकारी ले सकते हैं।

6.वजन का बढ़ना

अगर आपका वजन लगातार बढ़ रहा है, तो इसे भी विटामिन-सी की कमी ही मानें। शोध के अनुसार, कम विटामिन-सी और अधिक शारीरिक वसा में बहुत गहरा संबंध है, जिससे बेली फैट बढ़ता है । अगर ऐसा है, तो डॉक्टर की राय लें। हड्डियों की कमजोरी भी विटामिन-सी की कमी के कारण हो सकता है।

7.विटामिन-सी की कमी के लक्षण: थकावट

शरीर में अगर विटामिन-सी की सही मात्रा न हो, तो आपको थकावट महसूस होगी। इससे आपका पूरा दिन नीरस गुजरेगा। विटामिन-सी का सबसे बड़ा लक्षण है, बहुत जल्दी थक जाना। इसकी कमी से पीड़ित व्यक्ति का किसी भी कार्य में मन नहीं लगता।

8.त्वचा संबंधी समस्याएं

विटामिन-सी कोलेजन उत्पादन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए, अगर आप विटामिन-सी सही मात्रा में नहीं लेंगे, तो आपकी त्वचा रूखी और ढीली हो जाएगी। यही नहीं, आपके चेहरे पर झुर्रियां भी हो सकती है। सुंदर और स्वस्थ त्वचा पाने के लिए आपको पर्याप्त विटामिन-सी लेना चाहिए। विटामिन-सी सही मात्रा में लेने से आपकी त्वचा नरम, मुलायम और स्वस्थ बनेगी। यही नहीं, इससे मुहांसे आदि भी दूर होंगे।

और पढ़ें : अंडरवेट पुरुष खाएं ये चीजें और हो जाएं हेल्दी

9.विटामिन-सी की कमी के लक्षण:  नाक से खून आना

 अक्सर देखा गया है कि कुछ लोगों की नाक से अचानक खून आने लगता है। जिसका कारण समझ नहीं आता। इसलिए कभी -कभी हम इसे नजरअंदाज भी कर देते हैं।   ऐसा विटामिन सी की कमी के कारण होता है। यह एक गंभीर समस्या है। विटामिन सी के सेवन से यह ठीक हो सकता है। नाक में छोटे-छोटे खून के पात्र होते हैं और विटामिन-सी (Vitamin C) उन्हें कमजोर होने से बचाता है। अगर यह मजबूत नहीं हैं, तो नाक से खून आ सकता है।

शरीर में विटामिन सी की कमी के कारण बॉडी में ये संकेत नजर आते हैं। जो इस बात का अहसास कराते हैं कि आपको अपने आहार में विटामिन सी को शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप अपने आहार में विटामिन सी के अच्छे स्त्रोत जैसी संतरा , आलू , किवी , आम , अमरूद आदि को शामिल कर सकते हैं। अगर आहार में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा के बाद भी कुछ लक्षण नजर आ रहे हैं तो एक बार अच्छे डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

10.विटामिन-सी की कमी के लक्षण:  एनीमिया

विटामिन-सी और आयरन की कमी अक्सर एक साथ ही होती है। आयरन की कमी से थकावट, पीलापन, सांस लेने से समस्या, सिरदर्द  जैसी समस्याएं हो सकती है। अगर शरीर में विटामिन-सी की कमी हो, तो इससे शरीर में आयरन की कमी जिसे एनीमिया भी कहा जाता है। यह रोग भी हो सकता है। 

और पढ़ें :जानें हेल्दी लाइफ के लिए आपका क्या खाना जरूरी है और क्या नहीं

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ब्लड कैंसर से बचाव करता है विटामिन सी

मानव शरीर को रोगों से लड़ने के लिए विटामिन्स की जरूरत होती है। लेकिन, हाल ही में की गई एक रिसर्च में सामने आया कि रोजाना विटामिन सी का सेवन ब्लड कैंसर यानि कि ल्यूकेमिया को रोकने में कारगर साबित हो सकता है। वहीं कुछ पुरानी रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि विटामिन सी की कमी वाले लोगों में कैंसर से ग्रस्त होने का जोखिम अधिक होता है। साथ ही इसको लेकर और रिसर्च की जा रही है। वहीं शोध में यह बात भी सामने आई है कि स्टेम कोशिकाएं विटामिन सी को अवशोषित करती हैं और कोशिकाओं के काम करने को कंट्रोल करती हैं और ब्लड कैंसर के विकास को रोकती हैं। इस रिसर्च को अमेरिका स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास साउथवेस्टर्न मेडिकल सेंटर में किया गया। शोधकर्ताओं ने बताया कि स्टेम सेल डीएनए पर कुछ रासायनिक संशोधनों के प्रचुरता को विनियमित करने के लिए विटामिन-सी का इस्तेमाल करते हैं,जो एपीजिनोम का हिस्सा हैं।

विटामिन-सी की कमी से कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे दिल की बीमारी, बालों का रूखा और बेजान होना, कमजोर हड्डियां आदि। विटामिन-सी शरीर की गंदगी को बाहर निकालने में भी लाभदयक है। इन सभी समस्याएं को दूर करने का केवल एक ही इलाज है और वो है विटामिन-सी युक्त चीजों का सेवन। बच्चों के सही विकास के लिए भी विटामिन-सी युक्त आहार लेना बेहद आवश्यक है। 

विटामिन सी का अधिक सेवन करने से हो सकती हैं ये समस्याएं

विटामिन सी की कमी के लक्षणों को समझने के बाद ऐसा न करें कि अधिक मात्रा में विटामिन सी युक्त पदार्थों को सेवन करने लगे। विटामिन सी की उचित मात्रा का सेवन करना बहुत जरूरी है, अगर विटामिन सी को अधिक मात्रा में लिया जाए तो ये शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं भी खड़ी कर सकता है। अधिक मात्रा में विटामिन सी का सेवन पथरी की समस्या, डायरिया की समस्या, पेट में जलन की समस्या भी पैदा कर सकता है। बेहतर होगा कि डॉक्टर की निगरानी में ही इसका सेवन करें।

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको इस बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो आप डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं। आशा है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आपको विटामिन सी की कमी के लक्षण के बारे में जानकारी भी मिल गई होगी। अगर आपको अधिक जानकारी चाहिए तो आप हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में कमेंट कर भी जानकारी ले सकते हैं। आप इस जानकारी को अन्य लोगों के साथ शेयर करें ताकि उन्हें भी विटामिन-सी की उपयोगिता के बारे में पता चले और वो इसे अपनी डायट में शामिल करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Tendocare Forte Tablet : टेंडोकेयर फोर्टे टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

टेंडोकेयर फोर्टे टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, टेंडोकेयर फोर्टे टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Tendocare Forte Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

Becosules z: बीकासूल जेड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए बीकासूल जेड की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Becosules z डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu

Ostocalcium: ओस्टोकैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए ओस्टोकैल्शियम (Ostocalcium) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, ओस्टोकैल्शियम डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Becadexamin: बेकाडेक्सामिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए बेकाडेक्सामिन (Becadexamin) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, बेकाडेक्सामिन डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

बेबी के लिए मशरूम, babies ke liye mushrooms

बेबी के लिए मशरूम सुरक्षित होता है या नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 10, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोलेजन सप्लिमेंट (Collagen Supplements)

कोलेजन सप्लिमेंट से सिर्फ त्वचा ही नहीं, बल्कि दिल भी रहता है स्वस्थ्य 

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 8, 2021 . 6 मिनट में पढ़ें
न्यूट्रिशन

Nutrition: क्या आपको मिल रहा है पूरा न्यूट्रिशन? न्यूट्रिएंट्स के बारे में जानें सब कुछ

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 7, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें
जेविट कैप्सूल

Zevit Capsule : जेविट कैप्सूल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 17, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें