home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जेलेटिन के 5 बेहतरीन फायदे, जानें क्यों माना जाता है इसको इतना हेल्दी

जेलेटिन के 5 बेहतरीन फायदे, जानें क्यों माना जाता है इसको इतना हेल्दी

हम जब स्वस्थ भोजन के बारे में सोचते हैं तो जेलेटिन का नाम हमारे दिमाग में बार-बार आता हैं। जिलेटिन एक तरह का प्रोटीन है, जो स्किन, टेंडन, लिगामेंट्स और हड्डियों को पानी में उबालकर बनाया जाता है। यह आमतौर पर गाय या सूअर के हड्डियों, रेशेदार ऊतकों और जानवरों के अंगों से तैयार किया जाता है। जेलेटिन का उपयोग शैम्पू, फेस मास्क और अन्य सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है। तो आज हम आपको जेलेटिन के फायदे के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं जिससे आप अपनी जरूरत के अनुसार जेलेटिन के फायदे का उपयोग कर सकें।

और पढ़ें: विटामिन-सी कितना फायदेमंद, जानिए पूरा ज्ञान

क्या होता है जेलेटिन (Gelatin)?

यह एक मांसाहारी खाद्य पदार्थ है। यह पूरी तरह से प्रोटीन से बना होता है, और इसमें पाए जाने वाला एमिनो एसिड इसे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बनाते हैं। कोलेजन मनुष्यों और जानवरों में पाया जाने वाला प्रोटीन है। यह शरीर में त्वचा, हड्डियों और टेंडन में सबसे भरपूर मात्रा में होता है।

दूसरे शब्दों में कहा जा सकता है कि जेलेटिन पशु उत्पादों से बना एक प्रोटीन है। अमिनो एसिड होने की वजह से इसके काफी सारे स्वास्थ्य संबंधी लाभ हैं, लेकिन जेलेटिन के फायदे सबसे ज्यादा त्वचा और जोड़ों के दर्द में लाभदायक साबित होता है। इसके अलावा इसका उपयोग खाने, कॉस्मेटिक उत्पाद और दवाइयों के निर्माण के लिए भी किया जाता है।

इसमें मौजूद प्रोटीन की उच्च मात्रा इसे किसी बीमारी से रिकवर हो रहे मरीजों के लिए पहली पसंद बनाती है। उत्पाद जानवरों की मसल्स, हड्डियों और स्किन से कोलेजन (collagen) निकालकर उसे जेलेटिन में बदलते हैं, जो कि दिखने में कुछ-कुछ जेली जैसा होता है। इसमें आमतौर पर ग्लाइसिन, प्रोलाइन और वेलिन नामक अमिनो एसिड होते हैं।

वेलिन एक जरूरी अमिनो एसिड (amino acid) होता है, जिसका उत्पादन मानव शरीर नहीं कर सकता। इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि इसे आहार द्वारा ही लिया जा सकता है।

और पढ़ें: रेड वाइन पीना क्या बना सकता है हेल्दी, जानिए इसके हेल्थ बेनीफिट्स

जेलेटिन (Gelatin) में मिलता है एमिनो एसिड

जिलेटिन में पाए जाने वाले अमीनो एसिड आमतौर पर कुछ जानवरों की हड्डियों और अंगों में पाए जाते हैं। ज्यादातर लोग जानवरों के उन शरीर के हिस्सों को नहीं खाते हैं इसलिए, जेलेटिन का पोषण उन लोगों को नहीं मिलता है। वेलिन एक आवश्यक अमीनो एसिड है, जो हमारे शरीर में नहीं बन पाता इसीलिए, जेलेटिन इसकी भरपाई कर सकता है।

जेलेटिन (Gelatin) का कंम्पोजीशन क्या है?

इसमें सबसे ज्यादा मात्रा में अमीनो एसिड होता है, जिसका कंम्पोजीशन नीचे दिया गया है।

  • ग्लाइसिन : 27%
  • प्रॉलाइन : 16%
  • वेलिन : 14%
  • हाइड्रोक्सीप्रलाइन : 14%
  • ग्लूटामिक एसिड : 11%

और पढ़ेंः क्या ब्राउन शुगर से ज्यादा हेल्दी है स्टीविया? जानें स्टीविया के फायदे और नुकसान

जेलेटिन के फायदे क्या हैं?

जेलेटिन के फायदे निम्न हैं, जिनमें शामिल हैंः

त्वचा में सुधार

कोलेजन त्वचा को स्वस्थ और युवा बनाता है। जैसे-जैसे लोगों की उम्र बढ़ती है, उनमें स्वाभाविक रूप से कोलेजन की कमी होने लगती है। इस कारण त्वचा कड़ी और रूखी होने लगती है। परिणामस्वरूप त्वचा पर झुर्रियां और रेखाएं आने लगती हैं। यह कोलेजन का एक बड़ा स्रोत है और यह त्वचा को जवान और स्वस्थ बनाएं रखने के लिए एक प्राकृतिक तरीका हो सकता है।

प्रोटीन मिले हर बार

यह प्रोटीन का भंडार है। यह प्रोटीन का एक मुख्य स्रोत है जिसमें वसा भी नहीं होती है।

पाचन तंत्र को करे फिट

यह पाचन तंत्र को बेहतर बनाएं रखने में मदद करता है। जिलेटिन कई अलग-अलग तरीकों से पाचन में सहायता कर सकता है। जेलेटिन में पाए जाने वाला ग्लाइसीन (glycine) पेट में म्यूकोसल के स्तर को बढ़ाता है।

और पढ़ें : क्या आप जानते हैं दूध से एलर्जी (Milk Intolerance) का कारण सिर्फ लैक्टोज नहीं है?

ब्लड शुगर को करें नियंत्रित

एक अध्ययन से हमें ये पता चलता है कि ग्लाइसीन, जो कि जेलेटिन में ज्यादा मात्रा में पाया जाता है टाइप 2 वाले मधुमेह के रोगियों में ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में बहुत मदद कर सकता है।

जेलेटिन प्रोटीन से भरपूर है। जेलेटिन हड्डियों के दर्द को कम करता है, दिमाग की कार्यक्षमता को बढ़ाता है और त्वचा पर आने वाली झुर्रियों को भी कम करने में मदद करता है।

जेलेटिन आपके जोड़ों की रक्षा करता है

जेलेटिन के फायदे शरीर के जोड़ों के स्वास्थ्य में सुधार लाने में मदद कर सकते हैं। जिसके लिए खासतौर पर बॉडी बिल्डर्स इसका इस्तेमाल करते हैं। कुछ शोधों से पता चलता है कि दौड़ने या तैराकी करने वाले एथलीट जेलेटिन के सेवन से अपने जोड़ों में होने वाले दर्द को कम कर सकते हैं और उन्हें अधिक मजबूत भी बना सकते हैं। इसके अलावा, ऐसे लोग जो बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं और उसके कारण उनके जोड़ों में दर्द की समस्या है, तो इससे राहत पाने के लिए भी वे जेलेटिन के फायदे उठा सकते हैं।

जेलेटिन के फायदे और भी कई कामों में हैं जैसे :

  • वजन घटाने में
  • पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस (osteoarthritis), रुमेटॉइड आर्थराइटिस (rheumatoid arthritis), ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) के इलाज के लिए।
  • हड्डियों, जोड़ों और नाखूनों को मजबूती देने के लिए।
  • बालों को काला घना और मजबूत बनाने के लिए।
  • खेल या एक्सरसाइज के दौरान लगी चोट को ठीक करने के लिए।
  • अच्छी नींद के लिए

जेलेटिन कैसे काम करता है?

जेलेटिन कैसे काम करता है, इस पर अभी कम ही अध्ययन हुआ है। अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बलिस्ट या डॉक्टर से बात करें। हालांकि, इस बात की पुख्ता जानकारी है कि जेलेटिन (Gelatin) में कोलेजन होता है, जो कार्टिलेज और हड्डी निर्माण में सहायक होते हैं। यही कारण है कि कुछ लोगों को इस बात का यकीन है कि जेलेटिन गठिया और दूसरे जोड़ों के दर्द के इलाज में कारगर सिद्ध होता है।

जेलेटिन के क्या साइड इफेक्ट हैं?

इसके उपयोग के कारण ऐसा हो सकता है :

  • खराब स्वाद
  • पेट मे भारीपन
  • सीने में जलन
  • सूजन
  • डकार
  • कुछ लोगों को एलर्जी की भी शिकायत हो सकती है।

इसके सेवन से बोवाइन स्पौंजीफॉर्म एन्सेफैलोपैथी (bovine spongiform encephalopathy) पशु जनित रोगों के होने की आशंका बढ़ जाती है। इसके अलावा एनआईएच (NIH) के मुताबिक 6 महीने तक सिर्फ 10 ग्राम तक ही जेलेटिन का मुंह से सेवन करना सुरक्षित हो सकता है। चूंकि ये जानवरों से बनने वाला प्रोडक्ट है, इसलिए वीगन या वेजीटेरियन डायट में इसे शामिल नहीं किया जा सकता।

जरूरी नहीं कि दिए गए साइड इफेक्ट्स का ही आपको सामना करना पड़े। ये किसी अन्य प्रकार के भी हो सकते हैं, जिन्हें यहां शामिल नहीं किया गया है। अगर आपको साइड इफेक्ट को लेकर कोई शंका है, तो अपने डॉक्टर से बात करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Gelatin and Collagen. https://www.arthritis.org/living-with-arthritis/arthritis-diet/anti-inflammatory/food-myths-arthritis-2.php. Accessed December 4, 2019

Collagen and gelatin. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/25884286. Accessed December 4, 2019

Gelatin. https://medlineplus.gov/druginfo/natural/1051.html.Accessed December 4, 2019

What is gelatin made of?. https://www.peta.org/about-peta/faq/what-is-gelatin-made-of/Accessed December 4, 2019

Gelatin – https://www.drugs.com/inactive/gelatin-57.html. Accessed July 16, 2016.

Collagen and gelatin – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/25884286   – Accessed December 4, 2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/07/2019
x