home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ginger : अदरक क्या है?

Ginger : अदरक क्या है?
अदरक (Ginger) का परिचय|अदरक (Ginger) से जुड़ी सावधानियां और चेतावनी|अदरक (Ginger) के साइड इफेक्ट |अदरक (Ginger) से जुड़े परस्पर प्रभाव या अदरक से पड़ने वाले प्रभाव |अदरक (Ginger) की खुराक

अदरक (Ginger) का परिचय

अदरक (Ginger) किस लिए इस्तेमाल किया जाता है?

अदरक का इस्तेमाल मिचली, मोशन सिकनेस, प्रेग्नेंसी और कैंसर कीमोथेरिपी के दौरान होने वाली उल्टी को रोकने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल पेट संबंधी समस्याएं जैसे अपच को ठीक करने या ओस्टियो अर्थराइटिस के दर्द को कम करने या हृदय से जुड़ी बीमारियों में भी होता है।

अदरक (Ginger) कैसे काम करता है?

इसमें ऐसे कई सारे गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन और मिचली को कम करने का काम करते हैं। कई शोधकर्ता मानते हैं कि इसमें मौजूद गुण मुख्यतः पेट और आंतो के लिए काम करते है। इसके अलावा ये औषधीय गुण दिमाग और नर्वस सिस्टम पर भी असर डालते हैं, जिसकी वजह से मिचली को नियंत्रित किया जाता है।

अदरक (Ginger) से जुड़ी सावधानियां और चेतावनी

अदरक (Ginger) के सेवन से पहले मुझे इसके बारे में क्या जानकारी होनी चाहिए?

इसका इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर या फार्मासिस्ट या फिर हर्बल विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए

  • अगर आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप बच्चे को फीडिंग कराती हैं, तो अपने डॉक्टर के अनुसार ही आपको दवाओं का सेवन करना चाहिए।
  • आप कोई ऐसी दूसरी दवा ले रहे हैं जोकि बिना डॉक्टर की पर्चे के आसानी से मिल जाती हैं।
  • आप पहले से किसी तरह की बीमारी जैसे पथरी की समस्या से ग्रसित हैं।
  • आपको पहले से ही खाने पीने वाली चीजों, डाइ या किसी जानवर आदि से एलर्जी हो।
  • आप किसी सर्जरी या किसी एनास्थीसिया के इस्तेमाल से पहले अदरक का सेवन करना चाहते हैं, तो पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम, दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरूरत है। इस हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरूरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

अदरक (Ginger) कैसे सुरक्षित है?

बच्चों में :

ऐसा माना जाता है कि दो साल से छोटे बच्चों के लिए अदरक सुरक्षित नहीं है।

प्रेग्नेंसी के दौरान :

प्रेग्नेंसी के समय अदरक का इस्तेमाल अभी विवादास्पद है। ऐसे कई मामले हैं जहां अदरक, होने वाले बच्चों के सेक्स हॉर्मोन को प्रभावित करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गर्भवती महिला को रोजाना एक ग्राम से ज्यादा अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए।

स्तनपान के दौरान :

स्तनपान के दौरान अदरक के इस्तेमाल को लेकर अभी बहुत ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसलिए बेहतर यही होगा कि स्तनपान के समय अदरक का सेवन करने से परहेज करें।

अदरक (Ginger) के साइड इफेक्ट

अदरक के इस्तेमाल से मुझे क्या क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

आमतौर पर अदरक के सेवन से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हों ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं, तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

अदरक (Ginger) से जुड़े परस्पर प्रभाव या अदरक से पड़ने वाले प्रभाव

अदरक के सेवन से अन्य किन-किन चीजों पर प्रभाव पड़ सकता है ?

अदरक के सेवन से आपकी बीमारी या आप जो वतर्मान में दवाइयां खा रहे हैं उनके असर पर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए सेवन से पहले डॉक्टर से इस विषय पर बात करें।

अदरक निम्नलिखित दवाओं के असर को प्रभावित कर सकता है। जैसे:

  • ब्लड को पतला करने वाली दवाइयां: अदरक ब्लीडिंग के खतरे को बढ़ा सकता है। क्लॉटिंग को कम करने वाली दवाइयों के साथ अगर अदरक का इस्तेमाल किया जाता है, तो ब्लीडिंग की संभावना बढ़ सकती है। जैसे एस्प्रिन, क्लोपीडोग्रेल (प्लाविक्स), डिक्लोफेनाक (वोल्टारेन, कैटाफ्लेम, अन्य), आइबूप्रोफ्रेन (एड्विल, मोट्रीन एवं अन्य), नेप्रोक्सेन ( ऐनारोक्स, नेप्रोसिन एवं अन्य), डेल्टापैरिन (फ्रैग्मिन), इनोक्सापैरिन (लिवोनोक्स), हिपेरिन, वॉरफैरिन (कोमाडीन), फेनप्रोकॉमन (एक एंटी-क्लॉटिंग दवा जोकि यूएस के बाहर उपलब्ध है) एवं अन्य।
  • डायबिटीज से जुडी दवाएं: अदरक ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकता है, जिसकी वजह से हाइपोग्लाईसीमिया का खतरा बढ़ सकता है
  • हाई ब्लड प्रेशर से जुडी दवाएं: अदरक आपके ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है, जिसकी वजह से आपकी हार्टबीट अनियंत्रित हो सकती है।

और पढ़ें : Makhana : मखाना क्या है?

अदरक (Ginger) की खुराक

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आमतौर पर कितनी मात्रा में अदरक खाना चाहिए?

अदरक की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

बच्चों में:

  • दो साल से कम आयु के बच्चों को अदरक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • दो साल से ऊपर के बच्चे मिचली, पेट दर्द, सिर दर्द में अदरक का सेवन कर सकते हैं। इसकी सही खुराक के लिए अपने डॉक्टर से सम्पर्क जरूर करें।

वयस्कों में :

खाने के रूप में इस्तेमाल : चार ग्राम से ज्यादा मात्रा में अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए।

  • मिचली, गैस या अपच में: कुछ अध्ययनों के मुताबिक रोजाना एक ग्राम अदरक की अलग-अलग खुराक लेनी चाहिए।
  • प्रेगनेंसी के दौरान उल्टी में: इस स्थिति में एक ग्राम अदरक का सेवन कर सकते हैं। बिना डॉक्टर से सलाह लिए अदरक का सेवन न करें।
  • आर्थराइटिस के दर्द में: रोजाना दिन में चार बार 250 मिली ग्राम अदरक का सेवन करना चाहिए।
  • पीरियड के दौरान होने वाले दर्द में: पीरियड्स शुरू होने के तीन दिन बाद आप 250 मिलीग्राम अदरक एक्सट्रेक्ट (जिन्टोमा, गोल्दारू) रोजाना दिन में चार बार ले सकते हैं। इसके अलावा पीरियड्स शुरू होने के दो दिन पहले और पीरियड्स के शुरूआती तीन दिन तक आप 1500 मिली अदरक पाउडर रोजाना तीन अलग-अलग खुराकों में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • मोशन सिकनेस में: इसके लिए 500 से 2500 मिलीग्राम अदरक रोजाना दो से चार अलग-अलग खुराकों में तीन दिन से लेकर तीन हफ्ते तक इस्तेमाल करना चाहिए।
  • सर्जरी के बाद उल्टी और मिचली में: एनेस्थीसिया लेने के 30 से 60 मिनट पहले 1-2 ग्राम अदरक पाउडर इस्तेमाल किया जा सकता है। कभी कभी सर्जरी के 2 घंटे बाद भी 1 ग्राम अदरक इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • एचआईवी/ एड्स के इलाज के दौरान होने वाली मिचली और उल्टी में: हर एंटी-रेट्रोवायरल इलाज से 30 मिनट पहले तक रोजाना लगातार 14 दिनों तक एक ग्राम अदरक दो अलग-अलग खुराकों में इस्तेमाल किया जा सकता है।

और पढ़ें : Witch Hazel: वीच-हेजल क्या है?

लगाने के रुप में इस्तेमाल (Topical Route) :

ऑस्टियो-आर्थराइटिस में: एक खास किस्म का जेल जिसमे अदरक और प्लाई (प्लाईजर्सिक जेल, थाईलैंड इंस्टीट्यूट ऑफ़ साइंटिफिक एंड टेक्नोलोजिकल रिसर्च) चार ग्राम रोजाना, चार अलग-अलग खुराकों में छह हफ्ते के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

किन लोगों को अदरक (Ginger) का सेवन नहीं करना चाहिए?

निम्नलिखित शारीरिक परेशानी या स्थिति होने पर अदरक का सेवन अपनी मर्जी से न करें। जैसे:

  • हार्ट रिलेटेड प्रॉब्लम
  • सेंट्रल नर्वस सिस्टम से जुड़ी समस्या
  • पेट से संबंधित परेशानी
  • ब्लड प्रेशर की समस्या
  • गर्भवती होने पर

यही नहीं पित्त दोष की वजह से स्टोन की बीमारी और बच्चों को बुखार होने पर अदरक का सेवन नहीं करवाना चाहिए।

अदरक (Ginger) किन रूपों में उपलब्ध है?

अदरक सप्लीमेंट निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध हो सकता है

  • अदरक एक्सट्रेक्ट, टिंचर, जैल, कैप्सूल, और तेल
  • ताजा अदरक की जड़ जो चाय बनाने में इस्तेमाल होती है।

आयुर्वेदिक जानकारों के मुताबिक अदरक में ऐसे कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं, जो बॉडी की इम्यून पवार (रोग प्रतिरोधक क्षमता) को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसलिए सर्दियों के मौसम के साथ-साथ मौसम बदलने की वजह से होने वाले सर्दी-जुकाम से बचने के लिए अदरक के सेवन की सलाह दी जाती है। हालांकि अदरक स्वास्थ्य के लाभकारी होने के साथ-साथ अगर इसका सेवन आवश्यकता से ज्यादा किया गया, तो इसके साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए जरूरत से ज्यादा इसका सेवन न करें। अगर आप अदरक से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

11 Benefits of Ginger That You Didn’t Know About/https://www.lifehack.org/articles/lifestyle/10-benefits-of-ginger-that-you-didnt-know-about.html/Accessed on 16/12/2020

Ginger/https://nutritionfacts.org/topics/ginger/Accessed on 16/12/2020

AUSTRALIAN GINGER INDUSTRY ASSOCIATION/https://www.australianginger.org.au/Accessed on 16/12/2020

Precision Research on Ginger: The Type of Ginger Matters/https://pubs.acs.org/doi/10.1021/acs.jafc.0c03888/Accessed on 16/12/2020

You Won’t Believe How Powerful Ginger Can Be for Fighting Migraines Naturally/https://foodrevolution.org/blog/ginger-migraines/Accessed on 16/12/2020

 

 

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anoop Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/07/2019
x