backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

एक दिन में हमारे शरीर को कितनी पानी की मात्रा की होती है जरूरत

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 02/07/2020

एक दिन में हमारे शरीर को कितनी पानी की मात्रा की होती है जरूरत

खाने-पीने को लेकर हर व्यक्ति की अपनी क्षमता होती है। जैसे कोई एक समय के भोजन में पांच चपाती खाता है, तो किसी-किसी का पेट केवल दो रोटी से ही भर जाता है। खाने के साथ जो चीज सबसे अधिक महत्वपूर्ण है, वो है पानी। इंसान खाने के बिना कुछ समय तक रह सकता है लेकिन, पानी के बिना बिल्कुल नहीं। शरीर में पानी की कमी नहीं हो, इसके लिए हमें पर्याप्त पानी की आवश्यकता होती है। लेकिन, इस बात के बारे में भी हमें पता होना चाहिए कि हमें रोजाना कितना पानी पीना चाहिए। पानी की मात्रा बिल्कुल सही होनी चाहिए। शरीर में पानी की मात्रा कितनी होनी चाहिए यह मनुष्य के लिंग, उम्र और शारीरिक गतिविधियों पर भी निर्भर करता है। आइए आज जानते हैं कि हमें रोजाना कितना पानी पीना चाहिए। सबसे पहले जानते हैं कि पानी हमारे लिए कितना जरूरी है।

और पढ़ेंः क्या है ब्राउन शुगर और वाइट शुगर, जानें चीनी के प्रकार

पानी की मात्रा हमारे लिए कितना जरूरी है?

  • पानी पीने से शरीर की गंदगी और हानिकारक चीजें शरीर से बाहर निकल जाती है, जिससे शरीर स्वस्थ और फिट रहता है।
  • पानी पीने से शरीर का तापमान सामान्य रहता है।
  • पानी जोड़ों के स्वास्थ्य और चिकनाई के लिए लाभदायक है।
  • पानी की कमी होने पर डिहाइड्रेशन हो सकती है। डिहाइड्रेशन वो स्थिति है जब शरीर में पानी की कमी होती है। और आप अपने रोजाना के सामान्य काम भी नहीं कर पाते। यही नहीं, शरीर में थोड़ा-सी डिहाइड्रेशन होने से ही ऊर्जा कम हो जाती है, जिससे थकान होती है।
  • पानी अधिक पीने से कब्ज की परेशानी दूर होती है। 
  • अध्ययन के अनुसार, अधिक पानी पीने से ब्लैडर और कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा कम हो जाता है।
  • पानी पीने से गुर्दे की पथरी होने की संभावना कम हो जाती है। यही नहीं, कुछ मामलों में यह बाहर भी निकल जाती है।
  • पानी पीने से न केवल हमारा शरीर ही नहीं, बल्कि त्वचा भी स्वस्थ रहती है। इससे मुंहासे भी दूर होते हैं।

पानी की मात्रा की जरूरत

अब सवाल यह उठता है कि एक स्वस्थ वयस्क को सामान्य तापमान में रोजाना कितना पानी पीना चाहिए। नेशनल अकेडमी ऑफ साइंसेज के अनुसार, व्यक्ति को दिन में इतना पानी पीना चाहिए।

  • पुरुष को 15.5 cups (3.7 liters)
  • महिला 11.5 cups (2.7 liters)

इस पानी की मात्रा को आप किसी भी तरह के खाने या आहार से प्राप्त कर सकते हैं। शरीर सही से काम करे, इसलिए आपको पानी के साथ-साथ ऐसी चीजों का भी सेवन करना चाहिए, जिसमें पानी होता है।

और पढ़ें: विटामिन-सी कितना फायदेमंद, जानिए पूरा ज्ञान

8×8 नियम

हमारा शरीर 60% पानी से बना होता है। यूरिन और पसीने के माध्यम से हमारे शरीर से लगातार पाना बाहर निकलता है। इसलिए शरीर में पानी की कमी न हो, इसके लिए हमारा सही मात्रा में पानी पीना जरूरी है। इसके बारे में लोगों का अलग-अलग मानना है। जैसे कुछ लोग कहते हैं कि हमें हर दिन छह गिलास पानी पीना चाहिए, तो कुछ लोग रोजाना 10 गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं। कम के साथ-साथ अधिक पानी पीना भी शरीर के लिए लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए स्वास्थ्य अधिकारी सामान्यतया रोजाना आठ गिलास यानी दो लीटर पानी पीने की सलाह देते हैं। इसे 8×8 नियम कहा जाता है। उनके अनुसार तब भी पानी पीना चाहिए, जब हमें प्यास न भी लगी हो। हालांकि, हर व्यक्ति की पानी की जरूरत अलग होती है।

अन्य नियम

कुछ लोग कितना पानी पीना चाहिए इसे लेकर एक खास फॉर्मूला भी बताते हैं। जैसे आपको अपने शरीर के भार के अनुसार पानी पीना चाहिए। यानी जो भी आपका वजन है उसे 30 से भाग कर दें। उसके परिणाम के अनुसार आपको पानी पीना चाहिए। यानी अगर आपका वजन 60 किलो है, तो उसे 30 से भाग कर दें। इसका परिणाम दो होगा यानी आपको पूरे दिन में दो लीटर पानी पीना चाहिए।  वैसे इसके बारे में तो कुछ सही से नहीं कहा जा सकता। लेकिन, यह सच है कि पानी पीना हमारे लिए बहुत आवश्यक है। आपको जितनी जरूरत हो उतना पानी पीएं और कम से कम अवश्य सात से आठ गिलास पानी पिएं।

[mc4wp_form id=’183492″]

पानी के फायदे

  • बुखार या मलेरिया होने पर जब लोगों को ठंड महसूस होती है, ऐसे में गुनगुना पानी पीना फायदेमंद हो सकता है।
  • बुखार का शिकार होने पर शरीर से पसीना निकालने के लिए भी गर्म पानी पीने की जरूरत होती है।
  • गठिया की बीमारी में भी गुनगुना पानी पीना चाहिए। पेट दर्द में गर्म पानी फायदा पहुंचता है।
  • जुकाम होने पर नीबू डालकर पानी पीने से लाभ होता है। पथरी रोग में पर्याप्त पानी पीने से यकृत साफ रहता है, पित्त तरल होता है व पथरी गलकर निकल जाती है।

और पढ़ें : जानिए क्या है जापानी वॉटर थेरिपी, कैसे करती है शरीर को फायदा?

कुछ स्थितियों में आपको अधिक पानी की मात्रा की भी आवश्यकता पड़ सकती है जैसे:

व्यायाम

व्यायाम करने से अधिक पानी शरीर से बाहर निकलता है इसलिए व्यायाम के बाद आपको अधिक पानी पीना चाहिए।

मौसम

गर्मी के मौसम में अधिक पानी और सर्दियों के मौसम में कम पानी की जरूरत होती है।

और पढ़ें : चाय, कॉफी की जगह पिएं गर्म पानी, फायदे हैरान कर देंगे

स्वास्थ्य

जब आप बीमार हों जैसे आपको बुखार, उल्टी या डायरिया आदि हो, तो आपको डॉक्टर अधिक से अधिक पानी पीने की सलाह देते हैं और  पानी की मात्रा अधिक लेनी चाहिए।

गर्भावस्था या स्तनपान

गर्भावस्था या स्तनपान में आपको अधिक पानी की जरूरत होती है।

अधिक शारीरिक श्रम

अगर कोई व्यक्ति कड़ी धूप में अधिक शारीरिक श्रम करता है, तो उसे भी अधिक पानी पीने की आवश्यकता होती है।

ज्यादातर लोगों को जान-बूझकर पानी की मात्रा या पानी पीने के बारे में अधिक सोचने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मस्तिष्क में प्यास तंत्र बहुत प्रभावी होता है।

सामान्यतया व्यक्ति को आठ गिलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन, इस नियम को बनाते हुए व्यक्ति के लिंग, उम्र या शारीरिक गतिविधियों का ध्यान नहीं दिया गया है। अगर आप छोटे हैं या आप कम शारीरिक गतिविधियों वाला काम करते हैं, तो आपके लिए आठ गिलास पानी पीना अधिक हो सकता है। इतना अधिक पानी पीने से आपके शरीर के पोषक तत्व जैसे सोडियम भी शरीर से बहार निकल जाते हैं। वहीं, दूसरी ओर अगर बहुत अधिक गर्मी में कोई व्यक्ति कड़ी मेहनत कर रहा है, तो आठ गिलास पानी उसके लिए कम पड़ सकता है। इसलिए, इन सभी चीजों का ध्यान रखते हुए आपको रोजाना कितनी पानी की मात्रा लेनी चाहिए, इस बात को निर्धारित करना चाहिए।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Anu sharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 02/07/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement