home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Crohn's Disease : क्रोहन रोग क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

परिचय |लक्षण|कारण |क्रोहन रोग का खतरा किन कारणों से बढ़ जाता है ?|कैसे करें ​क्रोहन रोग का उपचार ?|जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार
Crohn's Disease : क्रोहन रोग क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

परिचय

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) क्या है?

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) से पाचन तंत्र में सूजन आ जाती है। यह सूजन पाचन तंत्र (Digestive system) के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है, लेकिन, ज्यादातर यह छोटी आंत या बड़ी आंत को प्रभावित करती है।

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) कितना सामान्य है ?

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) पुरुषों और महिलाओं, किसी को भी प्रभावित कर सकता है और ये किसी भी उम्र में हो सकता है। ये बीमारी ज्यादातर 15 से 35 की उम्र के किशोरों और युवा वयस्कों (Adult) में अधिक होती है। इसके कारणों को नियंत्रित कर के बीमारी से निपटा जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से सलाह करें।

और पढ़ें : स्किन टाइटनिंग के लिए एक बार करें ये उपाय, दिखने लगेंगे जवान

लक्षण

क्रोहन रोग के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Crohn’s Disease)

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) के कुछ सामान्य लक्षण हैं:

ऊपर बताए गए लक्षणों में से आपको कोई भी दिखे या दिए गए संकेतों को लेकर कोई चिंता है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : Ambroxol : एम्ब्रोक्सॉल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्टर को ​कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिख रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें, जैसे कि:

  • पेट में दर्द,
  • पॉटी से खून आना
  • एक या दो दिन से अधिक समय तक बुखार बने रहना,
  • तेजी से वजन घटना (Weight loss) आदि।

और पढ़ें : विटामिन ई की कमी के लिए इन चीजों को तुरंत खाएं

कारण

क्रोहन रोग के कारण ? (Cause of Crohn’s Disease)

  • इम्यून सिस्टम-वायरस या बैक्टीरिया क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) का कारण हो सकता है। आंत में किसी विशेष बैक्टीरिया के ऊपर प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune system) द्वारा असाधारण तरीके से प्रतिक्रिया करना।
  • आनुवंशिकता-क्रोहन उन लोगों में अधिक देखा जाता है, जिनके परिवार के सदस्य इस बीमारी से ग्रस्त होते हैं।

और पढ़ें : Jaundice : क्या होता है पीलिया ? जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

क्रोहन रोग का खतरा किन कारणों से बढ़ जाता है ?

इसके होने वाले जोखिम कारक हैं, जैसे:

दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : आंत में ऐंठन की समस्या कर सकती है बुरा हाल

कैसे करें ​क्रोहन रोग का उपचार ?

ब्लड टेस्ट (Blood test)

स्टूल टेस्ट (Stool test)

  • डॉक्टर आपके मल में छिपे रक्त का परीक्षण करने के लिए स्टूल टेस्ट कर सकते हैं।

कैसे पता लगाएं ?

  • आंतों के परीक्षण के लिए डॉक्टर को कोलोनोस्कोपी की आवश्यकता होती है। इसके लिए एक लचीली ट्यूब को पीछे के मार्ग से (कोलोनोस्कोपी या सिग्मोइडोस्कोपी) या मुंह (गैस्ट्रोस्कोपी) के द्वारा शरीर के अंदर डाला जाता है। प्रक्रिया के दौरान, आपका डॉक्टर लैब परीक्षण के लिए ऊतक के सैंपल्स (बायोप्सी) भी ले सकता है, जोकि बीमारी की पुष्टि करने में मदद कर सकता है।
  • कैप्सूल एंडोस्कोपी का उपयोग क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) के निदान में मदद करने के लिए किया जाता है।
  • डबल-बैलून एंडोस्कोपी का उपयोग छोटी आंत के परीक्षण के लिए करते हैं, जहां स्टैंडर्ड एंडोस्कोप नहीं पहुंच पाता है।
  • सीटी स्कैन।
  • एमआरआई (MRI)

और पढ़ें : आंतों की समस्याएं जो आपको पता होनी चाहिए

क्रोहन रोग का सर्जरी से होता है इलाज

क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) होने पर पहले डॉक्टर इस बीमारी के लक्षणों के आधार पर दवाएं देते हैं। दवाओं से आराम न होने पर ही सर्जरी का फैसला लेते हैं। आपको इस सर्जरी को कराने से पहले इसकी प्रक्रिया के बारे में भी पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए। आपको बता दें कि क्रोहन रोग सर्जरी करने में लगभग 90 मिनट का समय लगता है। सबसे पहले एनेस्थेटिस्ट पेट का सुन्न करते हैं।

इसके बाद डॉक्टर प्रभावित स्थान पर पेट में एक चीरा या कट लगाते हैं। फिर डॉक्टर छोटी आंत का क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) से प्रभावित भाग काट कर निकाल देते हैं। कभी-कभी बड़ी आंत का भी थोड़ा हिस्सा काटना पड़ता है। इसके बाद आंतों को आपस में जोड़ देते हैं। कभी-कभी जोड़ने की स्थिति नहीं होने पर कोलॉनोस्टमी या इलियॉस्टमी करते हैं। फिर पेट में किए गए चीरे के स्थान पर टांका लगाते हैं। आइए अब जानते हैं कि इस सर्जरी को कराने के बाद क्या होता है।

और पढ़ें : क्रोहन रोग के इलाज के लिए अब होगा AI तकनीक का इस्तेमाल

इसके अलावा वैज्ञानिकों ने क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) को समझने और इसके उपचार में मदद करने वाली एक नई आर्टिफिशियल तकनीक को ढूंढ निकाला है। यह शोध क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) से पीड़ित 111 लोगों पर किया गया, जिनमें आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से क्रोहन रोग के जेनेटिक सिग्नेचर की जांच की गई। इस तकनीक से उन जीन का खुलासा हुआ, जो क्रोहन रोग से जुड़े थे। पिछले शोध में इनका पता नहीं लगा था। सटीकता से इसकी भविष्यवाणी की गई थी कि क्या हजारों लोगों को यह बीमारी इनके चलते है।

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

निम्नलिखित जीवनशैली और घरेलू उपचार आपको क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) से निपटने में मदद कर सकते हैं:

  • कम वसा और उच्च फाइबर वाला भोजन करें। मसालेदार भोजन, शराब और कैफीन बीमारी के लक्षणों को बदतर बना सकते हैं। भोजन की छोटी-छोटी मील्स लें, आप बेहतर महसूस करेंगे। लिक्विड को अधिक मात्रा में लें।
  • आप मल्टीविटामिन लें क्योंकि, क्रोहन रोग (Crohn’s Disease)आपकी पोषक तत्वों को अवशोषित करने की क्षमता को कम कर सकता है। कोई भी विटामिन या सप्लिमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछें।
  • धूम्रपान से क्रोहन का खतरा बढ़ जाता है।
  • यदि आपको तनाव को नियंत्रित करने में परेशानी हो रही है, तो एक्सरसाइज (Workout), बायोफीडबैक और सांस लेने के व्यायाम करें।

इस आर्टिकल में हमने आपको क्रोहन रोग (Crohn’s Disease) और उसकी सर्जरी से संबंधित जरूरी बातों को बताने की कोशिश की है। इसमें हमने आपको इस सर्जरी को करने की प्रक्रिया से लेकर इसके साइड इफेक्ट्स और सर्जरी के बाद मरीज का ख्याल रखने तक के बारे में बताया है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस सर्जरी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे। अपना ध्यान रखिए और स्वस्थ रहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Crohn’s disease  http://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/carpal-tunnel-syndrome/basics/risk-factors/con-20030332 Accessed 8/1/2020

Crohn’s Disease. https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/crohns-disease. Accessed on 31 August, 2020.

Crohn’s Disease. https://medlineplus.gov/crohnsdisease.html. Accessed on 31 August, 2020.

About Crohn’s Disease. https://www.genome.gov/Genetic-Disorders/Crohns-Disease. Accessed on 31 August, 2020.

Crohn’s disease and ulcerative colitis. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ConditionsAndTreatments/crohns-disease-and-ulcerative-colitis. Accessed on 31 August, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/08/2021 को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x