पेट दर्द के सामान्य कारण क्या हो सकते हैं ?

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

पेट दर्द एक प्रकार आंतरिक दर्द है, जो पेट या उसके आसपास महसूस होता है। दर्द पेट की मांसपेशियों के भीतर अंगों से या पेट के पास के अंगों से आ सकता है। इन अंगों में कोई संक्रमण या हानि पेट दर्द का कारण बन सकती है। आपको ऐसे पेट दर्द के लिए ध्यान देना चाहिए जो लंबे समय तक रहता है, साथ ही आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि कहीं ये पेट दर्द किसी बीमारी के कारण या उसका लक्षण तो नहीं है?

पेट दर्द के कुछ सामान्य कारण इस प्रकार हैं

कब्ज

अगर आपको कब्ज की परेशानी है, तो आप पेट दर्द से बहुत परिचित होंगे। मल त्याग करने की परेशानी को कब्ज कहते हैं। जब आपके शरीर से मल त्याग नहीं होता है, तो आपके मल आपकी बड़ी आंत को प्रभावित करते हैं। आपके पेट का निचला हिस्सा बाहर की तरफ बढ़ सकता है और दर्दनाक सूजन हो सकती है। कब्ज की समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। कब्ज से बचने के लिए, आपको बहुत सारा पानी पीना चाहिए और अपने आहार में बहुत सारे फाइबर होना जरुरी हैं। नियमित व्यायाम भी आपका मल त्याग में मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें: पेट दर्द से निपटने के लिए 5 आसान घरेलू उपाय

दस्त

पेट दर्द गंभीर कारण दस्त भी हो सकता है, जो ढीला और पानी से भरा मल होता है। दस्त होने का मतलब है कि दिन में कम से कम तीन या अधिक बार आपको मलत्याग के लिए जाना पड़ता हैं। तीव्र दस्त होना, एक आम समस्या है जो आमतौर पर 1 या 2 दिनों तक रहती है और कभी-कभी अपने आप ठीक हो जाती है। यदि आपका दस्त 2 दिनों से अधिक समय तक रहता है, तो अपने डॉक्टर के जरूर मिलें। यह पेट में इंफेक्शन या अन्य किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है। दस्त के कारण डिहाइड्रेशन और आवश्यक इलेक्ट्रोलाइट्स का नुकसान हो सकता है। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ पानी का ज्यादा पानी पिएं।

गैस्ट्रोएंटेराइटिस या स्टमक फ्लू

गैस्ट्रोएंटेराइटिस, जिसे स्टमक फ्लू भी कहा जाता है, जो सामान्य स्थिति है, जिसमें बार बार दस्त और उल्टी होती है। यह आमतौर पर एक जीवाणु या वायरल इंफेक्शन के कारण होता है। कुछ अन्य संकेतों और लक्षणों में बुखार, मतली और सिरदर्द शामिल हो सकते हैं। यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण है, तो आपको अपने डॉक्टर से जरूर मिलें। आपको अपने इंफेक्शन और होनेवाले डिहाइड्रेशन का इलाज करने के लिए मेडिकल ट्रीटमेंट की आवश्यकता हो सकती है।

एपेंडिसाइटिस

जब आपके पेट के निचले हिस्से के में दायीं और दर्द होता है (जिसे मॅकबर्नी पॉइंट कहते हैं), तो आपको एपेंडिसाइटिस हो सकता है, जो आपके एपेंडिस की सूजन है। आपका एपेंडिस टिश्यू की एक छोटी थैली होती है जो आपकी बड़ी आंत से निकलती है। आपके शरीर में एपेंडिस का कार्य अभी भी अनजान है। एपेंडिसाइटिस तब होता है जब आपका एपेंडिस मल या किसी बाहरी पदार्थ द्वारा रुक जाता है। अगर इसका उपचार नहीं किया गया, तो आपका एपेंडिस फट सकता है और आपके शरीर में इंफेक्शन फैल सकता है। ज्यादा पेट दर्द के अलावा कुछ अन्य लक्षण और संकेत, जैसे तेज बुखार, भूख में कमी, मतली और उल्टी भी शामिल हैं। यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं, तो जल्द ही अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

यूरिन इंफेक्शन

यूरिन इंफेक्शन, जिसे मूत्र के संक्रमण कहते हैं। इस बीमारी में पेट में दर्द के साथ-साथ बुखार और पेशाब करते समय दर्द भी हो सकता है। यह आमतौर पर एक बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण होता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ये समस्या आम है। आपको अपने डॉक्टर को बताना चाहिए अगर आपको भी यह परेशानी है। इसके इलाज के लिए आपको एंटीबायोटिक दवाइयों के कोर्स की आवश्यकता हो सकती है।

यह भी पढ़ें :यह चेस्ट एक्सरसाइज कर, पाएं चौड़ा सीना

इंडायजेशन

इंडायजेशन की समस्या अक्सर कुछ खाद्य पदार्थों के कारण होती है। इंडायजेशन के दर्द को आमतौर पर आपके पेट के ऊपरी हिस्से में महसूस किया जाता है। इंडायजेशन आमतौर पर ज्यादा वसा वाले खाद्य पदार्थों और ज्यादा भोजन खाने के कारण होता है। जब आपका पेट आपके भोजन को पचा नहीं सकता है, तो यह कभी-कभी ज्यादा दर्द का कारण बनता है। आपको बार-बार डकार आने जैसा महसूस हो सकता है और आपके मुंह में खट्टा एसिड का स्वाद आ सकता है। दर्द कुछ घंटों तक रह सकता है और तनाव के साथ बढ़ सकता है।

गैस्ट्रोइसोफेजिअल रिफ्लक्स डिजीज

गैस्ट्रोइसोफेजिअल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी) एक ऐसी स्थिति है जो तब होती है जब आपके पेट से भोजन वापस मुंह द्वारा ज्यादा दबाव के साथ बहार आता है। पाचन के दौरान आपके के भोजन को खाने के बाद पेट के एसिड मिक्स हो जाता है। जब यह फूडपाइप में वापस आता है, तो यह जलन का कारण बनता है। इस दर्द को हार्टबर्न कहा जाता है। आप मसालेदार भोजन, ज्यादा भोजन और ज्यादा वसा वाले खाद्य पदार्थों से बचकर अपने जीईआरडी को निंयत्रित करने में मदद कर सकते हैं।

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) पाचन तंत्र की एक सामान्य, दीर्घकालिक स्थिति है। यह पेट में ऐंठन, सूजन, दस्त और / या कब्ज के एपिसोड का कारण बन सकता है। IBS की परेशानी सबसे अधिक महिलाओं को होती है। आप कुछ खाद्य पदार्थों से बचकर अपने इब्स के लक्षणों को निंयत्रित कर सकते हैं जो पेट दर्द को बढ़ाते हैं। इन खाद्य पदार्थों में पनीर, उच्च शर्करा वाले खाद्य पदार्थ और प्रोसेस्ड फूड्स भी शामिल हो सकते हैं। आपको अधिक सब्जियां, फल खाने चाहिए और खूब पानी पीना चाहिए। इसमें नियमित व्यायाम की भी सलाह दी जाती है। साथ ही इसके लिए आप इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम की दवा का भी सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: पेट की एसिडिटी को कम करने वाली इस दवा से हो सकता है कैंसर

क्रोहन डिजीज

क्रोहन डिजीज से आपके पाचन तंत्र की परत में सूजन आना, जिससे पेट दर्द, गंभीर दस्त, थकान, वजन कम होना और कुपोषण हो सकता है। ये बीमारी दर्दनाक और व्यक्ति का वजन घटने वाली साबित हो सकती है और कभी-कभी इसमें मरने का खतरा भी हो सकता है।

लैक्टोज इनटॉलेरेंस

लैक्टोज इनटॉलेरेंस एक आम पाचन समस्या है जिसमें शरीर लैक्टोज पचाने में असमर्थ होता है। ये लैक्टोज एक प्रकार की चीनी जो मुख्य रूप से दूध और डेयरी उत्पादों में पाई जाती है। इसके लक्षणों में पेट फूलना, दस्त, फूला हुआ पेट और पेट में ऐंठन भी शामिल हैं।

गॉलस्टोन्स और किडनी स्टोन्स

गॉलस्टोन्स और किडनी स्टोन्स दोनों के कारण पेट दर्द हो सकता है। गॉलस्टोन्स आपके पित्ताशय में बनती है जबकि किडनी स्टोन्स आपके गुर्दे में बनने वाले कठोर कैल्सीफाइड स्टोन्स होते हैं। वे दोनों ज्यादा दर्द का कारण बन सकते हैं। आपका डॉक्टर इन स्टोन्स को तोड़ने के लिए दवा लिख सकता है या शरीर से पथरी निकाल सकते हैं।

अगली बार जब आपको पेट में दर्द होता है, तो आपको जांच करानी चाहिए कि क्या आपको इनमें से कोई समस्या तोह नहीं है। अपने डॉक्टर को जल्द ही मिलें। किसी भी समस्या का जल्दी पता लगाने से आपको अपने पेट दर्द के उपचार के लिए उचित समय मिलता है।

हेलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें : पेट के निचले हिस्से और अंडकोष में दर्द को भूलकर न करें नजरअंदाज

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Emanzen D: इमान्जेन डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

इमान्जेन डी दवा की जानकारी in hindi दवा के डोज, उपयोग और साइड इफेक्ट्स और चेतावनी को जानने के साथ इसके रिएक्शन और स्टोरेज को जानने के लिए पढ़ें आर्टिकल।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Chinese Rhubarb: चाइनीज रुबाब क्या है?

जानिए चाइनीज रुबाब की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, चाइनीज रुबाब उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Chinese Rhubarb डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Mona Narang
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Intestinal Ischemia: जानें इंटेस्टाइनल इस्किमिया क्या है?

इंटेस्टाइनल इस्किमिया क्या है? intestinal-ischemia के लक्षण, कारण और इंटेस्टाइनल इस्किमिया को ठीक करने के उपाय क्या हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Poonam
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Constipation: कब्ज (कॉन्स्टिपेशन) क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए कब्ज क्या है in hindi, कब्ज के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Constipation को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Anoop Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 13, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें