home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पेट के निचले हिस्से और अंडकोष में दर्द को भूलकर न करें नजरअंदाज

पेट के निचले हिस्से और अंडकोष में दर्द को भूलकर न करें नजरअंदाज

पेट के निचले हिस्से और अंडकोष में दर्द, इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण हो सकते हैं। इसलिए इन्हें कभी नजरअंदाज करने की गलती न करें। वेक्षण हर्निया अर्थात इंग्वाइनल हर्निया (Inguinal hernia) पेट के निचले हिस्से में होता है। इस हर्निया में नसें और आंतों का कुछ हिस्सा जांघ की पिछली नली से नाभि के नीचे या अंडकोष (testicles) में खिसक जाता है। ऐसा होने पर अंडकोष का आकार बढ़ जाता है। अंडकोष में सूजन हो जाने के कारण हाइड्रोसिल और हर्निया में अंतर करना मुश्किल हो जाता है। हर्निया का यह प्रकार पुरुषों में पाया जाता है और ये घातक रूप भी ले सकता है। हर्निया के लगभग 70 प्रतिशत रोगियों को ये हर्निया ही होता है जिसमें भयानक दर्द होता है। हालांकि ऐसी स्थिति अधिकतर जन्‍म से पहले होती है। ऐसे में कुछ बातों को कभी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए…

नोट- यह जानकारी किसी भी स्वास्थ्य परामर्श का विकल्प नहीं हैं। हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

पुरुषों में इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण

  • अंडकोष में सूजन आना (Testicle swelling)
  • जांघों पर सूजन आना (Swelling on the thighs)
  • कमर या अंडकोष की थैली में उभार आ जाना (Protrusion)
  • अंडकोष में अचानक दर्द और गांठ उभरना (Sudden pain and lumps in the testicles)
  • प्यूबिक बोन के दोनों ओर के हिस्सों में एक उभार होना
  • झुकने, खांसने या कुछ उठाने के दौरान जांघ (थाई) में परेशानी महसूस होना

बच्चों में इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण

नवजात बच्चों में इंग्वाइनल हर्निया जन्म से ही होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान गर्भ की त्वचा कमजोर हो जाती है। इसके लक्षण है शिशु का अत्यधिक रोना, खांसते वक्त परेशानी होना या ऐसी स्थिति की वजह से तनाव ले रहा है। ऐसा भी हो सकता है बच्चे को इसके कारण भूख कम लगे। इन लक्षणों के अलावा और भी लक्षण हो सकते हैं। इसलिए डॉक्टर से संपर्क करना बेहतर विकल्प हो सकता है।

हर्निया के अन्‍य लक्षण (Symptoms of Hernia) क्या हैं?

इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण निम्नलिखित हैं। जैसे:

  • इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण 1: पेट और कमर या कमर के आसपास दर्द होना।
  • इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण 2: पेट पर अधिकतर दबाव पड़ने के कारण दर्द होता है।
  • इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण 3: भारी वस्‍तु उठाने के बाद निचले हिस्से में दर्द होना
  • इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण 4: बाथरूम या शौच के दौरान तकलीफ होना।

हर्निया होने पर व्‍यक्ति लंबे समय तक न तो खड़ा रह सकता और न ही बैठ सकता है। अधिक देर तक खड़े रहने या बैठने में दर्द महसूस होता है। पुरुष को खांसते समय पेट और आंतों में दर्द का अनुभव हो सकता है। इसका असर पुरुष की कार्यक्षमता पर भी पड़ता है। इसलिए यदि आपको इसका लक्षण दिखे तो तुरंत चिकित्‍सक से संपर्क करें।

और पढ़ें: Hernia :हर्निया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

पुरुषों को क्यों होता है इंग्वाइनल हर्निया (Inguinal hernia)?

इंडायरेक्ट और इंग्वाइनल हर्निया जन्म से हो सकता है। ऐसा जन्म के पहले विकास में हुई गड़बड़ियों की वजह से होता है। अम्बिलिकल हर्निया यानी नाभी का हर्निया तब होता है जब नाभी का छोर पूरी तरह से बंद नहीं हो पाता। ऐसे अन्य तरह के हर्निया में मांसपेशियों और झिल्लयां ठीक से नहीं बन पातीं और कमजोर पड़ती जाती हैं।

इन वजहों से भी हो सकता है हर्निया

  • समय से पहले पैदा होना: जो लोग जन्म के दौरान समय से पहले पैदा होते हैं, या कम वजन के साथ पैदा होते हैं उन्हें जन्म के दौरान ही या भविष्य में हर्निया होने की संभावना ज्यादा होती है।
  • अचानक वजन बढ़ना/मोटापा
  • भारी वस्तु उठाने से
  • कब्ज की वजह से
  • लगातार खांसी से
  • पेट में जरूरत से ज्यादा दबाव डालना
  • पेट की दीवार में पहले से मौजूद कमजोर जगह

और पढ़ें: Hernia Repair Surgery : हर्निया रिपेयर सर्जरी क्या है?

इन कारणों से बढ़ सकता है इंग्वाइनल हर्निया?

निम्नलिखित कारणों की वजह से इंग्वाइनल हर्निया की समस्या बढ़ सकती है:

  • उम्र बढ़ने के साथ-साथ मसल्स का कमजोर होना।
  • ध्रूमपान की वजह से खांसी होना। इंग्वाइनल हर्निया लंबे समय से खांसी के कारण होने की संभावना होती है।
  • जिन लोगों में कब्ज की समस्या होती है उनमें भी इसके होने का खतरा रहता है।
  • ब्लड रिलेशन में किसी को इंग्वाइनल हर्निया होने पर भी यह परेशानी हो सकती है।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान पेट के मसल का कमजोर होना।
  • समय से पहले नवजात का जन्म या जन्म के दौरान नवजात का वजन कम होना।
  • पहले कभी इंग्वाइनल हर्निया हुआ हो। यहां तक की बचपन में इंग्वाइनल हर्निया की समस्या हुई हो।

और पढ़ें: पेट दर्द (Stomach pain) के ये लक्षण जो सामान्य नहीं हैं

क्या होता है इंग्वाइनल हर्निया (Inguinal hernia)

इंग्वाइनल हर्निया तब होता है जब टिशू जैसे आंत का हिस्सा पेट की मांसपेशियों या किसी कमजोर मांसपेशियों के आगे निकल जाएं। इसमें काफी दर्द हो सकता है। खासतौर पर तब जब आप वजन उठाने की कोशिश करें। कई लोगों में खांसते वक्त भी दर्द का अहसास होता है।

यह हर्निया हमेशा खतरनाक नहीं होता है। लेकिन यह अपने आप ठीक भी नहीं होता है। वक्त रहते अगर इसका इलाज नहीं किया गया तो पीड़ित व्यक्ति को गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इंग्वाइनल हर्निया की वजह से तेज दर्द होता है। इंग्वाइनल हर्निया के लक्षण नजर आने पर बिना देरी करे डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। जब यह बड़ा हो जाता है तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर सर्जरी कर सकते हैं। वैसे इंग्वाइनल हर्निया की सर्जरी सामान्य सर्जरी है। इसलिए इससे घबराना नहीं चाहिए।

हर्निया को आसानी से पेट की ओर भेजा जा सकता है। ऐसा तब करें जब आप लेटे हुए हों। ऐसा नहीं कर पाने की स्थिति में आइस पैक लगाने से सूजन में कमी आ सकती है और हर्निया आसानी से अंदर चला जाता है।

और पढ़ें: पुरुषों के यौन (गुप्त) रोगों के बारे में पता होनी चाहिए आपको यह जरूरी बातें

कब होता है खतरा

जब किसी पुरुष को इंग्वाइनल हर्निया होता है और नस या आंत का हिस्सा वापस अपनी जगह न जाए तो इसकी वजह से अंडकोष या प्रभावित जगह का आकार बढ़ने लगता है। ऐसे में असहनीय दर्द होता है और बाहर आई आंत या नसों में खून का प्रवाह रूक जाता है, जिससे वो पूरी तरह खराब हो सकती है। अगर उस गठान का रंग लाल या बैंगनी पड़ जाए तो ये खतरे की घंटी है। ऐसे में डॉक्टर को दिखाकर सर्जरी कराई जा सकती है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या सारवार नहीं देता है न ही इसके लिए जिम्मेदार है।

निष्कर्ष- इंग्वाइनल हर्निया में असहनीय दर्द पुरुषों की कार्यक्षमता और उनके दैनिक जीवन को बुरी तरह प्रभावित करता है। इस हर्निया के शुरुआती लक्षण दिखते ही इस इलाज कराया जाना चाहिए क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ इसकी सर्जरी में मश्किलें आने लगती हैं। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इंग्वाइनल हर्निया से जुड़ी ज्यादातर जानकारी देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। यदि आप इसके बारे में अन्य कुछ जानना चाहते हैं तो आप अपना सावाल हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट कर बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Piyush Singh Rajput द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/04/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x