Ranitidine : रेनिटिडिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date जून 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

रेनिटिडिन (Ranitidine) का इस्तेमाल किसलिए किया जाता है?

रेनिटिडिन का उपयोग पेट और आंतों के अल्सर का इलाज करने के लिए किया जाता है। इस दवा का उपयोग पेट में अत्यधिक एसिड की वजह से हुई कुछ समस्याओं जैसे, जोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम (Zollinger-Ellison syndrome), इरोसिव एसोफैगिटिस (erosive esophagitis) या गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) के कारण होने वाले पेट और गले (ग्रासनली) की समस्याओं के इलाज और रोकथाम के लिए भी किया जाता है।

रेनिटिडिन को H2 हिस्टामिन ब्लॉकर के रूप में जाना जाता है। यह पेट में एसिड की मात्रा को कम करने का काम करती है। यह अल्सर को ठीक करने और उसे रोकने में मदद करती है और पेट-दर्द व सीने में जलन जैसे लक्षणों में सुधार करती है।

यह दवा बिना प्रिस्क्रिप्शन के भी उपलब्ध है। इसका उपयोग पेट में अधिक एसिड के कारण होने वाली समस्याओं और अन्य लक्षणों को रोकने और इलाज के लिए किया जाता है। यदि आप डॉक्टर की सलाह के बिना यह दवा ले रहे हैं, तो पैकेज पर लिखे निर्देशों को ध्यान से पढ़ें।

रेनिटिडिन का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

इस दवा को अपने चिकित्सक द्वारा निर्देशित भोजन के साथ या खाली पेट लिया जा सकता है। आमतौर पर डॉक्टर दवा को दिन में दो बार लेने की सलाह देते हैं लेकिन, कुछ केसेस में दवा का सेवन दिन में चार बार करने को भी डॉक्टर कह सकते हैं। इस दवा को अक्सर रात के खाने के बाद और सोने से पहले लेना होता है।

दवा की खुराक और समय आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है। डॉक्टर के निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करें।

ज्यादा से ज्यादा फायदे के लिए इस दवा को नियमित रूप से लें। एक भी खुराक लेना न भूलें। इसके लिए दवा को हर दिन एक ही समय पर लें।

दवा की खुराक नाही बढ़ाएं और नाही इसे निर्धारित मात्रा से अधिक बार लें। डॉक्टर की सलाह के बिना इसे लेना भी बंद न करें क्योंकि इससे अल्सर के ट्रीटमेंट में देरी हो सकती है।

यदि आप नॉनप्रिस्क्रिप्शन रेनिटिडिन का उपयोग कर रहे हैं, तो एक गिलास पानी के साथ एक टेबलेट लें। सीने में होने वाली जलन को रोकने के लिए, भोजन या पेय पदार्थ से 30-60 मिनट पहले एक गिलास पानी के साथ एक टेबलेट का सेवन करें। जब तक डॉक्टर द्वारा निर्देशित नहीं किया जाता है, तब तक 24 घंटे में दो से अधिक टेबलेट्स न लें। डॉक्टर के निर्देश के बिना लगातार 14 दिनों से अधिक समय तक दवा का सेवन न करें।

उपचार के दौरान स्थिति में अगर कोई सुधार न आएं या स्थिति और खराब हो रही हो, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : जंक फूड वर्सेस हेल्दी फूड

मैं रेनिटिडिन (Ranitidine) को कैसे स्टोर करूं?

रेनिटिडिन को हमेशा रूम टेम्प्रेचर पर ही स्टोर करें। इसे धूप के सीधे संपर्क या नमी से दूर रखें। रेनिटिडिन के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं, जिनको स्टोर करने के दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। स्टोर करने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न तो टॉयलेट में फ्लश करें और नाही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

रेनिटिडिन (Ranitidine) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको रेनिटिडिन से एलर्जी है तो इस दवा का उपयोग न करें।

हार्टबर्न से लोग अक्सर भ्रमित हो जाते हैं। लोग अक्सर इसको हार्ट अटैक का सबसे पहला लक्षण समझ बैठते हैं। अगर आपको सीने में दर्द या भारीपन महसूस हो रहा है, हाथ या कंधे में दर्द, मतली, पसीना और बीमारी-सी महसूस हो रही हो तो तुरंत ही डॉक्टर से सलाह लें।

क्या गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान रेनिटिडिन का इस्तेमाल सुरक्षित है?

अभी तक पर्याप्त अध्ययन प्राप्त नहीं हैं कि गर्भावस्था के दौरान या स्तनपान के दौरान रेनिटिडिन का उपयोग करना कितना सुरक्षित है। इस दवा को लेने से पहले उससे होने वाले लाभों और साइड इफेक्ट्स के बारे में हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

रेनिटिडिन के दुष्प्रभाव क्या हैं?

रेनिटिडिन का उपयोग तुरंत बंद करें और तुरंत ही चिकित्सीय सहायता प्राप्त करें यदि एलर्जी-रिएक्शन के इन लक्षणों में से कोई भी दिखे। जैसे-पित्ती, सांस लेने मे तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन। साथ ही इन लक्षणों के दिखते ही रेनिटिडिन लेना तुरंत बंद कर दें और अपने डॉक्टर से संपर्क करें जैसे:

  • सीने में दर्द, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, हरे या पीले बलगम के साथ खांसी आना
  • आसानी से चोट लग जाना, असामान्य कमजोरी
  • तेज या धीमी हार्ट बीट
  • दिखने में समस्या होना
  • बुखार, गले में खराश, त्वचा पर लाल चकत्ते के साथ सिरदर्द; या
  • मतली, पेट में दर्द, भूख में कमी, गहरे रंग की यूरिन, मिट्टी के रंग का स्टूल, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना)।

यह भी पढ़ें : डेंगू बुखार जल्दी ठीक करेंगे ये 9 आहार

कम गंभीर दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं जैसे:

  • तेज सिरदर्द
  • सुस्ती, चक्कर आना
  • नींद की समस्याएं (अनिद्रा)
  • सेक्स ड्राइव में कमी,
  • पुरुषों के ब्रेस्ट में सूजन या टेंडर ब्रेस्ट
  • मतली, उल्टी, पेट में दर्द
  • दस्त या कब्ज।

हालांकि, दवा का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों में ये लक्षण नजर आए ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्ट को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से संपर्क करें।

कौन-सी दवाएं रेनिटिडिन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

रेनिटिडिन के साथ अगर किसी तरह की अन्य दवा का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उससे होने वाली परेशानियों के बारे में पहले अपने डॉक्टर से बात करें। डॉक्टर की सलाह के बिना इसका सेवन न करें और न ही इसकी खुराक को किसी दूसरी दवा के साथ बदलें। किसी भी तरह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आपको उन सभी दवाओं की एक लिस्ट रखनी चाहिए जिनका आप उपयोग कर रहे हैं (जिसमें डॉक्टर के पर्चे वाली दवाएं, गैर-पर्चे वाली दवाएं और हर्बल प्रोडक्ट्स शामिल हैं)। इस लिस्ट को अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को दिखाएं। सुरक्षा के लिए, अपने डॉक्टर की स्वीकृति के बिना किसी-भी दवा को लेना शुरू न करें, ना ही दवा लेना बंद करें और ना ही खुराक को बदलें।

यदि आप ट्राईजोलम (हैलियोन) ले रहे हैं, तो रेनिटिडिन का उपयोग नहीं कर सकते हैं, या उपचार के दौरान आपको विशेष परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ रेनिटिडिन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

किसी भी तरह के फूड या एल्कोहॉल के साथ रेनिटिडिन लेने से दवा का असर प्रभावित हो सकता है और इससे साइड इफेक्ट्स का खतरा भी बढ़ सकता है। ऐसा करने से पहले अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं। कुछ मामलों में इसके परिणाम खतरनाक साबित हो सकते हैं।

रेनिटिडिन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

रेनिटिडिन का इस्तेमाल सेहत के कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें। खासतौर पर यदि आपको है:

  • किडनी की समस्या
  • लिवर संबंधित बीमारी
  • पोरफाइरिया

और पढ़ें:-

किडनी डैमेज होने के कारण और 8 संकेत

किडनी स्टोन होने पर बरतें ये सावधानियां

Liver cirrhosis : लिवर सिरॉसिस क्या है?

Liver biopsy: लिवर बायोप्सी क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

Recommended for you

एसिडिटी का इलाज-acidity treatment

खुद ही एसिडिटी का इलाज करना किडनी पर पड़ सकता है भारी!

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on मई 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
रेनिटिडिन के नुकसान

रेनिटिडिन के नुकसान को समझें

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on सितम्बर 26, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
रेनिटिडाइन का इस्तेमाल

रेनिटिडिन का इस्तेमाल करते हैं तो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर का खतरा

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Ankita Mishra
Published on सितम्बर 18, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
Ranitidine - रेनिटिडाइन

Ranitidine : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Ankita Mishra
Published on जुलाई 4, 2019 . 5 मिनट में पढ़ें