Redotil: रेडोटिल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date मई 25, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Share now

इस्तेमाल

रेडोटिल (Redotil) का इस्तेमाल किसके लिए किया जाता है? 

रेडोटिल का प्रयोग डायरिया के उपचार के लिए किया जाता है। इस का प्रयोग तब किया जाता है जब डायरिया को नियंत्रित करने के लिए तरल पदार्थ और आहार संबंधी सभी उपाय पर्याप्त रूप से प्रभावी नहीं होते हैं। इसमें रसकाडोट्रिल एक्टिव इंग्रेडिएंट है। रेडोटिल आंत में पानी और इलेक्ट्रोलाइट्स के अत्यधिक स्राव को कम करने का काम करती है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया होने पर आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

रेडोटिल (Redotil) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • इस दवाई को लेने से पहले अपने डॉक्टर को उन सब दवाइयों के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं। कई दवाइयां इस दवाई के साथ लेने से एलर्जी या अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती हैं। कुछ स्वास्थ्य स्थितियों में इस दवाई को लेने से कई साइड इफेक्ट हो सकते हैं।
  • रेडोटिल का प्रयोग तब नहीं करना चाहिए अगर आपके मल में खून या पस हो या बुखार हो। ऐसा बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण हो सकता है या हो सकता है कि आपको अलग ट्रीटमेंट की आवश्यकता है।
  • सात दिन से अधिक इस दवाई को लेने की सलाह नहीं दी जाती।
  • अगर आपको लिवर या किडनी से संबंधित कोई समस्या हो, तब इस दवाई को न लें।
  • अगर आप को लगातार उल्टियां हो रही हों, इस दवाई का प्रयोग न करें।
  • तीन महीने से कम उम्र के बच्चों को यह दवाई न दें।
  • रेडोटिल पाउच को ओरली लें, यानी सीधे तौर पर या पानी में मिला कर। इस बात का ध्यान रखें कि यह अच्छे से मिक्स हों। इस तरह से सही डोज आप अपने बच्चों को दे सकते हैं।

रेडोटिल को कैसे स्टोर करूं?

रेडोटिल को हमेशा रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछे।

सावधानियां और चेतावनी

  • अगर आपको इस दवाई या किसी अन्य दवाई से कोई एलर्जी है ,तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। यही नहीं, अगर आपको किन्हीं अन्य चीजों से भी एलर्जी है जैसे भोजन, डाई, परिरक्षक या जानवरों से तो भी डॉक्टर की सलाह लें। जिन उत्पादों की सलाह डॉक्टर ने न दी हो, उन उत्पादों के लेवल या पैकेज को अच्छे से पढ़ कर ही उसका प्रयोग करें। 
  • रेडोटिल कैप्सूल को लेने से पहले डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री अवश्य बताएं। 
  • यह दवाई उन लोगों के लिए सही नहीं है जिन्हें हाई फीवर है।
  • यह दवाई उन बच्चों को नहीं देनी चाहिए जिन्हें लिवर या किडनी की समस्या है।
  • एंटीबियोटिक्स के साथ इस दवाई को नहीं लेना चाहिए।
  • ओरल रिड्रेशन सलूशन (ORS) के साथ इस दवाई को लेना चाहिए। यह फ्लूइड और इलेक्ट्रोलाइट प्रतिस्थापन प्रदान करता है।

और पढ़ें :गर्भावस्था के दौरान होने वाले इंफेक्शंस से कैसे बचें?

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान रेडोटिल लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान रेडोटिल लेने की सलाह नहीं दी जाती है। इस स्थिति में इस दवाई का सेवन करना शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। इस दवा को लेने से पहले संभावित लाभ और जोखिमों को जानने के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से अवश्य परामर्श करें।

साइड इफेक्ट्स

रेडोटिल (Redotil) के साइड इफेक्ट्स

रेडोटिल के निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। हालांकि इस लिस्ट में जो साइड इफेक्ट्स दिए गए हैं वो हर व्यक्ति में देखने को नहीं मिलते। लेकिन, अगर आप को इन में से कोई साइड इफेक्ट महसूस हों तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। यह साइड इफेक्ट इस प्रकार हैं:

अधिक सामान्य साइड इफेक्ट्स

रेडोटिल के कुछ ऐसे साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। लेकिन, अगर आपको इनके अलावा भी कोई साइड इफ़ेक्ट महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

इन जरूरी बातों को जानें

अगर आप इस दवाई को अन्य दवाइयों या उत्पादों के साथ लेते हैं, तो रेडोटिल का प्रभाव बदल सकता है। इससे साइड इफ़ेक्ट का जोखिम बढ़ सकता है या यह दवाई सही से अपना काम नहीं करेगी । इसलिए अपने डॉक्टर को उन सभी दवाइयों के बारे में बताएं जिनका सेवन आप कर रहे हैं।  इसमें विटामिन्स या अन्य हर्बल सप्लिमेंट भी शामिल हैं। रेडोटिल इन दवाइयों और उत्पादों के साथ इंटरैक्ट कर सकती है:

  • एमिकासिन (Amikacin)
  • ऐमियोडैरोन (Amiodarone)
  • सोटोलोल (Sotalol)
  • क्वीनीडीन (Quinidine)
  • प्रोसैनामिड़ (Procainamide) 

इसके अलावा भी कुछ अन्य दवाइयां हो सकती हैं, जिन्हें रेडोटिल के साथ लेने से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अपने डॉक्टर के बारे में इनके बारे में पहले ही पूरी जानकारी ले लें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ रेडोटिल  का इस्तेमाल किया जा सकता है? 

रेडोटिल को भोजन या एल्कोहॉल के साथ लेने से दवाई के काम करने के तरीके में प्रभाव पड़ सकता है। भोजन और एल्कोहॉल के साथ इस दवाई के इंटरेक्शन के बारे में कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से अवश्य पूछ लें।

रेडोटिल (Redotil) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है? 

रेडोटिल आपकी हेल्थ कंडिशन पर अपना प्रभाव डाल सकता है। यह इंटरेक्शन आपकी हेल्थ कंडिशन को और भी खराब या दवाई के प्रभाव को कम कर सकती है। यह बहुत आवश्यक है कि हमेशा अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अपनी मौजूदा हेल्थ कंडिशंस के बारे में बताएं। इन स्वास्थ्य स्थितियों में इस दवाई का प्रयोग न करें:

  • मल में खून
  • हाइपरसेंसिटिविटी
  • रीनल इंसफिशिएंसी
  • गंभीर किडनी और लिवर के रोग

और पढ़ें : बच्चों में फोबिया के क्या हो सकते हैं कारण, डरने लगते हैं पेरेंट्स से भी!

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

इस दवाई की कितनी डोज आपको लेनी चाहिए इसके लिए रोगी की उम्र, स्वास्थ्य स्थिति और कई अन्य बातों को ध्यान में रखा जाता है। इसलिए आपको इस दवाई की कितनी डोज लेनी चाहिए इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

वयस्कों के लिए अधिकतम सिंगल डोज

शुरुआती डोज : 100 मिलीग्राम PO दिन में तीन बार

अधिकतम अवधि – 7 दिन

बुजुर्गों के लिए अधिकतम सिंगल डोज

बुजुर्ग रोगी शुरुआत में दिन में तीन बार 100 मिलीग्राम PO तक ले सकते हैं। 

अधिकतम अवधि – 7 दिन

बच्चों के लिए अधिकतम सिंगल डोज

बच्चों को यह शुरुआती डोज दी जा सकती है: 

  • 3 महीने से 17 साल- 9 किलोग्राम से कम वजन -दिन में तीन बार 10 मिलीग्राम
  • 9 से – 13 किलोग्राम – 20 मिलीग्राम दिन में तीन बार
  • 13 से – 27 किलोग्राम- रोजाना 30 मिलीग्राम दिन में तीन बार
  • 27 साल से अधिक वजन -60 मिलीग्राम दिन में तीन बार

24 घंटे की अवधि में कितनी डोज लेनी चाहिए?

24 घंटे में अधिकतम डोज 300 मिलीग्राम/दिन PO

रेडोटिल (Redotil)किस रूप में आती है? 

 रेडोटिल निम्नलिखित रूप में आती है?  

  • टेबलेट
  • कैप्सूल
  • पाउच

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें। 

यदि मुझसे रेडोटिल की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे रेडोटिल की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे ले लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाय एक डोज मिस कर दें।

हैलो हेल्थ ग्रुप मेडिकल सलाह,निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

संबंधित लेख :-

diarrhea: डायरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Benfotiamine: बेन्फोटीआमीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

सरोगेट मां की भावनाओं को ऐसे समझें, जुड़ सकती है बच्चे से फीलिंग

पोस्टपार्टम इनकॉन्टिनेंस क्यों होता है? जानिए इसका इलाज

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

डेट रेप ड्रग्स क्या है? इससे कैसे बचें?

डेट रेप ड्रग्स क्या है, डेट रेप ड्रग्स कौन है, क्लब ड्रग्स का इस्तेमाल कैसे होता है? रेप ड्रग्स से कैसे बचें, Date rape drug club drug in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

Human Chorionic Gonadotropin: ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, डोज और सावधानियां

जानिए ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Human Chorionic Gonadotropin डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anu Sharma
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Acebrophylline+Acetylcysteine : ऐसिब्रोफाइलिन + ऐसिटिलसिस्टीन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ऐसिब्रोफाइलिन + ऐसिटिलसिस्टीन का इस्तेमाल क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज (chronic obstructive pulmonary disease) के इलाज में होता है। जानिए इसके फायदे और डोज

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Megalis 20 : मेगालिस 20 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए मेगालिस 20 की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, मेगालिस 20 उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Megalis 20 डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Mona Narang
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल फ़रवरी 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Headset Tablet हेडसेट टैबले

Headset Tablet : हेडसेट टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 7, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
फ्लूविर

Fluvir : फ्लूविर क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
Published on जुलाई 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Cifran CTH सिफ्रान सीटीएच

Cifran CTH : सिफ्रान सीटीएच क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जून 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
इकोस्प्रिन-एवी-दवा-क्या-है

Ecosprin Av: इकोस्प्रिन एवी क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shivam Rohatgi
Published on अप्रैल 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें