Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट January 20, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जानिए मूल बातें

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल दिल से जुड़ी समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। एम्लोडीपीन एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर होता है, जो ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक, दिल के दौरे और लीवर की समस्याओं को रोकने में मदद करता है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम देने का काम करता है ताकि शरीर में रक्त संचार आसानी से हो सके।

इसके अलावा एम्लोडीपिन का इस्तेमाल कुछ प्रकार के सीने में दर्द (एनजाइना) को रोकने के लिए भी किया जा सकता है। यह व्यायाम करने की क्षमता को बढ़ाने और एनजाइना के हमलों को कम करने में मददगार हो सकता है।

मैं एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल कैसे करूं?

एम्लोडीपिन दवा का इस्तेमाल खाना खाने के पहले या खाना खाने के साथ कर सकते हैं। जिसके लिए आप अपने चिकित्सक से बात कर सकते हैं। इसकी खुराक आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित होती है। आपके स्वास्थ्य के अनुसार, डॉक्टर इसकी खुराक कम और ज्यादा भी कर सकते हैं। इसलिए अपने डॉक्टर के दिए गए निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करें।

दवा की खुराक स्वास्थ्य की स्थिती और रोगी की उम्र और वजन के अनुसार ही तय की जाती है। आमतौर पर एक डॉक्टर दिन में एक बार इसकी एक खुराक लेने की सलाह देते हैं। यह दवा फेफड़ों में कुछ रसायनों के कार्यों को रोकने का काम करती है। दवा का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक या डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें। 

इन स्थितियों में एम्लोडीपिन का सेवन न करें

  •       अगर आपके पैरों में सूजन की समस्या है, तो एम्लोडीपिन का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।
  •       प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रहे हैं या प्रेग्नेंट हैं।
  •       इसमें मौजूद सामग्रियों से एलर्जी होने पर।
  •       पहले से कोई विटामिन या हर्बल ड्रग का सेवन कर रहे हैं।
  •       लो बीपी
  •       लीवर से जुड़ी बीमारी
  •       किडनी की बीमारी

और पढ़ें : Glycomet : ग्लाइकोमेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं एम्लोडीपिन (Amlodipine) को कैसे स्टोर करूं?

एम्लोडीपिन के रख-रखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। एम्लोडीपिन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में एम्लोडीपिन के अलग-अलग ब्रांड है, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एम्लोडीपिन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। 

बिना निर्देश के एम्लोडीपिन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : Doxycycline : डॉक्सीसाइक्लिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनियां

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

एम्लोडीपिन का उपयोग अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही करें। साथ ही डॉक्टर के निर्देश के बगैर इस दवा की खुराक कम या ज्यादा न लें। एम्लोडीपिन का लाभ पाने के लिए नियमित समय पर इसकी खुराक लेते रहें। अगर एनजाइना के लिए इसकी खुराक ले रहे हैं, तो जब तक एनजाइना का इलाज पूरा नहीं हो जाता इसकी खुराक लेते रहें। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

अगर नियमित इस्तेमाल के बाद भी आपके सेहत में सुधार नहीं होता है, तो जल्द से जल्द अपने चिकित्सक को बताएं। उदाहरण के लिए, अगर हाई ब्लड प्रेशर और भी ज्यादा हाई होता है या सीने में दर्द लगातार बना रहता है, तो बिना देरी किए डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

 इन बीमारियों में करें इसका सेवनः

एम्लोडीपिन (Amlodipine) हाई ब्लड प्रेशर के इलाज में प्रयोग किया जाता है।

  •   एंजाइना पेक्टोरिस (Angina Pectoris)

एंजाइना पेक्टोरिस, जो छाती के दर्द से संबंधित एक प्रकार का हृदय रोग होता है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्लोडीपिन (Amlodipine) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। हालांकि, गर्भवती महिलाओं के लिए विशेषकर तीसरी तिमाही में आने के बाद महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप प्रेग्नेंसी के दिनों में इसका सेवन करना चाहती हैं, तो अपने डॉक्टर की देख रेख में ही करें।

और पढ़ें : Duphaston : डुफास्टोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

एम्लोडीपिन (Amlodipine) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? 

नीचे एम्लोडीपिन से होने वाली निम्नलिखित संभावित दुष्प्रभावों की एक सूची है। अगर आपको निम्नलिखित दुष्प्रभावों में से कोई भी लक्षण नजर आए तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और इसके इस्तेमाल को तुरंत रोक देः 

इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताए गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं एम्लोडीपिन (Amlodipine) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं? 

अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें है, तो उसके साथ एम्लोडीपिन इस्तेमाल करने से पहले यह जरूर जानें कि उसके साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको किस तरह के परेशानी हो सकती है। साथ ही यह आपके दवा के असर को भी प्रभावित कर सकता है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें। 

इन दवाओं के साथ सेवन करने से बढ़ सकता है खतराः

  •    इट्राकोनाजॉल (Itraconazole)
  •   सिम्वास्टेटिन (Simvastatin)
  •   टिजानिडीन (Tizanidine)
  •   ऐल्कोहॉल (Alcohol)
  •   कार्बामाजेपीन (Carbamazepine)
  •   डेक्सामेथासोन (Dexamethasone)
  •    रिफाम्पिन (Rifampin)

 क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्लोडीपिन का सेवन किया जाए, तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

एम्लोडीपिन का इस्तेमाल आपके सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें। इसका अधिक सेवन किडनी और लिवर के लिए खतरनाक हो सकता है। अगर इसके इस्तेमाल से किसी भी तरह के लक्षण नजर आते हैं, तो तुरंत इसका सेवन बंद कर दें और डॉक्टर की सलाह लें।

और पढ़ें : Evion LC : एवियन एलसी क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्टर की सलाह लें

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में क्या करना चाहिए? 

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

ओवरडोज होने के लक्षणः

  •       बेहोश होना
  •      सांस फूलना
  •      चलने में तकलीफ होना
  •      चक्कर आना 

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं? 

अगर एम्लोडीपिन की खुराक लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो, तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्टीमुलेंट लैक्सेटिव या सेलाइन लैक्सेटिव के सेवन से पहले हमें क्या जानना है जरूरी?

स्टीमुलेंट लैक्सेटिव या सेलाइन लैक्सेटिव के सेवन से पहले हमें क्या जानना है जरूरी? Know abot Stimulant laxatives and Saline laxatives in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
कब्ज, स्वस्थ पाचन तंत्र January 29, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें

कब्ज में परहेज: सारी दिक्कतें हो जाएंगी नौ, दो, ग्यारह!

कब्ज में परहेज करना क्यों जरूरी है और इसका आपकी सेहत पर क्या असर पड़ता है, जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल। साथ ही जानिए कब्ज में क्या खाएं। abstinence in constipation

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज January 28, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) का यूनानी इलाज कैसे किया जाता है?

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम क्या है? इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम का यूनानी इलाज किन-किन दवाओं से किया जाता है? Unani treatment for Irritable bowel syndrome in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha

कॉन्स्टिपेशन और बढ़ता वजन, क्या पहली मुसीबत दूसरी का कारण बन सकती है?

कब्ज के कारण वजन बढ़ना ये पढ़कर आपको लग सकता है कि क्या फालतू बात है, लेकिन ये सच है। कॉन्स्टिपेशन वेट गेन का कारण हो सकता है। जानना चाहते हैं कैसे तो पढ़ें ये लेख

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज January 18, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

नक्स वोमिका (Nux Vomica)

नक्स वोमिका क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 15, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
सर्जरी के बाद कब्ज से कैसे बचें? Constipation after surgery

सर्जरी के बाद हो सकती है एक दूसरी परेशानी जिसका नाम है ‘कब्ज’, जानिए बचने के तरीके

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ February 5, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कब्ज के कारण पीठ दर्द (Constipation and back pain)

कॉन्स्टिपेशन और बैक पेन! कहीं आपकी परेशानी ये दोनों तो नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 1, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
Yoga for constipation - पेट की समस्या में योग

जानें पेट की इन तीन समस्याओं में राहत देने वाले योगासन, जो आपको चैन की सांस दे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ January 31, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें