home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Metoclopramide : मेटोक्लोप्रामाईड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग|मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?|कौन सी दवाएं मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?|डॉक्टर की सलाह
Metoclopramide : मेटोक्लोप्रामाईड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

मेटोक्लोप्रामाईड पेट और आंतों से संबंधित समस्याओं के इलाज में उपयोग होता है। जब पेट में होने वाली तकलीफों में सामान्य दवाएं काम नहीं करती हैं तब मेटोक्लोप्रामाईड शार्ट टर्म ट्रीटमेंट (4 से 12 हफ्ते) के रूप में इस्तेमाल होता है। ज्यादातर यह खाना खाने के बाद या दिन के समय होने वाले हार्टबर्न के लिए इस्तेमाल होता है। हार्टबर्न का इलाज होने से पेट के एसिड द्वारा इसोफेगस (esophagus) को होने वाला डैमेज कम होता है और घाव भरने में मदद मिलती है।

मेटोक्लोप्रामाईड डायबिटीज के उन मरीजों में भी इस्तेमाल होता है जिनका पेट आसानी से खाली (गैस्ट्रोपेरेसिस, gastroparesis) नहीं होता है। गैस्ट्रोपेरेसिस का इलाज होने से मिचली, उल्टी और पेट भरे होने के लक्षण कम होते हैं। मेटोक्लोप्रामाईड नैचुरल पदार्थ (डोपामिन) को ब्लॉक करने का काम करता है। यह दवा आंतों के मूवमेंट और पेट खाली होने की प्रक्रिया को तेजी प्रदान करता है।

दूसरे उपयोग: इस ड्रग के कई सारे उपयोग हैं जो इसके प्रोफेशनल लेबल पर नहीं बताए जाते हैं लेकिन आपके हेल्थकेयर प्रोफेशनल द्वारा मरीजों को बताए जाते हैं। जिस स्थिति के लिए हेल्थकेयर प्रोफेशनल इस दवा का इस्तेमाल करने को कहे, आप उसी स्थिति में इस दवा का इस्तेमाल करें।

कैंसर के ट्रीटमेंट के दौरान कीमोथेरेपी से होने वाली मिचली/उल्टी को रोकने में भी मेटोक्लोप्रामाईड का इस्तेमाल हो सकता है।

मैं मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) का इस्तेमाल कैसे करूं?

सामान्य रूप से रोजाना चार बार या डॉक्टर के सलाह के अनुसार इस दवा को भोजन और सोने से 30 मिनट पहले ही खाएं। अगर आप मेटीक्लोप्रामाइड को लिक्विड रूप में ले रहे हैं तो इसकी खुराक को खास डिवाइस/चम्मच से ही नापें। घर मे इस्तेमाल होने वाले चम्मच का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इससे आपको सही खुराक नहीं मिल पाती है।

अगर आप तोड़ कर इस टैबलेट का इस्तेमाल कर रहें हैं तो इस टैबलेट को ब्लिस्टर पैक से तब तक ना हटाएं जब तक पूरी खुराक ना हो जाए। मेटीक्लोप्रामाईड को इस्तेमाल करने से पहले हाथों को ड्राई कर लें। अगर यह टैबलेट टूट जाए तो इसका इस्तेमाल ना करें। पैक से टैबलेट निकालने के तुरंत बाद ही इसे अपनी जीभ पर रखें। इसे पूरी तरह से घुलने दें फिर इसे लार के माध्यम से निगलें। इस दवा को पानी के साथ लेने की को जरूरत नहीं है।

इस दवा की खुराक आपके स्वास्थ्य स्थिति, आपके वजन और आप इलाज के प्रति कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है। अगर हार्टबर्न एक निश्चित समय पर होता है (जैसे शाम के भोजन के बाद) तो आपका डॉक्टर इस दवा को पूरे दिन लेने के बजाय इसकी एक ही खुराक लेने के लिए निर्देश दे सकता है। इससे साइड इफेक्ट्स होने का खतरा कम हो जाएगा।

और पढ़ेंः हैंगओवर (Hangover) में उल्टी से बचने के लिए ये गोली आएगी आपके काम

इस दवा को बनाने वालों के अनुसार इस दवा का इस्तेमाल 12 हफ्ताें से ज्यादा नहीं करना चाहिए।

डायबिटिक गैस्ट्रोपेरासिस के इलाज के लिए आमतौर पर मेटीक्लोप्रामाईड दो से आठ हफ्ताें के लिए तब तक इस्तेमाल होती है जब तक आपकी आंत ठीक से काम ना करने लगे। जब लक्षण फिर से आने लगते हैं तो आपका डॉक्टर मेटीक्लोप्रामाइड को शुरू करने का निर्देश दे सकता है और आपके बेहतर होने पर इसे बंद कर सकता है।

मेटोक्लोप्रामाईड के ज्यादा से ज्यादा फायदे पाने के लिए इसे नियमित रूप से इस्तेमाल करें। इस दवा को भोजन करने से पहले रोजाना एक ही समय पर लें।

अगर आप मेटोक्लोप्रामाईड की अधिक खुराक लंबे समय तक नियमित रूप से लेते हैं और अचानक से इसे बंद करते हैं तो (सुस्ती, नर्वसनेस, सिर दर्द) आदि हो सकते हैं। इसको रोकने के लिए डॉक्टर धीरे-धीरे आपकी खुराक को कम कर सकता है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर या फार्मासिस्ट की सलाह लें।

अगर यह स्थिति लगातार बनी रहती है या और अधिक खराब होती है तो डॉक्टर को जरूर बताएं।

मैं मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) को कैसे स्टोर करूं?

मेटोक्लोप्रामाईड को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। मेटोक्लोप्रामाईड को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में मेटीक्लोप्रामाइड के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी मेटोक्लोप्रामाईड खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के मेटोक्लोप्रामाईड को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें- Nootropics : नूट्रोपिक्स, ये दवाएं आपके दिमाग को बना सकती हैं ‘एवेंजर्स’

मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

मेटोक्लोप्रामाईड को लेने से पहले,

  • अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं अगर आपको मेटीक्लोप्रामाइड से एलर्जी हो, या किसी दूसरी तरह की एलर्जी हो या मेटोक्लोप्रामाईड मे मौजूद सामग्री से एलर्जी हो। इस दवा में मौजूद सामग्री की सूची जानने के लिए मेटोक्लोप्रामाईड गाइड को चेक करें।
  • आप जो भी दवाइयां, विटामिन, न्यूट्रिशनल सप्लिमेंट और हर्बल प्रोड्क्ट का सेवन कर रहें हैं उस बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं। नीचे बताई गईं दवाइयों के बारे में भी बताएं जैसे; एसीटामिनोफेन (टाईलीनॉल, और दूसरे), एन्टीहिस्टामिन, ऐस्प्रिन, एट्रोपिन (लोनोक्स, लोमोटिल), साइक्लोस्पोरिन (जेनग्राफ़, नियोरल, सैंडीम्यून); बार्बीट्यूरेट जैसे फिनोबर्बिटल (ल्युमिनल); पेंटोबर्बिटल (नेमब्यूटल); सीकोबर्बिटल (सिकोनल); डिगोक्सिन (लेनॉक्सिकैप, लेनोक्सिन); हालोपेरिडोल (हलडोल); इंसुलिन; इप्राटोपियम (एट्रोवेंट); लिथियम (ऐसकालिथ, लिथोबिड); लिवोडोपा (सिनेमेट, स्टालिवो); उलझन, ब्लड प्रेशर, इरीटेबल बॉवेल डिजीज, मोशन सिकनेस, मिचली, पार्किन्सन डिजीज, अल्सर, यूरीनरी समस्याओं में इस्तेमाल होने वाली दवाइयां मोनोएमीन ऑक्सीडेज (माओ, mao) इन्हिबिटर जिसमें आइसोकॉर्बोक्साजिड (मरप्लान), फेनलजीन (नॉर्डिल), सेलिग्लिन (एल्डीप्रिल, इम्सम, जेलापर), ट्रानिलसाईप्रोमीन (पर्नेट), दर्द के लिए नारकोटिक की दवाइयां, सेडेटिव, स्लीपिंग पिल्स, टेट्रासाईक्लिन (ब्रिस्टासाइक्लिन, सुमाइसिन) या ट्रांसक्वीलाइजर। डॉक्टर आपकी खुराक को बदल सकता है या आपके साइड इफेक्ट्स को मॉनिटर कर सकता है।
  • अगर आपको किसी तरह का ब्लॉकेज, ब्लीडिंग या पेट या आंत से पानी आना, फियोक्रोमोसाइटोमा (किडनी के पास मौजूद छोटी ग्रंथि में ट्यूमर), या दौरे पड़ना जैसी समस्याएं हों तो डॉक्टर को बताएं।
  • अगर आपको पार्किन्सन डिसीज (नर्वस सिस्टम की एक बीमारी जिसमें मूवमेंट, मसल कंटोल और संतुलन बनाने में दिक्कत होती है), हाई ब्लड प्रेशर, डिप्रेशन, ब्रेस्ट कैंसर, अस्थमा, ग्लूकोस 6 फॉस्फेट डीहाइड्रोजिनेज की कमी, साईटोक्रोम बी5 रिडक्टेज की कमी (एक प्रकार का अनुवांशिक ब्लड डिसऑर्डर), या हार्ट, लिवर और किडनी की बीमारियां हों तो अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।
  • अगर आप सर्जरी करवाने जा रहें हैं जिसमें डेंटल सर्जरी भी शामिल है तो अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं कि आप मेटोक्लोप्रामाईड ले रहे हैं।
  • आपको पता होना चाहिए कि मेटोक्लोप्रामाईड के सेवन से सुस्ती आ सकती है। जब तक कि आपको पता ना हो जाए कि मेटोक्लोप्रामाईड आपको कितना प्रभावित कर सकता है तब तक इसके सेवन के बाद ना तो ड्राइव करें, ना कोई मशीनरी काम करें।

और पढ़ें : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान महिलाओं में मेटोक्लोप्रामाईड के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। मेटोक्लोप्रामाईड लेने से पहले इसके फायदों और नुकसान के बारे में डॉक्टर से जरूर सलाह लें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार मेटोक्लोप्रामाईड प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी बी (pregnancy risk category B) के अंतर्गत आता है।

एफडीए प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी का संदर्भ नीचे दिया गया है,

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= निषेध (CONTRAINDICATED)
  • N= कोई जानकारी नहीं

[mc4wp_form id=”183492″]

मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

अगर आपको किसी तरह की एलर्जी, हीव्स, सांस लेने में दिक्कत, चेहरे, होंठ, जीभ और गले मे सूजन आदि जैसी समस्याएं हों तो आप मेडिकल सहायता जरूर लें।

अगर इलाज के पहले दो दिन के भीतर आपको नीचे बताए गए गंभीर मूवमेंट डिसऑर्डर महसूस हो तो आप मेटीक्लोप्रामाईड का इस्तेमाल बंद करें और डॉक्टर को तुरंत कॉल करें।

  • हाथ और पैरों का कांपना
  • चेहरे में अनियंत्रित मसल मूवमेंट ( चबाना, होठ चाटना, भौं चढ़ना, जीभ का मूवमेंट)
  • नया या असामान्य मसल मूवमेंट जिसे आप कंटोल ना कर सकें।

अगर आपको नीचे बताए गए साइड इफेक्ट्स महसूस हों तो मेटोक्लोप्रामाईड का इस्तेमाल बंद करें और अपने डॉक्टर को कॉल करें;

  • धीमे या जर्क के साथ मसल मूवमेंट, चलने के दौरान संतुलन बनाने में दिक्कत
  • चेहरे पर एक्प्रेशन न आना
  • मांसपेशियों का अकड़ जाना, तेज बुखार, पसीना आना, कंफ्यूजन, तेज या एक सामान हार्ट बीट का ना होना, कांपना, ऐसा महसूस होना जैसे आपकी मृत्यु हो गई हो
  • डिप्रेस्ड होना, अपने आप को नुकसान पहुंचाने या आत्महत्या का विचार आना
  • भ्रम की स्थिति होना, उलझन, उत्तेजित होना, बेचैन होना, एक जगह खड़े होने में समस्या
  • सूजन, सांस लेने में तकलीफ, तेजी से वजन बढ़ना
  • पीलिया (आंखों और त्वचा का पीला पड़ना)
  • दौरे पड़ना

कम गंभीर साइड इफेक्ट्स जैसे;

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। यहां पर सारे साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट्स महसूस होते हैं तो आप डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें- जानें कैसे रेड मीट की वजह से बढ़ सकती है ब्रेस्ट कैंसर की संभावना

कौन सी दवाएं मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो यह मेटोक्लोप्रामाईड उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं की लिस्ट रखें जो डॉक्टर द्वारा पर्चे पर लिखी गई हों या ना लिखी गई हों या हर्बल प्रोडक्ट्स हो और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

और पढ़ें : एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

अगर आप नियमित रूप से दूसरी दवाइयां इस्तेमाल कर रहें हैं जिससे आपको नींद आए (जैसे सर्दी या एलर्जी की दवाइयां, सेडेटिव, नार्कोटिक दवाइयां, स्लीपिंग पिल्स, मसल्स को रिलैक्स करने वाली दवाइयां और दौरे पड़ना, डिप्रेशन या उलझन की दवाइयां), तो इस स्थिति में मेटोक्लोप्रामाईड इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को बताएं। ये सारी दवाइयां नींद को और अधिक बढ़ावा देती हैं। आप अपने डॉक्टर को बताएं अगर आप दूसरी कोई दवाइयां इस्तेमाल करते हैं। जैसे;

  • ऐसिटामिनोफेन (टाइलीनॉल)
  • सायक्लोस्पोरिन (जेनग्राफ, नियोरल, सैंडिम्यून)
  • डीजोक्सिन (डिजिटेलिस, लेनोक्सिन)
  • ग्लाइकोपायरोलेट (रोबिनुल)
  • इंसुलिन
  • लिवोडोपा (लारोडोपा, एटामेट, परकोपा, सिनेमेट)
  • मेपेन्जोलेट (कैंटिल)
  • टेट्रासाइक्लिन (ऐला-टेट, ब्रोड्सपेक, पैनमाइसिन, सुमाइसिन, टेट्राकैप)
  • एट्रोपिन (डोनाटल एवं अन्य), बेंजट्रोपिन (कोगेन्टिन), डाईमेनहाइड्रीनेट (ड्रामामीन), मेथस्कोपोलामीन (पामीन), या स्कोपोलामीन (ट्रांसडर्म-स्कोप)
  • ब्लैडर या यूरीनरी मेडिसिन जैसे डारिफेनासिन (इनाब्लेक्स), फ्लावोक्सेट (युरिस्पस), ऑक्सिब्यूटीनिन (डिट्रोपैन, ऑक्सिट्रोल), टॉलटेरोडीन (डेट्रॉल), सोलीफेनासिन (वैसीकेयर)
  • ब्लड प्रेशर की दवाइयां
  • ब्रोंकोडाइलेटर जैसे इप्राट्रोप्रियम (ऐट्रोवेंट) या टियोट्रोपियम (स्पाईरीवा)
  • इरीटेबल बॉवेल की दवाइयां जैसे डाईसायक्लोमीन (बेंटिल), हायोसायमीन (ऐनास्पाज, सिस्टोस्पाज, लेवसिन) या प्रोपैंथेलिन (प्रो-बैंथिन)
  • एमएओ, MAO इन्हिबिटर जैसे फ्यूराजोलीडोन (फ्यूरोक्सोन), आइसोकॉर्बोक्सीजिड (मरप्लान), फेनलजिन (नॉर्डिल), रेसाग्लिन (ऐजीलेक्ट), सेलीग्लिन (एल्डीप्रिल, इम्सम, जेलापार) या ट्रानिलसाईप्रोमिन (पर्नेट);
  • साईकियाट्रिक डिसॉर्डर जैसे क्लोरप्रोमाजिन (थोराजिन), क्लोजापिन (क्लोजरिल, फेजाक्लो), हालोपेरोडोल (हलडोल), ओलेंजापिन (जाइप्रेक्सा, सिमबाएक्स), प्रोक्लोरपेराजिन (कॉम्पाजिन), रिसपेरीडॉन (रिसपरडाल), थियोथिकसेन (नावेन) एवं अन्य।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) लेना सुरक्षित है?

मेटोक्लोप्रामाईड भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। अगर भोजन या एल्कोहॉल के साथ मेटोक्लोप्रामाईड का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से जरूर सलाह लें।

मेटीक्लोप्रामाइड (Metoclopramide) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

मेटोक्लोप्रामाईड आपके स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या इस दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। आप अपने डॉक्टर फार्मासिस्ट को अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में जरूर बताएं अगर आपको निम्नलिखित समस्याएं हों;

  • पेट मे होने वाली ब्लीडिंग
  • आंतों का ब्लॉकेज या आंतों में छेद होना
  • फियोक्रोमोसाईटोमा (एड्रिनल ग्लैंड ट्यूमर)
  • दौरे पड़ना- इस स्थिति में आपको इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • अस्थमा
  • सिरोसिस (लिवर डिजीज)
  • हार्ट फेलियर (congestive heart failure)
  • डायबिटीज
  • दिल की धड़कन संबंधी समस्याएं (जैसे वेन्ट्रीकुलर एरिथमिया, ventricular arrhythmia)
  • हाइपरटेंशन (ब्लड प्रेशर ज्यादा होना)
  • डिप्रेशन
  • न्यूरोलेप्टिक मैलिग्नेंट सिंड्रोम, Neuroleptic malignant syndrome
  • पार्किंसंस डिजीज– इस बीमारी में यह दवा ध्यानपूर्वक इस्तेमाल करें क्योंकि इससे स्थिति और खराब हो सकती है।
  • ग्लूकोस 6 फॉस्फेट डीहाइड्रोजिनेज की कमी (एंजाइम की समस्या)
  • किडनी की बीमारी – इस स्थिति में दवा का इस्तेमाल ध्यानपूर्वक करें। साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं क्योंकि किडनी की बीमारी में शरीर से दवा के निकलने की प्रक्रिया कम हो जाती है।

और पढ़ें- Kidney transplant : किडनी ट्रांसप्लांट कैसे होता है?

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide) कैसे उपलब्ध है?

मेटोक्लोप्रामाईड निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

  • सॉल्यूशन, इंजेक्शन: 5mg/ml

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इस स्थिति में अपने लोकल इमरजेंसी सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप मेटोक्लोप्रामाईड की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Metoclopramide. https://www.drugs.com/metoclopramide.html. Accessed on 3 September, 2020.

Metoclopramide. https://www.mayoclinic.org/drugs-supplements/metoclopramide-oral-route/description/drg-20064784. Accessed on 3 September, 2020.

Metoclopramide. https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a684035.html. Accessed on 3 September, 2020.

Metoclopramide. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK519517/. Accessed on 3 September, 2020.

NCI Drug Dictionary. https://www.cancer.gov/publications/dictionaries/cancer-drug/def/metoclopramide-hydrochloride. Accessed on 3 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/09/2020 को
Mayank Khandelwal के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड