Ranitidine : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट August 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

रेनिटिडाइन (Ranitidine) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

रेनिटिडाइन (Ranitidine) का उपयोग पेट और आंतों के अल्सर का इलाज करने और उपचार के बाद दोबारा इसे लौटने से रोकने के लिए किया जाता है। पेट में बहुत ज्यादा बनने वाले एसिड जैसे जोलिंगर-एलिसन सिंड्रोम (Zollinger-Ellison syndrome) या इरोसिव एसोफैगिटिस (erosive esophagitis) रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) के कारण होने वाले पेट और गले (ग्रासनली) की समस्याओं के इलाज और रोकथाम के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

रेनिटिडाइन को H2 हिस्टामिन अवरोधक के रूप में जाना जाता है। यह पेट में एसिड की मात्रा को कम करने का काम करता है। यह अल्सर को ठीक करके उसे दोबारा होने से रोकता है।

यह दवा बिना प्रिस्क्रिप्शन के भी उपलब्ध है। इसका उपयोग पेट में बहुत अधिक एसिड (अपच) के कारण होने वाले दिक्कतों को रोकने और इलाज करने के लिए किया जाता है। अगर आप इस दवा का उपयोग बिना किसी डॉक्टर के सलाह से कर रहे हैं, दवा के पैकेज पर लिखे गए निर्देशों को ध्यान से पढ़ें।

और पढ़ें : Chlorhexidine Gluconate+Clobetasol+Miconazole+Neomycin: क्लोरहेक्सिडिन ग्लूकोनेट+क्लोबेटासोल+मिकोनाजोल+नियोमायसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे रेनिटिडाइन (Ranitidine) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

रेनिटिडाइन (Ranitidine) को खाली पेट या खाने के साथ खाना चाहिए। दिन भर में एक या दो गोली का सेवन कर सकते हैं। हालांकि, डॉक्टर के सलाहानुसार एक दिन में चार बार भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप इस दवा को नियमित तौर पर खाते हैं तो शाम के भोजन के बाद या सोने से पहले खा सकते हैं।

किसी व्यस्क को इस दवा का सेवन कब तक करना चाहिए यह आपकी सेहत पर निर्भर करता है। हालांकि, बच्चों के लिए इसकी मात्रा उनके शरीर के वजन के आधार पर तय की जाती है। इसलिए जब भी इस दवा का सेवन करें अपने डॉक्टर से इसकी सलाह जरूर लें।

अगर आप इस दवा का सेवन कर रहे हैं, तो नियमित तौर पर इसका सेवन करें क्योंकि, नियमित सेवन करने पर ही इसका अधिक लाभ मिल सकता है। साथ ही बिना डॉक्टर की सलाह के अपनी खुराक न बढ़ाएं।

अगर आप एसिड या अपच के उपचार के लिए नॉनप्रिस्क्रिप्शन रैनिटिडिन का उपयोग कर रहे हैं, तो आवश्यकतानुसार एक गिलास पानी के साथ इसकी एक गोली का सेवन करें। लेकिन ध्यान रखें कि भोजन खाने या पेय पदार्थ पीने से 30-60 मिनट पहले ही इसका सेवन करना चाहिए। साथ ही जब तक आपके डॉक्टर की सलाह न हो, तब तक 24 घंटे में 2 से अधिक गोलियों का सेवन न करें।

नियमित सेवन के बाद भी अगर आपकी सेहत में सुधार नजर नहीं आता, तो अपने डॉक्टर को सूचित करें।

और पढ़ें : Piroxicam: पाइरोक्सिकेम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं रेनिटिडाइन (Ranitidine) को कैसे स्टोर करूं?

रेनिटिडाइन के रख-रखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। रेनिटिडाइन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में रेनिटिडाइन के अलग-अलग ब्रांड है, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी रेनिटिडाइन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। 

बिना निर्देश के रेनिटिडाइन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। 

और पढ़ें : Mometasone : मोमेटासोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनियां

रेनिटिडाइन (Ranitidine) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको रेनिटिडाइन से एलर्जी है, तो इस दवा का उपयोग न करें।

दिल का दौरा पड़ने के पहले लक्षण को लेकर लोगों में काफी भ्रांतियां होती है। अगर इसके सेवन से आपको सीने में दर्द या भारीपन महसूस हो, हाथ या कंधे में दर्द, चक्कर आना, बहुत ज्यादा पसीना आना या ऐसी कोई भी स्थिती महसूस करते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान रेनिटिडाइन (Ranitidine) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसका इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। 

और पढ़ें : Nimesulide+Paracetamol/Acetaminophen: निमेसुलाइड+पैरासिटामोल/ एसिटामिनोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

रेनिटिडाइन (Ranitidine) के क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

ऐसे किसी भी लक्षण को आप महसूस करते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करेः 

  • सीने में दर्द, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, हरे या पीले बलगम के साथ खांसी
  • खून बहना, असामान्य कमजोरी
  • तेज या धीमी हृदय गति
  • नजर का धुंधला होना
  • बुखार, गले में खराश या छाला, त्वचा पर लाल चकत्ते के साथ सिरदर्द
  • चक्कर आना, पेट में दर्द, कम बुखार, भूख में कमी, गहरे रंग का मूत्र, मिट्टी के रंग का मल, पीलिया।

कुछ कम गंभीर दुष्प्रभाव भी देखें जा सकते हैं: 

  • सिरदर्द
  • चक्कर आना
  • नींद न आना
  • सेक्स की इच्छा में कमी, नपुंसकता, या एक संभोग सुख होने में कठिनाई
  • सूजन या स्तनों में सूजन
  • उल्टी, पेट में दर्द
  • दस्त या कब्ज।

इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताएं गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं,तो अपने डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ें : Rubella Vaccine : रूबेला वैक्सीन क्या है?

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं रेनिटिडाइन (Ranitidine) के साथ इस्तेमाल की जा सकती हैं?

अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें है, तो उसके साथ रेनिटिडाइन इस्तेमाल करने से पहले यह जरूर जान लें कि उसके साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको किस तरह की परेशानी हो सकती है। साथ ही यह उस दवा के असर को भी प्रभावित कर सकता है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें। 

अगर आप ट्राईजोलम (हैलियोन) ले रहे हैं, तो आप इसके साथ रेनिटिडाइन का उपयोग नहीं कर सकते हैं।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ रेनिटिडाइन (Ranitidine) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ रेनिटिडाइन का सेवन किया जाए, तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

और पढ़ें : Akurit 4: अकुरिट 4 क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

इंटरैक्शन

रेनिटिडाइन (Ranitidine) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

रेनिटिडाइन का इस्तेमाल आपकी सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें।

 दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें : Norfloxacin : नॉरफ्लॉक्सासिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

खुराक

रेनिटिडाइन (Ranitidine) कैसे उपलब्ध है?

रेनिटिडाइन (Ranitidine) निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है: 

  • टैबलेट, ओरल 25 मिग्रा, 75 मिग्रा, 150 मिग्रा, 300 मिग्रा 
  • कैप्सूल, ओरल 150 मिग्रा, 300 मिग्रा 
  • इंजेक्शन: 50 मिग्रा/2 मिग्रा, 150 मिग्रा/6 मिली, 1000 मिग्रा/40 मिग्रा। 

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर रेनिटिडाइन की खुराक लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो, तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Peptic Ulcer: पेट में अल्सर क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

पेट में अल्सर क्यों होता है? पेट में अल्सर के कारण, लक्षण और इलाज क्या हैं? What is Peptic Ulcer? Symptoms, cause and treatment in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shilpa Khopade
स्वस्थ पाचन तंत्र, पेट का अल्सर October 19, 2019 . 10 मिनट में पढ़ें

गैस की दवा रेनिटिडिन (Ranitidine) के नुकसान हैं कहीं ज्यादा, उपयोग करने से पहले जान लें

समझें रेनिटिडिन के नुकसान in hindi. रेनिटिडिन के सेवन से हो सकती है कैंसर जैसी बीमारी! किन-किन लोगों को नहीं करना चाहिए इसका सेवन।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य September 26, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

रेनिटिडिन का इस्तेमाल करते हैं तो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर का खतरा

अगर आप भी गैस या सीने में जलन के उपचार के लिए रेनिटिडिन का इस्तेमाल करते हैं, तो जरा सावधान हो जाएं। क्योंकि, यह आपको कैंसर का मरीज बना सकता है। ranitidine is not safe

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य September 18, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

इसबगोल का उपयोग कर सकता है इन परेशानियों को दूर

इसबगोल एक प्रकार का फाइबर है जो आमतौर पर लैक्सेटिव के रूप में उपयोग होता है। जानिए इसके फायदे क्या हैं, इसबगोल (Isabgol ke fayde in hindi) का सेवन।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
स्वस्थ पाचन तंत्र, कब्ज August 28, 2019 . 7 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

एसिडिटी का इलाज-acidity treatment

खुद ही एसिडिटी का इलाज करना किडनी पर पड़ सकता है भारी!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ May 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Rebamipide: रेबामिपाइड

Rebamipide: रेबामिपाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, डोज और सावधानियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
प्रकाशित हुआ February 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
corneal ulcer- कॉर्नियल अल्सर

Corneal ulcer : कॉर्नियल अल्सर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ February 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बच्चों में एपथस अल्सर

बच्चों में एपथस अल्सर (मुंह के छाले) की परेशानी कैसे समझें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ December 30, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें