home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Terbinafine : टर्बिनाफाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Terbinafine : टर्बिनाफाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां
टर्बिनाफाइन (Terbinafine) का उपयोग किसलिए किया जाता है?|टर्बिनाफाइन (Terbinafine) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?|कौन सी दवाएं टर्बिनाफाइन के साथ नहीं ली जा सकती हैं?|डॉक्टर की सलाह

टर्बिनाफाइन (Terbinafine) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

हाथ और पैर की उंगली में होने वाले फंगल इंफेक्शन के इलाज में टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल होता है। डॉक्टर द्वारा बताई गई दूसरी स्वास्थ्य स्थितियों में भी यह इस्तेमाल हो सकता है। टर्बिनाफाइन एक तरह का एंटीफंगल एजेंट होता है। यह संवेदनशील फंगी (fungi) को मारने का काम करता है।

मैं टर्बिनाफाइन (Terbinafine) का इस्तेमाल कैसे करूं?

डॉक्टर के निर्देश के अनुसार ही टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल करें। खुराक से संबंधित सही निर्देश के लिए दवा के लेबल को चेक करें।

टैबलेट के रूप में इस्तेमाल करने के लिए: इस दवा को भोजन या बिना भोजन के भी इस्तेमाल कर सकते हैं। स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार इस टैबलेट को अलग-अलग समय पर लिया जा सकता है।

नेल लैक्वेर (Nail Lacquer) के रूप में इस्तेमाल करने के लिए: जब तक डॉक्टर ना कहे तब तक इसे रात में सोते समय ही इसका इस्तेमाल करें। प्रभावित नाखूनों को धोएं और सूखाएं और इसके बाद दवा की एक पतली पर्त लगाएं।

घाव या कटने या फिर डैमेज स्किन पर इस नेल लैक्वेर का इस्तेमाल ना करें।

स्वस्थ नाखूनों के विकास के लिए जब तक डॉक्टर ना कहे तब तक इस नेल लैक्वेर का ही इस्तेमाल करें। आपकी स्थिति के अनुसार सामान्य रूप से 6 से 12 महीने तक का समय लग सकता है।

इंफेक्शन को पूरी तरह से साफ करने के लिए टर्बिनाफाइन का पूरा इलाज कराएं। अगर आपको आराम भी महसूस हो फिर भी इस दवा का इस्तेमाल करते रहें।

और पढ़ें : गर्मियों में कैसे करें अपनी त्वचा की देखभाल

मैं टर्बिनाफाइन (Terbinafine) को कैसे स्टोर करूं?

टर्बिनाफाइन को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। टर्बिनाफाइन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में टर्बिनाफाइन के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा- निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें।

सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। बिना निर्देश के टर्बिनाफाइन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुकी है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

टर्बिनाफाइन (Terbinafine) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको नीचे बताई गईं मेडिकल कंडिशन हैं जैसे

  • अगर आप प्रेग्नेंट है या ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं। क्योंकि फीडिंग के दौरान आपको डॉक्टर के निर्देश के अनुसार ही दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • अगर आप इस दवा के साथ कोई दूसरी दवा लेते हैं जिसमें कोई भी बिना प्रिस्क्रिप्शन के आसानी से खरीदने के लिए उपलब्ध दवा शामिल हो सकती हैं जैसे हर्बल और कॉम्प्लिमेंट्री दवाइयां आदि।
  • अगर आपको टर्बिनाफाइन में मौजूद एक्टिव या निष्क्रिय सामग्री या फिर किसी दूसरी दवाइयों से एलर्जी हो।
  • अगर आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या दूसरी स्वास्थ्य समस्याएं हों।
  • अगर आपको किडनी या लिवर की समस्या, लूपस, डिप्रेशन, सोरियासिस, एल्कोहॉल की आदत या उस पर निर्भरता या ब्लड सबंधी समस्या आदि हो।
  • अगर आपका इम्यून सिस्टम कमजोर हो या आपकी श्वेत रक्त कोशिकाओं (White blood cell) की संख्या कम हो गई हो।
  • अगर आपको टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल के दौरान सिर चकराने की समस्या हो तो सावधानीपूर्वक इसका इस्तेमाल करें। इस स्थिति में ना तो ड्राइव करें और ना ही कोई असुरक्षित काम करें।
  • अगर आप ऐसी दवाइयां लेते हों जिसमें कैफीन हो या अगर आप ज्यादा मात्रा में ऐसे खाद्य पदार्थ या ड्रिंक का सेवन करते हों जिसमें कैफीन हो (जैसे; काफी, चाय, कोकोआ, कोला, चॉकलेट) आदि।

आपको बता कि टर्बिनाफिन केवल फंगल इंफेक्शन पर ही काम करता है; यह बैक्टीरियल या वायरल इंफेक्शन (जैसे सामान्य सर्दी-जुकाम) में काम नहीं करता हैं।

बिना डॉक्टर के निर्देश के आप इस दवा को निर्धारित खुराक से ज्यादा ना लें और ना ही निर्धारित समय से ज्यादा दिन तक इसका इस्तेमाल करें।

और पढ़ें : एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

आप यह सुनिश्चित करें कि पूरे इलाज के दौरान आपने टर्बिनाफिन का इस्तेमाल किया है। अगर आपने ऐसा नहीं किया है तो यह दवा पूरी तरह से इंफेक्शन को समाप्त नहीं करेगी। फंगस या कवक इस दवा या दूसरी दवाइयों के प्रति कम संवेदनशील हो सकते हैं जिसकी वजह से भविष्य में इंफेक्शन का इलाज कठिन हो सकता है।

जो लोग टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल करते हैं उन्हें बहुत खराब स्किन रिएक्शन (जैसे स्टीवेंस-जॉनसन सिंड्रोम/टॉक्सिक एपिडर्मल नेक्रोलाइसिस) जिसमें लिवर, किडनी या हार्ट की समस्या के साथ त्वचा में चकते हो सकते हैं। इन रिएक्शन से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं जिसकी वजह से कभी कभी मृत्यु भी हो सकती है। अगर आपकी स्किन में लाल निशान, सूजन, छाले या स्किन छिल जाती है, बुखार, आंखों का लाल होना और उसमें जलन होना, मुंह, नाक, गले या आंखों या लिम्फ ग्लैंड में छाले (दूसरे बिना असामान्य साइड इफेक्ट्स के या उसके साथ) पड़ने की समस्या हो तो तुरंत मेडिकल सेवाओं की सहायता लें।

टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से आपके शरीर की इंफेक्शन से लड़ने की क्षमता कम हो सकती है। अगर आपको इंफेक्शन जैसे बुखार, गले मे छाले, चकत्ते पड़ना या ठंड लगना आदि जैसी समस्याएं होती हैं तो अपने डॉक्टर को इस बारे में बताएं।

किसी मेडिकल या डेंटल या इमरजेंसी केयर या सर्जरी के पहले अगर आप टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल करते हैं तो डॉक्टर को इस बारे में बताएं। जो मरीज टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल करते हैं उनमें स्वाद में बदलाव (जैसे स्वाद का नुकसान) या सूंघने की क्षमता में बदलाव (जैसे सूंघने की कमी) आदि समस्या पाई गई है। अगर आप टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल बंद कर देते हैं तो यह समस्या खत्म हो सकती है या लंबे समय (जैसे एक साल से ज्यादा) तक बनी रह सकती है या परमानेंट हो सकती है। अगर आपके स्वाद में बदलाव, सूंघने में बदलाव, कम भूख लगना, वजन कम होना, चिंता या मूड में बदलाव (जैसे डिप्रेशन के लक्षण) आदि महसूस हों तो तुरंत डॉक्टर को इस बारे में बताएं।

टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से आपको आसानी से सनबर्न की समस्या हो सकती है। जब तक आप यह नहीं जानते कि आपकी बॉडी टर्बिनाफाइन पर कैसे प्रतिक्रिया करती है, तब तक सूरज, सनलैम्प्स या टैनिंग बूथ से बचें। अगर आप ज्यादा समय के लिए बाहर रहते हैं तो आप सनस्क्रीन या धूप से बचने वाले कपड़ों का इस्तेमाल करें।

कभी-कभी टर्बिनाफाइन की वजह से खतरनाक लिवर की समस्या हो सकती है। अगर लिवर की समस्या होती है तो यह उन मरीजों में ज्यादा खतरनाक होती है जिन्हें एक्टिव लिवर की समस्या हो या लांग टर्म लिवर प्रॉब्लम की हिस्ट्री हो। इस बारे में कोई सवाल या किसी तरह की चिंता हो तो अपने डॉक्टर से बात करें।

नेल लैक्वेर (Nail lacquer) केवल एक्सटर्नल इस्तेमाल के लिए होता है। इसका इस्तेमाल आंखों, नाक और मुंह मे ना करें। अगर इन जगहों पर इसका इस्तेमाल गलती से कर लिया है तो तुरंत इसे ठंडे पानी से धोएं।

आप नेल पॉलिश का इस्तेमाल नेल लैक्वेर के टॉप पर कर सकते हैं।

जब तक आप अपने हाथों को नहीं धो रहें हैं तब तक नेल लैक्वेर को धुलने से बचाने के लिए पानी या केमिकल पदार्थ के इस्तेमाल के दौरान दास्ताने का इस्तेमाल करें। दास्ताने के नीचे कॉटन का इस्तेमाल करें।

नेल लैक्वेर ज्वलनशील होता है। खुले फ्लेम (flame) के पास में या स्मोकिंग के दौरान इसका इस्तेमाल ना करें। जब आप टर्बिनाफाइन का उपयोग करते हैं, तो लिवर फंक्शन और पूर्ण रक्त कोशिका की गणना सहित लैब परीक्षण किया जा सकता है। ये परीक्षण आपकी स्वास्थ्य स्थिति को मॉनिटर करने के लिए या साइड इफेक्ट्स को चेक करने के लिए इस्तेमाल हो सकते हैं। सारे डॉक्टर और लैब के अपॉइंटमेंट आपके पास हैं, इस बात को सुनिश्चित करें।

बच्चों में जबरदस्त सावधानी के साथ टर्बिनाफाइन का इस्तेमाल करना चाहिए; बच्चों में इसकी सुरक्षा और प्रभाव के बारे में कोई जानकारी कंफर्म नहीं की गई है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान टर्बिनाफाइन लेना सुरक्षित है?

महिलाओं में प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। इस बारे अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि यूएस फ़ूड एंड एडमिनिस्ट्रेशन ने प्रेग्नेंसी के दौरान, इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे की ‘बी’ श्रेणी में रखा है। एफडीए प्रेग्नेंसी खतरे की सूची इस प्रकार है;

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= इस बारे में मतभेद हैं
  • N= कुछ पता नहीं

टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

सभी दवाइयों के इस्तेमाल से साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, लेकिन ज्यादातर लोगों को या तो कम या तो न के बराबर साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। आप अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको ये सारे साइड इफेक्ट्स होते हैं जैसे :

अगर आपको निम्नलिखित गंभीर साइड इफेक्ट हों तो आपको तुरंत मेडिकल अटेंशन की जरूरत है जैसे;

  • गंभीर एलर्जिक रिएक्शन (जैसे हीव्स, खुजली, सांस लेने या निगलने में दिक्कत होना; सीने के टाइट होना; मुंह, चेहरे, गले और होठों में सूजन; असामान्य रूप से आवाज का बैठना)
  • जलन, सुन्न पड़ना या झुनझुनी होना
  • मेंटल या मूड में बदलाव (जैसे डिप्रेशन, बेचैनी, दुखी होना, अपने को बेकार समझना)
  • लुपस के नए लक्षणों का होना या पुराने लक्षणों का खराब स्थिति में पहुंचना (जैसे; चेहरे पर तितली के आकार का चकत्ते पड़ना, जोड़ों में दर्द होना, दौरे पड़ना, स्किन के रंग का बदलना, असामान्य रूप से धूप के प्रति संवेदनशील होना)
  • त्वचा का पीला होना
  • गंभीर रूप से मांसपेशियों या जोड़ों में दर्द या उनका मुलायम होना
  • गंभीर रूप से पेट का दर्द बने रहना (उल्टी या मिचली के बगैर)
  • नींद की समस्या
  • लिवर की समस्या के लक्षण (जैसे डार्क यूरिन, भूख ना लगना, स्टूल का ज्यादा पीला होना, लगातार मिचली आना, उल्टी, आंखों और त्वचा का पीला पड़ना)
  • असामान्य खरोंच या ब्लीडिंग होना
  • असामान्य थकान या कमजोरी
  • देखने या सुनने की क्षमता में बदलाव होना

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे हैं जिनके बारे में यहां बताया नहीं गया है। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें : Chlorzoxazone : क्लोरजोक्सॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स सावधानियां

कौन सी दवाएं टर्बिनाफाइन के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो टर्बिनाफाइन उसके साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसको रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, न ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

निम्नलिखित दवाइयां टर्बिनाफाइन के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं;

  • ऐमियोडारोन, सिमेटीडीन, फ्लूकोनाजॉल या कीटोकोनाजॉल, क्योंकि ये दवाइयां टर्बिनाफाइन के साइड इफेक्ट्स को बढ़ा सकती हैं।
  • रिफैम्पीन, क्योंकि यह टर्बिनाफाइन के प्रभाव को कम कर सकती है।
  • एंटीऐरिथमिक्स (जैसे; फ्लेकेनाइड, प्रोपाफेनोन), बीटा ब्लॉकर्स (जैसे मेटोप्रोलोल), डेक्सट्रोमेथोर्फन, मोनोएमीन ऑक्सीडेज टाइप बी इन्हिबिटर (जैसे सेलेजिलिन), सेलेक्टिव सेरोटॉनिन रिअपटेक इन्हिबिटर (एसएसआरआई) (जैसे फ्लुऑक्सेटिन), ट्राईसाइक्लिक एंटीडिप्रेसेंट (जैसे ऐमीट्रिप्टिलिन, डेसिप्रामीन), क्योंकि टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से इन दवाइयों के साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं।
  • एंटीकोगुलेन्ट्स (जैसे वरफेरिन), क्योंकि इनका प्रभाव कम हो सकता है या फिर टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से इनका साइड इफेक्ट्स बढ़ सकता है।
  • सायक्लोस्पोरिन या टैमोक्सीफेन क्योंकि टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से इनका प्रभाव कम हो सकता है।

क्या भोजन और एल्कोहॉल के साथ टर्बिनाफाइन इस्तेमाल किया जा सकता है?

टर्बिनाफाइन भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे ड्रग का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में बात करें।

टर्बिनाफाइन के इस्तेमाल से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

टर्बिनाफाइन आपकी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकती है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या ड्रग जिस तरह से काम करता है, वह तरीका प्रभावित हो सकता है। इसलिए महत्वपूर्ण यह है कि अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

और पढ़ें : ओमेप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्टर की सलाह

टर्बिनाफाइन कैसे उपलब्ध है?

टर्बिनाफाइन निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

  • टैबलेट : 250 एमजी; 125 एमजी; 187.5 एमजी

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप टर्बिनाफाइन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Terbinafine Accessed on 08/08/2017

Terbinafine Accessed on 08/08/2017

Terbinafine Gel Accessed on 06/12/2019

Terbinafine Accessed on 06/12/2019

Terbinafine (Oral Route) Accessed on 06/12/2019

Efficacy and Safety of Terbinafine 500 mg Once Daily in Patients with Dermatophytosis Accessed on 06/12/2019

terbinafine (Lamisil) Accessed on 06/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anoop Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 11/10/2019
x