आंखों का लाल होना बन सकता है परेशानी की वजह, ऐसे बचें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कई बार जब हमारी आंख में कुछ चला जाता है तो वे लाल हो जाती हैं। आपने अक्सर गौर किया होगा लंबे समय तक फोन, टीवी या लैपटॉप पर नजरें गड़ाए रखने से बहुत सारे लोगों में आंख लाल होना जैसी परेशानी होती हैं। आंखों में रेडनेस होने पर आंखों की सफेद पुतलियां लाल नजर आने लगती हैं। आंखों का लाल होना इस परेशानी को हम बहुत हल्के में लेते हैं, लेकिन यह एक गंभीर बीमारी का लक्षण भी हो सकता है।

आंखों का लाल होना इन वजह से हो सकता है:

एलर्जी: आपकी आंखों का लाल होना एलर्जी भी हो सकती है। ये पेड़ों और घास में मौजूद पोलन (pollen) या फिर धूल, मिट्टी, धुआ या परफ्यूम के कारण भी हो सकता है। इन मामलों में आपकी आंखों में खुजली, जलन और पानी निकलने की शिकायत भी हो सकती है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ड्राय आई: कई बार आपकी आंखें पर्याप्त आंसू नहीं बना पाती हैं जिस वजह से ड्राय आई की समस्या होती है। कई बार यह समस्या आंखों का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने के कारण भी हो जाती है। ज्यादातर उन लोगों में यह परेशानी देखने को मिलती है जो दिन में कई घंटे कंप्यूटर के आगे बिताते हैं। कई बार इसमें आंखों में दर्द, कोर्निया में अल्सर और आंखों की रोशनी चले जाने का खतरा रहता है। आंख लाल होने के अलावा ड्राय आई में नीचे बताए लक्षण भी नजर आ सकते हैं-

  • आंखों में जलन
  • साफ नजर न आना
  • रोते समय आंखों से आंसू न निकलना
  • आंखों में थकान महसूस होना
  • आंखों में बेचैनी होना

कंजंक्टिवाइटिस: कंजंक्टिवाइटिस को पिंक आई भी कहते हैं। हमारी आंखों की पुतली के ऊपर एक महीन झिल्ली होती है जिसे कंजंक्टिवाइटिस कहते हैं। कई बार इसमें किसी तरह का इंफेक्शन होने पर आंखों में सूजन हो जाती है। ये इंफेक्शन बैक्टीरियल, वायरल या फंगल कुछ भी हो सकता है। इसमें भी आंखों का लाल होना जैसी शिकायत होती है।

और पढ़ें:  हड्डियों को मजबूत करने के साथ ही आंखों को हेल्दी रख सकती है पालक

आंखों का लाल होना: ये हो सकते हैं कारण 

  • कॉर्निया या आंख के सफेद हिस्से में सूजन
  • ग्लूकोमा (glaucoma)
  • बहुत देर धूप में रहने के कारण
  • आंख में चोट लग जाना
  • स्मोक या ड्रिंक करने से
  • आंखों को रगड़ना
  • नींद की कमी
  • आंखों में क्लोरीन चला जाना (स्विमिंग पूल में जाने पर ऐसा होता है)
  • धुआं लगना
  • आंखों में धूल के बारीक जर्रे चले जाना
  • किसी इंफेक्शन की शुरुआत

और पढ़ें : बेहद आसानी से की जाने वाली 8 आई एक्सरसाइज, दूर करेंगी आंखों की परेशानी

आंखों का लाल होना: इस समस्या के साथ ऐसे लक्षण भी नजर आ सकते हैं

  • खुजली
  • जलन   
  • आंखों में ड्रायनेस
  • सूजन
  • दर्द
  • आंसू बहना 
  • रोशनी से संवेदनशीलता
  • धुंधलापन

और पढ़ें:  डब्लूएचओ : एक बिलियन लोग हैं आंखों की समस्या से पीड़ित

यहां कुछ टिप्स बताए जा रहे हैं, जिनकी मदद से आंखों का लाल होना दूर किया जा सकता है:

  1. जब आंखों में लाल या सूजन की शिकायत हो तो ऐसे में मेकअप प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने से परहेज करें, क्योंकि उनमें केमिकल्स होते हैं जो आंखों को ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  2. आंखों को गुनगुने पानी और स्टरलाइज्ड रुई से सिकाई करनी चाहिए। इससे आंखों को आराम मिलता है।
  3. डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर आई-ड्रॉप्स खरीदें और लगातार इस्तेमाल करें। किसी भी आईड्रॉप का यूज न करें।
  4. फोन, टीवी, कंप्यूटर और लैपटॉप का इस्तेमाल कम करें।
  5. धुआं, गंदगी, धूल- मिट्टी आदि से दूर रहें।
  6. आंखों को ड्रायनेस से बचाने के लिए आप आई ड्रॉप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन कभी भी खुद से आई ड्रॉप न लें। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से परामर्श करें। बिना डॉक्टर की सलाह के किसी आई ड्रॉप का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  7. कॉन्टैक्ट लेंस तब तक न पहनें जब तक आंखों का रंग साफ नहीं हो जाता।
  8. चश्मा या लेंस पहनने से पहले अच्छी तरह साफ करें, डिस्पोजेबल लेंस को दोबारा इस्तेमाल न करें।
  9. आप अगर दिन भर कंप्यूटर पर काम करते हैं तो आपको एक चीज का ध्यान रखना चाहिए कि आपके दफ्तर में रोशनी अच्छी हो। इसके अलावा अपने बैठने की मुद्रा का भी खास ख्याल रखना चाहिए। इस तरह बैठे कि स्क्रीन और आपकी आंखों का एंगल सही हो। कभी भी कंप्यूटर की तरफ झुककर न बैठें।
  10. यदि आप स्मोकिंग करते हैं तो आपको इसे छोड़ना होगा क्योंकि इससे आंखे और ज्यादा ड्राय होती हैं। ऐसे में स्मोकिंग करना आंखों को काफी नुकसान पहुंचा सकता है।
  11. अपने हाथों को समय-समय पर धोएं।
  12. आंखों का लाल होना ऐसी परेशानी हो तो उन्हें बार-बार न छुएं वरना इंफेक्शन फैलने का खतरा रहेगा।
  13. धूप या प्रदूषण का सामना करना हो तो सनग्लासेस पहन कर जाएं।
  14. आप एलोवेरा जेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें एल्कलाइन और एंटीइंफ्लामेटरी गुण मौजूद होते हैं जो आखों की ड्रायनेस को दर कर उन्हें नमी प्रदान करते हैं। इसके लिए एलोवेरा जेल को आंखों की पुतलियों में पांच से दस मिनट के लिए लगाएं और फिर आंखों को साफ कर लें।

और पढ़ें:  घर पर अपनी आंखों की देखभाल करने के लिए अपनाएं ये टिप्स

आंखों का लाल होना और ड्राय होने पर डायट का भी रखें खास ख्याल:

  • डायट में हरी पत्ते वाली सब्जियों को करें शामिल। ये आंखों के लिए बेहद फायदेमंद होती हैं। ड्राय आई की परेशानी से जूझ रहे लोगों को हरी सब्जियों का सेवन फायदा करता है।
  • जितना हो सके ओमेगा-3 फैटी एसिड युक्त चीजों का सेवन करें। इससे आंखों में उलझन और खुजली से राहत मिलेगी। ओमेगा-3 पलकों पर होने वाली सूजन को दूर करता है। इसके अलावा ये आंसू को अपना काम बेहतर तरीके से करने में भी मदद करता है। ओमेगा3 फैटी एसिड मछली, नट्स, सोयाबीन और हरी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाता है।
  • विटामिन-सी युक्त चीजों को डायट में शामिल करें। ये आपकी आंखों की ब्लड वैसल्स के लिए जरूरी होता है। ये आंखों की ओवरऑल हेल्थ के लिए बेहद उपयोगी है। विटामिन-सी के लिए ओरेंज जूस, केला, सेब, टमाटर आदि चीजों का सेवन करना चाहिए।
  • विटामिन-ई आंखों की सेल्स को सुरक्षा प्रदान करता है। आप इसके लिए बादाम, सूरजमुखी के बीज, पीनट बटर, हेजलनट और शकरकंदी का सेवन कर सकते हैं।
  • विटामिन-ए युक्त चीजों को भी डायट में शामिल करें। इसके लिए गाजर, शकरकंदी, पालक, ब्रोकली, ग्रेपफ्रूट आदि का सेवन करें।

और पढ़ें: आंखों पर स्क्रीन का असर हाेता है बहुत खतरनाक, हो सकती हैं कई बड़ी बीमारियां

आंख का लाल होना इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। अगर यह दर्द के बिना हो रहा हो तो ज्यादा गंभीर नहीं माना जाता,और कुछ समय बाद खुद ही ठीक हो जाता है लेकिन, अगर आंखों में तेज दर्द हो रहा, देखने में परेशानी आ रही है तो डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें। इलाज में देरी करने से आंखों में कोई गंभीर समस्या हो सकती है। आंखों का लाल होना इसको इग्नोर न करें।  हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा सलाह, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

नोट : नए संशोधन की डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा समीक्षा

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Macular Degeneration : मैक्युलर डीजेनेरेशन क्या है?

जानिए मैक्युलर डीजेनेरेशन क्या है in hindi, मैक्युलर डीजेनेरेशन के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, macular degeneration को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

रेटिनल डिटेचमेंट (Retinal Detachment) क्या है? क्यों हो जाता है दिखाई देना बंद

रेटिनल डिटेचमेंट क्या है, रेटिनल डिटेचमेंट के लक्षण क्या हैं, रेटिना डिटैच का इलाज क्या है, आंख का पर्दा फटना क्या है, retinal detachment in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
आंखों की देखभाल, स्वस्थ जीवन मार्च 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

जानें किस कलर के सनग्लासेस होते हैं आंखों के लिए बेस्ट, खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

सनग्लासेस खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए in hindi. साथ ही जानें sunglass पहनना आपके लिए क्यों आवश्यक है और इससे क्या फायदे हो सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
आंखों की देखभाल, स्वस्थ जीवन मार्च 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कलर ब्लाइंडनेस पुरुषों में ज्यादा क्यों होती है?

जाने क्या हैं कलर ब्लाइंडनेस के लक्षण, कारण, निदान, इलाज? एनक्रोमा ग्लासेस क्या हैं, वर्णांधता पुरुषों को क्यों प्रभावित करता है। color blindness symptoms, causes, treatment in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
पुरुषों का स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवन मार्च 5, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी - Electronystagmography

Electronystagmography: इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
आंखों का टेढ़ापन

आंखों का टेढ़ापन क्या है? जानिए इससे बचाव के उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अप्रैल 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
ट्रांजीशन लेंस- transistor lens

ट्रांजीशन लेंस क्या है? जानिए इनके फायदे और ये कैसे काम करते हैं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ मार्च 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
आंख से कीचड़ आना हो सकता है इन बीमारियों का संकेत, जान लें इनके बारे में

आंख से कीचड़ आना हो सकता है इन बीमारियों का संकेत, जान लें इनके बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ मार्च 25, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें