home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Deriphyllin: डेरिफीलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Deriphyllin: डेरिफीलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

डेरिफीलिन (Deriphyllin) कैसे काम करती है?

डेरिफीलिन दो दवाओं के मिश्रण से बनाई जाती है। इसमें एटोफाईलाइन+ थियोफाईलाइन के तत्व मौजूद होते हैं। इसका उपयोग अस्थमा और क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसऑर्डर के उपचार के लिए किया जाता है। यह वायु मार्ग की मांसपेशियों को आराम पहुंचाने का कार्य करती है। इसके उपयोग से सांस लेने में कठिनाई होने पर राहत मिल सकती है।

दमा

इस दवा का उपयोग पुराने अस्थमा से जुड़े लक्षणों जैसे कि घरघराहट, सीने में जकड़न और सांस लेने में कठिनाई की रोकथाम और उपचार के लिए किया जाता है।

सांस लेने में समस्या

इस दवा का उपयोग ब्रोंकोस्पस्म के लक्षणों को दूर करने के लिए किया जाता है जैसे कि घरघराहट, सांस की तकलीफ, सीने में जकड़न, सांस लेने में कठिनाई, खांसी आदि, जैसे कि वातस्फीति (Emphysema) , क्रोनिक ब्रोंकाइटिस आदि से पीड़ित रोगियों में।

क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी रोग

इस दवा का उपयोग क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी) से जुड़े लक्षणों को रोकने और इलाज करने के लिए किया जाता है, जो फेफड़ों के रोगों का एक समूह है जो एयरफ्लो को रोकते हैं।

और पढ़ें: Ibugesic Plus : इबूगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

डेरिफीलिन (Deriphyllin) का सामान्य डोज क्या है?

डेरिफीलिन का डोज आपकी समस्या के आधार पर डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जाता है। डेरिफीलिन की 400 या 600 मिलीग्राम की गोलियां दिन में एक बार सुबह या शाम में ली जा सकती हैं।

डेरिफीलिन (Deriphyllin) का डोज मिस हो जाए तो क्या करना चाहिए?

यदि आपकी खुराक गलती से मिस हो गई है। तो जल्दी याद आने पर ले लें। यदि आपके पहले से निर्धारित दूसरी खुराक का समय हो गया है। तो आप पहले मिस हुई खुराक को छोड़ दें। मिस हुई खुराक के कारण आप कभी भी खुराक को दो बार एक साथ न लें। इससे कई प्रकार के जोखिम बढ़ने कि आशंका होती है।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

ओवरडोज की स्थिति में आपातकालीन चिकित्सा उपचार लें या चिकित्सक से तुरंत ही संपर्क करें।

और पढ़ें: डेक्सट्रोमेथोर्फेन क्या है? जानिए इसका उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे डेरिफीलिन दवा (Deriphyllin) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

डेरिफीलिन दवा को लेने के लिए अपने चिकित्सक द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करते हुए उपयोग में लाएं। डॉक्टर डेरिफीलिन कि खुराक आपकी स्थिति के अनुसार लेने की सिफारिश करता है। जिस मात्रा में आपको खुराक लेने की सलाह दी गई है। आपको उसका ही पालन करना चाहिए। डॉक्टर के कहे अनुसार आपको जितनी अवधि के लिए खुराक लेने के लिए कहा गया है। उतनी अवधि के लिए आपको दवा का सेवन करना है। यदि आपको समय से पहले राहत मिल जाती है। इसके पश्चात भी आप स्वंय से दवा लेना बंद नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी समस्या दोबारा बढ़ सकती है। अपने दवा की बताई गई अवधि को पूरा करें।

दवा का उपयोग करते समय इसको पूरा निगल लें। इसको तोड़कर या तबाकर न खाएं। इसे पूरी तरह से निगल लें। कई बार डॉक्टर डेरिफीलिन को खाली पेट लेने की सलाह देते हैं। आपकी समस्या के आधार पर आपका डॉक्टर यह निश्चित करता है आपको यह खाली पेट लेना है या कुछ खाने के पश्चात लेना है। यदि आपको खाली पेट इसका सेवन करने के लिए कहा गया है तो आप इस दवा को भोजन से 1 घंटा पहले लें। यदि आपने भोजन कर लिया है तो इसे भोजन के 2 घंटे बाद लें।

पेट खराब होने पर आप इसे भोजन के साथ ले सकते हैं। आपको जो खुराक दी जाती है, वह आपकी स्थिति पर निर्भर करती है। अपनी स्वास्थ्य सेवा टीम को उन सभी अन्य दवाओं के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं। यह बताना बेहद जरूरी है कि आपको क्या बीमारी है और आप कौन सी दवा का सेवन लगातार कर रहे हैं। यदि आप यह बात डॉक्टर को नहीं बताते हैं, तो यह दवा आपके ऊपर कई तरह के दुष्प्रभाव डाल सकती है।

इस दवा को लेने से पहले, आपको अपने डॉक्टर को बताना चाहिए कि यदि आपको कोई हृदय, गुर्दे और यकृत का रोग है ताकि आपका डॉक्टर आपके लिए उपयुक्त खुराक लिख सके। आपको डॉक्टर को यह भी बताना चाहिए कि क्या आप गर्भवती हैं या गर्भावस्था की योजना बना रही हैं।

और पढ़ें : वृद्धावस्था में दवाइयां लेते समय ऐसे रखें ध्यान, नहीं होगा कोई नुकसान

साइड इफेक्ट्स

डेरिफीलिन (Deriphyllin) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

आमतौर पर डेरिफीलिन के कई दुष्प्रभाव हैं, लेकिन सबसे आम दुष्प्रभाव में मतली, उल्टी जैसी समस्या शामिल हैं। इनमें से अधिकांश अस्थायी हैं और आमतौर पर समय के साथ हल हो जाते हैं। अपने चिकित्सक से सीधे संपर्क करें यदि आप इन दुष्प्रभावों में से किसी के बारे में चिंतित हैं। यदि आपके कोई दुष्प्रभाव अपने आप नहीं ठीक होते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। डेरिफीलिन दवा के दुष्प्रभाव इस प्रकार से हो सकते हैं।

नोट- यह जरूरी नहीं है कि प्रत्येक व्यक्ति पर डेरिपीलिन का दुष्प्रभाव हो। वहीं कुछ लोगों पर इसका गहरा दुष्प्रभाव भी पड़ सकता है। यह आपकी स्थिति और आपकी क्षमता पर निर्भर करता है। इसलिए अपनी सुरक्षा का ध्यान में रखते हुए डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

और पढ़ें: एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

डेरिफीलिन (Deriphyllin) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

यदि आप डेरिफीलिन का प्रयोग करने के बारे में सोच रहे हैं। तो आपको आमतौर पर कई बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। जो इस प्रकार हो सकती हैं।

क्या शराब के साथ इसका सेवन करना सुरक्षित है?

आपको बता दें कि डेरिफीलिन के साथ दवा का सेवन करना बहुत असुरक्षित होता है। यदि आप आमतौर पर शराब का सेवन करते हैं। तो आप इस दवा का सेवन करते समय शराब का सेवन करने बचें। इससे दवा का सही प्रभाव आपके शरीर पर नहीं पड़ता है। इसके अलावा इसके कुछ गलत प्रभाव भी आपके शरीर पर पड़ सकते हैं। आपको यह याद रखने की आवश्यकता है कि डेरिफीलिन के साथ शराब का सेवन करना असुरक्षित है।

क्या गर्भावस्था में इसका सेवन करना सुरक्षित है?

यदि आप गर्भावस्था में है तो आपको इसके उपयोग से पहले अपने डॉक्टर की सलाह लेना बेहद आवश्यक है। कई मामलों में देखा गया है कि कुछ महिलाओं पर इसका दुष्प्रभाव नहीं होता है। तो वहीं कुछ गर्भवती महिलाओं पर इसका दुष्प्रभाव पड़ भी सकता है। इसलिए इसके उपयोग से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। हालांकि मनुष्यों में इसका सीमित अध्ययन हैं, पशु अध्ययन ने विकासशील बच्चे पर हानिकारक प्रभाव दिखाया है। आपका डॉक्टर आपको निर्धारित करने से पहले लाभ और किसी भी संभावित जोखिम की पड़ताल करता है। इस कारण चिकित्सक परामर्श की आवश्यकता होती है।

क्या स्तनपान में इसका सेवन करना सुरक्षित है?

डेरिफीलिन दवा स्तनपान के दौरान उपयोग करने के लिए सुरक्षित है। मानव अध्ययन से पता चलता है कि दवा एक महत्वपूर्ण मात्रा में ब्रेस्टमिल्क में नहीं जाती है और बच्चे के लिए हानिकारक नहीं है। डेरिफीलिन के बाद 2-4 घंटे तक स्तनपान से बचना बच्चे पर दवा के जोखिम को कम कर सकता है। इसे स्तनपान के लिए सुरक्षित माना जा सकता है। इसके पश्चात भी आप सावधनी रखना चाहते हैं तो इस दवा के उपयोग के कुछ घंटे तक आप अपने बच्चे को स्तनपान न कराएं।

क्या ड्राइविंग करते समय इसका सेवन करना सुरक्षित है?

यह अब तक पूरी तरह से ज्ञात नहीं है कि डेरिफीलिन दवा ड्राइव करने की क्षमता में परिवर्तन करती है या नहीं। यदि दवा खाने के बाद आप किसी भी लक्षण का अनुभव करते हैं तो ड्राइव न करें ना ही ऐसा कोई काम करें जो ध्यान केंद्रित करने और प्रतिक्रिया करने की आपकी क्षमता को प्रभावित करता है। अपने लक्षण को समझें और ऐसा महसूस करने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या हृदय रोगियों के लिए इसका सेवन करना सुरक्षित है?

इस दवा का उपयोग हृदय रोग से पीड़ित रोगी में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए ताकि रोगी की स्थिति बिगड़ने का खतरा न बढ़ जाए। इस दवा के सुरक्षित और प्रभावी उपयोग को निर्धारित करने के लिए उपयुक्त नैदानिक ​​जांच की जानी चाहिए।

क्या गुर्दा रोगियों के लिए इसका सेवन करना सुरक्षित है?

आमतौर पर गुर्दा रोगियों को दवा लेते समय विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता पड़ती है। गुर्दे की बीमारी के रोगियों में डेरिफीलिन दवा के उपयोग के बारे में सीमित जानकारी उपलब्ध है। इस मामले में आपको अपने चिकित्सक से परामर्श लेने की आवश्यकता है। गुर्दा के रोगी किसी प्रकार की दवा का उपयोग करने से पहले चिकित्सक सलाह जरूर लें।

क्या लिवर रोगियों के लिए इसका सेवन करना सुरक्षित है?

लिवर के रोगियों को इस दवा का उपयोग करते समय सावधान रहने की आवश्यकता पड़ती है। डेरिफीलिन दवा का उपयोग लिवर के रोगियों के लिए समस्या पैदा कर सकता है। डेरिफीलिन का उपयोग करने से पहले कृपया अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

क्या धूम्रपान के सेवन में इसका उपयोग सुरक्षित है?

इस दवा को लेते समय तंबाकू और मारिजुआना के सेवन से बचें। इससे आपके कई तरह के जोखिम बढ़ सकते हैं। साथ ही इस दवा को लेते समय कैफीन के सेवन से बचें या इसे आप सीमित करें। डॉक्टर की प्राथमिकता पर असामान्य लक्षणों की किसी भी घटना की रिपोर्ट करें।

क्या पेप्टिक अल्सर में इसका सेवन करना सुरक्षित है?

इस दवा को सक्रिय पेप्टिक अल्सर रोग वाले रोगियों में सावधानी के साथ दिया जाना चाहिए क्योंकि लक्षणों के बिगड़ने का जोखिम बहुत अधिक है। प्राथमिकता पर डॉक्टर को किसी भी असामान्य लक्षण की रिपोर्ट करें।

क्या अन्य बीमारी में इसका उपयोग सुरक्षित है?

यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या मेडिकल हिस्ट्री है या परेशानी है जैसे, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, किडनी की बीमारी, लिवर की बीमारी, दौरा पड़ना, अल्सर, ओवरएक्टिव थायरॉइड, यूरिन में दिक्कत होना आदि तो ऐसे में इस दवा के उपयोग से पहले आपको अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

और पढ़ें: कंडोम कैसे इस्तेमाल करें? जानिए इसके सुरक्षित टिप्स

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां डेरिफीलिन (Deriphyllin) के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं?

सभी दवाएं प्रत्येक व्यक्ति पर अलग-अलग तरह से प्रभाव डाल सकती हैं। किसी भी दवा को शुरू करने से पहले आपको अपने डॉक्टर के साथ सभी संभावित इंटरेक्शन की जांच करनी चाहिए।

इन दवाओं के साथ ये दवा इंटरैक्शन कर सकती है।

  • कार्बामाजेपाइन
  • लिथियम
  • फ्लुक्सोमाइन
  • फेनीटोइन
  • एथीनील एस्ट्रॉडिऑल
  • सिप्रोफ्लोक्सासिं
  • एजिथ्रोमाइसिन
  • प्रोप्रानोलोल
  • सिमेटिडाइन

और पढ़ें : Atenolol : ऐटिनोलोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

स्टोरेज

मैं डेरिफीलिन (Deriphyllin) को कैसे स्टोर करूं?

डेरिफीलिन को स्टोर करने के लिए सबसे अच्छी जगह आपका कमरा है। आपको इसे सूर्य के तेज प्रकाश और नमी वाली जगह से दूर रखना है। ऐसी जगह पर रखने से दवा खराब हो सकती है। कभी गलती से भी आप इसे बाथरूम या फ्रीज में न रखें। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x