आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

बेसिक्स को जाने|जानने योग्य बातें|जानिए क्या होता है|रिजल्टों को समझें
Uric Acid Blood Test : यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

बेसिक्स को जाने

यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्या है?

ब्लड यूरिक एसिड टेस्ट इस बात की जांच करता है कि ब्लड के नमूने में कितना यूरिक एसिड है। आपके द्वारा खाया जाने वाला भोजन और रासायनिक पदार्थों में बदले में की प्रक्रिया के दौरान यूरिक एसिड का पैदा होना एक सामान्य सी बात है ।

मल में यूरिक एसिड के रेयर केस को अगर हटा दिया जाए तो किडनी यूरिक एसिड को फ़िल्टर कर के उसे यूरिन के रास्ते शरीर के बाहर निकाल देता है, जब किडनी ठीक ढंग से काम नहीं करती तो शरीर मे यूरिक एसिड ज्यादा बनने लगता है या ब्लड में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ जाता है ।

यदि किसी व्यक्ति के शरीर में बहुत अधिक मात्रा में यूरिक एसिड है, तो इस बात की संभावना है कि उसे जोड़ो के भीतर मौजूद एक सॉलिड क्रिस्टल से भयानक दर्द होगा। इस दर्दनाक स्थिति को अक्सर गाउट कहा जाता है। यदि गाउट को मेडिकल केअर नहीं दी गयी, तो ये यूरिक एसिड क्रिस्टल जोड़ों और टिश्यू के आस पास एक गाठ बना सकते है जिसे टोफी कहा जाता है। यूरिक एसिड के हाई लेवल से किडनी की पथरी या किडनी फेलियर भी हो सकता है।

यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट क्यों किया जाता है?

यदि किसी व्यक्ति के शरीर में हाई यूरिक एसिड लेवल का पता चला है या गाउट के लक्षण होने का संदेह है, तो यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट के सलाह दी जा सकती।

इसके अलावा, कीमोथेरेपी या रेडिएशन थरेपी से गुजरने वाले कैंसर रोगियों को अक्सर इस टेस्ट को कराने के निर्देश दिए जाते है ताकि सुरक्षा की दृष्टि से यूरिक एसिड के लेवल को कंट्रोल में रखा जाए ।

कुछ मामलों में, जब कोई व्यक्ति बार-बार किडनी की पथरी से पीड़ित होता है या उसे गाउट होता है, तो स्टोन की बनावट या गठन को मोनिटर करने के लिए भी इस टेस्ट के निर्देश दिए जा सकते है ।

और पढ़ें : Kidney Function Test : किडनी फंक्शन टेस्ट क्या है?

जानने योग्य बातें

यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट कराने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

हाई लेवल का यूरिक एसिड और दर्दनाक जॉइंटपेन का सीधा सबंध गाउट से नहीं है इसलिए यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट इस बात को पुस्टि करता है कि किसी व्यक्ति में गाउट है या नही ।

यूरिक एसिड को यूरिन में भी मापा जा सकता है। हाईयूरिक एसिड के लेवल का कारण जानने के लिए डॉक्टर अक्सर 24 घंटे के यूरिन संग्रह का उपयोग करते हैं, इसका कारण शरीर में यूरिन एसिड ज्यादा बनना, या किडनी का सही ढंग से काम ना करना हो सकता है ।

यूरिक एसिड ब्लड का लेवल दिन-प्रतिदिन बदलता रहता है। आमतौर पर सुबह और शाम के वक़्त इसमें बदलाव आता है ।

ब्लड यूरिक एसिड का लेवल गर्भावस्था के दौरान भी बढ़ता है, भले ही ये नार्मल रेंज के भीतर ही क्यों ना हो, प्रीक्लेम्पसिया का निदान करने में मदद कर सकता है।

और पढ़ें : MRI Test : एमआरआई टेस्ट क्या है?

[mc4wp_form id=”183492″]

जानिए क्या होता है

यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

नशे के ड्रिंक्स, कुछ दवाओं, विटामिन सी के हाई लेवल या एक्स-रे टेस्ट में उपयोग की जाने वाली डाई आपके टेस्ट रिजल्ट को प्रभावित सकती है। इसलिए, अपने चिकित्सक को हर उस चीज के बारे में बताएं जो आपके रिजल्ट को प्रभावित करेगी।

आपको टेस्ट से पहले कुछ घंटों तक उपवास करने के लिए कहा जा सकता है।

यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट के दौरान क्या होता है?

स्वास्थ्य पेशेवर की मदद से:

  • ब्लड के प्रवाह को रोकने के लिए अपने ऊपरी बांह के चारों ओर एक लचीला बैंड लपेटें। इससे बैंड के नीचे की नसें बड़ी और टाइट हो जाती हैं, और नस में सुई डालना आसान हो जाता है।
  • एल्कोहॉल से सुई वाली जगह को धो ले
  • सुई को नस में डालें। एक से अधिक निडिल स्टिक की जरूरत पड़ सकती है ।
  • सुई से ट्यूब में ब्लड को रिफिल करने के लिए हुक का प्रयोग करे
  • जरूरत के हिसाब से ब्लड सैंपल जमा होने के बाद हाथ के बैंड को खोल दे
  • सुई लगने वाली जगह पे सुई निकालते ही रुई का प्रयोग करे ।
  • उस जगह को थोड़ा दबा के रखे उसके बाद बैंडेज लगा दे ।

और पढ़ें : Nuclear Stress Test : न्यूक्लीयर स्ट्रेस टेस्ट क्या है?

यूरिक एसिड ब्लड के दौरान क्या होता है?

टेस्ट के दौरान:

एक लचीला बैंड आपकी बांह के चारो तरफ लपेटा जाता है जिससे आप थोड़ा कसा हुआ या असहज फील कर सकते है। हो सकता है कि आपको सुई की चुभन महसूस भी ना हो और हो भी तो जरा सी हो। फाइनली आपके बांह से ब्लड के सैंपल कलेक्ट कर लिया जाता है ।

रिजल्टों को समझें

मेरे रिजल्टों का क्या मतलब है?

नॉर्मल वैल्यू

यहां जारी की गई लिस्ट एक नार्मल वैल्यू को दिखाती है जिसे रिफ्रेंस रेंज कहा जाता है – यह सिर्फ एक मार्गदर्शिका है। आपकी लैब रिपोर्ट में उपयोग में आई सभी रेंज शामिल होनी चाहिए क्योंकि ये रेंज लैब दर लैब में अलग अलग होती हैं।

आपकी हेल्थ कंडीसन और अन्य कारकों को भी आपके रिजल्ट का मूल्यांकन करते समय ध्यान में रखा जाता है। इसलिए, एक वैल्यू जो यहां लिस्टेड नार्मल वैल्यू से बाहर है, वह आपके या आपके लैब के लिए अभी भी नॉर्मल हो सकता है।

रिजल्ट आमतौर पर 1 से 2 दिनों में तैयार हो जाते हैं।

ब्लड में यूरिक एसिड

पुरुष: 3.4-7.0 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर 202-416 माइक्रोमीटर प्रति लीटर

महिला: 2.4–6.0 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर

143–357 माइक्रोमीटर प्रति लीटर

बच्चे: 2.0-5.5 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर

119–327 माइक्रोमीटर प्रति लीटर

कुछ मामलों में, विशेष रूप से पुरुषों में, भले ही यूरिक एसिड का लेवल नार्मल रेंज के भीतर होने पे भी जोड़ों में यूरिक एसिड क्रिस्टल बन सकते हैं और एक गाउट का खतरा हो सकता है

कई स्थितियां यूरिक एसिड के लेवल को बदल सकती हैं। आपका डॉक्टर आपके साथ किसी भी एब्नॉर्मल टेस्ट रिजल्ट के बारे में बात कर सकता है जो आपके लक्षणों और पिछले स्वास्थ्य से संबंधित हो सकता है।

और पढ़ें : Hematocrit test: जानें क्या है हेमाटोक्रिट टेस्ट?

हाईवैल्यू

हाई यूरिक एसिड वैल्यू के कारण हो सकता है:

  • आपके शरीर में यूरिक एसिड के निर्माण या उससे छुटकारा पाने के तरीके में व्यक्तिगत अंतर;
  • किडनी की बीमारी या किडनी की क्षति;
  • शरीर की सेल्स का बढ़ता टूटना जो कुछ प्रकार के कैंसर (ल्यूकेमिया, लिम्फोमा, और मल्टीपल मायलोमा सहित) या कैंसर उपचार, हेमोलिटिक एनीमिया, सिकल सेल एनीमिया, ऑर्थर विफलता के साथ होता है;
  • अन्य विकार, जैसे शराब निर्भरता, प्रीक्लेम्पसिया, लिवर रोग (सिरोसिस), मोटापा, छालरोग, हाइपोथायरायडिज्म, और पैराथायरायड हार्मोन के लो ब्लड लेवल;
  • भुखमरी, कुपोषण या सीसा विषाक्तता;
  • लेसच-न्यहान सिंड्रोम नामक एक दुर्लभ विरासत में मिला जीन विकार।

दवाएं, जैसे कुछ यूरिनवर्धक, विटामिन सी (एस्कॉर्बिक एसिड), एस्पिरिन की कम खुराक (75 से 100 मिलीग्राम दैनिक), नियासिन, वारफेरिन (जैसे कि कौमेडिन), साइक्लोस्पोरिन, लेवोडोपा, टैक्रोलिमस और कुछ दवाएं ल्यूकेमिया, लिम्फोमा का इलाज करने के लिए उपयोग की जाती हैं। , या तपेदिक;

खाद्य पदार्थ जो कि भोजन में बहुत अधिक होते हैं, जैसे अंग मांस (जिगर, दिमाग), लाल मांस (बीफ, भेड़ का बच्चा), खेल मांस (हिरण, एल्क), कुछ समुद्री भोजन (सार्डिन, हेरिंग, स्कूप) और बीयर।

लो वैल्यू

लो यूरिक एसिड वैल्य के कारण हो सकता है:

गंभीर लिवर रोग, विल्सन रोग, या कुछ प्रकार के कैंसर;

अनुचित एंटीडायरेक्टिक हार्मोन (एसआईएडीएच) का सिंड्रोम, एक ऐसी स्थिति जो शरीर में बड़ी मात्रा में तरल पदार्थ का निर्माण करती है;

पर्याप्त प्रोटीन नहीं खा रहे है;

सल्फ़िनप्राज़ोन, एस्पिरिन की बड़ी मात्रा (1,500 मिलीग्राम या अधिक दैनिक), प्रोबेनेसिड (जैसे प्रोबलन), औरल्लोपुरिनोल (जैसे ज़ायलोप्रिम)।

प्रयोगशाला और अस्पताल के आधार पर, यूरिक एसिड ब्लड टेस्ट के लिए नार्मल वैल्यू अलग अलग हो सकती है। परीक्षा रिजल्टों के बारे में यदि आपके मन मे कोई प्रश्न है तो कृपया अपने चिकित्सक से बात करे।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Uric Acid. http://labtestsonline.org/understanding/analytes/uric-acid/tab/test/. Accessed June 20, 2016.

Uric acid – blood. http://www.nlm.nih.gov/medlineplus/ency/article/003476.htm. Accessed June 20, 2016.

Uric Acid Test. https://medlineplus.gov/lab-tests/uric-acid-test/. Accessed On 11 September, 2020.

Uric Acid. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK273/. Accessed On 11 September, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/09/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड