backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Shoulder Surgery : शोल्डर (कंधे) सर्जरी क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr. Shruthi Shridhar


Shayali Rekha द्वारा लिखित · अपडेटेड 14/10/2020

Shoulder Surgery : शोल्डर (कंधे) सर्जरी क्या है?

परिभाषा

शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) क्या है?

कंधे के पास की रोटेटर कफ की चार मांसपेशियों और टेंडंस आपके हाथ के ऊपरी हिस्से को शोल्डर ब्लेड से जोड़ते हैं। किसी भी ट्रॉमा के कारण रोटेटर कफ डैमेज हो सकता है। उसे ठीक करने के लिए की जाने वाली सर्जरी को ही शोल्डर सर्जरी कहते हैं।

कंधे को पास का रोटेटर कफ चार मांसपेशियों और टेंडंस से आपके हाथ के ऊपरी हिस्से को शोल्डर ब्लेड से जोड़ता है। किसी भी ट्रॉमा के कारण रोटेटर कफ डैमेज हो जाता है। उसे ठीक करने के लिए की जाने वाली सर्जरी को ही शोल्डर सर्जरी कहते हैं। 

शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) की जरूरत कब होती है?

आपको अगर कंधे के रोटेटर कफ के हिस्से पर ट्रॉमा हो जाता है तो आपको सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है। सर्जरी की जरूरत तब और होती है जब रोटेटर कफ की स्थिति काफी खराब होती है। इसके पहले डॉक्टर बिना सर्जरी के कंधे पर लगे घाव को ठीक करने की कोशिश करते हैं। अगर नहीं होता है तो सर्जरी की नौबत आती है।

और पढ़ें : Ankle Fracture Surgery : एंकल फ्रैक्चर सर्जरी क्या है?

जोखिम

शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) करवाने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • कुछ लोग कंधे पर लगी हल्के ट्रॉमा को फिजियोथेरिपी या एक्सरसाइज की मदद से ठीक कर लेते हैं। इसके लिए वे अपनी एक्टिविटी में भी थोड़ा बदलाव करते हैं। इसके बाद वे सामान्य रूप से काम करने लगते हैं। 
  • इसके साथ ही दर्द को कम करने के लिए वे साधारण पेनकिलर जैसे पैरासिटामॉल या आइबूप्रोफेन लेते हैं।
  • इसके अलावा स्टेरॉयड और एनेस्थेटिक इंजेक्शन लगवाने से भी आपके कंधे को राहत मिल सकती है।
  • अगर आपके शोल्डर में ज्यादा ट्रॉमा आई है और सर्जरी ही एक मात्र विकल्प है तो आप डॉक्टर से मिल कर इसके रिस्क और कॉम्प्लिकेशन को समझ लें। साथ ही सर्जरी से जुड़े सभी सवाल डॉक्टर से पूरी तरह स्पष्ट कर लें।
  • और पढ़ें : मांसपेशियां बनाने के दौरान महिलाएं करती हैं यह गलतियां

    शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) के क्या साइड इफेक्ट्स और समस्याएं हो सकती हैं?

    • सामान्य तौर पर सर्जरी में एनेस्थीसिया का सहारा लिया जाता है। लेकिन, फिर भी इस सर्जरी में स्ट्रोक, हार्ट अटैक, निमोनिया और खून जमने का खतरा रहता है।
    • सर्जरी के दौरान आसपास की नसें और रुधिर वाहिनियों (blood vessels) के डैमेज होने का खतरा रहता है। 
    • सर्जरी वाले स्थान पर संक्रमण का खतरा रहता है।
    • सर्जरी के बाद कंधे में जकड़न जैसी समस्या सामने आती है। 

    लेकिन, ये सभी साइड इफेक्ट्स शायद ही कभी देखने को मिले। फिर भी आपको सर्जरी से होने वाले साइड इफेक्ट्स और समस्याओं के बारे में जानना जरूरी है। 

    और पढ़ें : यह चेस्ट एक्सरसाइज कर, पाएं चौड़ा सीना

    [mc4wp_form id=’183492″]

    प्रक्रिया

    शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) के लिए मुझे खुद को कैसे तैयार करना चाहिए?

    सर्जरी कराने से पहले आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। डॉक्टर से मिल कर आपको अपनी दवाओं (जो आप पहले से लें रहे हो), एलर्जी और हेल्थ कंडीशन के बारे में बात करनी चाहिए। इसके साथ ही आप अपने एनेस्थेटिस्ट से भी मिलें और सर्जरी के दौरान बेहोश या सुन्न करने की प्रक्रिया प्लान करें। साथ में आप अपने डॉक्टर से जान लें कि आपको सर्जरी से पहले क्या खाना पीना चाहिए। इसके अलावा आप अपने ये भी पूछ लें कि सर्जरी से कितने घंटे पहले से खाना पीना बंद करना है। परिवार के लोगों को भी आप डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देशों के बारे में बता दें। ज्यादातर मामलों में सर्जरी कराने से छह घंटे पहले से कुछ भी नहीं खाना होता है। ऐसे में डॉक्टर द्वारा बताए गए तरल पदार्थ या  ड्रिंक्स ही लें।

    शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) में होने वाली प्रक्रिया क्या है?

    ऑपरेशन शुरू करने से पहले बेहोश या सुन्न करने की प्रक्रिया की जाती है। शोल्डर सर्जरी को करने में लगभग 45 मिनट का समय लगता है। शोल्डर सर्जरी के लिए ऑरथ्रोस्कोपी का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें सबसे पहले एक चीरा या कट लगाया जाता है। फिर सर्जरी के दौरान सर्जन उपकरणों की मदद से मोटे टिशू या हड्डी के कुछ हिस्से को निकाल दिया जाता है। इसके बाद सर्जन रोटेटर कफ को रिपेयर करना शुरू करता है। इसके लिए ज्यादातर सर्जन कीहोल सर्जरी (keyhole surgery) को अपनाते हैं। इसके बाद सर्जन हड्डियों के साथ मांसपेशियों को सिलते हुए टांका लगाया जाता है। 

    और पढ़ें : कार्डियो एक्सरसाइज से रखें अपने हार्ट को हेल्दी, और भी हैं कई फायदे

    शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) के बाद क्या होता है?

    • शोल्डर सर्जरी के बाद आप उसी दिन घर जा सकते है। डॉक्टर टांके या क्लिप्स को एक या दो हफ्ते बाद निकलवाने की सलाह देता है।
    • कंधे में पहले जैसी मजबूती आने में लगभग एक साल लग जाते हैं। इसलिए आप सर्जरी हुए कंधे से सामान्य एक्टिविटी कर सकते हैं।
    • नियमित एक्सरसाइज करने से आप जल्दी से ठीक हो सकते हैं। लेकिन कोई भी एक्सरसाइज करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर बात कर लें।
    • ऐसा भी हो सकता है कि सर्जरी के बाद भी आपके कंधे को पहले जैसी मजबूती न मिले। तो आप अपने सर्जन या डॉक्टर से मिल कर बात करें और परामर्श लें। 

    और पढ़ें : पुरानी एक्सरसाइज से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें केलेस्थेनिक्स वर्कआउट

    रिकवरी

    शोल्डर सर्जरी (Shoulder Surgery) के बाद मुझे खुद का ख्याल कैसे रखना चाहिए?

    किसी भी सर्जरी में रिस्क तो होता ही है। सर्जरी के बाद इंफेक्शन और नसों के डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है। वहीं, मॉर्डन सर्जरी की तकनीकी और डॉक्टर द्वारा लगातार निगरानी के कारण ये सभी रिस्क कम हो जाते हैं। लेकिन फिर भी आप कुछ लक्षणों के बारे में जानते रहें। किसी भी तरह की समस्या होने पर अपने डॉक्टर से तुरंत मिलें।

    • सर्जरी के बाद आपके कंधे से ब्लीडिंग हो सकती है
    • शोल्डर को न घुमाएं
    • जकड़न और दर्द महसूस हो सकता है
    • बाजु और हाथ के इस्तेमाल में कमी भी आ सकती है
    • खून जम सकता है
    • सर्जरी के बाद इस तरह की कोई भी समस्या होने पर आप अपने सर्जन से जरूर मिलें।

      आशा करते हैं आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपके मन में इस बारे में और भी सवाल हैं, तो हमसे जरूर पूछें। आपको आपके सवालों के जवाब हमारे मेडिकल एक्सपर्ट्स से दिलाने की पूरी कोशिश की जाएगी।

      अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने सर्जन से जरूर पूछ लें

      डिस्क्लेमर

      हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।



      के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

      Dr. Shruthi Shridhar


      Shayali Rekha द्वारा लिखित · अपडेटेड 14/10/2020

      ad iconadvertisement

      Was this article helpful?

      ad iconadvertisement
      ad iconadvertisement