home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Iodine: आयोडीन क्या है?

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|प्रभाव|डोसेज|उपलब्ध
Iodine: आयोडीन क्या है?

परिचय

आयोडीन (Iodine) क्या है?

आयोडीन एक प्रकार का रासायनिक तत्त्व है। जो कि हमारे शरीर के लिए बुहत महत्वपूर्ण है। यह हमारे आहार के प्रमुख पोषक तत्वों में से है। इसकी कमी से शरीर के विकास से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती हैं। दुनिया भर में हर साल कई बच्चाें में आयोडीन की कमी के मामले सामने आते हैं। ऐसे बच्चों में सीखने की क्षमता काफी कमजोर होती है। आयोडीन की मदद से गर्दन के पास पाई जाने वाली थायरॉयड ग्रंथि विकास के लिए जरूरी हॉर्मोन पैदा करती है। इसकी कमी के कारण बच्चों का बौद्धिक स्तर 10 से 15 प्रतिशत तक कम हो सकता है। इसकी कमी से घेघा रोग भी होता है, जो कि बहुत खतरनाक होता है।

और पढ़ें : सोनम कपूर का सोशल मीडिया पर खुलासा, इस हेल्थ प्रॉब्लम से जूझ रही हैं

यह कैसे काम करता है?

यह थायरॉयड हॉर्मोनको कम करता है और कवक (Fungi), बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्मजीवों जैसे कि अमीबा को मार सकता है। पोटेशियम आयोडाइड नामक एक विशिष्ट प्रकार की इसका उपयोग रेडियोथर्मीदुर्घटना के प्रभावों के उपचार (लेकिन, रोकथाम नहीं) के लिए भी किया जाता है।

उपयोग

इसका उपयोग किस लिए किया जाता है?

इसका उपयोग आयोडीन की कमी के उपचार और रोकथाम और एक एंटीसेप्टिक के रूप में किया जाता है। इसकी कमी को पूरा करने के लिए इसे मुंह या इंजेक्शन द्वारा मांसपेशियों में दिया जाता है। एक एंटीसेप्टिक के रूप में यह घावों पर इस्तेमाल किया जा सकता है या फिर सर्जरी से पहले त्वचा को संक्रमण मुक्त करने के लिए भी किया जाता है।

यह एक खनिज है जो कुछ खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। थायरॉइड हाॅर्मोन बनाने के लिए शरीर को इसकी आवश्यकता होती है। ये हार्मोन शरीर के चयापचय और कई अन्य महत्वपूर्ण कार्यों को नियंत्रित करते हैं। गर्भावस्था के दौरान उचित हड्डी और मस्तिष्क के विकास के लिए शरीर को थायरॉयड हार्मोन की भी आवश्यकता होती है। इसे पर्याप्त मात्रा में प्राप्त करना सभी के लिए महत्वपूर्ण है, विशेषकर गर्भवती महिलाओं और शिशु के लिए।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान पोषण की कमी से होने वाले खतरे

यह इन परेशानियों और स्वास्थ्य समस्याओं में यह बड़े काम की चीज है।

कितना सुरक्षित है इसका उपयोग ?

अगर आप बहुत ज्यादा आयोडीन का सेवन करते हैं तो इसकी कमी के समान ही कुछ परेशानी हो सकती हैं, जिसमें बढ़े हुए थायरॉयड ग्रंथि शामिल हैं। उच्च सेवन से थायरॉयड ग्रंथि में सूजन और थायरॉयड कैंसर भी हो सकता है।

और पढ़ें : हाइपोथायरॉयडिज्म होने पर क्या खाएं और क्या नहीं?

साइड इफेक्ट्स

आयोडीन से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • अधिक सेवन से थायरॉयड की समस्याओं जैसे दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है। बड़ी मात्रा में आयोडीन की कमी दांतों और मसूड़ों की समस्या, मुंह और गले में जलन, लार, गले में सूजन, पेट में जलन, दस्त, तनाव, त्वचा की समस्याओं और कई अन्य दुष्प्रभावों का कारण बन सकता है।
  • जब आयोडीन का उपयोग सीधे त्वचा पर किया जाता है, तो यह त्वचा में जलन, दाग, एलर्जी और अन्य दुष्प्रभावों को पैदा कर सकता है। सावधान रहें कि आयोडीन के जलने से बचने के लिए आयोडीन से उपचारित पट्टी या कसकर आच्छादन वाले क्षेत्रों को न बांधें।
  • यदि आपको साइड इफेक्ट के बारे में कोई चिंता है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : Celery : अजवाइन क्या है?

इसके उपयोग से जुड़े साइड इफेक्ट्स में निम्नलिखित शामिल हैं:

  • मुंहासे
  • दस्त
  • एओसिनोफीलिया
  • फेफड़ों में अतिरिक्त तरल पदार्थ
  • बुखार
  • सिरदर्द
  • हीव्स
  • जोड़ों का दर्द
  • त्वचा की सूजन
  • थायराइड दमन

प्रभाव

आयोडीन की कमी से क्या प्रभाव हो सकते हैं?

इसके साथ इंटरैक्ट करने वाले उत्पादों में शामिल हैं :

एंटी थायरायड ड्रग्स

आयोडीन थायरॉयड को प्रभावित कर सकता है। एक अतिसक्रिय थायरॉयड के लिए दवाओं के साथ आयोडीन लेने से थायरॉयड बहुत कम हो सकता है। यदि आप एक अतिसक्रिय थायरॉयड के लिए दवाएं ले रहे हैं तो आयोडीन की खुराक न लें।

इनमें से कुछ दवाओं में मिथेनमाइन मंडलेट (मेथिमेजोल), मिथिमाजोल (टैपाजोल), पोटेशियम आयोडाइड (थायरो-ब्लॉक) और अन्य शामिल हैं।

ऐमियोडैरोन

अमियोडेरोन (कॉर्डोन) में आयोडीन होता है। आयोडीन (कोर्डारोन) के साथ आयोडीन की खुराक लेने से रक्त में बहुत अधिक आयोडीन हो सकता है। रक्त में बहुत अधिक आयोडीन दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है जो थायरॉयड को प्रभावित करता है।

लिथियम

लिथियम थायरॉयड फंक्शन को बाधित कर सकता है। आयोडीन के साथ सहवर्ती उपयोग में एडिटिव या सिनर्जिस्टिक हाइपोथायरायड प्रभाव हो सकता है।

उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाएं कम हो सकती हैं कि शरीर को पोटेशियम से कितनी जल्दी छुटकारा मिलता है। अधिकांश आयोडाइड की खुराक में पोटेशियम होता है। उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाओं के साथ पोटेशियम आयोडाइड लेने से शरीर में बहुत अधिक पोटेशियम हो सकता है। यदि आप उच्च रक्तचाप के लिए दवाएं ले रहे हैं, तो पोटेशियम आयोडाइड न लें।

उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाओं में कैप्टोप्रिल (कैपोटेन), एनालाप्रिल (वासोटेक), लिसिनोप्रिल (प्रिंविली, जेस्टिल), रामिप्रिल (अल्टेस) और अन्य शामिल हैं।

एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स

उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाएं कम हो सकती हैं कि शरीर को पोटेशियम से कितनी जल्दी छुटकारा मिलता है। अधिकांश आयोडीन की खुराक में पोटेशियम होता है। उच्च रक्तचाप के लिए कुछ दवाओं के साथ पोटेशियम आयोडाइड लेने से शरीर में बहुत अधिक पोटेशियम हो सकता है। यदि आप उच्च रक्तचाप के लिए दवाएं ले रहे हैं, तो पोटेशियम आयोडाइड न लें।

एबीआरएस में लोसार्टन, वाल्सार्टन, इर्बेर्सेर्टन, कैंडेसेर्टन, टेलिमिसर्टन, और एप्रोसर्टन शामिल हैं।

और पढ़ें : हेजलनट क्या है?

डोसेज

आयोडीन लेने की सही खुराक क्या है?

हर रोज औसतन 150 माइक्रोग्राम यानि कि सुई की नोक के बराबर है। इसका मतलब यह हुआ कि आपको जीवनभर के लिए एक छोटे से चम्मच से भी कम चाहिए। शरीर को हर रोज नियमित रूप से मिलना जरूरी है। इसलिए यह जरूरी है कि हर व्यक्ति के लिए आयोडीन नमक रोज की खुराक का हिस्सा हो।

इसके लिए मैक्सिमम लिमिटेड डोज नीचे दिए गए हैं। ये उन लोगों पर लागू नहीं होते हैं जो डॉक्टर की देखरेख में चिकित्सा कारणों से आयोडीन ले रहे हैं या फिर किसी प्रकार का मेडिसिन ले रहे हैं।

  • जन्म से 12 महीने तक : स्थापित नहीं
  • बच्चे 1-3 वर्ष: 200 एमसीजी
  • बच्चे 4-8 साल: 300 एमसीजी
  • बच्चे 9-13 साल: 600 एमसीजी
  • किशोर 14-18 वर्ष: 900 एमसीजी
  • वयस्क: 1,100 एमसीजी

उपलब्ध

आयोडीन किन रूपों में उपलब्ध है?

यह निम्नलिखित खुराक रूपों और क्षमताओं में उपलब्ध है:

  • समाधान, ओरल : पोटेशियम आयोडाइड: 100 मिलीग्राम / एमएल और आयोडीन 50 मिलीग्राम / एमएल
  • समाधान, टॉपिकल : पोटेशियम आयोडाइड: 100 मिलीग्राम / एमएल और आयोडीन 50 मिलीग्राम / एमएल

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Iodine/http://www.webmd.com/vitamins-supplements/ingredientmono-35-iodine.aspx?activeingredientid=35/Accessed on 07/09/2017

Iodine in diet/https://medlineplus.gov/ency/article/002421.htm/Accessed on 07/09/2017

Iodine/https://ods.od.nih.gov/factsheets/Iodine-Consumer/Accessed on 13/12/2019

10 Signs and Symptoms of Iodine Deficiency/https://www.healthline.com/nutrition/iodine-deficiency-symptoms/Accessed on 13/12/2019

Iodine Deficiency/ttps://www.thyroid.org/iodine-deficiency//Accessed on 13/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nikhil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/10/2019
x