home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

आपकी मुस्कान में दखल देने वाले दांत दर्द को भगाएं होम्योपैथी से

आपकी मुस्कान में दखल देने वाले दांत दर्द को भगाएं होम्योपैथी से

दांतों में दर्द अक्सर असहनीय होता है। दात दर्द कई कारणों से हो सकता है। दांतों में इन्फेक्शन के कारण टूथएक की समस्या हो जाती है। दांतों में इन्फेक्शन या दांतों में सड़न दांतों की ठीक से सफाई न करने का कारण होती है। जब दांतों में सड़न शुरू होती है, तो दांतों में हल्का दर्द शुरू होता है। सड़न बढ़ने पर दांतों का दर्द अहसनीह हो जाता है। कुछ लोगों को दांतों में सेंसिटीविटी की समस्या होती है, जो दांतों में दर्द का कारण बनती है। दांतों में सेंसिटीविटी की समस्या के कारण ठंडी या गरम चीजों को खाना मुश्किल हो जाता है। अगर समस्या पर ध्यान न दिया जाए, तो ये धीर-धीरे बढ़ती रहती है। अगर आपको भी अक्सर दांतों के दर्द की समस्या रहती है, तो अब आपको एक बार दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक ट्रीटमेंट जरूर कराना चाहिए। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि दांतों में दर्द या टूथएक के कारण किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है और कौन सी होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल कर दात दर्द की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

और पढ़ें: Toothache : दांत में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कब लिया जा सकता है दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक ट्रीटमेंट

दांतों में दर्द के साथ ही शरीर में अन्य लक्षण भी दिखाई पड़ते हैं, जो आपको परेशान कर सकते हैं। दांतों में दर्द के कारण मसूड़ों में सूजन की समस्या, सिरदर्द की समस्या, मसूड़ों से खून आना, ईयर पेन आदि का सामना करना पड़ सकता है। कई बार साइनस इन्फेक्शन भी दांतों में दर्द का कारण बन सकता है। विशडम टीथ के कारण भी लोगों को दांतों में दर्द हो सकता है। इन परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए दवाओं का सेवन करना जरूरी हो जाता है। दांतों की समस्या से निपटने के लिए आपको डेंटिस्ट से मिलना चाहिए। अगर दांतों को निकालने की जरूरत होगी, तो डॉक्टर उसे निकाल देंगे। अगर आपको लंबे समय से दांत दर्द की समस्या है, तो आप दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक दवाएं इस्तेमाल कर सकते हैं।

दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक दवाएं : ये दवाएं हैं असरदार

दांत दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही करें। दांत दर्द का कारण जानने के बाद डॉक्टर आपको दवा खाने की सलाह देंगे। हो सकता है कि डॉक्टर आपको दवा का सेवन करने के साथ ही कुछ परहेज भी बताएं। बेहतर होगा कि आप होम्योपैथिक ट्रीटमेंट लेने के दौरान नियमों का पालन जरूर करें। जानिए होम्योपैथी में किन दवाओं का इस्तेमाल दांत दर्द की समस्या से राहत पाने के लिए किया जाता है।

और पढ़ें: दांत दर्द का आयुर्वेदिक इलाज क्या है? जानें कौन सी जड़ी-बूटी है असरदार

एकोनिटम (Aconitum)

एकोनिटम दवा का सेवन करने की सलाह डॉक्टर तब देते हैं जब बच्चों के दांतों में अहसनीय दर्द होता है। रात के समय और ठंड के समय बच्चों के दांतों का दर्द बढ़ सकता है और इस कारण से बच्चों को कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। दांतों में दर्द के कारण बच्चे न तो ठीक से खा पाते हैं और न ही सो पाते हैं। अगर आपके बच्चे को भी दांत में लगातार दर्द होता रहता है, तो बेहतर होगा कि आप होम्योपैथिक डॉक्टर से संपर्क कर बच्चे का इलाज कराएं।

अर्निका (Arnica)

दांतो में इन्फेक्शन या कैविटी हो जाने पर उसे निकालना पड़ता है। दांतों को निकलवाने के बाद असहनीय दर्द होता है। जब डॉक्टर दांतों को निकालते हैं, तो उस स्थान में एनिस्थीसिया दे देते हैं जिसका असर कुछ घंटों बाद खत्म हो जाता है। दांत दर्द की दवा के रूप में अर्निका (Arnica) का सेवन किया जाता है। ये दवा तेज दर्द को कम करने का काम करती है। इसका इस्तेमाल टूथ एक्सट्रेक्शन (tooth extraction) के पहले या फिर बाद में किया जा सकता है।

दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक दवाएं : स्टैफिसैग्रिया (Staphysagria)

इस दवा का सेवन करने की सलाह बच्चों को दी जाती है। जिन बच्चों को ठंडा पानी, कोल्ड ड्रिंक या आइक्रीम आदि खाने पर दांतों में दर्द का एहसास होता है, उन बच्चों को स्टैफिसैग्रिया (Staphysagria) खाने की सलाह दी जा सकती है। बच्चे दांतों की सेंसिटीविटी को सहन नहीं कर पाते हैं। ऐसे में दवा का सेवन करने के बाद दांत दर्द से राहत मिलती है।

रूटा (Ruta)

जैसा कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि टूथ एक्सट्रेक्शन (tooth extraction) के दौरान दांतों में दर्द नहीं होता है लेकिन कुछ समय बाद दांतों में तेज दर्द पैदा होता है। रूटा का इस्तेमाल भी टूथ एक्सट्रेक्शन के बाद उठने वाले दर्द को शांत करने के लिए किया जाता है। आप इस बारे में अधिक जानकारी के लिए होम्योपैथिक एक्सपर्ट से बात कर सकते हैं।

और पढ़ें: दांतों से टार्टर की सफाई के आसान 6 घरेलू उपाय

नक्स मोश्ता (Nux moschata)

दांत का दर्द जब कानों तक पहुंच जाता है, तो इस होम्योपैथ में इस दवा का सेवन करने की सलाह दी जाती है। ठंड में दर्द बढ़ सकता है और गर्मियों में इस तरह के दर्द से राहत मिल जाती है। नक्स मोश्ता दर्द से राहत दिलाने का काम करती है।

दांत दर्द के लिए होम्योपैथिक दवाएं : मर्क्यूरियस (Mercurius)

जिन बच्चों में सलाइवा निकलने की अधिक समस्या होती है, उनके दांत सेंसिटिव हो सकते हैं। इस कारण से उन्हें दांतों में सेंसिटीविटी का एहसास होता है। ठंड में दांत दर्द की समस्या बढ़ जाती है और कानों में भी दर्द की समस्या हो सकती है। ऐसे में मर्क्यूरियस का इस्तेमाल करने की सलाह दी जा सकती है।

और पढ़ें: आपके भी दांत नुकीले हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर!

बेलडोना (BELLADONNA)

मसूड़ों में लालिमा, सूजन और सेंसिटीविटी की समस्या को कम करने के लिए बेलडोना (BELLADONNA) दवा का सेवन करने की सलाह दी जा सकती है। मौसम का दांतों के दर्द में खास असर देखने को मिलता है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको होम्योपैथिक दवाओं के बारे में जानकारी मिल गई होगी। बिना डॉक्टर की सलाह के दवाओं का सेवन बिल्कुल न करें। होम्योपैथिक दवाओं के साइडइफेक्ट भी हो सकते हैं। अगर बच्चा दवा का सेवन कर रहा है, तो बेहतर होगा कि आप उसे दवा हाथ में बिल्कुल भी न दें। बच्चों को मीठी गोलियां खानी पसंद होती हैं, ऐसे में वो अधिक दवा का सेवन भी कर सकते हैं। अपनी निगरानी में बच्चों को दवा दें। आप इस बारे में अधिक जानकारी के लिए होम्योपैथ डॉक्टर से भी परामर्श कर सकते हैं। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित
अपडेटेड 25/01/2021
x