backup og meta

ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए करें ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Sayali Chaudhari · फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


Niharika Jaiswal द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/12/2021

ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए करें ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज!

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में वर्किंग मॉम के लिए अपने शिशु को ब्रेस्टफीड कराना एक चैलेंज की तरह है। जैसा कि बच्चे के लिए मां का दूध बहुत जरूरी है, लेकिन वर्किंग मॉम के लिए दिक्कत यह होती है कि वो वर्किंग प्लेस में होने कारण शिशु को समय-समय पर ब्रेस्टफीड नहीं करवा पाती है, तो ऐसे में उनके पास मिल्क स्टोर ही एक विकल्प बचता है। आजकल अधिकतर माएं ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज तकनीक का प्रयोग कर रही हैं। लेकिन, सवाल यह उठता है कि ब्रेस्ट मिल्क को स्टोर करना आपके शिशु के लिए कितना सुरक्षित है और ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस क्या है? इसे करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, जानिए यहां ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस के बारे में:

और पढ़ें : स्तनपान के दौरान स्तनों में दर्द का क्या कारण हो सकता है?

ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस

ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस की बात करें, तो स्वस्थ, पूर्ण अवधि के लिए ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस कुछ कारकों पर निर्भर करते हैं: जैसे कि ब्रेस्ट मिल्क का प्रकार, भंडारण स्थान और तापमान। इन तीन फैक्टर पर मिल्क स्टोरेज निर्भर करता है। इसे स्टोर के लिए रेफ्रिजरेटर सही रहता है, इसे चार दिनों तक स्टोर किया जा सकता है। ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस की बात करें, तो ब्रेस्ट मिल्क को बर्बाद होने से बचाने के लिए, इसे छोटे बैचों में संग्रहित करना सही माना जाता है, जैसे कि  59.1 से 118.2 मिलीलीटर तक एक जार में स्टोर करना सही माना जाता है। इस्तेमाल के दौरान की बात करें, तो बच्चे के दूध पिलाने के बाद बोतल में बचा हुए दूध को दो घंटे के भीतर इस्तेमाल किया जाना सही माना जाता है। बाहर निकाले हुए दूध को 2 घंटे के बाद इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

इसके अलावा, स्टोरेज के लिए टाइट-फिटिंग लिड्स के साथ स्टेरिल ग्लास या हार्ड बीपीए मुक्त प्लास्टिक की बोतलाें का इस्तेमाल करें। हयूमन मिल्क स्टोरेज के लिए मिल्क स्टोरेज बैग भी उपलब्ध है। लेकिन, ध्यान रखें कि स्तन के दूध को स्टोर करने के लिए डिस्पोजेबल बोतल लाइनर या अन्य प्लास्टिक बैग का उपयोग न करें। ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस में कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है, जैसे कि ब्रेस्ट मिल्क स्टोर करने का सही तरीका क्या है और किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

और पढ़ें : जानिए क्या है ब्रेस्ट मिल्क पंप और कितना सुरक्षित है इसका प्रयोग?

ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस: ब्रेस्ट मिल्क स्टोर करने का सही तरीका

10 में से 4 बच्चों को मां का पहला दूध नसीब नहीं होता। जन्म के एक घंटे के अंदर मिलने वाला मां का दूध बच्चे को कई बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है, लेकिन प्रदेश में सिर्फ 25.2 फीसदी बच्चे ही मां का दूध पी पाते हैं। तो ऐसे में मां का दूध स्टोर करना ही विकल्प रह जाता है। ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस की बात करें तो हायजीन का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है। इसे स्टोर करते हुए कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है, जिसमें शामिल हैं:

  • मिल्क स्टोरेज प्रॉसेज से पहले हमेशा अपने हाथों को गर्म, साबुन के पानी से धोएं। बाद में एक बार हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें, ताकि किसी प्रकार के इंफेक्शन का डर न रहे।
  • एक बार दूध को फीड के लिए बॉटल में तैयार करने के बाद दो या तीन घंटों के बीच इस्तेमाल कर लेना चाहिए। उसे दोबारा इस्तेमाल न करें।
  • ब्रेस्ट मिल्क को स्टोर करने के लिए हमेशा हायजीन पैक्स का ही इस्तेमाल करना चाहिए।
  • रेफ्रिजरेट किए गए स्टोर ब्रेस्ट मिल्क को हायजीन पैकेट में पैक करने के बाद उसे फ्रिज में पीछे की तरफ रखना सही रहता है।
  • इसके अलावा मिल्क स्टोरेज के लिए यदि आप ब्रेस्ट पम्प का उपयोग कर रही है, तो पम्प के ट्यूबिंग को अच्छी तरह से साफ कर लें। अधिकांश इलेक्ट्रिक पंपों पर, ट्यूबिंग को कभी भी गीला नहीं होना चाहिए। बच्चे को दूध पिलाने पहले कमरे के तापमान पर रेफ्रिजरेटर से बाहर निकाल कर रख दें। फिर उसके पिघल जाने के बाद बच्चे को बिना गर्म किए ही दूध को पिला देना चाहिए।
  • और पढ़ें : ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन सी सप्लिमेंट्स के फायदे और नुकसान जानने के लिए करें बस एक क्लिक!

    ब्रेस्ट मिल्क स्टोर करते समय भूल कर भी न करें ये काम

    ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस का पालन करना बहुत जरूरी है। इसलिए मिल्क स्टोरेज के दौरान न करें ये गलतियां और इन बातों का रखें ध्यान:

    • सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि बच्चा जिस बॉटल में बच्चा दूध पीता है, उसमें ब्रेस्ट मिल्क को कभी भी स्टोर करने की गलती न करें। इससे दूध में संक्रमण  पैदा हाे सकता है और बच्चे के लिए बीमारी का खतरा पैदा कर सकता है।
    • स्टोरेज ब्रेस्ट मिल्क को जल्द से जल्द खत्म करने की कोशिश करें। ब्रेस्ट मिल्क को स्तनों से निकालते वक्त सफाई का ध्यान रखें।
    • आपके स्तन के हायजीन का भी पूरा ध्यान रखें।
    • इसके अलावा, ब्रेस्ट मिल्क को कभी भी रेफ्रिजरेटर के दरवाजे में या सेल्फ पर ना स्टोर करे के न रखें। स्टोरेज मिल्क का ढ़क्कन कभी खुला न रखें।
    • हमेशा कमरे के तापमान पर फ्रीज किए हुए दूध को पिघलाना चाहिए। दूध को गर्म कर के नहीं पिघलाना चाहिए।
    • अगर स्टोर किया हुआ ब्रेस्ट मिल्क बच्चे को पिलाया और बच्चे ने पूरा दूध खत्म नहीं किया तो उसे फिर से स्टोर ना करें। बच्चे के लार से दूध संक्रमित होने का खतरा रहता है। झूठे ब्रेस्ट मिल्क को फेंकना ही बेहतर है।

    और पढ़ें : जानिए क्या है ब्रेस्ट मिल्क पंप और कितना सुरक्षित है इसका प्रयोग?

    ब्रेस्ट मिल्क स्टोर करने के लिए कैसे निकालें ब्रेस्ट मिल्क

    स्तनों से मिल्क निकालने के लिए ब्रेस्ट मिल्क पंप का इस्तेमाल किया जा सकत है। लेकिन इसके लिए  मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस का पालन करना बहुत जरूरी है। ब्रेस्ट पम्प में भी आपको दो प्रकार मिलेंगे।

    1- मैन्युअल ब्रेस्ट पंप (Manual Breast Pump)

    इस तरह के मैन्युअल ब्रेस्ट पंप को खुद से ही संचालित कर के इस्तेमाल करना होता है। इस पंप से दूध निकालने से लेकर उसको स्टोर करने तक का काम स्वयं ही करना होता है। सही तरह से पंप का इस्तेमाल न करने से ये ज्यादा प्रभावी नहीं होता है। ऐसा इसलिए भी है कि इसे मैन्युअली प्रयोग करना होता है जिससे पूरी मात्रा में दूध निकल नहीं पाता है। इसके बाद निकले हुए दूध को ब्रेस्ट मिल्क स्टोर पैक में भर कर फ्रीज कर दें।

    2- इलेक्ट्रिक ब्रेस्ट पंप (Electric Breast Pump)

    इस तरह का ब्रेस्ट पंप कामकाजी महिलाओं के लिए ज्यादा आसान है। इलेक्ट्रिक ब्रेस्ट पंप बिजली या बैट्री से संचालित होता है। इसका फायदा यह है कि मां कम समय में जल्दी दूध निकाल कर संग्रहित कर सकती है। इसे मां एक साथ दोनों स्तनों पर लगा कर इस्तेमाल कर सकती है। इसके बाद ब्रेस्ट मिल्क स्टोर विधि को अपना कर दूध को सुरक्षित रख सकती हैं।

    और पढ़ें : मां और बच्चे के लिए क्यों होता है स्तनपान जरुरी, जानें यहां

    ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस का पालन करना बहुत जरूरी है। यह इसके बारे में जाना आपने, लेकिन इसके अलावा आपको अन्य बातों का ध्यान रखना आवश्यक है, जोकि आपकी स्थिति पर निर्भर हो सकता है। अगर आप डायबिटीज की मरीज हैं, तो आपको कैसे मदर मिल्क स्टोर करना है, इसके बारे में पहले एक बार डॉक्टर से जान लें। ब्रेस्ट मिल्क स्टोरेज गाइडलाइंस की अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर की सलाह लें।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Sayali Chaudhari

    फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/12/2021

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement