जब बच्चे के दांत आने लगें, तो इस तरह से कराएं स्तनपान

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

वो पल जब आपके बच्चे के पहले दांत निकल रहे होते हैं, तो हर मां उसे हमेशा याद रखना चाहती है। दांत निकलने से पहले बच्चे मसूड़ों से दूध पीते हैं लेकिन दांत निकलते ही वो काटना शुरू कर देते हैं। जिसके बाद से हर मां के लिए स्तनपान दर्द भरा हो सकता है। कई बार माएं इस दर्द के डर के कारण कुछ दिनों के लिए स्तनपान बंद कर देती हैं। हालांकि, स्तनपान बंद कराना इस समस्या का कोई समाधान नहीं होता। यहां जानिए कुछ ऐसे उपाए जिनसे स्तनपान करवाते समय बच्चों के काटने से बच सकते हैं। 

दूध पिलाने के तरीके को बदलें

 सबसे पहले यह ध्यान रखें कि बच्चों की त्वचा आपके स्तनों से भी कई गुना नाजुक और कोमल होती है। ऐसे में कोशिश करें कि स्तनपान के दौरान बच्चे का मुंह पूरी तरह खुला हो। ऐसा करने पर बच्चे को दूध पीने में आसानी होगी और वो आपको काट भी नहीं पाएंगे। थोड़े समय बाद जब बच्चे का काटना आपको महसूस होने लगे तो दूध पिलाने की अवस्था को बदल दें। 

बच्चे को सिखाएं 

 बच्चे जैसे-जैसे बड़े होते हैं उन्हें बहुत कुछ सीखने की धुन रहती है। आपने देखा भी होगा कि स्तनपान करने के बाद जब बच्चे का पेट भर जाता है तो वो स्तनों से खेलने की कोशिश करता है। ऐसे में कई बार वो स्तनों को दांत से काट भी लेता है। बच्चा यह अचानक ही करता है, लेकिन बच्चे के ऐसा करने के तुरंत बाद ही उसे ऐसा करने से रोकें और बच्चे को ऐसा दोबारा न करने के लिए भी सिखाएं। जब भी बच्चा स्तन पर काटने का प्रयास करे आप सावधानी से किनारे की तरफ से उसके मुंह के अंदर अपनी एक उंगली लगा दें। फिर धीरे-धीरे छुड़ाने का प्रयास करें। बच्चा जब भी ऐसी हरकत करे तो आप भी उसे ऐसे ही समझाएं इससे बच्चा खुद ही बहुत जल्द काटना बंद कर देगा। 

बच्चे का जगा कर रखें

कई बार बच्चे स्तनपान करते हुए सो जाते है। जब उन्हें झपकी लगती है तो ऐसे वक्त वो काट सकता है। इससे बचने के लिए आपको जब लगे कि अब बच्चे को नींद आने वाली है तो उसके साथ खेलने का प्रयास करें। इससे बच्चे की नींद दूर होगी और वो काट नहीं सकेगा। 

आदतों को समझें

बहुत से बच्चे दूध पीने के बाद ही निप्पल को काटते हैं। इससे समझ जाएं कि बच्चे को अब और दूध नहीं पीना है। अगर इसके बाद भी बच्चा स्तनपान की अवस्था में रहा तो वो दोबारा काटने का प्रयास कर सकता है। ऐसे वो फिर से दोहराए इससे पहले ही आप उसकी इस आदत को समझे और पहली ही बार में स्तनपान से उसे रोक दें। 

बच्चे की जरूरत को समझें

दांत निकलने से बच्चों के मसूड़ों में दर्द होता है। इससे बच्चे चिड़चिड़े हो जाते हैं और काटने लगते हैं। इसलिए जब भी बच्चे के दांत के निकलने लगे तो उन्हें दांत निकलते समय इस्तेमाल किए जाने वाले खिलौने दें, या अपने साफ अंगुली से बच्चे के मसूड़ों की मसाज करें।

 स्तनपान कराने से मां और बच्चे के बीच के बीच का लगाव कई गुना तक बढ़ जाता है। दोनों की बीच स्ट्रांग बॉन्डिंग भी होती है। इस दौरान आपको कई तरह की सावधानियां बरतनी जरूरी होती है। इस तरह की छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख कर आप इस पल को और भी ज्यादा आनंदमय और खूबसूरत बना सकती हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा और निदान प्रदान नहीं करता है।

अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें।

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अगस्त 8, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अगस्त 12, 2019

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे