महुआ के फायदे : इन रोगों से निजात दिलाने में असरदार हैं इसके फूल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट June 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

आज के लोग भले ही महुआ के बारे में कम ही जानते हों, लेकिन पुराने जमाने के लोग दैनिक जीवन हमें इसका इस्तेमाल खूब करते थे। विभिन्न औषधीय गुणों से भरपूर महुआ का प्रयोग आयुर्वेद में बहुत सी बीमारियों से छुटकारा पाने में भी किया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इसके पेड़ के पत्ते से लेकर बीज तक में औषधीय गुण पाए जाते हैं। इस आर्टिकल के जरिए हम आपको महुआ के कुछ विशेष फायदों के बारे में बताएंगे। यह आपको इन बीमारियों से बचाने में मददगार साबित हो सकते हैं।

और पढ़ें: क्या सफर में होती है उल्टी? जानिए इससे बचने के उपाय

महुआ के फायदे : इन रोगों से लड़ने में मददगार

विज्ञान में महुआ को “महुआ या मधुका लोंगीफोलिया” (Madhuca Longifolia) नाम से जाना जाता है। इसका पेड़ ऊंचाई में काफी लंबा होता है और तेजी से बढ़ता है। इस पेड़ पर सफेद रंग के फूल उगते हैं जो मार्च के महीने में देखें जा सकते हैं। महुआ के फूलों का इस्तेमाल प्रसिद्ध महुआ वाइन बनाने के लिए भी किया जाता है। पश्चिमी देशों में इसे “बटरनट ट्री” के नाम से जाना जाता है। भारत, श्रीलंका और म्यांमार आदि देशों में इसका उत्पादन सबसे ज्यादा किया जाता है। आयुर्वेद में इसे इस्तेमाल में लाने के बहुत से फायदे बताए गए हैं, इसके अलावा हिंदु सनातन संस्कृति में इसे पूजा-पाठ में भी इस्तेमाल किया जाता है। उन्हीं में से महुआ के कुछ अहम फायदों के बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं।

और पढ़ें : जानिए कैसे वजन घटाने के लिए काम करता है अश्वगंधा

महुआ के फायदे : अल्सर से बचाव

चिकित्सा क्षेत्र में पेट में छाले या घाव बनने की स्थिति को अल्सर या पेप्टिक अल्सर के नाम से जाना जाता है। अल्सर मुख्य रूप से छोटी आंत के ऊपरी भाग और आहार नली में होता है। इस स्थिति में व्यक्ति की पाचन क्रिया काफी धीमी हो जाती है और किसी भी चीज को पचाने की क्षमता खत्म सी हो जाती है। अल्सर के मरीज यदि महुआ के फूलों का इस्तेमाल खाने में करें तो इससे उन्हें काफी लाभ मिल सकता है। महुआ के फूल पेट में एसिड को बनने से रोकने का काम करती है।

Image result for mahua

महुआ के फायदे : ब्रोंकाइटिस में आराम

ब्रोंकाइटिस एक सांस से जुड़ी बीमारी है, ये आमतौर पर सिगरेट पीने वालों को ज्यादातर अपने चपेट में लेती है। इस बीमारी में ब्रोंकियल ट्यूब में सूजन आ जाती है और सांस लेने में परेशानी होने के साथ ही कफ के साथ बलगम आने की समस्या भी होती है। इसके मरीजों को यदि महुआ के सफेद फूल से निकलने वाले फूलों का रस पिलाया जाए तो इससे आराम मिल सकता है।

महुआ के फायदे : बुखार दूर भगाए

शोधकर्ताओं के अनुसार महुआ की छाल के रस का इस्तेमाल मौसमी बीमारी जैसे कि, बुखार और फ्लू से निजात पाने में काफी असरदार साबित हो सकता है। इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण इन बीमारियों से लड़ने में काफी मददगार होते हैं।

महुआ के फायदे : त्वचा रोगों में आराम

महुआ के फूलों के रस को त्वचा पर लगाने से विभिन्न प्रकार के स्किन संबंधी समस्याओं से आपको निजात मिल सकता है। ये स्किन को चिकना करने के साथ ही साथ उसमें चमक लाने का काम भी करती है। एग्जिमा के मरीजों के लिए इसके फूल का रस काफी फायदेमंद हो सकता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए महुआ

एक हालिया शोध से इस बात की जानकारी मिलती है कि महुआ पेड़ के छालों में एक खास प्रकार का तत्व पाया जाता है जो खून में ग्लूकोज की मात्रा को कम करने का काम करती है। शरीर में इंसुलिन की कमी और हाई ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में ये काफी सहायक है।

Image result for mahua

दिल की बीमारियों के लिए महुआ का उपयोग

आज दुनिया भर में सबसे ज्यादा मौतें हार्ट अटैक की वजह से हो रही है। इसलिए अपने दिल को हर तरह से स्वस्थ्य रखना बहुत जरूरी है। महुआ के बीजों में कोलेस्ट्रॉल को कम करने के गुण पाए जाते हैं। इसके बीजों से बनने वाले तेल का इस्तेमाल खाने में करने से दिल की बीमारियों से काफी हद तक बचा जा सकता है।

और पढ़ें : सर्दी-खांसी को दूर भगाएंगे ये 8 आसान घरेलू नुस्खे

अर्थराइटिस में महुआ के फायदे

अर्थराइटिस या गठिया जैसी बीमारी से छुटकारा पाने में भी महुआ का उपयोग बेहद लाभकारी हो सकता है। गठिया के दर्द को दूर करने के लिए महुआ पेड़ के छालों को पीसकर लगाने से राहत मिल सकती है। अर्थराइटिस के मरीजों के लिए महुआ के तेल से मालिश करना भी असरदार साबित हो सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सिरदर्द में महुआ के फायदे

सिरदर्द एक ऐसी समस्या है जो ज्यादातर भाग दौड़ और दिमागी कसरत करने वालों को ज्यादा सताती है। अमूमन लोग इससे निजात पाने के लिए दवाईओं का उपयोग करते हैं, इससे सिरदर्द से राहत तो मिलती है लेकिन शरीर पर उसके साइड इफेक्ट भी होते हैं। सिरदर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सबसे आसान और कारगर उपाय सिर की मालिश करना होता है। यकीनन यदि आपके पास कोई असरदार तेल हो तो, महुआ के तेल सिरदर्द से राहत दिलाने में काफी फायदेमंद हैं। इससे सिर का मसाज करने पर आपको लाभ मिल सकता है।

और पढ़ेंः लिवर साफ करने के उपाय: हल्दी से लहसुन तक ये नैचुरल चीजें लिवर की सफाई में कर सकती हैं मदद

पुरुषों की फर्टिलिटी के लिए महुआ

महुआ के सफेद फूल को खाने में इस्तेमाल करने से पुरुषों में फर्टिलिटी बढ़ती है। ये शुक्राणु की संख्या को बढ़ाने का काम करती है। लिहाजा यदि बच्चा पैदा करने में परेशानी हो रही है, तो महुआ के फूलों का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

महिलाओं के लिए महुआ

महुआ असल में नई माओं के लिए काफी लाभदायक साबित हो सकता है। बहुत सी ऐसी महिलाएं हैं जिन्हें बच्चे को जन्म देने के बाद स्तनपान करवाने में परेशानी आती है क्योंकि उनके शरीर में पर्याप्त दूध नहीं बन पाता है। इन महिलाओं द्वारा यदि महुआ के फूलों का सेवन किया जाए तो उन्हें विशेष लाभ मिल सकता है।

इसके अलावा भी महुआ के बहुत से ऐसे फायदे हैं जो आपके लिए कई मामलों में फायदेमंद साबित हो सकते हैं। ये शरीर से हीमोग्लोबिन कमी को दूर करने में भी बेहद लाभकारी है। हाई ब्लड प्रेशर, आंखों में जलन, दांत दर्द और मिर्गी आदि में भी इसका प्रयोग काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। हालांकि विभिन्न बीमारियों से निजात पाने में इसकी खुराक भी काफी मायने रखती है। इसलिए महुआ का सेवन यदि आप किसी भी रूप में कर रहे हैं तो, उसकी खुराक का ध्यान जरूर रखें। इसमें काफी ज्यादा मात्रा में हेल्दी फैट पाया जाता है, इसलिए महुआ का प्रयोग बटर बनाने में भी किया जाता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बुजुर्गों के लिए अर्थराइटिस एक्सरसाइज: बढ़ती उम्र में कैसे पाएं इस बीमारी से राहत

बुजुर्गों के लिए अर्थराइटिस एक्सरसाइज कौन सी हैं, कैसे करनी चाहिए यह एक्सरसाइज, बुजुर्गों के लिए अर्थराइटिस एक्सरसाइज करते हुए रखें इन बातों का ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma

जानें टाइप-2 डायबिटीज वालों के लिए एक्स्पर्ट द्वारा दिया गया विंटर गाइड

सर्दियों में डायबिटीज वालों के लिए खतरा बढ़ जाता है। इस मौसम के शुगर पेशेंट को बचने की जरूरत होती है। अपने डायट और एक्सरसाइज का ध्यान रखें। जानें डायबिटीज विंटर केयर गाइड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज December 22, 2020 . 13 मिनट में पढ़ें

ओरल थिन स्ट्रिप : बस एक स्ट्रिप रखें मुंह में और पाएं मेडिसिन्स की कड़वाहट से छुटकारा

ओरल थिन स्ट्रिप का सेवन कैसे किया जाता है। इसका सेवन करने के दौरान क्या सावधानियां रखनी चाहिए। oral strips

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन December 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

हेल्थ एंड फिटनेस गाइड, जिसे फॉलो कर आप जी सकते हैं हेल्दी लाइफ

हेल्थ एंड फिटनेस : शरीर को फिट रखने के लिए एक नहीं बल्कि कई उपाय हैं। अगर आपको नहीं पता कि आखिर फिट रहने के लिए क्या करना चाहिए तो आपको ये आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए। health fitness

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Recommended for you

नक्स वोमिका (Nux Vomica)

नक्स वोमिका क्या है? जानिए इसके फायदे और नुकसान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 15, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
Hyperglycemia and type-2 diabetes - हाइपरग्लाइसेमिया और टाइप 2 डायबिटीज

हाइपरग्लाइसेमिया और टाइप 2 डायबिटीज में क्या है सम्बंध?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ February 10, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कम उम्र के इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, Erectile Dysfunction in young men

कम उम्र के पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के क्या हो सकते हैं कारण?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 9, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
हर्पीस सिम्पलेक्स वायरस, Herpes Simplex virus

Herpes Simplex: हार्पीस सिम्पलेक्स वायरस से किसको रहता है ज्यादा खतरा?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 5, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें