क्या ऑफिस स्ट्रेस के कारण आपका निजी जीवन प्रभावित हो रहा है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

स्ट्रेस हमेशा बुरा नहीं होता है। थोड़ा बहुत स्ट्रेस व्यक्ति को ऑफिस के कार्यों में एक्टिव और  एनर्जेटिक रखता है। लेकिन आज के इस दौर में लोगों इतना अधिक स्ट्रेस में रहने लगे हैं कि उसके कारण उनका निजी जीवन भी प्रभावित होता नजर आ रहा है।

कई घंटों ऑफिस में बिताने के बाद घर पर केवल सोने से व्यक्ति  इमोशनली कमजोर होने लगता है। टारगेट को पूरा करने के चक्कर में कई बार लोग घर पर भी काम करते रहते हैं। इसके चलते न तो वह मानसिक रूप से खुश रह पाते हैं और न ही उनका शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है।

ऑफिस स्ट्रेस हर तरह के काम में मिलता ही है। कुछ लोग अपना ऑफिस वर्क स्मार्टली हैंडल कर लेते हैं, तो कुछ उसी में उलझे रह जाते हैं। जिसकी वजह से उनका पारिवारिक और निजी जीवन भी प्रभावित होने लगता है। कैसे आप ऑफिस स्ट्रेस से बाहर आ सकते हैं, जानिए हमारे एक्सपर्ट से।

और पढ़ें –  मशहूर योगा एक्सपर्ट्स से जाने कैसे होगा योग से स्ट्रेस रिलीफ और पायेंगे खुशी का रास्ता

ऑफिस स्ट्रेस के कारण

ऑफिस स्ट्रेस को कम करने के लिए उसके कारणों को जानना बेहद जरूरी होता है। आप अपने आसपास की सभी चीजों को कंट्रोल तो नहीं कर सकते हैं लेकिन स्ट्रेस के कारण को जानकार कुछ हद तक उससे बचने के उपाय जरूर अपना सकेंगे। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं ऑफिस स्ट्रेस के सबसे सामान्य कारणों के बारे में –

  • नौकरी से निकाले जाने का डर
  • स्टाफ की कमी के कारण आप पर बोझ पड़ना
  • बिना प्रोमोशन या तारीफ के प्रेशर में लगातार काम करते जाना
  • हर समय काम की अपेक्षा रखना
  • सुबह जल्दी उठने की टेंशन
  • काम को समय पर न कर पाना
  • छूटियों के दिनों में भी काम करना
  • ऑफिस में अच्छा माहौल न होना

और पढ़ेंः कुछ इस तरह स्ट्रेस मैनेजमेंट की मदद से करें तनाव को कम

ऑफिस स्ट्रेस के संकेतों को कैसे पहचाने

कई बार लोग ऑफिस के कार्यों में इतना लुफ्त हो जाते हैं कि उनको इस बात का भी पता नहीं चलता की इसके कारण उनका निजी जीवन भी प्रभावित हो रहा है। ऐसे में ऑफिस स्ट्रेस के लक्षणों को जानना बेहद जरूर हो जाता है।

ऑफिस में परेशानियों के चलते व्यक्ति चिंतित, चिड़चिड़ा और उदास महसूस कर सकता है। इसके चलते व्यक्ति कई अन्य तरह की समस्याओं जैसे नींद न आना, कार्य में मन न लगना, थकान, ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत होना, मांसपेशियों व सिर में दर्द होना, पेट दर्द और साथ ही इन सभी से बचने के लिए नशे की लत लगना।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ऑफिस स्ट्रेस के दौरान अक्सर पूछे जाने वाला सवाल

मुझे आजकल ऑफिस के काम से बहुत ज्यादा स्ट्रेस महसूस हो रहा है, इससे मेरे और मेरे परिवार पर असर पड़ रहा है। क्या आप मुझे इसे कम करने के कुछ आसान तरीकें बता सकते हैं?

और पढ़ेंः मानसिक स्वास्थ्य पर इन 5 आदतों का होता है बुरा असर

इस विषय में एक्सपर्ट की राय

ऑफिस वर्क में हर किसी को किसी न किसी समय पर स्ट्रेस महसूस तो होता ही है। चाहे वो टाइमलाइन से जुड़ा हुआ हो, ज्यादा वर्कलोड हो, सैलरी से जुड़ा हो या किसी अन्य कारणों से। हमें खुद को इसे मैनेज करना सीखना चाहिए। ताकि, इसका असर हमारे काम के साथ-साथ स्वास्थ्य या परिवार पर न हो जाए।

  1. सुबह उठने से शुरू करे तो उठते ही ऑफिस के काम के बारे में ही न सोचें, खुद के लिए थोड़ा टाइम दें जैसे कि एक्सरसाइज या मेडिकेशन करें, वॉक पर जाएं, बच्चों के साथ समय बिताएं।
  2. जब आप ऑफिस के लिए निकलें तो अपना दिमाग शांत रखें। आप को क्या-क्या काम आज ऑफिस में करना है उसकी लिस्ट बनाएं और उसे सिस्टमैटिकली प्रायोरिटी के हिसाब से फॉलो करें।
  3. एक समय पर काम ही ध्यान दें। क्योंकि, अगर आप सोचेंगे कि कहीं मुझे ये भी करना है और ये भी तो ऐसे नहीं होगा और आपके सारे काम अधूरे रह जाएंगे।
  4. कितना भी काम हो लेकिन बीच-बीच में अपने सहकर्मियों से बात करें। थोड़ा वॉक करें। इससे आपको आरामदायक महसूस होगा और आप फिर से काम कर सकेंगे।
  5. किसी भी अनचाही बातों से दूर रहना बहुत जरूरी होता है।
  6. अगर आपको थोड़ा भी स्ट्रेस महसूस हो रहा है तो उसे कम करने के लिए स्मोकिंग या एल्कोहॉल कोई विकल्प नहीं होता है। इसके अलावा आप कुछ हेल्दी चीजें फॉलो करें जैसे, परिवार या दोस्तों के साथ डिनर पर जाना, फिल्म देखना या कोई फिजिकली एक्टिविटी करना।
  7. आप किसी का सपोर्ट भी ले सकते हैं, जिससे आप उनसे बातें शेयर कर सकते हो आपको उनसे पॉजिटिव विचार मिल जाए।

और पढ़ेंः क्या म्यूजिक और स्ट्रेस का है आपस में कुछ कनेक्शन?

ऑफिस स्ट्रेस को कैसे करें कम?

सहकर्मी से शेयर करें

अपनी परेशानियों को अपने सहकर्मी से शेयर करें, क्योंकि हो सकता है कि वह भी ऑफिस के ओवरलोड को लेकर आप ही की तरह सोचता हो। ऐसे में आपको कोई ऐसा दोस्त मिल जाएगा जिससे आप अपने ऑफिस की बातें शेयर कर सकेंगे।

संगीत सुने

म्यूजिक भी एक आसान तरीका है जो आपके स्ट्रेस लेवल को कम करेगा, काम करते वक्त या ट्रैवल करते वक्त आप सुन सकते हो।

वॉक करें

अगर आप अपने आप को कार्यस्थल पर चिंतित या घबराया हुआ महसूस करते हैं तो अधिक परेशान न हों और एक छोटा सा ब्रेक लें। इस ब्रेक में आप चाहें तो किसी से बात कर सकते हैं या सबसे बेहतर वॉक कर सकते हैं।

अध्ययनों के मुताबिक कुछ समय की वॉक से भी ऑफिस में होने वाले स्ट्रेस को कम किया जा सकता है। यहां तक की किसी भी प्रकार के व्यायाम की मदद से स्ट्रेस को खत्म कर सकते हैं।

और पढ़ें – वॉकिंग मेडिटेशन से स्ट्रेस को कैसे कर सकते मैनेज

नियमबद्ध बनें

यदि आप ऑफिस में अपने कार्य को ऑर्गनाइज नहीं रखते है तो आप स्ट्रेस बढ़ना लाजमी है। ऐसे में चीजों को तुरंत नियमबद्ध करने से आपका बोझ आसानी से कम किया जा सकता है। ऑर्गेनाइज रहने से समय बचता है और आपकी प्रोडक्टिविटी भी बढ़ती है। इससे आप खुद को समय दे पाएंगे और ऑफिस में बॉस से वाह-वाही भी मिलेगी।

ऑफिस स्ट्रेस आज के समय में बेहद सामान्य हो चुका है जिसके चलते लोगों ने इसे अपने जीवन का एक हिस्सा समझ लिया है। लेकिन अगर इसका समय रहते इलाज न किया जाए तो यह व्यक्ति के निजी जीवन को भी प्रभावित करने लगता है। ऑफिस स्ट्रेस होने पर घबराएं नहीं और तुरंत डॉक्टर या किसी सहकर्मी की मदद लें।

ऊपर बताई गई सभी चीजें आप खुद फॉलो कर सकते हैं और इसे आपको खुद ही हैंडल करना होगा। इसलिए प्रॉपर मैनेजमेंट के साथ काम करके और खुद को मोटीवेट करके आप स्ट्रेस को कम कर सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और ऑफिस से कैसे बचे इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य का है सीधा संबंध, जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य का क्या संबंध है, मेंहदी डिजाइन, मेंहदी कैसे लगाएं, मेंहदी का आयुर्वेद में उपयोग, Mehandi and Mental Health

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अगस्त 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोविड-19 के दौरान ऑनलाइन एज्युकेशन का बच्चों की सेहत पर क्या असर हो रहा है?

कोविड-19 के कारण बच्चों के लिए ऑनलाइन एज्युकेशन आज समय की जरूरत बन गया है, लेकिन फायदे से ज्यादा इसके नुकसान हैं। सेहत पर इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अगस्त 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Stalopam : स्टालोपम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टालोपम की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, एसिटालोप्राम (escitalopram) दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Stalopam

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जुलाई 30, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Librium 10: लिब्रियम 10 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

लिब्रियम 10 की जानकारी in hindi, लिब्रियम 10 के साइड इफेक्ट क्या है, क्लोरडाएजपॉक्साइड (Chlordiazepoxide) दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Librium 10.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ऑनलाइन स्कूलिंग के फायदे, Online Schooling benifits

ऑनलाइन स्कूलिंग से बच्चों की मेंटल हेल्थ पर पड़ता है पॉजिटिव इफेक्ट, जानिए कैसे

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ नवम्बर 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
भारत में महिला आत्महत्या women suicide prevention in india

विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस: क्यों भारत में महिला आत्महत्या की दर है ज्यादा? क्या हो सकती है इसकी रोकथाम?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
डेटिंग एंजायटी क्विज

Quiz: लव लाइफ में रोड़ा बन सकती है डेटिंग एंजायटी, क्विज को खेलकर जानिए इसके लक्षण

के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ अगस्त 25, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
ओलिआंज प्लस Oleanz Plus

Oleanz Plus : ओलिआंज प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 19, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें