home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्यों बेहतर है व्हाइट राइस की जगह ब्राउन राइस खाना?

क्यों बेहतर है व्हाइट राइस की जगह ब्राउन राइस खाना?

ब्राउन राइस के फायदे (Benefits of Brown rice) के चलते इसकी लोकप्रियता और उसके प्रति लोगों की उत्सुकता हर दिन बढ़ रही है। जिससे यह तो सीधे तौर पर समझा जा सकता है कि ब्राउन राइस सेहत के लिए कितना फायदेमंद है। यह एक किस्म के अनपॉलिश्ड और अनरिफाइंड चावल हैं जिससे सिर्फ धान के छिलके हटाए जाते हैं। ब्राउन राइस में व्हाइट राइस की तुलना में अधिक पोषक तत्व होते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर (Fiber) ,प्रोटीन (Protein) , मैग्नीज (Manganese) और मैग्नीशियम (Magnesium) पाया जाता है। एक कटोरी ब्राउन राइस (Brown rise) में ​​​​​निम्न पोषक तत्व पाएं जाते हैं।

1.कैलोरी (Calorie): 216

2.कार्ब्स (Carbs): 44 ग्राम

3.फाइबर (Fiber): 3.5 ग्राम

4.वसा (Fat): 1.8 ग्राम

5.प्रोटीन (Protein): 5 ग्राम

6.थियामिन (B1): डेली डोज का 12%

7.नियासिन (B3): डेली डोज का 15%

8.पाइरिडोक्सिन (B6): डेली डोज का 14%

9.पैंटोथेनिक एसिड (B5): डेली डोज का 6%

10.लोहा (Iron): डेली डोज का 5%

11.मैग्नीशियम (Magnesium): डेली डोज का 21%

12.फास्फोरस: डेली डोज का 16%

13.जिंक (Zink): डेली डोज का 8%

14.कॉपर (Cooper): डेली डोज का 10%

15.मैंगनीज (Manganese): डेली डोज का 88%

16.सेलेनियम: डेली डोज का 27%

ये तत्व शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं। आइए जानते हैं खाने में भूरे चावल का इस्तेमाल करने के क्या-क्या फायदे हैं।

और पढ़ें : Brown Rice : ब्राउन राइस क्या है ?

ब्राउन राइस के फायदे (Benefits of brown rice)

ब्राउन राइस के फायदे (Benefits of brown rice) निम्न हैं।

वजन रहता है संतुलित (Weight remains balanced)

ब्राउन राइस की लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण यह है कि ब्राउन राइस वजन घटाने में बहुत मददगार है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर और अन्य पोषक तत्व होते हैं। एक कप ब्राउन राइस खाने से आपके शरीर को लगभग 3.5 ग्राम फाइबर मिलता है जबकि व्हाइट राइस खाने से 1 ग्राम से भी कम। इससे आपको पेट भरे होने का एहसास होता है जिससे आप बार -बार कुछ न कुछ खाकर एक्सट्रा कैलोरी नहीं लेते। जिससे वजन को घटाने में काफी मदद मिलती है। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि जो लोग ब्राउन राइस जैसे साबुत अनाज ज्यादा खाते हैं उनका वजन कम साबुत अनाज खाने वालों की तुलना में कम रहता है। बेली फैट को कम करने के लिए ब्राउन राइस खाना अच्छा होता है।

और पढ़ें : घर पर ही शानदार बाइसेप्स और ट्राइसेप्स कैसे बनाएं?

ब्राउन राइस के फायदे 2: हार्ट को रखता है हेल्दी (Brown rice for Healthy heart)

भूरा चावल कई सारे पोषक तत्वों और फाइबर से भरपूर है जो हार्ट को हेल्दी बनाए रखने में मददगार हैं। 5,60,000 से अधिक लोगों पर किए गए एक अध्ययन में यह बात पता चली कि अधिक फाइबर वाले फूड प्रोडक्ट्स खाने से हार्ट और सांस संबंधी बीमारी और कैंसर का खतरा 24 -59 % तक कम हो सकता है। इन अध्ययनों की समीक्षा से यह भी पता चला कि जो लोग अपने खाने में भूरे चावल का इस्तेमाल करते हैं उनमें कोरोनरी हार्ट प्रॉब्लम का खतरा 21 % तक कम रहता है। भूरे चावल में लिग्निन कंपाउंड पाए जाते हैं, जो हार्ट डिसीज की रिस्क को कम करने के लिए जाने जाते हैं। भूरे चावल में काफी मात्रा में मैग्नीशियम भी पाया जाता है जो कि स्ट्रोक (Stroke), हार्ट फेल (Heart failure) जैसे जोखिम को कम करता है।

और पढ़ें : अपना हार्ट रेट जानने के लिए ट्राई करें टार्गेट रेट कैलक्युलेटर

ब्राउन राइस के फायदे 3 (Benefits of brown rice): डायबिटीज (Diabetes) रहती है कंट्रोल

जो लोग डायबिटीज से परेशान हैं उन्हें अपने खानपान का विशेष ख्याल रखना पड़ता है। ऐसे में कम कार्ब का सेवन करना एक अच्छा विकल्प है। यह ब्लड शुगर मेनटेन रखने में मदद करता है। सफेद चावल की जगह भूरा चावल का सेवन डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। ब्राउन राइस में लोअर ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जिसकी वजह से यह धीमी गति से पचता है और ब्लड शुगर को ज्यादा अफेक्ट नहीं करता।

ब्राउन राइस के फायदे 4: ग्लूटन फ्री (Gluten free) है ब्राउन राइस

बहुत सारे साबुत अनाज जैसे व्हीट,बार्ली में ग्लूटन प्रोटीन होता है। कुछ लोगों को ग्लूटन से एलर्जी होती है। उन्हें इससे पेट का दर्द, उल्टी और डायरिया जैसी दिक्क्तें शुरू हो जाती हैं। इसलिए ऐसे में वे लोग ग्लूटन फ्री डाइट लेना पसंद करते हैं और ब्राउन राइस नेचुरली ग्लूटन फ्री होता है।

ब्राउन राइस के फायदे 5 (Benefits of brown rice): हड्डियां होती हैं स्ट्रॉन्ग

हड्डियों को मजबूत बनाने में कैल्शियम की तरह मैग्नेशियम की भी अहम भूमिका होती है। ब्राउन राइस में मैग्नेशियम की मात्रा भरपूर होती है। ब्राउन राइस के नियमित एवं संतुलित मात्रा में सेवन से बोन मिनरल डेंसिटी बढ़ने में मदद करता है।

ब्राउन राइस के फायदे 6: इम्यून सिस्टम (Immune system) रहता है स्ट्रॉन्ग

ब्राउन राइस यानि भूरा चावल के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इम्यून सिस्टम बेहतर रहने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और किसी भी बीमारी से लड़ना आसान हो जाता है। भूरा चावल में मौजूद विटामिन-ई मौजूद होता है, जो एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करता है। इसलिए इसका सेवन लाभकारी माना जाता है।

और पढ़ें : क्या बच्चों को ब्राउन राइस खिलाना चाहिए?

ब्राउन राइस के फायदे 7: अस्थमा (Asthma) के पेशेंट के लिए है लाभकारी

अस्थमा (दमा) के मरीजों के लिए भी ब्राउन राइस लाभकारी माना जाता है। इसमें मौजूद फाइबर एवं एंटीऑक्सिडेंट अस्थमा के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार ब्राउन राइस के संतुलित मात्रा में सेवन से सांस संबंधी परेशानी दूर हो सकती है।

ब्राउन राइस के फायदे 8: अनिंद्रा (Insomnia) की परेशानी होती है दूर

ब्राउन राइस में गामा-एमिनोब्यूटिरिक एसिड (GABA) मौजूद होता है। गामा-एमिनोब्यूटिरिक एसिड तनाव को दूर करने में सहायक होता है। अगर तनाव की वजह से अनिंद्रा की परेशानी होती है, तो इस परेशानी का भी निवारण ब्राउन राइस से हो सकता है।

ब्राउन राइस के फायदे 9: स्टोन (Stone) की समस्या होती है दूर

रिसर्च के अनुसार ब्राउन राइस में मौजूद फाइबर पित्ताशय की पथरी की समस्या को दूर करने में मददगार है। इसलिए पित्ताशय की पथरी के पेशेंट्स को ब्राउन राइस के सेवन की सलाह दी जाती है।

ब्राउन राइस के फायदे 10. डिप्रेशन (Depression) की परेशानी रहती है दूर

ब्राउन राइस एंटीडिप्रेसेंट की तरह काम करता है, जो तनाव को दूर करने और मस्तिष्क को शांत रहने में मदद करता है। वहीं ब्राउन राइस में मौजूद गामा-एमिनोब्यूटिरिक एसिड (GABA) एवं ग्लूटामाइन एक तरह का एमिनो एसिड (Amino acid) माना जाता है, जो ब्रेन में न्यूरोट्रांसमीटर के निर्माण में सहायक होता है। यही न्यूरोट्रांसमीटर तनाव, चिंता या दुःख के वजह से ब्रेन पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभाव को दूर रखता है और मनुष्य को डिप्रेशन जैसी परेशानियों से बचाता है।

ब्राउन राइस के फायदे (Benefits of brown rice) 11: त्वचा पर आती है नई चमक

ब्राउन राइस में एंटीऑक्सिडेंट गुण मौजूद होते हैं। एंटीऑक्सिडेंट झुर्रियों या पिग्मेंटेशन जैसी परेशानियों में अहम भूमिका निभाता है। वहीं ब्यूटी एक्सपर्ट्स का मानना है की ब्राउन राइस का पानी चेहरे पर लगाने से सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से भी चेहरे को बचाये रखने में मददगार होता है।

भूरे चावल की बढ़ती लोकप्रियता के पीछे की वजह तो अब तक आप समझ ही गए होंगे। ब्राउन राइस का सेवन शरीर पर कई सकारात्मक प्रभाव डालता है। अपनी डाइट में थोड़ा सा फेरबदल करके हम बढ़ते वजन के साथ -साथ खुद को कई बीमारियों से बचा सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

White Rice vs. Brown Rice/https://nutritionfacts.org/2019/03/19/white-rice-vs-brown-rice/#:~:text=When%20the%20subjects%20were%20eating,blood%20pressure%2C%20and%20less%20inflammation./Accessed on 25/09/2020

10 Surprising Benefits of Brown Rice You Didn’t Know About/https://www.lifehack.org/articles/lifestyle/10-surprising-benefits-brown-rice-you-didnt-know-about.html/Accessed on 25/09/2020

HEALTH BENEFITS OF RICE/https://wholegrainscouncil.org/whole-grains-101/whole-grains-101-orphan-pages-found/health-benefits-rice/Accessed on 25/09/2020

Phytochemical Profile of Brown Rice and Its Nutrigenomic Implications/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6025443/Accessed on 25/09/2020

Brown Rice, a Diet Rich in Health Promoting Properties/
https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31619639/ Accessed on 27th September 2021

Rice/https://www.hsph.harvard.edu/nutritionsource/food-features/rice/Accessed on 27th September 2021

Healthy diet/https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/healthy-diet/Accessed on 27th September 2021

Healthy Eating for a Healthy Weight/
https://www.cdc.gov/healthyweight/healthy_eating/index.html/Accessed on 27th September 2021

लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/09/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड