Diarrhea: डायरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट December 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

डायरिया (Diarrhea) क्या है?

डायरिया की परेशानी होने पर लूजमोशन होता है, जिससे आपको लगातार बाथरूम जाने की आवश्यकता पड़ सकती है। डायरिया को दस्त के दस्त के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसी शारीरिक तकलीफ है, जो आपको सामान्य की तुलना में अधिक सुस्त या ज्यादा मोशन होने लगती है। डायरिया का असर इस बात पर निर्भर करता है कि यह कितने समय तक रहता है। यह मुख्यतः तीन रूप होते हैं:

  • अक्यूट डायरिया: यह कुछ दिनों से एक सप्ताह तक रहता है।
  • पर्सिस्टेंट डायरिया :यह लगभग 3 सप्ताह तक रहता है।
  • क्रॉनिक डायरिया: यह 4 सप्ताह से अधिक समय तक रहता है।

शिशुओं, बच्चों और वयस्कों में इस स्थिति के लक्षण और कारण अलग-अलग होते हैं जिसके कारण इसका इलाज भी अलग तरह से किया जाता है। आज हम आपको इस लेख में डायरिया के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में बताएंगे।

और पढ़ें : Lead Poisoning: सीसा विषाक्तता क्या है?

डायरिया (Diarrhea) कितना आम है?

डायरिया होना बहुत आम है। एक औसत वयस्क को वर्ष में तीन से चार बार डायरिया हो सकता हैं। डायरिया किसी भी उम्र और जेंडर के लोगों को हो सकता है। डायरिया एक ऐसी बीमारी है जो आपको जानलेवा स्टेज तक पहुंचा सकती है। इसलिए बहुत से लोग इस बीमारी से जुड़ी चिकित्सा सलाह लेते हैं। अगर डायरिया का इलाज बहुत लंबे समय तक नहीं किया जाता है, तो यह गंभीर समस्याओं का कारण बन सकता है। जैसे कि आंत में सूजन इत्यादि।

और पढ़ें : Ulcerative colitis : अल्सरेटिव कोलाइटिस क्या है? जाने इसके कारण ,लक्षण और उपाय

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

डायरिया (Diarrhea) के लक्षण क्या हैं?

डायरिया के लक्षण बच्चों और वयस्कों में अलग-अलग होते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि यह बीमारी हर उम्र के व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित करती है। तो चलिए जानते हैं लूज मोशन (Diarrhea) के सबसे सामने लक्षण जो हर किसी भी में दिखाई दे सकते हैं:

ऐसे अन्य कई लक्षण हो सकते हैं, जिनका उल्लेख नहीं किया गया हो। यदि डायरिया के दुष्प्रभावों के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

और पढ़ें : Scabies : स्केबीज क्या है?

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

शिशुओं और छोटे बच्चों में डायरिया (Diarrhea):

डायरिया छोटे बच्चों को होने वाली एक गंभीर बीमारी है। यह बहुत कम समय में गंभीर डीहाइड्रेशन का कारण बन जाता है, जो आगे चलकर जानलेवा भी हो सकता है। यदि आपको अपने बच्चे में ये निम्नलिखित लक्षण दिखें तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए:

यदि आप अपने बच्चे में निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण पाते हैं तो तत्काल चिकित्सा उपचार के लिए जाएं :

  • डिहाइड्रेशन के लक्षण, जैसे ठंडे हाथ और पैर, पीली त्वचा, कम यूरिन पास होना, चिड़चिड़ापन
  • तेज बुखार
  • स्टूल में ब्लड आना
  • काले रंग का स्टूल पास होना
  • वयस्कों में लूजमोशन होना 

यदि आपको निम्नलिखित लक्षण हैं तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए:

आप अपने डॉक्टर के साथ डायरिया से जुड़े खतरों का आंकलन कर, उसे ठीक करने के तरीकों पर चर्चा कर सकते हैं। आप हमेशा अपने डॉक्टर के साथ उपचार और निदान की उन विधियों के बारे में चर्चा करें जो आपके लिए सबसे अच्छा उपचार हो सकता है।

 

और पढ़ें : Piles : बवासीर क्या है?

डायरिया (Diarrhea) किन कारणों से होता है?

डायरिया एक ऐसी स्थिति है जो कभी भी किसी को भी हो सकती है। इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे की –

और पढ़ें : लिक्विड डाइट प्लान क्या है? जानें इसके फायदे

किन कारणों से बढ़ सकता है डायरिया (Diarrhea) का खतरा ?

डायरिया को होने के बाद भी रोका जा सकता है। हालांकि इसके लिए आपको निम्न चीजों से परहेज करने की जरूरत पड़ सकती है –

और पढ़ें : Migraine: माइग्रेन क्या है ? जाने इसके कारण,लक्षण और उपचार

डायरिया (Diarrhea) का निदान कैसे किया जाता है?

 डॉक्टर शारीरिक परीक्षण कर डायरिया के कारणों की पहचान कर सकते हैं। इसके साथ ही आपके मेडिकल हिस्ट्री पर भी नजर डाली जा सकती है। डॉक्टर आपसे कुछ प्रश्न पूछ सकते हैं, जैसे:

  • आप कैसा महसूस कर रहे हैं?
  • आप दिन में कितनी बार शौचालय जाने की आवश्यकता महसूस करते हैं?
  • डायरिया शुरू होने से पहले आपने क्या खाना खाया था?
  • आप हाल ही में कोई दवा ले रहे हैं या नहीं?
  • अन्य कोई बदलाव या लक्षण जो आप अनुभव कर रहे हैं?

कुछ मामलों में, आपकी स्थिति के बारे में अधिक जानने के लिए अतिरिक्त परीक्षण किया जा सकता है। इन परीक्षणों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं :

डायरिया (Diarrhea) का इलाज कैसे किया जाता है?

डायरिया के शुरुआती चरण के उपचार में शरीर में बहुत सारे तरल पदार्थों की आपूर्ति की आवश्यकता होती है। इसका मतलब ये है कि आपको अधिक पानी, इलेक्ट्रोलाइट या स्पोर्ट्स ड्रिंक पीने की आवश्यकता है। अधिक गंभीर मामलों में इंट्रावीनस (intravenous) के माध्यम से आपके शरीर में तरल पदार्थ की कमी को पूरा किया जा सकता है। यदि आपको डायरिया बैक्टीरिया इंफेक्शन के कारण होता है, तो डॉक्टर एंटीबायोटिक्स लिख सकते हैं। डायरिया की समस्या को दूर करने के लिए रेडोटिल लेने की सलाह डॉक्टर दे सकते हैं। 

आपके डॉक्टर आपको ओरल रिहाइड्रेशन (आपके शरीर में डीहाइड्रेशन को कम करने का उपाय) के सेवन का सुझाव दे सकते हैं। यह उपाय डीहाइड्रेशन की समस्या खत्म करता है और आपके शरीर में ग्लूकोज, नमक और अन्य महत्वपूर्ण मिनरल की कमी को पूरा करता है। ओरल रिहाइड्रेशन बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए उपयुक्त है, जो बिना किसी डॉक्टर के पर्चे के भी स्थानीय मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है।

और पढ़ें : स्टेमिना बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार :

स्टैनफोर्ड हेल्थ केयर के पोषण विशेषज्ञों के अनुसार,निम्नलिखित जीवनशैली और डायरिया (Diarrhea) के घरेलू उपचार आपको डायरिया से लड़ने में मदद कर सकते हैं:

  • फ्रूट जूस को बगैर चीनी मिलाए पिएं।
  • उच्च-पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें जैसे केले, आलू इत्यादि।
  • उच्च सोडियम युक्त खाद्य और तरल पदार्थ का सेवन करें।
  • फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं जैसे केला, दलिया, चावल
  • तली-भुनी चीजों को कम खाएं।
  • कैफीन, चाय और शीतल पेय से बचें।
  • मैग्नीशियम से भरपूर डेयरी उत्पादों और भोजन से बचें।
  • डिब्बा बंद खाद्य या पेय पदार्थों का सेवन न करें।

और पढ़ें : पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

डायरिया (Diarrhea) की परेशानी से बचने के लिए घरेलू उपचार क्या हैं?

डायरिया या दस्त की समस्या से बचने के लिए निम्नलिखित घरेलू उपाय अपनाये जा सकते हैं। जैसे:

ओआरएस (ORS)- डायरिया या दस्त की तकलीफ होने पर ओआरएस (Oral Rehydration Salt) के घोल का सेवन किया जा सकता है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार ओआरएस या इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक्स के सेवन से दस्त (Diarrhea) की परेशानी दूर हो सकती है। दस्त की वजह से बॉडी तेजी से डिहाइड्रेट करने लगती है, जिससे पेशेंट्स कमजोरी महसूस होने लगती है। इसलिए ऐसी स्थिति में ओआरएस या इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक्स सिर्फ दस्त ही नहीं कमजोरी दूर करने में भी सहायक है।

नारियल पानी (Coconut water)- अगर किसी व्यक्ति को हल्के दस्त की समस्या हो, तो इस तकलीफ को दूर करने के लिए नारियल पानी बेहद लाभकारी माना जाता है। लेकिन ध्यान रखें कि अगर डायरिया की समस्या गंभीर है, तो ऐसे में सिर्फ नारियल पानी लाभकारी नहीं हो सकता है।

शहद (Honey)- रिसर्च के अनुसार डायरिया की समस्या होने पर शहद का सेवन लाभकारी माना जाता है, क्योंकि इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो डायरिया की परेशानी को दूर हो सकती है।

दही (Cured)- जर्नल ऑफ प्रोबायोटिक एंड हेल्थ (Journal of Probiotics & Health) के रिसर्च अनुसार दही में प्रोबायोटिक मौजूद होता है, जो पेट के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है। दही के सेवन से पेट ठंडा रहता है और डायरिया की तलिफ भी दूर होती है।

ग्रीन टी (Green Tea)- एनसीबीआई (नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन) के अनुसार ग्रीन टी दस्त की समस्या से निजात दिलाने में लाभकारी माना जाता है। दरअसल ग्रीन टी में मौजूद कैटेकिन डायरिया की तकलीफ को कम करने में लाभकारी माना जाता है, लेकिन ध्यान रखें की जरूरत से ज्यादा ग्रीन टी का सेवन न करें और अगर परेशानी लगातार बनी हुई है, तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।

आप ऊपर बताये इन घरेलू उपायों को अपनाकर डायरिया की तकलीफ को दूर कर सकते हैं, लेकिन इन ऊपर बताये गए टिप्स को ध्यान में रखने के साथ-साथ निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखें। जैसे:

  • एल्कोहॉल का सेवन न करें
  • स्मोकिंग न करें
  • साइट्रस फ्रूट्स ना खाएं
  • ड्राय फ्रूट्स का सेवन नहीं करें
  • कैफीन का सेवन न करें
  • स्ट्रीट फूड या जंक फूड से दूरी बनाये रखें

इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें और डायरिया की तकलीफ को दूर करें।

इस आर्टिकल में हमने आपको डायरिया (Diarrhea) से संबंधित जरूरी बातों को बताने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस बीमारी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे। अपना ध्यान रखिए और स्वस्थ रहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बरगद के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Banyan Tree (Bargad ka Ped)

जानिए बरगद के पेड़े के फायदे और नुकसान, बगरद के पेड़ के औषधीय गुण, वट के पेड़ से घरेलू उपचार, Bargad ka Ped के साइड इफेक्ट्स, Banyan Tree क्या है। Bargad ke ped ki kaise pehchan karen

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra

Vizylac: विजीलैक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए विजीलैक (vizylac) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितनी खुराक लें, विजीलैक डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

Bifilac: बिफिलेक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

बिफिलेक दवा की जानकारी in hindi वहीं इसके उपयोग, डोज और सावधानी और चेतावनी के साथ इसके साइड इफेक्ट्स और इसमें मौजूद तत्व व स्टोरेज जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

Chinese Rhubarb: चाइनीज रुबाब क्या है?

जानिए चाइनीज रुबाब की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, चाइनीज रुबाब उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Chinese Rhubarb डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Mona narang

Recommended for you

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम का यूनानी इलाज (Unani treatment for Irritable bowel syndrome)

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (IBS) का यूनानी इलाज कैसे किया जाता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ January 27, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
पेट की खराबी के घरेलू उपाय

पेट की खराबी से राहत पाने के लिए अपनाएं यह आसान घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ August 18, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
निजोनाइड टैबलेट Nizonide Tablet

Nizonide Tablet : निजोनाइड टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ August 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
सेट्रोजिल ओ टैबलेट

Satrogyl-O Tablet : सेट्रोजिल ओ टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ July 20, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें