Caffeine : कैफीन क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Radhika apte

सामान्य नाम: Caffeine : कैफीन क्या है?

जानिए क्या है कैफीन? (What is Caffeine In Hindi)

कैफीन किसलिए इस्तेमाल किया जाता है? 

आमतौर पर कैफीन का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है :

  • मानसिक और शारीरिक थकावट को दूर करने में मदद करता है।
  • सांस लेने में तलकीफ होने पर।

कैफीन साइट्रेट सिर्फ डॉक्टरी पर्चे पर इंजेक्शन के रूप में मिल सकता है। इसका इस्तेमाल शॉर्ट टर्म ट्रीटमेंट के लिए किया जाता है जैसे, नवजात को एपनिया (सांस लेने की समस्या)।

हेल्थ से जुड़ी दूसरी समस्या या स्थितियों के दौरान भी आपका डॉक्टर कैफीन दे सकता है।

मुझे कैफीन कैसे लेना चाहिए?

आप डॉक्टर के निर्देशानुसार कैफीन ले सकते हैं। अगर आप बिना प्रिस्क्रिप्शन के कैफीन ले रहे हैं, तो ध्यान से बोतल के लेबल पर दी हुई जानकारी को पढ़े, जैसे, डोज की मात्रा और इस्तेमाल आदि।

यह खाने या बिना खाने के साथ लिया जा सकता है। अगर, कैफीन लेने के बाद आपका पेट खराब हो जाता है, तो अच्छा होगा कि आप इसे खाने के साथ ही लें।

इसका सेवन कैसे किया जाए, इस बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

मैं कैफीन को कैसे स्टोर करूं?

इसे सीधे प्रकाश और नमी से बचाने के लिए रूम टेंपरेचर में रखना ही सबसे ज्यादा बेहतर रहता है। भूल कर भी इसे बाथरूम या फ्रीजर में न रखे। कैफीन के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं, जिनको अलग तरीके और तापमान में स्टोर करने की जरूरत हो सकती है। स्टोर करने से पहले प्रोडक्ट पैकेज पर दिए दिशा-निर्देशों की बारीकी से जांच करें या मेडिकल वाले से जानकारी लें। सुरक्षा की दृष्टि से बच्चों और पालतू जानवरों को दवा से दूर रखें।

इसे टॉयलेट में फ्लश न करें और न ही नाली में बहाएं। इसलिए, जब यह एक्सपायर हो जाए, तो इसे उचित तरह से फेंके। इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

सावधानियों और चेतावनियों को जानें (Caffeine precautions and warnings In Hindi)

कैफीन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

कैफीन लेने से पहले, अपने डॉक्टर को बताएं:

  • अगर आपको कैफीन या उसमें पाए जाने वाले किसी भी तत्व से एलर्जी की समस्या है।
  • अपनी सभी दवा के बारे में डॉक्टर को बताए जैसे हर्बल, जनरल मेडिसिन, और सप्लिमेंट
  • उन दवाओं के बारे में भी सूचित करें जो आपने बिना डॉक्टरी प्रिस्क्रिप्शन के सेवन कर रहे है।
  • आपको चिंता, घबराहट, अल्सर, अनिद्रा, दौरे (ऐंठन), हृदय रोग तो नहीं।
  • क्या आप प्रेग्नेंट है या उसके बारे में सोच रही है अथवा ब्रैस्ट फीडिंग करा रही है।

क्या गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान कैफीन लेना सुरक्षित है?

अभी इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं हुआ है कि गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान इसे लेने से किस प्रकार का जोखिम हो सकता है।

इसे लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से, इसके फायदे और जोखिम के विषय मे बात करे । यूएस फ़ूड एंड ड्रग एडमिस्ट्रेशन ने प्रेगनेंसी के दौरान कैफीन के सेवन को रिस्क कैटेगरी “सी” में रखा है ।

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स (Caffeine Side Effects In Hindi)

कैफीन के साइड इफेक्ट क्या हैं?

  • तुरंत इमरजेंसी हेल्थ नंबर पे फ़ोन करे यदि आप को ऐसे गंभीर एलर्जी रिएक्शन हैं जैसे, साँस लेने में मुश्किल , सीने में जकड़न, मुंह, चेहरे, होंठ, या जीभ में सूजन दाने, पित्ती, या खुजली हो रही हो । दस्त, उल्टी, एब्नॉर्मल हार्ट बीट, छाती में दर्द।
  • कैफीन के अन्य सामान्य दुष्प्रभावों में शामिल हैं: नींद न आना (अनिद्रा), घबराहट या चिंता, चिड़चिड़ापन, मितली, सिरदर्द।

ये होने वाले साइड इफेक्ट की पूरी लिस्ट नहीं है। अपने साइड इफेक्ट के विषय में अपने डॉक्टर से बात करे ।

हर किसी मे इस प्रकार के लक्षण नहीं दिखाई देते, ये दूसरे प्रकार के भी हो सकते हैं। अगर आपके मन मे साइड इफेक्ट को लेकर कोई चिंता या शंका है, तो अपने हेल्थ एक्सपर्ट या डॉक्टर से सपर्क करें।

इंटरैक्शन (Caffeine Interaction In Hindi)

कौन-सी दवाएं कैफीन के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं?

कैफीन अन्य दवाओं के साथ इंटरेक्ट कर सकती हैं, जो आप वर्तमान में ले रहे हैं। ये आपकी दवा के काम करने के तरीके में विपरीत असर डाल सकती है या गंभीर साइड इफेक्ट की स्थिति पैदा कर सकती हैं।

ऐसी किसी भी दवा से बचने के लिए जो कैफीन के साथ इंटरेक्ट कर सकती हैं, आपको सभी दवाओं की लिस्ट बनानी चाहिए, जो आप वर्तमान समय मे ले रहे हैं।

सभी डॉक्टरी पर्चे वाली दवाओं और गैर-पर्चे वाली दवाओं समेत सभी हर्बल उत्पादों के बारे में डॉक्टर और फार्मासिस्ट को सूचित करें। सुरक्षा के दृष्टि से बिना डॉक्टरी सलाह के किसी भी दवा की खुराक को खुद से न ही शुरू करें न रोकें और न ही बदलें।

किनोलोन (उदाहरण के लिए, सिप्रोफ्लोक्सासिन)

  • एफेड्रा
  • गर्भनिरोधक गोलियां
  • एंटीडायबिटिक ड्रग्स

डायबिटीज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ दवाओं में ग्लिमेपीराइड (एमरील), ग्लाइबुराइड (डायबेटा, ग्लीनेज प्रेसटैब, माइक्रोनेज़), इंसुलिन, पियोग्लिटाजोन (एक्टोस), रोसिगैलेजोन (अवांडिया), क्लोरप्रोपामाइड (डायबिनीज), ग्लिपिजाइड (ग्लूकोटरोल) (ग्लूकोल), शामिल हैं।

  • मेक्सीटाइलिन (मेक्सिटिल)
  • एडेनोसिन (एडेनोकार्ड);
  • एंटीबायोटिक्स (क्विनोलोन एंटीबायोटिक्स);
  • क्लोजापाइन (क्लोजरिल
  • डिपिरिडामोल (पर्सेंटाइन);
  • डिसुल्फिरम (एंटाब्यूज);
  • फ्लुवोक्सामाइन (लवॉक्स);
  • लिथियम;
  • अवसाद के लिए दवाएं
  • दवाएं ब्लड क्लॉटिंग को धीमा करती हैं (एंटीकोआगुलेंट / एंटीप्लेटलेट ड्रग्स);
  • पेंटोबार्बिटल (नेम्बुतल)
  • फेनिलप्रोपेनॉलमाइन
  • थियोफिलाइन
  • वेरापामिल (कैलन, कवरा, आइसोप्टिन, वेरेलन)

क्या भोजन या शराब के साथ कैफीन इंटरेक्ट करती है?

ये संभव है कि कुछ खाने पीने की चीजें या शराब के साथ कैफीन लेने से भी साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ जाए। कैफीन शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को अपने खानपान के विषय मे बताएं।

किन हेल्थ कंडिशंस पर कैफीन बुरा असर डाल सकता है?

यह आपकी हेल्थ कंडिशंस पर बुरा प्रभाव डाल सकता है या दवाओं के काम करने के तरीके में भारी बदलाव ला सकता है। अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से इन सभी मेडिकल स्थितियों के बारे में बताएं, जिनसे आप जूझ रहे हैं, जैसे :

  • कैफीन, अन्य दवाओं, खाद्य पदार्थों या दूसरी चीजों से एलर्जी।
  • किसी भी प्रिस्क्रिप्शन या नॉन प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन या हर्बल या फूड सप्लिमेंट लेना।
  • चिंता, घबराहट, लिवर या पेट का अल्सर, अनिद्रा (नींद न आना), दौरे (ऐंठन), या हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंसी का प्लानिंग कर रही हैं या फिर ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं।

जानिए इसकी खुराक (Caffeine Doses In Hindi)

दी गई जानकारी को मेडिकल एडवाइस के रूप में न समझे। कैफीन का डोज लेने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

एक एडल्ड के लिए कैफीन की खुराक क्या है?

लोडिंग डोज : चार घंटे के अंदर 2 मिलीलीटर/किग्रा नसों में दिया जाता है। अगर मरीज की प्रतिक्रिया नहीं हुई है, तो चार घंटे के बाद, दूसरी लोडिंग खुराक दी जा सकती है। अगर दूसरी लोडिंग खुराक के बाद भी कोई ​​रिएक्शन नहीं है, तो ब्लड में इसके स्तर को मापा जा सकता है।

मेंटेनेंस डोज : लोडिंग डोज के बाद शुरुआती 24 घंटो में 0.5-1एमएल/ किग्रा, नसों के जरिए दिया जा सकता है। कुछ मामलों में, मेंटेनेंस डोज 10 mg/kg प्रतिदिन (कैफीन साइट्रेट के रूप में) से ज्यादा खुराक हो सकती है।

एक बच्चे के लिए कैफीन की खुराक क्या है?

लोडिंग डोज : चार घंटे के अंदर दो मिलीलीटर/किग्रा नसों में दिया जाता है। अगर मरीज की ​​प्रतिक्रिया नहीं हुई है, तो चार घंटे के बाद, दूसरी लोडिंग खुराक दी जा सकती है। अगर दूसरी लोडिंग खुराक के बाद भी कोई ​​रिएक्शन नहीं है, तो ब्लड में इसके स्तर को मापा जाना चाहिए।

मेंटेनेंस डोज: लोडिंग डोज के बाद शुरुआती 24 घंटों में 0.5-1एमएल/किग्रा नसों के जरिए इसे दिया जा सकता है। कुछ मामलों में, मेंटेनेंस डोज 10 mg/kg प्रतिदिन कैफीन (साइट्रेट के रूप में ) से ज्यादा खुराक हो सकती है।

उपचार तब तक जारी रखा जाना चाहिए, जब तक कि बच्चा 37 सप्ताह की गर्भकालीन आयु तक नहीं पहुंच जाता है। ऐसे में जन्मजात बीमारी का एपनिया (जन्म के दौरान सांस रुक जाने की बीमारी) आमतौर पर हल हो जाता है।

कैफीन कैसे उपलब्ध है?

यह नीचे बताई गई खुराक के रूप में उपलब्ध है :

सॉल्युशन 10 मिलीग्राम/डीएल इंजेक्शन के लिए

इमरजेंसी या ओवरडोज के केस में मुझे क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आपातकालीन सेवाओं को सूचित करें या किसी हॉस्पिटल या ट्रामा सेंडर में एडमिट हो जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाऊं, तो क्या करूं?

कैफीन की एक खुराक लेना आप भूल गए है, तो इसे समय रहते ले लीजिए। वहीं, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया हो, तो पहली खुराक को स्किप कर दूसरी खुराक ले लीजिए। फिर आगे नियमित रूप से खुराक लेते रहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

सूत्र

रिव्यू की तारीख जुलाई 17, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया जुलाई 17, 2019

सर्वश्रेष्ठ जीवन जीना चाहते हैं?
स्वास्थ्य सुझाव, सेहत से जुड़ी नई जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य न्यूज लेटर प्राप्त करें