मुझे अक्सर मांसपेशियों में ऐंठन रहती है, इसका क्या उपाय है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

लोगों में अक्सर देखा गया है कि मांसपेशियों में अक्सर दर्द या ऐंठन की शिकायत रहती है। जिसके लिए लोग कई तरह के भ्रम में पड़ कर इलाज तो करते हैं, लेकिन उन्हें आराम न के बराबर होता है। 

यह भी पढ़ें : मांसपेशियां बनाने के दौरान महिलाएं करती हैं यह गलतियां

सवाल

मांसपेशियों में ऐंठन का क्या इलाज है? इसके घरेलू उपाय बताएं?

जवाब

मांसपेशियों में ऐंठन होना एक सामान्य समस्या है। जो कभी भी अचानक हो सकता है। मसल्स क्रैम्प अक्सर पैरों की पिंडली में होता है। ये अपने आप ठीक हो जाता है या दवा के जरिए ठीक होता है। मांसपेशियों में ऐंठन ज्यादा होने का कारण डिहाइड्रेशन, एक ही स्थिति में ज्यादा समय तक बैठने से होता है। इसके अलावा सुचारू रूप से ब्लड सप्लाई न होने से, उम्र ज्यादा होने से और प्रेगनेंसी के कारण आपके मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है। 

मांसपेशियों में ऐंठन को ठीक करने के टिप्स

  • ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिएं। मांसपेशियां अगर हाइड्रेट रहेंगे तो उनमें क्रैम्प नहीं होगा।
  • अगर हमेशा रात में ही आपके मांसपेशियों में ऐंठन होती है तो बिस्तर पर जाने से पहले आप मांसपेशियों को खींचें और थोड़ा दबा लें। 

मांसपेशियों में ऐंठन के लिए घरेलू इलाज

  • मांसपेशियों को खींचने से आपको राहत मिलेगी। जरूरत पड़ने पर आप हल्का मसाज भी कर सकते हैं। 
  • आप नट्स खाएं, क्योंकि उसमें मैग्नीशियम पाया जाता है। मैग्नीशियम से मांसपेशियों में ऐंठन नहीं होती है।
  • मांसपेशियों में ऐंठन को दूर रखना है तो ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिएं।
  • विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के सेवन से ऐंठन में आराम पा सकते हैं। 

(मांसपेशियों की ऐंठन के लिए डॉक्टर मोबिजॉक्स टैबलेट रिकमेंड कर सकते हैं। अपने चिकित्सक की सलाह के बिना कभी खुद से कोई दवा न लें।)

उपरोक्त बताए गए दवाओं का सेवन डॉक्टर के निर्देशन में करें। 

यह भी पढ़ें : Myotonia Congenita: मायोटोनिया कोनजेनिटा क्या है?

मांसपेशियों में ऐंठन को ठीक करने के लिए क्या खाएं? 

  • मांसपेशी में ऐंठन को ठीक करने के लिए केला खाएं। क्योंकि, केला पोटैशियम, मैग्निशियम और कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। 
  • स्वीट पोटैटो में केले की तुलना में छह गुना ज्यादा कैल्शियम पाया जाता है। सात ही पोटैशियम और मैग्नीशियम भी पाया जाता है।
  • एवोकैडो में ज्यादा मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है। ये आपके मांसपेशियों के फंक्शन को सुचारू करने में मददगार होता है।
  • कैल्शियम और मैग्नीशियम से भरपूर हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।
  • दूध, संतरे का जूस, नट्स, सैल्मन मछली और टमाटर खाने से ऐंठन नहीं होती है।

यह भी पढ़ें : Hamstring Injury: हैमस्ट्रिंग चोट क्या है?

मांसपेशियों में ऐंठन (Muscle Cramps) की समस्या क्या है?

मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है। हालांकि, आमतौर पर इसका जोखिम बढ़ती उम्र के दौरान और अत्यधिक शारीरिक कार्य करने के कारण हो सकती है। मांसपेशियों में ऐंठन होने के कारण तेज और काफी गंभीर दर्द होता है, जिससे सोते समय या चलते समय परेशानी महसूस हो सकती है। मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या औमतौर पर अस्थायी हो और स्थायी दोनों ही हो सकती है। लेकिन, इसके कारण शारीरिक कार्यों में बाधा आ सकती है।

मांसपेशियों में ऐंठन होने का क्या कारण है?

गरम मौसम में ज्यादा देर तक एक्सरसाइज करनें या अत्यधिक शारीरिक कार्य करने के कारण मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या आ सकती है। आमतौर पर मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या एथलीट्स के लिए सबसे आम हो सकती है। मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या शरीर की किसी भी मांसपेशी में हो सकती है जिनमे कंकालीय मांसपेशियां जैसे एंकल, पीठ, जांघ, एड़ी या हाथ की मसल्स भी शामिल होती है। मांसपेशियों में ऐंठन का मुख्य कारण मांसपेशी में संकुचन के कारण हो सकता है जो सामान्यतः डिहाइड्रेशन, बहुत ज्यादा भारी वजन उठाने या शरीर में जरूरी इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी के कारण हो सकता है। इसके अलावा, मांसपेशियों में ऐंठन नर्व स्टिमुलेशन के कारण भी हो सकता है |

यह भी पढ़ें : बाइसेप्स के लिए 5 आसान एक्सरसाइज 

मांसपेशियों में ऐंठन के उपचार क्या हैं?

मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या का उपचार आमतौर पर घरेलू रूप से किया जा सकता है। हालांकि, इसके समस्या गंभीर होने पर डॉक्टर इसके उचित उपचार की सलाह भी दे सकते हैं। साथ ही, नीचे बताए गए तरीकों से भी आप इस समस्या से राहत पा सकते हैं।

प्रभावित मांसपेशियों को आराम दें:

शरीर के जिन भी अंग की मांसपेशी में ऐंठन हो, उस प्रभावित स्थान पर किसी प्रकार का जोर न डालें। हालांकि, हल्की-फुल्की शारीरिक गतिविधियां भी करते रहें। अगर कुछ घंटों बाद भी ऐंठन या दर्द की समस्या बनी रहती है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

स्ट्रेच करेंः

प्रभावित मांसपेशी के अंग को थोड़ी-थोड़ी देर बार स्ट्रेच करते रहें।

मालिश करें:

मालिश करने से मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या को आसानी से दूर किया जा सकता है। इसके लिए आप सरसों के तेल में हल्दी मिलाएं और उसे हल्का गर्म करके, मालिश के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा आप अन्य दर्द निवारक तेलों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

सिकाई करें:

मांसपेशियों की ऐंठन वाले हिस्से पर गरम तौलिया या हीट पेड लगा कर उसकी सिकाई करें। इससे ऐंठन कम किया जा सकता है।

शरीर को हाइड्रेड करते रहेंः

मांसपेशियां में ऐंठन की समस्या डिहाइड्रेशन के कारण भी हो सकती है। ऐसे में आपको चाहिए की आप अपने शरीर को हाइड्रेट करते रहें। इसके लिए पानी और इलेक्ट्रोलाइट, जैसेः जूस, स्पोर्ट्स ड्रिंक आदि के रूप का सेवन उचित मात्रा में करते रहें।

डॉक्टर से संपर्क करेंः

कभी-कभी मांसपेशियों को ऐंठन की समस्या शरीर में विटामिन्स और मिनरल्स की कमी के कारण भी हो सकती है। अगर आपको इसकी समस्या बार-बार हो रही है, तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ेंः बच्चों को ग्राइप वॉटर पिलाना सही या गलत? जानिए यहां

मिनरल्स की पूर्ति के लिए खाएं केलेः

मिनरल्स जैसे कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम आदि की कमी को पूर करने के लिए नियमित रूप से कैले खाएं। केलों में उच्च मात्रा में पोटैशियम होता है, साथ ही कच्चे एवकाडो, भुने आलू, पालक और फैट फ्री या स्किम्ड दूध का भी सेवन कर सकते हैं।

अनानास का सेवन करेंः

अनानास में ब्रोमलेन नामक एंजाइम पाया जाता है, जो मांसपेशियों के ऐंठन और दर्द की समस्या को दूर करने में लाभकारी हो सकता है। साथ ही, यह गठिया और जोड़ों के दर्द के उपचार में भी मददगार हो सकता है।

नमक मिले पानी से नहाएंः

मांसपेशियों में ऐंठन का उपचार करने के लिए नहाने के पानी में काला नमक मिलकार नहांएं। काले नमक में मैग्नीशियम की मात्रा होती है जो मांसपेशियों से जुड़ी समस्या में उपचार कर सकती है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें:- 

Etoricoxib + Thiocolchicoside : एटोरिकोक्सीब+थायोकोल्चिकसाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Tizanidine : टीजानिडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ये हैं टॉप 10 डंबल एक्सरसाइज, जानिए इनके फायदे

इन 7 कारणों से आपको रोज करने चाहिए स्क्वैट

ये स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज कमर दर्द से दिलाएंगी छुटकारा

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Facial Tics: फेशियल टिक क्या है?

जानिए फेशियल टिक क्या है in hindi, फेशियल टिक के कारण, जोखिम और लक्षण क्या है, facial tics को ठीक करने के लिए क्या उपचार है जानिए।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

खेल में नंबर-1 आने के लिए बॉडी रखनी पड़ती है फिट, इस तरह खिलाड़ी रखते हैं अपनी बॉडी फिटनेस का ध्यान

बॉडी फिटनेस खिलाड़ियों के लिए बहुत ही जरूरी होता है। सही डायट और एक्सरसाइज के जरिए ही बॉडी फिटनेस को कायम रखा जा सकता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
स्वास्थ्य बुलेटिन, इंटरनेशनल खबरें अप्रैल 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Cassie absolute: कैसी एब्सोल्युट क्या है?

जानिए कैसी एब्सोल्युट की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, कैसी एब्सोल्युट उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Cassie absolute डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 31, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Lemon eucalyptus: लेमन यूकेलिप्टस क्या है?

जानिए लेमन यूकेलिप्टस की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, लेमन यूकेलिप्टस उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Lemon eucalyptus डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

घुटनों में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज -Ayurvedic treatment for knee pain

घुटनों में दर्द का आयुर्वेदिक इलाज कैसे किया जाता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ जून 30, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
एस प्रोक्सीवोन

Ace Proxyvon: एस प्रोक्सीवोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ जून 18, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
वृद्धावस्था में त्वचा संबंधी समस्याएं

जानें वृद्धावस्था में त्वचा संबंधी समस्याएं और उनसे बचाव

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ अप्रैल 23, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
माथे की झुर्रियां

माथे की झुर्रियां कैसे करें कम? जानिए इस आर्टिकल में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ अप्रैल 20, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें