backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

वेट लॉस और मसल्स लॉस में अंतर जानते हैं आप ?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/12/2020

वेट लॉस और मसल्स लॉस में अंतर जानते हैं आप ?

जब फिटनेस की बात सामने आती है तो हम दो बातों पर ही जोर देते हैं। पहला वेट लॉस और दूसरा डायट। मसल्स लॉस के बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी नहीं रहती है। मसल्स लॉस और फैट लॉस में बहुत अंतर होता है। जब मोटापे की बात की जाती है तो हमे फैट लॉस की सलाह दी जाती है। फैट मसल्स के चारों ओर बनने वाली परत है। फैट लॉस शरीर को फिट बना सकता है लेकिन मसल्स लॉस अच्छा संकेत नहीं होता है। शरीर का फैट कम करने के लिए कैलोरी डेफिसिट की जरूरत पड़ती है। जब ऐसा नही होता है तो आपका शरीर मसल्स को बर्न कर देता है और उसे एनर्जी देता है। इस तरह धीरे-धीरे मसल्स लॉस शुरू हो जाता है।

मसल्स लॉस क्या है ?

स्ट्रेंथ ट्रेंनिग कम करने से आपका मसल्स लॉस हो सकता है। एक्सरसाइज के दौरान मसल्स फाइबर ब्रेक होते हैं, जब आप रिलेक्स करते हैं तो ये रिपेयर होते हैं। कई बार शरीर को जरूरी तत्व न मिलने की वजह से भी मसल्स लॉस की समस्या हो जाती है। 2000 कैलोरी डाइट में150 Gm प्रोटीन आवश्यक होती है। अगर आप अपने शरीर और एक्टीविटी के मुताबिक कैलोरी या फिर प्रोटीन नहीं ले रहे हैं तो ये मसल्स लॉस का कारण बन सकता है। कम या फिर ज्यादा नींद भी मसल्स लॉस का कारण बनती है।

फिटनेस के लिए आलिया भट्ट ने शुरू किया ‘एरियल पिलाटे’

वेट लॉस से क्या मतलब है ?

वेट लॉस से मतलब फैट लॉस से है। फैट को कम करने के लिए कैलोरी की मात्रा को कम करना पड़ता है। अगर आप फैट कम कर रहे हैं तो हो सकता है कि आपकी मसल्स को जरूरत के हिसाब से कैलोरी न मिल रही हो। इस बात को लेकर लोगों के मन में शंका रहती है कि क्या एक ही समय में फैट लॉस और मसल्स गेन किया जा सकता है ।

मांसपेशियां बनाने के दौरान महिलाएं करती हैं यह गलतियां

मसल्स लॉस से बचने के आप इन बातों पर ध्यान दे सकते हैं,

• अपने शरीर के आकार और रोजाना की एक्टीविटी के अनुसार कैलोरी लें। अगर आप काम ज्यादा कर रहे हैं और कैलोरी कम ले रहे हैं तो आपके शरीर को नुकसान पहुंच सकता है।

• सही कैलोरी लेने के लिए फल, सब्जियां, मीट, फलियां, कंद, डेयरी अनाज के साथ ही अन्य पोषक तत्वों को खाने में शामिल करें।

• आपको अपने शरीर के वजन सीमा से 10-12 गुना कैलोरी लेनी चाहिए।

• दुबले शरीर के वजन के प्रति पाउंड में 1 ग्राम प्रोटीन लेने की कोशिश करें। आप भोजन को पांच भागों में बांट कर खा सकते हैं।

• अपनी एक्टिविटी के अकॉर्डिंग पर्याप्त कार्बोहाइड्रेट खाएं। आप 150 ग्राम से शुरू कर सकते हैं। कुछ सवाल होने पर अपने डायटीशियन से पूछ सकते हैं।

• वसा के साथ आवश्यक फैटी एसिड लेना न भूलें।

• एक्सरसाइज करते रहेंगे तो मसल्स में कसाव रहेगा। अगर आप एक्सरसाइज नहीं करेंगे तो तो ये नॉर्मल मोड में रहेंगी। आपने सुना होगा कि लोगों को बॉडी बनाने में महीनों से लेकर साल लग जाते है। यहां बॉडी से मतलब मसल्स बनाने से ही।

हेल्दी हार्ट से लेकर वेट लॉस तक, जानिए जंपिंग जैक के 10 फायदे

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि शरीर को फिट रखने के लिए मजबूत मसल्स की जरूरत होती है। फैट कम करने के लिए डायट से लेकर एक्सरसाइज की जानकारी आपको आसानी से मिल जाएगी, लेकिन मसल्स के बारे में आप शायद इतना कुछ नहीं जानते होंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा और निदान प्रदान नहीं करता है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें।

और पढ़ें – रिवर्स क्रंचेस (Reverse crunches) क्या है? जानिए इसके लाभ और करने का तरीका

कार्डियो एक्सरसाइज से रखें अपने हार्ट को हेल्दी, और भी हैं कई फायदे

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/12/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement