home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

दीवाली को हेल्दी बनाने के लिए यूज करें ये चीजें, सरसों के तेल के दीए से तोरण तक है शामिल

दीवाली को हेल्दी बनाने के लिए यूज करें ये चीजें, सरसों के तेल के दीए से तोरण तक है शामिल

दिमाग पर थोड़ा सा जोर डालिए और याद कीजिए कि कौन सा त्यौहार आपके मन को रोशनी से भर देता है? सब का जवाब दीवाली ही होगा। हम सब के जीवन में कुछ ना कुछ समस्याएं होती हैं, लेकिन ऐसा कहा जाता है कि मन में पॉजिटिव थॉट्स लाने से कोई भी मुसीबत अपने आप ही छूमंतर हो जाती हैं। दीवाली को पॉजिटिविटी का ही त्यौहार कहा जाता है, क्योंकि इस समय हर जगह उजाला और रोशनी ही दिखाई देती है, जो किसी स्ट्रेसबस्टर से कम नहीं होती। इस दीवाली आप कुछ बातों का ध्यान रखकर अपने स्वास्थ्य में सुधार लाने के साथ ही पॉजिटिव एनर्जी भी महसूस करते हैं। इस बारे में हैलो स्वास्थ्य ने दिल्ली की एस्ट्रो एंड वास्तु एक्सपर्ट रिद्धि बहल से बातचीत की। उन्होंने हेल्दी दीवाली बनाने के टिप्स दिए। जानते हैं उनके बारे में।

सही दिशा का करें चुनाव

एस्ट्रो एंड वास्तु एक्सपर्ट रिद्धि बहल कहती हैं कि, ”हमारे जीवन में दिशाओं का बहुत महत्व होता है। दीवाली के दिन गणेश और लक्ष्मी जी जब भी स्थापित करें, दिशाओं का ध्यान जरूर रखें। नार्थ या फिर नार्थ ईस्ट दिशा में भगवान स्थापित करें। ये दिशाएं पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह करती हैं। जिन लोगों को डिप्रेशन की समस्या है, उनके लिए नार्थ या फिर नॉर्थ ईस्ट दिशा की ओर बैठकर पूजा करना फायदेमंद साबित होगा।”

और पढे़ें : चिंता VS डिप्रेशन : इन तरीकों से इसके बीच के अंतर को समझें

हेल्दी दीवाली टिप्स: सरसों का तेल है सबसे बेस्ट

दीवाली के दिन सरसों के तेल से भरे दीपक जलाना स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा होता है। आज के समय में दीवाली बहुत मॉर्डन हो गई है। लोग एरोमा कैंडिल के साथ ही कलरफुल और डिजाइनर कैंडिल का यूज करने लगे हैं। वैक्स जब जलता है, तो वातावरण में प्रदूषण फैलता है। जबकि सरसों के तेल से बॉडी और एनवायरमेंट को साइड इफेक्ट्स नहीं पहुंचता है। कैंडिल की जगह सरसों के तेल से दीपका का ही प्रयोग करें या दीप प्रच्वलित करें।

और पढ़ें : बिना दवा के कुछ इस तरह करें डिप्रेशन का इलाज

हेल्दी दीवाली टिप्स: आरती में कपूर का करें इस्तेमाल

कई बार पूजा के दौरान हम लोग आरती तो करते हैं, लेकिन कपूर नहीं जलाते हैं। दीवाली के दौरान कपूर की आरती जरूर करें। इसका धुंआ घर के वातावरण में उपस्थित जीवाणु, विषाणु की वजह से फैलने वाली बीमारी के जीवों को नष्ट कर देता है। आरती के प्रयोग से घर में बीमारियों के पैदा होने की संभावनाएं खत्म हो जाती हैं। अगर किसी को रात में नींद नहीं आती है तो उनके लिए कपूर काफी फायदेमंद है। साथ ही घर से कीटों को दूर करने के लिए उपले (गाय के गोबर से बने) का प्रयोग करें। इसके धुएं से घर की गंदगी दूर होती है और आपको जर्म फ्री वातावरण में सांस लेने की आजादी मिलती है।

और पढे़ं : ग्रीन क्रैकर्स से 30 % तक कम होगा प्रदूषण, मार्केट में हैं उपलब्ध

हेल्दी दीवाली टिप्स: आम के पत्तों का तोरण

मुख्य द्वार पर आम के पत्तों को लगाने से घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है। साथ ही घर में आने वाली वायु भी पवित्र हो जाती है। वास्तु एक्सपर्ट रिद्धि बहल कहती हैं कि हम लोग आम के पत्तों से बने तोरण का प्रयोग तो करते हैं लेकिन उन्हें मुख्य द्वार में लगा हुआ छोड़ देते हैं। कुछ लोग तो सालों तक तोरण नहीं हटाते हैं। ऐसा नहीं करना चाहिए। पत्तें सूख जाएं तो उन्हें हटा दें क्योंकि सूखे पत्तों में धूल जमा हो जाती है जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है। साथ ही भगवान को चढ़ाएं जाने वाले फूल भी एक दिन के बाद हटा देने चाहिए।

हेल्दी दीवाली टिप्स: रंगोली बानाने के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

रिद्धि बहल कहती हैं कि पॉजिटिव एनर्जी के लिए आपको सोर्स खोजने चाहिए। दीवाली में हम सभी रंगोली बनाते हैं। केमिकल कलर की जगह नैचुरल रंगों का यूज करें। फ्रेश फूल की महक घर के वातावरण को सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है। इसके लिए आप कुछ स्वास्थ्य के लिए उपयोगी पत्तियों का यूज भी कर सकती हैं। रिद्धि ये भी कहती हैं कि, ”हो सके तो क्रैकर्स से दूरी बनाकर रखना आपके स्वास्थय के लिए फायदेमंद होगा। सांस की तकलीफ से जूझ रहे लोगों को क्रैकर्स से काफी समस्या होती है।”

और पढ़ें : मिलावटी मिठाई को इस दिवाली ऐसे पहचानें, हो सकती है सेहत के लिए हानिकारक

इन हेल्दी दीवाली टिप्स को फॉलो करके आप दीवाली के सेलिब्रेशन के साथ स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। त्यौहार को जरूर मनाएं लेकिन अपनी हेल्थ को नजरअंदाज न करें और ना ही पर्यावरण को नुकसान पहुंचाएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Tips and tricks for making Diwali Healthy/https://timesofindia.indiatimes.com/blogs/nutrigram/tips-and-tricks-for-making-diwali-healthy/Accessed on 11/12/2019

Diwali Snacks Receipes/https://www.indianhealthyrecipes.com/diwali-recipes-diwali-snacks/Accessed on 11/12/2019

11 Quick Diwali Sweets Recipes | Quick & Easy Diwali Sweets Recipes/Accessed on 11/12/2019

How to have a healthy Diwali/https://www.sbs.com.au/food/article/2019/10/25/how-have-healthy-diwali/Accessed on 11/12/2019

8 Delicious (and Healthy!) Recipes for a Guilt-Free Diwali/https://parenting.firstcry.com/articles/delicious-and-healthy-recipes-for-a-guilt-free-diwali/Accessed on 11/12/2019

Top 10 Tips For A Safe And Healthy Wali Diwali/https://www.indushealthplus.com/tips-for-safe-and-healthy-wali-diwali.html/Accessed on 11/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Radhika apte के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/10/2019
x