अमिताभ बच्चन ने कोरोना से जीती जंग, बेटे अभिषेक ने ट्वीट करके दी जानकारी

    अमिताभ बच्चन ने कोरोना से जीती जंग, बेटे अभिषेक ने ट्वीट करके दी जानकारी

    जहां कोविड-19 की महामारी का कहर अभी भी कम नहीं हुआ है। लोग दिन-प्रतिदिन एक बड़ी संख्या में SARS-CoV-2 कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं। इसी बीच 11 जुलाई, 2020 को यह खबर आई कि बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके साथ ही उनके बेटे अभिषेक बच्चन में कोरोना टेस्ट के रिजल्ट्स पॉजिटिव थे। 12 जुलाई को हुए कोरोना टेस्ट में उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय और बेटी अराध्या भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद एश्वर्या और अराध्या को जल्द ही ठीक हो गए थे। जिसके बाद 2 अगस्त, 2020 को अभिषेक बच्चन ने ट्वीट कर के बताया कि उनके पिता अब कोरोना निगेटिव हो गए हैं। लेकिन अभिषेक अभी भी कोरोना पॉजिटिव है। उधर एक्टर अनुपम खेर की मां दुलारी कोरोना वायरस का शिकार हो गई थी। एकता कपूर के शो कसौटी जिंदगी-2 में अनुराग बासु की भूमिका निभा रहे एक्टर पार्थ समथान कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

    अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव

    अमिताभ बच्चन ने कोरोना पॉजिटिव होने की खबर न केवल उन्होंने खुद अपने ट्विटर अकाउंट से दी है बल्कि उन्होंने एक जिम्मेदार नागरिक होने की रेस्पॉन्सिबिल्टी भी निभाई है। ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि बिग बी ने अपने ट्वीट में लोगों से अपील की है जो सामान्यतौर पर लोग इन दिनों फॉलो नहीं कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट में के जरिए कहा कि, “जितने भी लोग पिछले 10 दिनों में मेरे आसपास रहे हैं, उनसे निवेदन है कि वे भी अपना कोविड-19 टेस्ट (covid-19 test) जरूर करवाएं।” ट्विटर के जरिए अपने आस-पास मौजूद रहे लोगों से यह अपील इसलिए की है ताकि उनके कॉन्टैक्ट में आए हुए लोगों के जरिए SARS-CoV-2 कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

    और पढ़ें : Coronavirus Lockdown : क्या कोरोना के डर ने आपकी रातों की नींद चुरा ली है, ये उपाय आ सकते हैं आपके काम

    अमिताभ बच्चन के बाद अभिषेक बच्चन भी निकले कोरोना पॉजिटिव

    इसके कुछ देर बाद अभिषेक बच्चन का भी कोरोना टेस्ट कराया गया और वे भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इस बात की जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके लोगों को दी, ‘आज मैं और मेरे पिता दोनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए। हम दोनों को हल्के लक्षण के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमने सभी आवश्यक अधिकारियों को सूचित कर दिया है और हमारे परिवार और स्टाफ सभी कोरोना टेस्ट करा रहे हैं। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वे शांत रहें और घबराएं नहीं। धन्यवाद।’

    और पढ़ें : क्या कोरोना वायरस के बाद दुनिया एक और नई घातक वायरल बीमारी से लड़ने वाली है?

    अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव : ट्वीट से मिलती है सीख

    देखा जाए तो यह सिर्फ एक ट्वीट ही है लेकिन, यह छोटा-सा कदम कई लोगों के लिए लाभदायक साबित हो सकता है। इस तरह खुद को आइसोलेट करके इससे कोरोना संक्रमण उनके घरों और परिवार के सदस्यों में फैलने से रोका जा सकेगा। साथ ही लोगों को भी यह सीख मिलती है कि हम सभी को कोविड-19 महामारी से लड़ने में अपनी जिम्मेदारी को समझने की जरूरत है। कोरोना को हराने के लिए जरूरी है कि सोशल डिस्टेंसिंग (social distancing) का पालन ज्यादा से ज्यादा किया जाए।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    टिप्स

    • अगर आपके आस पास कोई व्यक्ति SARS-CoV-2 कोरोना वायरस पॉजिटिव निकलता है तो खुद पर बहुत ध्यान दें। कोरोना के लक्षणों की निगरानी और सावधानी से करें। हल्के से भी संकेत मिलने पर बिना देर किए कोरोना टेस्ट कराएं।
    • यदि आप किसी ऐसी जगह से ट्रैवल करके आ रहे हैं जहां पर कोविड-19 महामारी बहुत ज्यादा फैली हुई है तो वापस आने के बाद खुद को 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन करने के साथ-साथ कोरोना की जांच कराएं।

      अगर आप किसी ऐसे इंसान से मिले हैं जो 10 से 12 दिनों के बाद कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया जाता है तो आपको भी कोरोना वायरस की जांच जरूर करवानी चाहिए।

  • एक बात का विशेष ध्यान रखें कि कोरोना पॉजिटिव ज्यादातर लोगों में कुछ खास लक्षण नहीं दिखते हैं। इसलिए, अगर आपको स्वाद या गंध का पता न चले या बेचैनी महसूस हो तो इस सिचुएशन में भी आपको कोविड की जांच करवानी चाहिए।
  • कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण गले में खराश, बुखार, खांसी या सिरदर्द का एहसास हो तो बिना देर किए कोरोना वायरस की जांच करवाएं।
  • और पढ़ें : क्या आपको पता है कि शरीर के इस अंग से बढ़ता है कोरोना संक्रमण का हाई रिस्क

    भारत पहुंचा तीसरे नंबर पर

    भारत में SARS-CoV-2 कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। जिसके चलते हुए भारत विश्व भर में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट्स देखी जाए तो, भारत ने रूस को भी पीछे छोड़ दिया है। भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8 लाख से ऊपर पहुंच गई है। वहीं, लगभग 22 हजार से भी ज्यादा लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

    और पढ़ें : कोविड-19 सर्वाइवर आश्विन ने शेयर किया अपना अनुभव कि उन्होंने कोरोना से कैसे जीता ये जंग

    महाराष्ट्र का है बुरा हाल

    गौरतलब है कि मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का कहर सबसे ज्यादा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि मुंबई में 90 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं, बात की जाए पूरे महाराष्ट्र की तो यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ढाई लाख के करीब जिनमें से 9 हजार से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में लोगों को और अवेयर होने की जरूरत है। लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करने के साथ ही साफ-सफाई पर बहुत ध्यान देने की अपील की जाती है।

    और पढ़ें : कम समय में कोविड-19 की जांच के लिए जल्द हो सकती है नई टेस्टिंग किट तैयार

    हवा में भी कोरोना

    एक ओर जहां कोरोना महामारी रुकने का नाम नहीं ले रही है वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस (CoronaVirus) के हवा में फैलने की बात भी स्वीकार की है। दरअसल, कई देशों के वैज्ञानिकों ने इस बात का दावा किया है कि कोरोना वायरस हवा में फैलता है। खासकर जब कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज सांस छोड़ता, खांसता, छींकता या बात करता है, तो ड्रॉप्लेट्स हवा में फैलते हैं जिससे वायरस भी हवा में संचारित होते हैं। आपको बता दें कि डब्ल्यूएचओ ने पहले इस बात को ख़ारिज किया था, लेकिन अब उसने इसे स्वीकार कर लिया है।

    कुछ ही बीमारियां हैं जो हवा के जरिए फैलते हैं। खसरा (measles) और तपेदिक (tuberculosis) भी ऐसे ही रोग हैं। डब्ल्यूएचओ की नई गाइडेंस के हिसाब से मेडिकल स्टाफ को हवादार कमरे में काम करने के दौरान N95 मास्क के साथ दूसरे सेफ्टी एक्विपमेंट को कैरी करने की सलाह दी जाती है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन (WHO) ने कुछ रिपोर्टों में इंडोर एरिया जैसे कि फिटनेस क्लास, रेस्टोरेंट आदि स्थानों पर कोरोना संक्रमण के हवा में फैलने का दावा किया गया था, जो कि संभव है। विशेष रूप से इंडोर जगहों में कोरोना इन्फेक्टेड व्यक्ति के साथ लंबे समय तक रहने से हो सकता है। हालांकि, संगठन ने यह भी कहा कि इस विषय में और अधिक गहन शोध की आवश्यकता है।

    कोरोना पॉजिटिव के मरीजों की संख्या का ग्राफ बहुत तेजी से ऊपर जा रहा है। ऐसे में दो गज की दूरी और पर्सनल हाइजीन का पूरा ख्याल रखें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 02/08/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement