home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस(coronavirus) का भारत में तीसरा केस पॉजिटिव, अब तक 362 लोगों की ले चुका है जान

कोरोना वायरस(coronavirus) का भारत में तीसरा केस पॉजिटिव, अब तक 362 लोगों की ले चुका है जान

कोरोना वायरस (coronavirus) को लेकर भारत में अब तक एक मामला पॉजिटिव आया था। लेकिन सोमवार को केरल में कोरोना वायरस के कुल तीन पॉजिटिव केस सामने आए हैं। तीसरे व्यक्ति की ट्रेवल हिस्ट्री चीन के शहर वुहान की थी। भारत में कोरोना वायरस के दूसरे मामले का केरल के तिरुवनंतपुरम में पता चला था। आपको बताते चले कि कोरोना वायरस (coronavirus) का पहला पॉजिटिव मामला केरल में ही पता चला था। एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट से रविवार को 323 भारतीयों और सात मालदीव के लोगों को चीन के वुहान शहर से भारत लाया गया था। वुहान से लौंटे ज्यादातर भारतीयों में छात्र थें जो वुहान में पढ़ाई के लिए गए हुए थे। कोरोनो वायरस की समस्या की निगरानी के लिए केंद्र ने टास्क फोर्स का गठन किया है।

कोरोना वायरस (coronavirus) को लेकर केरल में 1600 लोगों को निगरानी में रखा गया है। साथ ही 30 लोगों को अलग हॉस्पिटल में जांच के लिए भेजा गया है। देश के अलग-अलग एयरपोर्ट में बाहर से आने वाले सभी यात्रियों की चैकिंग की जा रही है। आपको बताते चले कि दुनिया के विभिन्न देशों में कोरोना वायरस फैल चुका है। अब तक दुनिया भर में 17,000 से ज्यादा लोग इस इंफेक्शन का शिकार हो चुके हैं। कोरोना वायरस की वजह से अब तक 362 लोगों की जान जा चुकी है।कोरोना वायरस (coronavirus) के खतरे को देखते हुए कुछ समय के लिए इंडोनेशिया ने फूड और बेवरेज इंपोर्ट को रोक दिया है। कोरोना वायरस (coronavirus) के खतरे से बचने के लिए सभी देश अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं।

और पढ़ें : अगर पड़ोस की आंटी या बच्चे दे रहे हैं सोशल डिस्टेंसिंग में दखल तो अपनाएं ये तरीके

न्यू कोरोनावायरस के बारे में भी खबर आ रही हैं। बैंकॉक में चाइनीज महिला न्यू कोरोना वायरस का शिकार हो गई थी। उसके ऊपर एंटी वायरल कॉकटेल का यूज किया गया ताकि फ्लू और एचआईवी से बचाया जा सके। डॉक्टर्स का मानना है कि एंटी वायरल कॉकटेल का यूज करने के बाद वायरल टेस्ट निगेटिव आने लगा।ऐसा 48 घंटों के अंदर हो गया।

कोरोना वायरस(coronavirus) के बारे में ये कहा स्वास्थ्य मंत्री ने

कोरोना वायरस(coronavirus) को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मैं इस विषय पर केरल की स्वास्थ्य मंत्री के साथ लगातार संपर्क में हूं। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि केंद्र सरकार कोरोना वायरस इंफेक्शन से निपटने के लिए केरल सरकार को हर तरह से मदद करेगी। आपको बताते चले कि केरल में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए मलप्पुरम के जिला कलेक्टर जाफर मलिक ने कोरोनो वायरस ((coronavirus) को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की।

कोरोना वायरस(coronavirus) को लेकर संशोधित यात्रा दिशा-निर्देश

चीन यात्रा करने से बचें

  • 15 जनवरी 2020 के बाद चीन की यात्रा करने वाले किसी भी व्यक्ति को अब एकांत में रखा जा सकता है।
  • चीनी पासपोर्ट धारकों के लिए ई वीजा सुविधा को अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया गया है।चीनी नागरिकों को पहले से जारी किया गया वीजा अस्थायी रूप से अमान्य होगा।
  • चीन से वीजा के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की सुविधा को निलंबित कर दिया गया है।
  • अगर किसी के पास भारत आने के लिए ठोस वजह है तो कृपया बीजिंग में भारतीय दूतावास या शंधाई में वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर सकता है।

और पढ़ें : डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी किए ये दिशानिर्देश

कोरोना वायरस (coronavirus) की जानकारी

चीन के शहर वुहान को नोवल कोरोना वायरस (coronavirus) फैलने का केंद्र माना जा रहा है। कोरोना वायरस दुनिया भर में फैल रहा है। भारत में भी अब तक तीन केस कंफर्म हो चुके हैं। नोवल कोरोना वायरस (coronavirus) के सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe Acute Respiratory Syndrome; SARS) के प्रकार का बताया जा रहा है। इस वायरस से ग्रसित लोगों को सामान्य जुकाम से लेकर रेस्पिरेटरी सिस्टम की गंभीर समस्या तक हो सकती है। ये वायरस जानलेवा है। डब्ल्यूएचओ ने नोवल कोरोना वायरस को लेकर एडवाइजरी भी जारी की है। जिन व्यक्तियों को कार्डियोपल्मोनरी रोग ( cardiopulmonary disease) या कमजोर इम्युन सिस्टम है, उन वयस्कों, बूढ़ों और बच्चों में ये वायरस आसानी से प्रवेश कर जाता है। वायरस इंफेक्शन के लक्षण सर्दी-जुखाम का एहसास दिला सकते हैं। डब्लू एच ओ ने जानकारी दी है कि कोरोना वायरस को लेकर अभी तक किसी भी तरह की दवा का निर्माण नहीं किया जा सका है। लोगों के बीच फैल रहे भ्रम को दूर करने के लिए डब्लू एच ओ समय-समय पर सोशल मीडिया के माध्यम से अपडेट उपब्ध करा रही है।

कोरोना वायरस इंफेक्शन होने पर व्यक्ति को निम्न लक्षण महसूस हो सकते हैं।

  • नाक बहने की समस्या
  • हेडएक यानी सिरदर्द की समस्या
  • बार-बार खांसी आना
  • गले में खराश की वजह से परेशानी(sore throat)
  • शरीर का तापमान बढ़ जाना
  • अस्वस्थ्य होने का सामान्य एहसास
  • सांस फूलने या अस्था की समस्या से परेशानी

नोवल कोरोना वायरस से बचाव सावधानी रखने के बाद ही किया जा सकता है। इसके नए टाइप पर साइंटिस्ट शोध में लग गए हैं। अगर आपको संक्रमण के लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। अगर किसी भी व्यक्ति को ये संक्रमण हो चुका है तो पूरी संभावना है कि आसपास के व्यक्ति भी इस संक्रमण से प्रभावित हो जाए। बेहतर होगा कि इंफेक्शन का पता चलते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और लोगों से दूरी बना लें।

  • ज्यादा से ज्यादा आराम करें और अधिक काम बिल्कुल भी न करें।
  • खुद को हाइड्रेटेड रखें। दिन में 10 ग्लास से ज्यादा पानी पिएं।
  • स्मोकिंग व शराब का सेवन बिल्कुल भी न करें। ये सेहत को अधिक खराब कर सकता है।
  • दर्द और बुखार को कम करने के लिए एसिटामिनोफेन, इबूप्रोफेन या नेप्रोक्सेन लें। बिना डॉक्टर की सलाह के मेडिसिन न लें।
  • साफ ह्यूमिडिफायर (humidifier) या कूल मिस्ट वेपोराइजर का इस्तेमाल करें।
  • रेस्पिरेट्री फ्लूइड्स जैसे कि नोज म्युकस और ब्लड सैंपल को टेस्ट के लिए लिया जा सकता है। समय पर जांच कराएं।

जिस तरह से भारत में एक केस तीन केस पॉजिटिव हो चुके हैं, हम सभी भारतीयों को कोरोना वायरस से सावधान रहने की जरूरत है। इंफेक्शन के लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। भारत में जल्द ही लॉकडाउन की बात को लेकर भी चर्चा हो रही है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड