Caffeine : कैफीन क्या है और क्या है कैफीन के फायदे ?

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

परिचय

कैफीन (Caffeine) क्या होता है?

कैफीन एक कैमिकल है जो कि चाय, कॉफी, कोला आदि उत्पादों में पाया जाता है। यह आमतौर पर दिमागी सक्रियता को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए कैफीन के फायदे भी होते हैं।  हालांकि यह दर्द निवारक दवाओं में भी इस्तेमाल किया जाता है। कैफीन एक साइकोएक्टिव (Psychoactive) कैमिकल है, जो सीधा दिमाग को टारगेट करके मूड और व्यवहार पर सीधा असर करता है। वैसे कैफीन के फायदे के साथ-साथ इसके नुकसान भी हो सकते हैं अगर इसका ज्यादा सेवन किया गया तो।

Buttercup: बटरकप क्या है?

उपयोग

कैफीन किस लिए इस्तेमाल किया जाता है? 

आमतौर पर कैफीन का इस्तेमाल निम्न स्थितियों में किया जाता है। इसलिए कैफीन के फायदे भी होते हैं। जैसे- 

कैफीन साइट्रेट सिर्फ डॉक्टरी पर्चे पर इंजेक्शन के रूप में मिल सकता है। इसका इस्तेमाल शॉर्ट टर्म ट्रीटमेंट के लिए किया जाता है जैसे, नवजात को एपनिया (सांस लेने की समस्या)।

कैफीन के फायदे से जुड़े अन्य जानकारी के लिए हेल्थ डॉक्टर से संपर्क करें। 

मुझे कैफीन कैसे लेना चाहिए?

आप डॉक्टर के निर्देशानुसार कैफीन ले सकते हैं। अगर आप बिना डॉक्टरी सलाह के कैफीन ले रहे हैं, तो ध्यान से बोतल के लेबल पर दी हुई जानकारी को पढ़ें। जैसे- डोज की मात्रा और इस्तेमाल आदि।

यह खाने या बिना खाने के साथ लिया जा सकता है। अगर, कैफीन लेने के बाद आपका पेट खराब हो जाता है, तो अच्छा होगा कि आप इसे खाने के साथ ही लें।

इसका सेवन कैसे किया जाए, इस बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

मैं कैफीन को कैसे स्टोर करूं?

कैफीन के फायदे हों इसलिए इसे सीधे रोशनी और नमी से बचाने के लिए रूम टेंपरेचर में रखना ही सबसे ज्यादा बेहतर रहता है। भूल कर भी इसे बाथरूम या फ्रीजर में न रखें। कैफीन के फायदे बरकरार रहें इसलिए इसे ठीक तरह स्टोर करें। बाजार में कैफीन के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं, जिनको अलग तरीके और तापमान में स्टोर करने की जरूरत हो सकती है। स्टोर करने से पहले प्रोडक्ट पैकेज पर दिए दिशा-निर्देशों की बारीकी से जांच करें या मेडिकल वाले से जानकारी लें। सुरक्षा की दृष्टि से बच्चों और पालतू जानवरों को दवा से दूर रखें।

इसे टॉयलेट में फ्लश न करें और न ही नाली में बहाएं। इसलिए, जब यह एक्सपायर हो जाए, तो इसे उचित तरह से फेंकें। इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यह भी पढ़ें : Sunk Cabbage : पत्ता गोभी क्या है?

सावधानियां और चेतावनियां

कैफीन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

कैफीन लेने से पहले कैफीन के फायदे और नुकसान दोनों को समझें। अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको निम्नलिखित परेशानी होती है तो क्योंकि कैफीन के फायदे के साथ-साथ नुकसान भी हो सकते हैं:

  • अगर आपको कैफीन या उसमें पाए जाने वाले किसी भी तत्व से एलर्जी की समस्या है।
  • अपनी सभी दवा के बारे में डॉक्टर को बताएं जैसे हर्बल, जनरल मेडिसिन, और सप्लिमेंट
  • उन दवाओं के बारे में भी सूचित करें जो आप बिना डॉक्टरी सलाह के सेवन कर रहे है।
  • आपको चिंता, घबराहट, अल्सर, अनिद्रा, दौरे (ऐंठन), हृदय रोग तो नहीं।
  • क्या आप प्रेग्नेंट है या होने के बारे में सोच रही है अथवा ब्रैस्ट फीडिंग करा रही है।

क्या गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान कैफीन लेना सुरक्षित है?

अभी इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं हुआ है कि गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान इसे लेने से किस प्रकार का जोखिम हो सकता है। सामान्य लोगों के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं को भी कैफीन के फायदे और नुकसान को समझना चाहिए। 

इसे लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से, इसके फायदे और जोखिम के विषय मे बात करें।

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिस्ट्रेशन ने प्रेगनेंसी के दौरान कैफीन के सेवन को रिस्क कैटेगरी “सी” में रखा है।

यह भी पढ़ें : Tangerine : कीनू क्या है?

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

कैफीन के साइड इफेक्ट क्या हैं?

तुरंत इमरजेंसी हेल्प लाइन नंबर पे फोन करें, यदि आपको कोई गंभीर एलर्जी रिएक्शन हैं। कैफीन के फायदे समझने के बाद इसके नकारात्मक प्रभाव की भी समझें। 

  1. सांस लेने में मुश्किल
  2. सीने में जकड़न
  3. मुंह, चेहरे, होंठ या जीभ में सूजन या दाने, पित्ती या खुजली हो रही हो
  4. दस्त,
  5. उल्टी,
  6. एब्नॉर्मल हार्ट बीट,
  7. छाती में दर्द
  • कैफीन के अन्य सामान्य दुष्प्रभावों में शामिल हैं: नींद न आना (अनिद्रा), घबराहट या चिंता, चिड़चिड़ापन, मितली, सिरदर्द

ये होने वाले साइड इफेक्ट की पूरी लिस्ट नहीं है। इसलिए यह हमेशा ध्यान रखें कैफीन के फायदे के साथ-साथ इसके साइड इफेक्ट के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

हर किसी में इस प्रकार के लक्षण नहीं दिखाई देते, ये दूसरे प्रकार के भी हो सकते हैं। अगर आपके मन मे साइड इफेक्ट को लेकर कोई चिंता या शंका है, तो अपने हेल्थ एक्सपर्ट या डॉक्टर से सपर्क करें।

यह भी पढ़ें : Red Clover: रेड क्लोवर क्या है?

कौन-सी दवाएं कैफीन के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं?

कैफीन अन्य दवाओं के साथ इंटरेक्ट कर सकती हैं, जो आप वर्तमान में ले रहे हैं। ये आपकी दवा के काम करने के तरीके में विपरीत असर डाल सकती है या गंभीर साइड इफेक्ट की स्थिति पैदा कर सकती हैं।

ऐसी किसी भी दवा से बचने के लिए जो कैफीन के साथ इंटरेक्ट कर सकती हैं, आपको सभी दवाओं की लिस्ट बनानी चाहिए, जो आप वर्तमान समय मे ले रहे हैं।

सभी डॉक्टरी पर्चे वाली दवाओं और गैर-पर्चे वाली दवाओं समेत सभी हर्बल उत्पादों के बारे में डॉक्टर और फार्मासिस्ट को सूचित करें। सुरक्षा के दृष्टि से बिना डॉक्टरी सलाह के किसी भी दवा की खुराक को खुद से न ही शुरू करें न रोकें और न ही बदलें।

किनोलोन (QUINOLONES) (उदाहरण के लिए, सिप्रोफ्लोक्सासिन)

  • एफेड्रा
  • गर्भनिरोधक गोलियां
  • एंटीडायबिटिक ड्रग्स

डायबिटीज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कुछ दवाओं में ग्लिमेपीराइड (एमरील), ग्लाइबुराइड (डायबेटा, ग्लीनेज प्रेसटैब, माइक्रोनेज़), इंसुलिन, पियोग्लिटाजोन (एक्टोस), रोसिगैलेजोन (अवांडिया), क्लोरप्रोपामाइड (डायबिनीज), ग्लिपिजाइड (ग्लूकोटरोल) (ग्लूकोल), शामिल हैं।

  • मेक्सीटाइलिन (मेक्सिटिल)
  • एडेनोसिन (एडेनोकार्ड);
  • एंटीबायोटिक्स (क्विनोलोन एंटीबायोटिक्स);
  • क्लोजापाइन (क्लोजरिल
  • डिपिरिडामोल (पर्सेंटाइन);
  • डिसुल्फिरम (एंटाब्यूज);
  • फ्लुवोक्सामाइन (लवॉक्स);
  • लिथियम;
  • अवसाद के लिए दवाएं
  • दवाएं ब्लड क्लॉटिंग को धीमा करती हैं (एंटीकोआगुलेंट / एंटीप्लेटलेट ड्रग्स);
  • पेंटोबार्बिटल
  • फेनिलप्रोपेनॉलमाइन
  • थियोफिलाइन
  • वेरापामिल (कैलन, आइसोप्टिन, वेरेलन)

क्या भोजन या शराब के साथ कैफीन इंटरेक्ट करती है?

ये संभव है कि कुछ खाने पीने की चीजें या शराब के साथ कैफीन लेने से भी साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ जाए। कैफीन शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को अपने खानपान के विषय मे बताएं।

किन हेल्थ कंडिशंस पर कैफीन बुरा असर डाल सकता है?

यह आपकी हेल्थ कंडिशंस पर बुरा प्रभाव डाल सकता है या दवाओं के काम करने के तरीके में भारी बदलाव ला सकता है। अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से इन सभी मेडिकल स्थितियों के बारे में बताएं, जिनसे आप जूझ रहे हैं। इसलिए कैफीन के फायदे के साथ-साथ नुकसान भी हो सकते हैं। जैसे :

  • कैफीन, अन्य दवाओं, खाद्य पदार्थों या दूसरी चीजों से एलर्जी।
  • किसी भी प्रिस्क्रिप्शन या नॉन प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन या हर्बल या फूड सप्लिमेंट लेना।
  • चिंता, घबराहट, लिवर या पेट का अल्सर, अनिद्रा (नींद न आना), दौरे (ऐंठन), या हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंसी का प्लानिंग कर रही हैं या फिर ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं।

यह भी पढ़ें : Pumpkin : कद्दू क्या है?

डोसेज

दी गई जानकारी को मेडिकल एडवाइस के रूप में न समझे। कैफीन का डोज लेने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या फार्मसिस्ट से सलाह लें।

एक एडल्ड के लिए कैफीन की खुराक क्या है?

कैफीन के फायदे के लिए इसकी खुराक समझना जरूरी है। जैसे-

लोडिंग डोज : चार घंटे के अंदर 2 मिलीलीटर/किग्रा नसों में दिया जाता है। अगर मरीज पर रिएक्शन नहीं हुआ है, तो चार घंटे के बाद, दूसरी लोडिंग खुराक दी जा सकती है। अगर दूसरी लोडिंग खुराक के बाद भी कोई ​​रिएक्शन नहीं है, तो ब्लड में इसके स्तर को मापा जा सकता है।

मेंटेनेंस डोज : लोडिंग डोज के बाद शुरुआती 24 घंटो में 0.5-1एमएल/ किग्रा, नसों के जरिए दिया जा सकता है। कुछ मामलों में, मेंटेनेंस डोज 10 mg/kg प्रतिदिन (कैफीन साइट्रेट के रूप में) से ज्यादा खुराक हो सकती है।

एक बच्चे के लिए कैफीन की खुराक क्या है?

कैफीन के फायदे के लिए बच्चों में इसके खुराक को समझें। बच्चों में कैफीन के फायदे हों इसलिए इसके खुराक निम्नलिखित हैं ,

लोडिंग डोज : चार घंटे के अंदर दो मिलीलीटर/किग्रा [2ml/kg IV OVER 30 MIN OR ORAL] नसों में दिया जाता है। अगर मरीज की ​​प्रतिक्रिया नहीं हुई है, तो चार घंटे के बाद, दूसरी लोडिंग खुराक दी जा सकती है। अगर दूसरी लोडिंग खुराक के बाद भी कोई ​​रिएक्शन नहीं है, तो ब्लड में इसके स्तर को मापा जाना चाहिए।

मेंटेनेंस डोज: लोडिंग डोज के बाद शुरुआती 24 घंटों में 0.5-1एमएल/किग्रा नसों के जरिए इसे दिया जा सकता है। कुछ मामलों में, मेंटेनेंस डोज 10 mg/kg प्रतिदिन कैफीन (साइट्रेट के रूप में ) से ज्यादा खुराक हो सकती है।

उपचार तब तक जारी रखा जाना चाहिए, जब तक कि बच्चा 37 सप्ताह की गर्भकालीन आयु तक नहीं पहुंच जाता है। ऐसे में जन्मजात बीमारी का एपनिया (जन्म के दौरान सांस रुक जाने की बीमारी) आमतौर पर हल हो जाती है।

इमरजेंसी या ओवरडोज के केस में मुझे क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आपातकालीन सेवाओं को सूचित करें या किसी हॉस्पिटल या ट्रामा सेंटर में एडमिट हो जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाऊं, तो क्या करूं?

कैफीन की एक खुराक लेना आप भूल गए है, तो इसे समय रहते ले लीजिए। वहीं, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया हो, तो पहली खुराक को स्किप कर दूसरी खुराक ले लीजिए। फिर आगे नियमित रूप से खुराक लेते रहिए।

लेकिन कैफीन की उचित खुराक के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

उपलब्ध

कैफीन कैसे उपलब्ध है?

यह नीचे बताई गई खुराक के रूप में उपलब्ध है :

सॉल्युशन 10 मिलीग्राम/डीएल इंजेक्शन के लिए

कैफीन के फायदे के साथ-साथ इसके नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए इसके सेवन से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें :

Rice Bran Oil: राइस ब्रैन ऑयल क्या है?

सब्जा (तुलसी) के बीज से कम करें वजन और इससे जुड़े 8 अमेजिंग बेनिफिट्स

लौकी खाने के फायदे : दिल से लेकर स्किन को रखे हेल्दी

Celery : अजवाइन क्या है?

Bilberry: बिलबेरी क्या है?

Honey : शहद क्या है?

Share now :

रिव्यू की तारीख जुलाई 4, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया जनवरी 24, 2020

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे