बच्चों की रूखी त्वचा से निजात दिला सकता है ‘ओटमील बाथ’

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

बच्चों की त्वचा को साफ और मॉइस्चराइज रखना बेहद जरूरी होता है। कुछ बच्चे रूखी त्वचा होने की वजह से बहुत चिड़चिड़े हो जाते हैं। वहीं अगर आपके बच्चे की रूखी त्वचा है और आप चाहते हैं कि आपका बच्चा खुश रहे, तो आपको कुछ टिप्स को फॉलो करने होंगे। बच्चों की रूखी स्किन होने पर उन्हें दिन में एक बार नहलाने और दो से चार  बार मॉइस्चराइजिंग क्रीम का इस्तेमाल करने से काफी मदद मिलेगी। खासकर अगर आपके बच्चे की त्वचा बहुत सॉफ्ट और सेंसिटिव है, तो उसे सही देखभाल की जरुरत है। चिलचिलाती धूप, तेज हवा, खारा पानी और क्लोरिनेटेड वॉटर ये सभी आपके बच्चे की रूखी त्वचा का कारण हो सकते हैं। ऐसे में इनका खास ख्याल रखें।

ये भी पढ़ेंः बच्चों को मच्छरों या अन्य कीड़ों के डंक से ऐसे बचाएं

बच्चों की रूखी त्वचा के लक्षण

यह सलाह दी जाती है कि अपने बच्चों में रूखी त्वचा को अनदेखा न करें क्योंकि इससे एलर्जी हो सकती है। हम आपको कुछ टिप्स बताएंगे, जो आपके बच्चों में शुष्क त्वचा से निपटने में मदद कर सकते हैं।

अगर आपके बच्चे की ड्राई स्किन है, तो आपको सूखे पैच दिखाई देंगे। ये पैच न केवल सर्दियों में बल्कि गर्मियों में भी दिखाई देते हैं। रूखी त्वचा के लिए निम्न लक्षणों को पहचाने:

कुछ बच्चों के केवल हाथ पैर रूखे होते हैं। बच्चों की रूखी त्वचा होने की वजह से स्किन पर लालिमा और खुरदरापन देखा जा सकता है।

ये भी पढ़ेंः बच्चों की नींद के पैटर्न को अपने शेड्यूल के हिसाब से बदलें

बच्चों की रूखी त्वचा से निपटने के प्राकृतिक तरीकेः

  • शॉर्ट बाथ देंः  जिन बच्चों की रूखी त्वचा होती है, उनको ज्यादा देर तक नहलाना उनकी स्किन के लिए अच्छा नहीं होता। बच्चों को नहाने में  जितना मजा आता है उतना ही नुकसानदायक ज्यादा देर तक नहाना हो सकता है। रूखी त्वचा वाले बच्चों को हफ्ते में दो से तीन बार नहलाएं।
  • गुनगुने पानी का इस्तेमाल करेंः यह बच्चे की रूखी त्वचा को और रूखा होने से बचाता है।
  • साबुन से दूर रहेंः  बेबी केयर प्रोडक्ट्स खरीदते समय बच्चों के लिए बने हुए साबुन खरीदें। दूसरे साबुन के बजाए एक सौम्य, खूशबु रहित हाइपोएलर्जेनिक क्लीन्जर चुनें। बच्चे को बबल बाथ भी कम दें क्योंकि वे सूखी त्वचा का कारण बन सकते हैं।
  • बच्चे को तौलिएं से न पोछेंः बच्चे की रूखी त्वचा को तौलिए से रगड़ने के बजाय उसको डैब करें। धीरे-धीरे डैब करने से उसकी स्किन ड्राई नहीं होगी।
  • घर का टेम्परेचर ज्यादा गर्म न रखें: गर्म हवा बच्चों की त्वचा से नमी को खिंच लेती है इसलिए अपने घर के अंदर का तापमान मेंटेन रखें।
  • ठंड के मौसम में अपने बच्चे को कवर करेंः मिट्टेेंस और टोपी बच्चे की त्वचा को हवा लगने से बचाते हैं। पेट्रोलियम जेली या इमोलिएंट क्रीम की एक हल्की परत आपके बच्चे के चेहरे को ठंडे दिनों में ड्राईनेस से बचाती है।
  • माइल्ड डिर्टजेंट का इस्तेमाल करेंः बच्चे के कपड़े धोने के लिए माइल्ड डिर्टजेंट का इस्तेमाल करें।  इन बातों का ध्यान रखें यह पहले साल और उसके बाद बच्चों की रूखी त्वचा को बेहतर बनाएगा।

ये भी पढ़ेंः सर्दियों में बच्चों की स्कीन केयर है जरूरी, शुष्क मौसम छीन लेता है त्वचा की नमी

बच्चों की त्वचा रूखी होने से ऐसे बचाएं

  • मॉइस्चराइज करेंः हर बार नहलाने के बाद अपने बच्चे की नम त्वचा पर एक सौम्य, हाइपोएलर्जेनिक लोशन या तेल लगाएं।
  • बच्चे का हाइड्रेटेड रखेंः इसका मतलब है कि अपने बच्चे को ज्यादा से ज्यादा लिक्विड दें। अगर आप उन्हे ड्रिंक्स नहीं दे सकते हैं, तो बार-बार स्तनपान कराएं या अपने बच्चे फॉर्मूला मिल्क दें। हो सकता है आपको अधिक गीले डायपर बदलना पड़ें लेकिन अपनी बच्चे को हाइड्रेटेड रखना उसकी त्वचा के लिए बहुत जरूरी है।
  • ओटमिल बाथ देंः अगर बच्चे को नहलाते हुए उसके पानी में ओटमील ऑयल की एक बूंद डालते हैं, तो यह उनके स्किन के लिए अच्छा होगा। आप एक साफ वॉशक्लॉथ में एक कप दलिया भी लपेट सकते हैं। इसे बांध कर भिगो सकते हैं और फिर इसे बच्चे की रुखी त्वचा पर लगाकर नहला सकते हैं।

अगर बच्चे की रूखी त्वचा पर सूखे पैच और दरारे फैलती हैं या आपके बच्चे को ज्यादा परेशानी लगती हो, तो अपने बाल रोग विशेषज्ञ से बात करें, जो गंभीर रूप से शुष्क त्वचा के लिए कुछ विशेष उपचार विकल्प बता सकते हैं।

और पढ़ेंः

बच्चों के काटने की आदत से हैं परेशान, ऐसे में डांटें या समझाएं?

बच्चों के इशारे कैसे समझें, होती है उनकी अपनी अलग भाषा

बच्चों का पहला दांत निकलने पर कैसे रखना है उनका ख्याल, सोचा है?

बच्चों का लार गिराना है जरूरी, लेकिन एक उम्र तक ही ठीक

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख नवम्बर 29, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 1, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे