Calcium : कैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 1, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

कैल्शियम क्या है?

कैल्शियम एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है, जिये आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। ये दांतों और हड्डियों के स्वास्थय को बनाए रखने के लिए बहुत जरूरी है। मांसपेशियों का निर्माण और उनकी मरम्मत करना इसका प्रारंभिक काम है।

शरीर की लगभग हर कोशिका किसी न किसी तरह से इसका उपयोग करती है। इसको पाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप इससे युक्त भोजन का सेवन करें। कई लोग कैल्शियम सप्लीमेंट का सहारा भी लेते हैं। 99% कैल्शियम हमारे दांतों और हड्डियों में पाया जाता है। बाकी का 1% कैल्शियम नर्व ट्रांसमिशन और मस्कुलर फंक्शन में अहम भूमिका निभाता है।

यही वजह है कि स्वास्थ्य के लिए कैल्शियम बहुत आवश्यक है। दूध, चीज, बींस, ब्रोकली, योगर्ट, ब्राउन राइस, ऑरेंज, पत्ता गोभी, मटर कैल्शियम के अच्छे स्त्रोत हैं।

और पढ़ें : Dexorange Syrup: डेक्सोरेंज सिरप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कैल्शियम से होने वाले फायदे

पथरी:

कुछ लोग कहते हैं प्रोटीन  किडनी स्टोन बनाता है। शोध में इस बात की पुष्टी हुई है कि यह दर्दनाक गुर्दे की पथरी से बचाता है जो शरीर की लाइनिंग तक को नुकसान पहुंचाती हैं।

प्री-मेंस्ट्रुअल सिंड्रोम:

शोध के अनुसार कैल्शियम और विटामिन-डी की कम मात्रा होने पर, एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के साथ कैल्शियम की नकारात्मक प्रतिक्रिया हो सकती है। इससे पीएमएस की समस्या हो सकती है। पीएमएस के पेशेंट्स को डॉक्टर रोजाना 1000 मिलीग्राम कैल्शियम और 1000 से 2000 यूनिट विटामिन डी लेने के लिए कहता है।

ब्लड प्रेशर:

कैल्शियम की नियमित खपत लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। ये हाइपरटेंशन को ठीक करने में भी उपयोगी है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

कैंसर:

एंटीऑक्सीडेंट डाइट कैंसर से बचाती है, लेकिन रिसर्च बताती है कि इसकी उचित मात्रा कोलोरेक्टल, ओवेरियन और ब्रेस्ट कैंसर से निजात दिलाता है।

और पढ़ें – Zenflox Plus Tablet : जेनफ्लॉक्स प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कार्डियोवैस्कुलर डिजीज से बचाए:

कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा लेने पर ह्दय रोगों और उच्च रक्तचाप की आशंका कम होती है। हमारा नर्वस सिस्टम ह्दय और रक्त वाहिकाओं को आपस में जोड़े रखता है। कैल्शियम की कमी से दिल संबंधित परेशानियां और उच्च रक्तचाप हो सकता है।

इन बीमारियों में भी है मददगार:

  • कैल्शियम के कम स्तर की वजह से हमे वाले ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis), रिकेट्स(rickets) और ऑस्टियोमलेसिआ (osteomalacia) के इलाज के लिए
  • प्रेग्नेंसी में होने वाले पैरों में दर्द
  • प्रेग्नेंसी में हाई ब्लड प्रेशर

और पढ़ें – Diclowin Plus Tablet : डाइक्लोविन प्लस टैबलेट प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कैसे काम करता है कैल्शियम?

हमारे शरीर में करीबन 99% कैल्शियम दांतों और हड्डियों में पाया जाता है, लेकिन ये हमारी एक-एक कोशिका के लिए बहुत जरूरी है। नर्व्स से लेकर ब्लड, मसल्स और हार्ट बीट को नियंत्रित करने में ये अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा ये सभी सेल्स के अंदर कई केमिकल रिएक्शन्स में भी मदद करता है।

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन के अनुसार प्रति दिन हमारे शरीर को कैल्शियम की इतनी जरूरत होती है –

  • 50 और उससे कम उम्र की महिलाएं: प्रति दिन 1,000 मिलीग्राम
  • 70 और उससे कम उम्र के पुरुष: प्रति दिन 1,000 मिलीग्राम
  • 50 से अधिक उम्र की महिलाएं: प्रति दिन 1,200 मिलीग्राम
  • 70 से अधिक उम्र के पुरुष: प्रति दिन 1,200 मिलीग्राम

इस बारे में कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है कि कैल्शियम कैसे काम करता है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर और हर्बलिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें – Meganeuron OD Plus Capsule : मेगान्यूरॉन ओडी प्लस कैप्सूल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

कितना सुरक्षित है केल्शियम का उपयोग ?

हाल ही में किए गए कुछ शोध में देखा गया कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने से कुछ लोगों को स्वास्थ्य दिक्कतों का सामना करना पड़ा। हालांकि इसके मिले-जुले निष्कर्ष देखने में आए। एक स्टडी के अनुसार, इस सप्लीमेंट्स से दिल संबंधित परेशानियां होने की संभावना ज्यादा होती है। वहीं कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर इसको विटामिन-डी के साथ लिया जाए तो ये दिल संबंधित होने वाली परेशानियों को रोक सकता है। हालांकि इस पर अभी और शोध होने की जरूरत है।

  • कैल्शियम सप्लीमेंट्स को डॉक्टर की सलाह के बिना बिल्कुल न लें। ये आप पर बुरा असर भी कर सकते हैं। ब्लड में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होने से हाइपरकैल्सीमिआ (hypercalcemia) हो सकता है।
  • ध्यान रखें खाने में और दवा में ले रहे इसकी मात्रा दिन में 1000 मिलीग्राम से 1300 मिलीग्राम तक ही होनी चाहिए।
  • जिन लोगों को गैस्ट्रिक संबंधित परेशानियां हो वो खाली पेट इसका सेवन न करें। एक बार अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।
  • थाइरॉइड पेशेंट्स डॉक्टर से सलाह लिए बिना इसका सेवन करने की गलती न करें।
  • किडनी संबंधित परेशानी है तो भी कैल्शियम सप्लीमेंट्स से दूरी बनाकर रखें।
  • आपको किसी सबटेंस से किसी भी प्रकार की एलर्जी हो तो  इसके उपयोग से पहले, जरूरी बातों और निर्देशों पे ध्यान दें।

और पढ़ें – Dolowin Plus Tablet : डोलोविन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां और चेतावनियां

कैल्शियम का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको कैल्शियम के इस्तेमाल से किसी तरह की एलर्जी है, तो अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करें।
  • अगर, आपको किडनी या पेट से जुड़ी कोई बीमारी है, तो अपने डॉक्टर की देख रेख में ही इसका इस्तेमाल करें।
  • हर्बल सप्लीमेंट के नियम ड्रग्स के दिशा-निर्देशों से काफी आसान होते हैं। हर्बल सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले इससे होने वाले नुकसान के बारे में अच्छे से समझ लें। ज्यादा जानकारी के लिए आप अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

और पढ़ें : Fluoxetine : फ्लुओक्सेटीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान कैल्शियम लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में, इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह करें। हालांकि, यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने प्रेग्नेंसी के दौरान, इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे की ‘सी श्रेणी’ में रखा है।

नीचे एफडीए प्रेग्नेंसी से जुड़ी लिस्ट है :

  • A= कोई जोखिम नहीं
  • B= कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि इसके कोई जोखिम नहीं है
  • C= कुछ जोखिम हो सकते हैं
  • D= जोखिम भरा हो सकता है
  • X= इस बारे में मतभेद है
  • N= कोई जानकारी नहीं है।

और पढ़ें – Saridon: सेरिडॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

कैल्शियम से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • पेट दर्द
  • उल्टी
  • डिप्रेशन
  • डिहाइड्रेशन
  • कब्ज होना

जरूरी नहीं कैल्शियम सप्लीमेंट लेने वाला हर कोई इन साइड इफेक्ट्स का अनुभव करें। कुछ साइड इफेक्ट्स हमारी लिस्ट में नहीं भी हो सकते हैं। साइड इफेक्ट्स यदि आप की चिंता का कारण बना हुआ है तो कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें – Candibiotic Plus Ear Drop: कैंडीबायोटिक प्लस इयर ड्रॉप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

रिएक्शन

कौन-सी दवाएं कैल्शियम के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर आप किसी तरह की दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो उसके साथ कैल्शियम लेने से पहले यह जान लें कि कहीं दोनों का साथ में सेवन से कोई परेशानी तो नहीं होगी। साथ ही, इसके बारे में अपने डॉक्टर से भी बात करें। किसी भी तरह की दवा का इस्तेमाल करने या उन्हें बदलने से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें।

अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को उन दवाओं के बारे में बताएं, जिनका आप इस्तेमाल करते हैं। विशेष रूप से डिगॉक्सिन (लानॉक्सिन), एटिड्रोनेट (डिडरोनेल), फेनिटोइन (दिलांटिन), टेट्रासाइक्लिन (सुमाइसिन) और विटामिन के बारे में। साथ ही, ध्यान रखें कि कभी भी इन दवाइयों को कैल्शियम के साथ न खाएं। दोनों के इस्तेमाल में दो घंटे का अंतर रखें। अगर, कैल्शियम के साथ कोई दवा इस्तेमाल करते हैं, तो कैल्शियम उस दवा के असर को कम कर सकता है।

और पढ़ें – Cholesterol Injection: कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने का इंजेक्शन कम करेगा हार्ट अटैक का खतरा

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ कैल्शियम का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर, किसी भी दवा या एल्कोहॉल के साथ कैल्शियम का सेवन किया जाए, तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए, इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

कैल्शियम खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

कैल्शियम हमारे स्वास्थ्य के साथ तालमेल बनाता है। अगर, आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें हैं, तो यह उसके असर को कम कर सकता है या उसके प्रभाव को उल्टा कर सकता है। अगर आप स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी तरह की स्थिति से गुजर रहें हैं, तो यह बेहद जरूरी है कि इसके बारे में आप अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से बात करें।

और पढ़ें : Glaucoma :ग्लूकोमा क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

डोसेज

कैल्शियम को लेने की सही खुराक

इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

कैल्शियम कार्बोनेट का सेवन अपने डॉक्टर की सलाह से ही करें। उचित खुराक के लिए दवा पर लगे लेबल की जांच करें।

  • भोजन के साथ या भोजन के बिना कैल्शियम कार्बोनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • एक गिलास पानी (8 आउंस/240 एमएल) के साथ कैल्शियम कार्बोनेट लें सकते हैं।
  • कैल्शियम कार्बोनेट लेने से एक घंटे पहले या दो घंटे के अंदर कोई भी एंटासिड का इस्तेमाल न करें।
  • अगर, आप एजोल एंटीफंगल ( केटोकोनैजोल), बिसफॉस्फोनेट्स ( एटिड्रोनेट), कटियन एक्सचेंज रेजिन ( सोडियम पॉलीस्टीरिन सल्फोनेट), सेफलोस्पोरिन ( सेफिनडिर), थ्रोम्बिन अवरोधक ( डैबीगेटरन), आयरन, क्विनोलोंस ( सिप्रोफ्लोक्सासिन), टेट्रासाइक्लिन ( माइनोसाइक्लिन) या थायरॉयड हार्मोन ( लेवोथ्रॉक्सिन) की दवाइयों का सेवन करते हैं, तो कैल्शियम कार्बोनेट के इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें।
  • अगर आप कैल्शियम कार्बोनेट खाना भूल जाते हैं, तो जब भी आपको याद आए आप इसका सेवन कर सकते हैं। दूध के साथ इसका सेवन करने से इसका अधिक प्रभाव देखा जा सकता है। साथ ही, अपने डॉक्टर के बताए नियमों का पालन करें।

अगर कैल्शियम कार्बोनेट के सेवन से जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : Lacitol : लैक्टीटॉल क्या है? जानिए इसका उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में लोकल इमरजेंसी सर्विस नंबर 102 पर कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर कोई कैल्शियम की एक खुराक लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो, तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

और पढ़ें – Neurobion plus tablet : न्यूरोबियन प्लस टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपलब्ध

कैल्शियम को कैसे करूं स्टोर?

कैल्शियम सप्लीमेंट्स को ठंडे और सूखे स्थान में रखना चाहिए। इन्हें सीधे प्रकाश (सन लाइट) और नमी से दूर चाहिए। सिरप को कभी भी फ्रिज में न रखें। लूज सिरप की बोतल में स्टोरेज से जुड़े निर्देशों को ध्यान से पढ़ें। अगर आप चाहे तो अपने फार्मासिस्ट से भी संबंध में जानकारी ले सकते हैं। दवा का बिना समस्या के सेवन करने से दुष्प्रभाव सामने आ सकते हैं।

बेहतर होगा कि कैल्शियम की गोलियों को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें। दवा का यूज न होने पर उसे यूं ही न फेंक दें। बेहतर होगा कि इस बारे में फार्मासिस्ट से जानकारी जरूर लें।

और पढ़ें – Candibiotic Plus Ear Drop: कैंडीबायोटिक प्लस इयर ड्रॉप क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कैल्शियम किस रूप में उपलब्ध है?

मार्केट में कैल्शियम सप्लीमेंट्स और लिक्विड के रूप में उपलब्ध है

ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी ड्रग का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में कैल्शियम से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस दवा का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

बस इस बात का ध्यान रखें कि हर दवा सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। कैल्शियम से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Shelcal Hd: शेलकॉल एचडी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

शेलकॉल एचडी की जानकारी in hindi दवा का डोज, साइड इफेक्ट्स, उपयोग, सावधानी और चेतावनी को जानने के साथ ही जानें किन बीमारी व दवाओं से होता है shelcal hd का रिएक्शन।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Cardivas : कार्डिवैस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए कार्डिवैस की जानकारी, कार्डिवैस इस्तेमाल कैसे लें , कब लें, कितना लें, खुराक, cardivas tablets डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 15, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

विश्व हीमोफीलिया दिवस: हीमोफीलिया को कंट्रोल करने के लिए डायट में करें ये बदलाव

हीमोफीलिया पेशेंट्स डायट: हीमोफीलिया एक आनुवांशिक बीमारी है, जिसका इलाज बहुत मुश्किल है। हीमोफीलिया पेशेंट्स डायट में बदलाव करके अपनी बीमारी को कंट्रोल कर सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona narang
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

विटामिन सप्लीमेंट्स लेना कितना सुरक्षित है? जानें इसके संभावित खतरे

विटामिन सप्लीमेंट्स क्या हैं? कैसे लिए जाते हैं, जानें विटामिन सप्लीमेंट्स के प्रकार in hindi, vitamin suppliments in hindi। कई बार भोजन से कुछ पोषक तत्व नहीं मिल पाते, ऐसे में विटामिन सप्लीमेंट्स लिए जाते हैं, लेकिन अपनी मर्जी से सप्लीमेंट्स लेना क्या सुरक्षित है, जानिए यहां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन फ़रवरी 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

वेजीटेरियन डाइट

वर्ल्ड वेजीटेरियन डे : ये 10 शाकाहारी खाद्य पदार्थ मीट से कहीं ज्यादा ताकतवर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ सितम्बर 4, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Calcimax P, कैल्सिमैक्स पी

Calcimax P: कैल्सिमैक्स पी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 29, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Bio D3 Plu, बायो डी3 प्लस

Bio D3 Plus: बायो डी3 प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 26, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
कैल्सिमैक्स फोर्ट

Calcimax Forte: कैल्सिमैक्स फोर्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें