Calcium : कैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जून 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

जानिए मूल बातें

सामान्य नाम: कैल्शियम

कैल्शियम का उपयोग किस लिए किया जाता है?

कैल्शियम प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला तत्व है, जो खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। कैल्शियम हमारे शरीर के कई सामान्य कार्यों के लिए जरूरी होता है, विशेष रूप से हड्डियों के लिए। कैल्शियम दूसरे खनिजों (जैसे फॉस्फेट) को भी शरीर में मिलाने और बाहर निकालने का काम करता है।

कैल्शियम कार्बोनेट एक सप्लीमेंट है, जिसका इस्तेमाल तब किया जाता है, जब आहार में कैल्शियम की मात्रा कम होने लगती है। कैल्शियम का सेवन एक एंटासिड के रूप में ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम और कैल्शियम सप्लीमेंट के लिए किया जाता है। साथ ही, हाइपोकैल्शिमिया, हाइपरमैग्निशिमिया, हाइपोपैराथायरॉइडिज्म और विटामिन-डी की कमी को पूरा करने और इसके इलाज के लिए भी किया जाता है।

यह काम कैसे करता है इसके बारे में बहुत ज्यादा अध्ययन नहीं किया गया है। अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि, कुछ अध्ययन बताते हैं कि कैल्शियम दिल की पंपिंग शक्ति, मांसपेशियों और हड्ड़ियों के ढ़ांचे, एंजाइम रिएक्शन, नॉर्मल कार्डिएक कॉन्ट्रैक्टिलिटी, खून का जमना, एक्सोक्राइन और नसों कें अंदर खून के बहाव का रखरखाव करता है।

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे शरीर में कैल्शियम की मात्रा घटने लगती है। कैल्शियम की मात्रा और जरूरत लिंग और उम्र के आधार पर अलग-अलग हो सकती है।

हमारी हड्डियां हमेशा टूटती और बनती रहती हैं, जिसके लिए हमें कैल्शियम की जरूरत होती है। शरीर में कैल्शियम की उचित मात्रा होने से हड्डियां मजबूत बनी रहती हैं।

यह भी पढ़ें : Folic Acid : फोलिक एसिड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मुझे कैल्शियम कैसे लेना चाहिए?

कैल्शियम कार्बोनेट का सेवन अपने डॉक्टर की सलाह से ही करें। उचित खुराक के लिए दवा पर लगे लेबल की जांच करें।

  • भोजन के साथ या भोजन के बिना कैल्शियम कार्बोनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • एक गिलास पानी (8 आउंस/240 एमएल) के साथ कैल्शियम कार्बोनेट लें सकते हैं।
  • कैल्शियम कार्बोनेट लेने से एक घंटे पहले या दो घंटे के अंदर कोई भी एंटासिड का इस्तेमाल न करें।
  • अगर, आप एजोल एंटीफंगल ( केटोकोनैजोल), बिसफॉस्फोनेट्स ( एटिड्रोनेट), कटियन एक्सचेंज रेजिन ( सोडियम पॉलीस्टीरिन सल्फोनेट), सेफलोस्पोरिन ( सेफिनडिर), थ्रोम्बिन अवरोधक ( डैबीगेटरन), आयरन, क्विनोलोंस ( सिप्रोफ्लोक्सासिन), टेट्रासाइक्लिन ( माइनोसाइक्लिन) या थायरॉयड हार्मोन ( लेवोथ्रॉक्सिन) की दवाइयों का सेवन करते हैं, तो कैल्शियम कार्बोनेट के इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें।
  • अगर आप कैल्शियम कार्बोनेट खाना भूल जाते हैं, तो जब भी आपको याद आए आप इसका सेवन कर सकते हैं। दूध के साथ इसका सेवन करने से इसका अधिक प्रभाव देखा जा सकता है। साथ ही, अपने डॉक्टर के बताए नियमों का पालन करें।

अगर कैल्शियम कार्बोनेट के सेवन से जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : Lacitol : लैक्टीटॉल क्या है? जानिए इसका उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं कैल्शियम कैसे स्टोर करूं?

कैल्शियम को रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचा कर रखें। कैल्शियम को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में कैल्शियम के अलग-अलग ब्रांड हैं, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग ही हैं। जब भी कैल्शियम खरीदें, सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी-निर्देशों को पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको सभी दवाइयों को बच्चे और जानवरों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए।

बिना-निर्देश के कैल्शियम को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

सावधानियां और चेतावनियां

कैल्शियम का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको कैल्शियम के इस्तेमाल से किसी तरह की एलर्जी है, तो अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करें।
  • अगर, आपको किडनी या पेट से जुड़ी कोई बीमारी है, तो अपने डॉक्टर की देख रेख में ही इसका इस्तेमाल करें।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या फिर प्रेग्नेंट होने की प्लानिंग कर रहीं है या फिर आप ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं, तो इसके इस्तेमाल से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें। अगर आप कैल्शियम के इस्तेमाल के दौरान प्रेग्नेंट होती हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें।
  • हर्बल सप्लीमेंट के नियम ड्रग्स के दिशा-निर्देशों से काफी आसान होते हैं। हर्बल सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले इससे होने वाले नुकसान के बारे में अच्छे से समझ लें। ज्यादा जानकारी के लिए आप अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Fluoxetine : फ्लुओक्सेटीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान कैल्शियम लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में, इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह करें। हालांकि, यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने प्रेग्नेंसी के दौरान, इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे की ‘सी श्रेणी’ में रखा है।

नीचे एफडीए प्रेग्नेंसी से जुड़ी लिस्ट है :

  • A= कोई जोखिम नहीं
  • B= कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि इसके कोई जोखिम नहीं है
  • C= कुछ जोखिम हो सकते हैं
  • D= जोखिम भरा हो सकता है
  • X= इस बारे में मतभेद है
  • N= कोई जानकारी नहीं है।

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

कैल्शियम के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

कब्ज, एनोरेक्सिया, चक्कर आना, उल्टी, पेट फूलना, दस्त लगना जैसे कैल्शियम के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

इसका इस्तेमाल करने वाले सभी में इस तरह के लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर, आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्टस को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें।

यह भी पढ़ें : Cumin Seed : जीरा क्या है?

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं कैल्शियम के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर आप किसी तरह की दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो उसके साथ कैल्शियम लेने से पहले यह जान लें कि कहीं दोनों का साथ में सेवन से कोई परेशानी तो नहीं होगी। साथ ही, इसके बारे में अपने डॉक्टर से भी बात करें। किसी भी तरह की दवा का इस्तेमाल करने या उन्हें बदलने से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर करें।

अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को उन दवाओं के बारे में बताएं, जिनका आप इस्तेमाल करते हैं। विशेष रूप से डिगॉक्सिन (लानॉक्सिन), एटिड्रोनेट (डिडरोनेल), फेनिटोइन (दिलांटिन), टेट्रासाइक्लिन (सुमाइसिन) और विटामिन के बारे में। साथ ही, ध्यान रखें कि कभी भी इन दवाइयों को कैल्शियम के साथ न खाएं। दोनों के इस्तेमाल में दो घंटे का अंतर रखें। अगर, कैल्शियम के साथ कोई दवा इस्तेमाल करते हैं, तो कैल्शियम उस दवा के असर को कम कर सकता है।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ कैल्शियम का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर, किसी भी दवा या एल्कोहॉल के साथ कैल्शियम का सेवन किया जाए, तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए, इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

कैल्शियम खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

कैल्शियम हमारे स्वास्थ्य के साथ तालमेल बनाता है। अगर, आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें हैं, तो यह उसके असर को कम कर सकता है या उसके प्रभाव को उल्टा कर सकता है। अगर आप स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी तरह की स्थिति से गुजर रहें हैं, तो यह बेहद जरूरी है कि इसके बारे में आप अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से बात करें।

यह भी पढ़ें : Glaucoma :ग्लूकोमा क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

खुराक को समझें

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में लोकल इमरजेंसी सर्विस नंबर 102 पर कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर कोई कैल्शियम की एक खुराक लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो, तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार नहीं देता है।

और पढ़ें : Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Cardivas : कार्डिवैस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए कार्डिवैस की जानकारी, कार्डिवैस इस्तेमाल कैसे लें , कब लें, कितना लें, खुराक, cardivas tablets डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 15, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

विश्व हीमोफीलिया दिवस: हीमोफीलिया को कंट्रोल करने के लिए डायट में करें ये बदलाव

हीमोफीलिया पेशेंट्स डायट: हीमोफीलिया एक आनुवांशिक बीमारी है, जिसका इलाज बहुत मुश्किल है। हीमोफीलिया पेशेंट्स डायट में बदलाव करके अपनी बीमारी को कंट्रोल कर सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mona Narang
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

विटामिन सप्लीमेंट्स लेना कितना सुरक्षित है? जानें इसके संभावित खतरे

विटामिन सप्लीमेंट्स क्या हैं? कैसे लिए जाते हैं, जानें विटामिन सप्लीमेंट्स के प्रकार in hindi, vitamin suppliments in hindi। कई बार भोजन से कुछ पोषक तत्व नहीं मिल पाते, ऐसे में विटामिन सप्लीमेंट्स लिए जाते हैं, लेकिन अपनी मर्जी से सप्लीमेंट्स लेना क्या सुरक्षित है, जानिए यहां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन फ़रवरी 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

चावल के आटे के घरेलू उपयोग के बारे में कितना जानते हैं आप?

चावल के आटे के घरेलू उपयोग करके स्किन की समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। चावल के आटे का यूज शहद, खीरे, दूध, आलू का रस आदि के साथ किया जा सकता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन फ़रवरी 11, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Calcimax P, कैल्सिमैक्स पी

Calcimax P: कैल्सिमैक्स पी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 29, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Bio D3 Plu, बायो डी3 प्लस

Bio D3 Plus: बायो डी3 प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 26, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
कैल्सिमैक्स फोर्ट

Calcimax Forte: कैल्सिमैक्स फोर्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
शेलकॉल एचडी

Shelcal Hd: शेलकॉल एचडी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें