Rice Bran Oil : राइस ब्रैन ऑयल क्या है?

By

Update Date जनवरी 13, 2020
Share now

परिचय

राइस ब्रैन ऑयल (Rice Bran Oil) क्या है?

राइस ब्रैन ऑयल चावल की भूसी से तैयार किया जाता है। इसमें विटामिन-ई, प्रोटीन और फैटी एसिड शामिल होते हैं। एशियाई देशों में इसका प्रयोग बहुत ज्यादा किया जाता है। इस तेल की खास बात ये है कि इसमें फैट नहीं होता है। देखने में ये बिल्कुल मूंगफली के तेल जैसा होता है, लेकिन उससे कई गुना ज्यादा फायदेमंद होता है।

राइस ब्रैन ऑयल (Rice Bran Oil) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

इसका इस्तेमाल निम्नलिखित तरह से किया जाता है। जैसे-

कोलेस्ट्रॉल को करें कम:

राइस ब्रैन ऑयल कई तरह के विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। इसमें पाए जाने वाले पॉलीअनसैचुरेटेड फैट सेहत के लिए गुणकारी होते हैं। ये कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।

हॉर्मोन को नियंत्रित करने में है मददगार:

ब्रैन राइस ऑयल में कई पोषक तत्व ऐसे पाए जाते हैं जो हॉर्मोन को संतुलित रखने में मददगार साबित होते हैं। शरीर में अगर हॉर्मोन संतुलित न हो तो कई बीमारियां जैसे मोटापा, पीरियड्स में अनियमिता, अनचाहे बालों की ग्रोथ, पाचन क्रिया में गड़बड़ी जैसी शारीरिक समस्या होने की संभावना बनी रहती है।

दिल को रखे स्वस्थ:

कई रिसर्च के अनुसार इस बात की पुष्टी हुई है कि राइस ब्रैन ऑयल का सेवन करने से ह्रदय रोग के खतरे को कम किया जा सकता है। इस तेल में ओरिजेनॉन नामक पदार्थ होता है जो दिल से संबंधित परेशानियों से राहत दिलाता है। दरअसल इसके  सेवन से कोलेस्ट्रॉल लेवल भी ठीक रहता है। इसलिए इसे दिल के मरीज के लिए लाभदायक माना जाता है।

डायबिटीज रहता है नियंत्रित:

यह शरीर में मौजूद ब्लड शुगर लेवल को ठीक रहने में सहायक होता है और इसके सेवन से टाइप-2 डायबिटीज का खतरा भी कम हो जाता है। इसलिए यह डायबिटीज के पेशेंट के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

कैंसर जैसी बीमारी रहती है दूर:

इस तेल में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट कैंसर से बचाने में मददगार है। जानवरों पर किये गये रिसर्च के अनुसार इसके सेवन से ब्रेस्ट कैंसर, लंग्स कैंसर, ओवरी कैंसर, ब्रेन कैंसर और पैंक्रियाज के कैंसर से बचने में सहायक होता है।

इम्यून सिस्टम होता है स्ट्रॉन्ग:

शरीर को बीमारियों से बचाने में इम्यून सिस्टम अहम भूमिका निभाता है। अगर इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग नहीं होगा तो बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार इस ऑयल के संतुलित मात्रा में सेवन से शरीर फिट रहने के साथ-साथ इम्यून सिस्टम भी स्ट्रॉन्ग होता है।

ऊपर बताई गई बीमारियों के साथ-साथ निम्नलिखित परेशानियों में भी है मददगार:

कैसे काम करता है राइस ब्रैन ऑयल (Rice Bran Oil)?

राइस ब्रैन ऑयल में अनसैपोनीवबल्स (unsaponifiables) मौजूद होता है, जो लीवर में मौजूद सीरम कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। विटामिन-ई और बायोएक्टिव फाइटोन्यूट्रिएंट्स कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को कम करने में मददगार होते हैं। त्वचा के लिए भी ये काफी फायदेमंद होता है। इसमें बायोएक्टिव कंपाउंड (bioactive compound) होते हैं जो एलर्जी से सुरक्षा करने वाली कोशिकाओं को बढ़ाता है। इससे एलर्जी होने का खतरा कम होता है।

ये भी पढ़ें: केल क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है राइस ब्रैन ऑयल (Rice Bran Oil) का उपयोग?

  • राइस ब्रैन ऑयल का इस्तेमाल लिमिटेड मात्रा में लेना तो सुरक्षित है लेकिन इस बारे में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है कि इसकी बड़ी मात्रा कितनी सुरक्षित है?
  • यदि आपको डाइजेस्टिव ट्रैक्ट की समस्या हो, जैसे कि इंटेस्टाइनल अल्सर, एडहेसन, स्लो डायजेसन, दूसरे पेट या इंटेस्टाइनल डिसऑर्डर तो राइस ब्रैन ऑयल का उपयोग करें। राइस ब्रैन में मौजूद फाइबर आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को ब्लॉक कर सकता है।
  • यदि आपको निगलने में परेशानी हो तो राइस ब्रैन के इस्तेमाल में सावधानी बरतें। इसमें मौजूद फाइबर से चोकिंग हो सकती है।
  • आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्ट फीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान गर्भवती मां की इम्यूनिटी काफी कमजोर होती है, ऐसे में किसी भी तरह की दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।
  • आप पहले से ही दूसरी दवाइयां ले रहे हैं या बिना डॉक्टर के प्रिसक्रीप्शन वाली दवाइयां ले रहे हैं।
  • आपको राइस ब्रैन या दूसरी दवाओं या फिर हर्ब्स से एलर्जी है।
  • आपको कोई दूसरी तरह की बीमारी, डिसऑर्डर, या मेडिकल कंडीशन है।
  • आपको किसी तरह की एलर्जी है, जैसे किसी खास तरह के खाने से, डाय से , प्रिजर्वेटिव या फिर जानवर से।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

ये भी पढ़ें: कलौंजी क्या है?

साइड इफेक्ट्स

राइस ब्रैन ऑयल (Rice Bran Oil) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इसके सेवन से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे-

  • राइस ब्रैन ऑयल का सेवन ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है। शुरुआत के कुछ हफ्तों के दौरान किसी किसी को अन प्रेडिक्टेबल बॉवेल मूवमेंट, इंटेस्टाइनल गैस और पेट की परेशानी हो सकती है।
  • राइस ब्रैन ऑयल नहाने में इस्तेमाल करने वाले कुछ लोगों को खुजली और स्किन में रेडनेस की शिकायत हो सकती है।
  • कुछ लोगों को राइस ब्रैन ऑयल से दाने और खुजली की शिकायत देखने को मिली है, लेकिन यह रेयर है।

ये भी पढ़ें: Calendula: केलैन्डयुला क्या है?

डोसेज

राइस ब्रैन ऑयल को लेने की सही खुराक क्या है?

इसे निम्नलिखित तरह से लिया जा सकता है। जैसे-

ये भी पढ़ें: Caffeine : कैफीन क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

यह निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है। जैसे-

  • राइस ब्रैन ऑयल
  • इनकैप्सूलेटेड राइस ब्रैन ऑयल

अगर आप राइस ब्रैन ऑयल से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें :

Astragalus: अस्ट्रागुलस क्या है?

क्यों है बेबी ऑयल बच्चों के लिए जरूरी?

इन हेयर केयर ऑयल के फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

मुंह की समस्याओं का कारण कहीं डायबिटीज तो नहीं?

दिमाग नहीं दिल पर भी होता है डिप्रेशन का असर

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    तनाव और चिंता से राहत दिलाने में औषधियों के फायदे

    औषधियों के फायदे क्या है, तनाव और चिंता में औषधियों के फायदे इन हिंदी, तुलसी, भृंगराज, लेवेंडर, अश्वगंधा, benefits of herbs for stress and anxiety in Hindi.

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Shayali Rekha

    कोरोना वायरस से बचाने के लिए वरदान समान हैं ये जड़ी बूटियां, कुछ तो आपकी किचन में ही हैं मौजूद

    कोरोना वायरस से बचाव के लिए जड़ी बूटियां का सेवन करें। इस लेख में कुछ ऐसी चमत्कारीक जड़ी बूटियों के बारे में जानें,जो शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाने में मददगार हैं। ayurvedic tips for corona

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Mona Narang

    वजन कम करने से लेकर बीमारियों से लड़ने तक जानिए आयुर्वेद के लाभ

    आयुर्वेद का लाभ के साथ आयुर्वेदिक पद्दिति की जानकारी। मानव शरीर के लिए है कितना उपयोगी, इसका सेवन करन से कैसे रहा जा सकता है स्वस्थ।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Satish Singh

    लो बीपी कंट्रोल के उपाय अपनाकर देखें, मिलेगी राहत

    लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय अपनाकर लो बीपी की समस्या से बचा जा सकता है। लो बीपी की समस्या के कारण शरीर को गंभीर नुकसान भी हो सकते हैं।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Bhawana Awasthi

    Recommended for you

    ओसवेगो चाय - Oswego Tea

    Oswego Tea: ओसवेगो चाय क्या है?

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Bhawana Sharma
    Published on मई 15, 2020
    Shilajit-शिलाजीत

    Shilajit: शिलाजीत क्या है?

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Ankita Mishra
    Published on मई 14, 2020
    कैलिया जकाटेचिचि

    Calea Zacatechichi: कैलिया जकाटेचिचि क्या है?

    Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
    Written by shalu
    Published on मई 12, 2020
    Miracle Fruit-मिरेकल फ्रूट

    Miracle Fruit: मिरेकल फ्रूट क्या है?

    Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
    Written by shalu
    Published on मई 12, 2020