Dyshidrotic Eczema: डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट दिसम्बर 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा क्या है?

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा या डिसहाइड्रियॉटिक त्वचा से संबंधित समस्या है। इसमें पैर के तलवों और हाथ की हथेलियों पर छाले निकल जाते हैं। जिसमें खुजली होती है और छालों में फ्लूइड भर जाता है। ये छाले मौसमी एलर्जी के कारण होते हैं और दो से चार हफ्तों में ठीक हो जाते हैं।

कितना सामान्य है डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होना?

यह बहुत सामान्य है। डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज्यादा होता है। खुद से इलाज न करें और ज्यादा जानकारी और सही इलाज के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – Diarrhea: डायरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लक्षण

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के क्या लक्षण हैं?

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा में होने वाले छाले अंगुलियों और हथेलियों के साइड में होते हैं। कभी-कभी पैर के तलवों को भी ये प्रभावित करते हैं। ये छाले पेंसिल के नोक जितने बड़े होते हैं। कुछ मामलों में छोटे छाले आगे चल कर बड़े छाले के रूप में बदल जाते हैं। जिसमें खुजली के सात दर्द भी होता है। तीन हफ्तों में ये छाले सूख जाते हैं और त्वचा से झड़ जाते हैं। लेकिन छाले के आधार पर त्वचा लाल हो जाती है। डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा महीनों या साल में कई बार हो जाते हैं। इसके अलावा डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के ज्यादा लक्षणों की जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर आप में ऊपर बताए गए लक्षण सामने आ रहे हैं तो डॉक्टर को दिखाएं। साथ ही डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा से संबंधित किसी भी तरह के सवाल या दुविधा को डॉक्टर से जरूर पूछ लें। क्योंकि हर किसी का शरीर डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के लिए अलग-अलग रिएक्ट करता है।

कारण

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने के कारण क्या हैं?

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने का सटीक कारण क्या है इसकी जानकारी नहीं है। डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के लिए एक्सपर्ट मानते हैं कि सीजनल एलर्जी जिम्मेदार होती है, जैसे- हे फीवर। डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा में छाले अक्सर बसंत ऋतु में होते हैें।

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का खतरा निम्नलिखित कारणों से बढ़ सकता है। जैसे-

  • परिवार या ब्लड रिलेशन में डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होना। 
  • किसी मेडिकल कंडीशन के कारण भी डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का खतरा बढ़ सकता है। 
  • अत्यधिक गर्मी या तापमान बढ़ने के कारण डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होना
  • अत्यधिक तनाव के कारण भी डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने की संभावना ज्यादा होती है। 
  • जरूरत से ज्यादा हाथ और पैर पानी में भीगे हुए होना।

बच्चों में डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा

एक्जिमा और एटॉपिक डर्मेटाइटिस वयस्कों के मुकाबले बच्चों में अधिक सामान्य होता है। करीब 10 से 20 प्रतिशत बच्चे एक्जिमा के किसी न किसी प्रकार से ग्रस्त होते हैं। इसके अलावा आधे से ज्यादा बच्चों में वयस्कों की उम्र तक डर्मेटाइटिस और एक्जिमा बढ़ जाता है।

इसके विपरीत डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा बच्चों से ज्यादा वयस्कों को प्रभावित करता है। यह आमतौर पर अधिक उम्र में होने वाला एक्जिमा है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें: Quiz: खेलें और जानें किन कारणों से बढ़ सकता है पीलिया का खतरा

जोखिम

कैसी स्थितियां डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के जोखिम को बढ़ा सकती हैं?

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के कई रिस्क फैक्टर हैं, जैसे :

  • डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा उन्हें ज्यादा होता है जो शारीरिक और भावनात्मक रूप से तनाव में होते हैं।
  • कोबाल्ट और निकिल के संपर्क में आने पर डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने का जोखिम बढ़ जाता है।
  • अगर आपकी त्वचा सेंसटिव है तो डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के कारण छालों के साथ रैशेज भी हो जाते हैं।
  • डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा कुछ समय के बाद एटॉपिक एक्जिमा में बदल जाता है।

और पढ़ें – Eczema (teen and adult): एक्जिमा क्या है?

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का निदान कैसे किया जाता है?

कुछ मामलों में डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का पता त्वचा को देख कर ही लग जाता है। लेकिन, कुछ अन्य मामलों में डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का पता लगाने के लिए डॉक्टर कुछ टेस्ट भी कराते हैं। जरूरत पड़ने पर त्वचा की बायोप्सी भी होती है। ताकि किसी भी तरह का फंगल इंफेक्शन का पता लगाया जा सके। अगर डॉक्टर को लगता है कि डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने का कारण एलर्जी है तो एलर्जी स्किन टेस्ट कराते हैंं।

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का इलाज कैसे होता है?

डर्मेटोलॉजिस्ट यानी कि त्वचा रोग विशेषज्ञ डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का निम्न तरीकों से इलाज करते हैं :

दवाओं से या मेडिकल ट्रीटमेंट से

कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम या मलहम लगा कर डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का इलाज किया जाता है। जरूरत पड़ने पर डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के इलाज के लिए कॉर्टिकोस्टेरॉइड का इंजेक्शन और पील्स दी जाती है।

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा के इलाज के लिए अन्य ट्रीटमेंट का प्रयोग किया जाता है।

  • यूवी लाइट ट्रीटमेंट
  • बड़े छालों का फ्लूइड बहा कर
  • एंटीहिस्टैमिन्स के द्वारा
  • खुजली को ठीक करने वाले मलहम से
  • इम्यून-सप्रेसिंग मलहम लगा कर
  • इसके अलावा अगर आपको इंफेक्शन है तो साथ में एंटीबायोटिक्स भी दी जाती है।

ओवर दि काउंटर

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का असर अगर कम है तो आप क्लैरिटिन या बेनाड्रिल की मदद से इस समस्या को कम कर सकते हैं।

घरेलू इलाज

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा में खुजली को कम करने के लिए बर्फ से सेकाईं कर सकते हैं। सेकाईं के बाद डॉक्टर मलहम लगाने के लिए कहते हैं। खुजली वाले स्थान पर आप निम्न मॉस्चराइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं :

डायट

डायट में बदलाव कर के डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा को ठीक किया जा सकता है। आप अपने खाने में विटामिन ए को शामिल कर के डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा का इलाज कर सकते हैं। इसके साथ ही उन फूड्स को न खाएं जिससे आपको एलर्जी होती है, जैसे- निकिल या कोबाल्ट।

पैर का इलाज

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा अगर पैर के तलवों में होते हैं तो आप पैरों की सफाई का विशेष ध्यान रखें। जिससे छालों में संक्रमण का जोखिम कम हो जाता है।

इसके अलावा छालों को खुजलाने से बचें। वरना स्क्रैच हो सकते हैं। साथ ही आपको खुजली करने के बाद अपने हाथों को अच्छे से धुल लेना चाहिए।

और पढ़ें – कई तरह की होते हैं त्वचा रोग (Skin disease), जानिए इनके प्रकार

घरेलू उपचार

जीवनशैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा होने का सटीक कारण नहीं पता है तो रोकथाम ही सबसे बेहतर इलाज है। सबसे मुख्य बात यह है कि आपको अपने त्वचा की अच्छे तरीके से देखभाल करनी चाहिए। जैसे :

  • हाथों को क्लीनजर लगा कर गुनगुने पानी से धुलें और अच्छे से पोछ कर सुखा लें।
  • मॉस्चराइजर का नियमित रूप से प्रयोग करें
  • दस्ताने पहनें (हाथों और पैरों को ढ़क कर रखें)

इसके अलावा इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या है या आप किसी तरह के सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Daflon: डैफलॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डैफलॉन की जानकारी in hindi इसके डोज, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां और चेतावनी जानने के साथ दवा और बीमारियों को लेकर होने वाले रिएक्शन जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

10 किचन ब्यूटी सीक्रेट जिसमें छुपा है खूबसूरती का राज

आपके किचन में ढेर सारी ऐसी चीज़ें रखी हैं जिनमें आपकी खूबसूरती का राज छिपा है। इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहे हैं कुछ किचन ब्यूटी सीक्रेट्स के बारे में।

के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

क्या परफ्यूम आपकी सेहत के लिए हानिकारक है?

परफ्यूम के नुकसान की बात करें तो इसमें इतने कैमिकल्स होते हैं कि उससे शारीरिक परेशानी हो सकती है, वहीं कंपनियां तमाम कैमिकल्स की जानकारी भी नहीं देती। इस आर्टिकल में जानिए परफ्यूम के नुकसान।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

खाने से एलर्जी और फूड इनटॉलरेंस में क्या है अंतर, जानिए इस आर्टिकल में

किन खाद्य पदार्थ से हो सकती है खाने से एलर्जी, क्या खाए और क्या न खाएं? जाने से सेहत से जुड़ी हर जरूरी बात ताकि फूड एलर्जी से कर सकें बचाव।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन अप्रैल 23, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

विटिलिगो के घरेलू उपाय

क्या सफेद दाग का इलाज संभव है, जानें विटिलिगो के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 12, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
डर्मिकेम ओसी क्रीम

Dermikem OC Cream : डर्मिकेम ओसी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
क्लोबेन जी क्रीम

Cloben G Cream : क्लोबेन जी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 10, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
बेकन प्लस

Becon Plus: बेकन प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 26, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें