backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Calcitriol: कैल्सिट्रिऑल क्या है ? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Mayank Khandelwal


Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/10/2020

Calcitriol: कैल्सिट्रिऑल क्या है ? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

कैल्सिट्रिऑल विटामिन डी मेटाबोलाइट (विटामिन डी3) है, जिसका इस्तेमाल इन समस्याओं के लिए किया जाता है जैसे :

  • हाइपरपैराथाइरॉइडिस्म (ओवरएक्टिव पैराथाइरॉइड ग्रंथि) और पुराना किडनी फेलियर के साथ मेटाबॉलिक बोन डिसीज से पीड़ित मरीज और जिन लोगों में डायलसिस ठीक से कार्य नहीं कर पाता।
  • लोगों में कैल्शियम की कमी (हाइपोकैल्सीमिया) और मेटाबॉलिक बोन डिसीज जिनमें डायलिसिस सही से कार्य नहीं कर पाता या फिर सर्जरी, बीमारी या अन्य स्थिति के कारण हाइपोपैराथाइरॉइडिस्म (अंडरएक्टिव पैराथाइरॉइड ग्रंथि)।

कैल्सिट्रिऑल अन्य स्थितियों के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है जो ऊपर नहीं बताई गई हैं।

मैं कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) को कैसे इस्तेमाल करूं?

थोड़े से पानी के साथ इस कैप्सूल को लें, आमतौर पर इसे दिन में एक बार या फिर रोजाना सुबह खाने के साथ या खाने के बिना लिया जाता है। 

पर्चे पर दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें और अगर जानकारी का कोई भी हिस्सा आपको समझ नहीं आता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें। कैल्सिट्रिऑल आपकी स्थिति को नियंत्रित करने में मदद करता है लेकिन, उसे ठीक नहीं करता। अगर आपकी स्थिति सुधर जाती है तब भी कैल्सिट्रिऑल को लगातार लेते रहें। बिना डॉक्टर की सलाह से कैल्सिट्रिऑल लेना बंद न करें।

ये भी पढ़ें : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) को कैसे स्टोर करूं?

अच्छा होगा अगर आप कैल्सिट्रिऑल को घर के तापमान में ही रखें और सीधी रोशनी व नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए, आपको कैल्सिट्रिऑल को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना चाहिए। कैल्सिट्रिऑल के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं जिनको स्टोर करने की जरूरतें अलग हो सकती हैं। इसलिए आवश्यक है कि आप उसे खरीदने से पहले उत्पाद पर लिखी संग्रह करने की जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ लें या फिर फार्मासिस्ट से इसकी जानकारी लें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाइयां बच्चों और जानवरों से अलग रखनी चाहिए।

आपको कैल्सिट्रिऑल टॉयलेट या किसी सीवर में नहीं डालनी चाहिए तब तक जब तक डॉक्टर आपको सलाह न दे। आवश्यक है कि आप पूरी तरह से दवाई को खत्म कर दें अगर वो एक्सपायर हो गयी है या किसी काम के लायक नहीं रही है। इसे सुरक्षित व सही तरह से खत्म करने के लिए एक बार अपने फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

यह भी पढ़ें- बड़े ब्रांड्स की 27 दवाइयां हुईं क्वॉलिटी टेस्ट में फेल

कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं अगर आपको :

  • कैल्सिट्रिऑल, विटामिन डी के अन्य रूप जैसे कैल्सीफेडिओल (काल्डेरोल), डीहाइड्रोटाकेस्टरोल (हाइटकेरोल, डीएचटी), डॉक्सरकैल्सिफेरोल (हेक्टोरोल), एरगोकैल्सिफेरोल (डिरिसड्रोल, कैल्सिफेरोल), पैरिकैल्सिटोल (जेमप्लर) या अन्य दवाइयां या विटामिन से एलर्जी है।
  • अभी सर्जरी हुई है या फिर किसी वजह से चलने-फिरने में परेशानी है।
  • किडनी या लिवर की बीमारी है या पहले हो चुकी है।
  • गर्भवती हैं, गर्भवती होने की योजना बना रही हैं या स्तनपान करना शुरू करेंगी या स्तनपान करा रही है।
  • सर्जरी होने वाली है जैसे दांतों की सर्जरी

अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं अगर आप निम्नलिखित दी गयी कोई दवा ले रहे हैं :

  • विटामिन डी युक्त अन्य दवाएं।
  •  डायूरेटिक्स को “वाटर टेबलेट्स’ भी कहते हैं (हाई ब्लड प्रेशर का इलाज करने के लिए किया जाता है). इसमें बेंडरोफ्लूमीथाईज़ीड, क्लोरटालीडोन और इंडापामिड़ होता है.
  • दवाइयां जैसे डाइजॉक्सिन या डिजिटोक्सिन (ह्रदय की बीमारी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है)।
  • दवाइयां मैग्नीशियम युक्त जैसे एंटासिड (बदहजमी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती हैं)
  • कोलेस्टेरामाइन या अन्य “इओन- एक्सचेंज रेसिंस’ (ब्लड में कोलेस्ट्रॉल के अत्यधिक स्तर के इलाज के लिए इस्तेमाल होती हैं)
  • फोस्फेट (डॉक्टर द्वारा रक्त में फॉस्फेट के स्तर को मापने की जरूरत पड़ सकती है).

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान या स्तनपान कराने के दौरान कैल्सिट्रिऑल इस्तेमाल करने से होने वाले जोखिम के ऊपर ऐसी कोई स्टडी अभी मौजूद नहीं है। कृपया आप कैल्सिट्रिऑल के इस्तेमाल से होने वाले लाभ और होने वाले नुकसान के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें। यूएस फूड और ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार कैल्सिट्रिऑल प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण सी में आती है। एफडीए प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण निम्नलिखित है:

  • ए = कोई जोखिम नहीं
  • बी = कुछ स्टडी में कोई जोखिम नहीं
  • सी = कुछ जोखिम हो सकता है
  • डी = जोखिम के सकारात्मक सबूत
  • एक्स = निषेध
  • एन = कोई जानकारी नहीं

कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) के क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

डॉक्टर से बात करें, अगर कैल्सिट्रिऑल लेने के बाद आपको निम्नलिखित कोई लक्षण अनुभव होते हैं :

  • रक्त में कैल्शियम के अधिक मात्रा की वजह से भूख कम लगना, वजन कम होना, बीमार पड़ना, सिर दर्द और सुस्ती महसूस होना, आलस या कमजोरी, शरीर का तापमान बढ़ना (बुखार), प्यास लगना, पानी की कमी होना, बिस्तर गीला करना, कब्ज, पेट दर्द,  स्टूल पास न होना और असामान्य दिल की धड़कन।
  • किडनी के कार्य करने में बदलाव होना (ये लक्षण ब्लड टेस्ट में दिखाई देना)।

हर कोई इन साइड इफेक्ट्स को अनुभव नहीं करता। कुछ ऐसे साइड इफेक्ट्स भी है जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। अगर आपको किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नजर आता है तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

कौन सी दवाएं कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

कैल्सिट्रिऑल का इस्तेमाल साथ में ली जाने वाली दवाओं के साथ नहीं करना चाहिए, इससे दवाओं के कार्य करने में बदलाव आ सकता है या गंभीर साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है। किसी भी दवा के गलत प्रभाव को रोकने के लिए, आपको इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की एक सूची बनाकर रख लेनी चाहिए (जिनमें डॉक्टर के पर्चे की दवाएं, बिना सलाह वाली दवाएं और हर्बल उत्पाद शामिल हैं) और फिर उसे डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ साझा करें। आपकी सुरक्षा के लिए, बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी दवा अपने आप शुरू, बंद या खुराक में बदलाव न करें।

  • विटामिन डी युक्त अन्य दवाएं।
  • डयूरेटिक्स को “वाटर टेबलेट्स’ भी कहते हैं (हाई ब्लड प्रेशर का इलाज करने के लिए किया जाता है). इसमें बेंडरोफ्लूमीथाईजीड, क्लोरटालीडोन और इंडापामिड़ होता है।
  • दवाइयां जैसे डिगोक्सिन या डिजिटोक्सिन (ह्रदय की बीमारी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है)।
  • दवाइयां मैग्नीशियम युक्त होती हैं जैसे एंटासिड (बदहज़मी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाती है)
  • कोलेस्टेरामाइन या अन्य “इओन- एक्सचेंज रेसिंस’ (ब्लड में कोलेस्ट्रॉल के अत्यधिक स्तर के इलाज के लिए इस्तेमाल होती है)।

ये भी पढ़ें : नॉरफ्लोक्स टीजेड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, खुराक और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

कैल्सिट्रिऑल दवा के काम करने के तरीके को बदलकर या गंभीर दुष्प्रभावों के लिए जोखिम को बढ़ाकर भोजन या एल्कोहॉल के साथ गलत प्रभाव डाल सकती है। इस दवा को लेने से पहले भोजन या एल्कोहॉल के साथ किसी भी तरह के सही परिणाम नहीं दिखाई देते हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

कैल्सिट्रिऑल आपकी स्वास्थ्य स्थिति पर गलत प्रभाव डाल सकती है। यह प्रभाव आपकी स्वास्थ्य स्थिति को बिगाड़ सकता है या फिर दवाई के कार्य करने के तरीके को कम कर सकता है। जरूरी है कि आप अपनी स्वास्थ्य स्थिति को डॉक्टर और फार्मासिस्ट को जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें- सेंसर की हेल्प से टीबी पेशेंट ले सकेंगे मेडिसिन

डॉक्टर की सलाह

कैल्सिट्रिऑल (calcitriol) कैसे उपलब्ध है?

कैल्सिट्रिऑल खुराक के रूप में और उसके प्रभाव के रूप में उपलब्ध है : 0.25 एमसीजी और 0.5 एमसीजी कैप्सूल।

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाएं तो क्या करना चाहिए?

अगर कैल्सिट्रिऑल की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। 

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Mayank Khandelwal


Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 15/10/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement