प्रेग्नेंसी प्लानिंग के पहले कर लें ये 7 काम

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट August 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

किसी भी कपल को बच्चा कब चाहिए, उसके लिए आजकल के लोग काफी प्लानिंग करने लगे हैं, जो कि अच्छी बात है। एक सही प्लानिंग के साथ अगर परिवार की शुरुआत की जाए, तो भविष्य में दिक्कतें होने की आशंका कम रहती है और आप ये तय कर पाते हैं कि आपको आगे किस तरीके से अपने परिवार की शुरुआत करनी है।

यदि आप प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रही हैं तो आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना है। गर्भधारण करने से पहले बॉडी को इसके लिए तैयार करने की जरूरत होती है। हम कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें प्रेग्नेंसी से पहले करना जरूरी है। ताकि नौ महीने का पीरियड आसानी से गुजर सके और आप और शिशु स्वस्थ रहे।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले एक्सरसाइज करना शुरू करें

प्रेग्नेंसी से पहले यदि आप अपनी बॉडी को एक्टिव रखती हैं तो यह फायदेमंद रहेगा। रोजाना 30 मिनट एक्सरसाइज करने का लक्ष्य रखें। इसमें ज्यादा भारी भरकम एक्सरसाइज करने की जरूरत नहीं है। वॉकिंग, साइकल चलाना और स्विमिंग का चुनाव कर सकती हैं। इसके अलावा आप प्रीनेटल एक्सरसाइज क्लास भी ज्वॉइन कर सकती हैं। नियमित एक्सरसाइज से हार्ट स्ट्रॉन्ग होने के साथ ही मसल्स भी टोन होती हैं और बॉडी लचीली बनती है। जो प्रेग्नेंसी के दौरान मददगार होती है।

गायनोकोलॉजिस्ट के पास जरूर जाएं

यदि यह आपकी पहली प्रेग्नेंसी है या आप 35 वर्ष की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो ऐसी स्थिति में समय पर गायनोकोलॉजिस्ट के पास जाना जरूरी है। विगत समय में एंडोक्राइन से जुड़ी समस्या या अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं गर्भधारण में परेशानी बन जाती हैं। इससे फर्टिलिटी भी प्रभावित हो सकती है। ऐसे में गायनेकोलॉजिस्ट गर्भधारण करने के सुरक्षित तरीके के बारे में बता सकतीं हैं।

और पढ़ें : गायनोकोलॉजिस्ट के पास जाने से पहले जान लें ये बातें

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले फैमिली मेडिकल हिस्ट्री जानें

प्रेग्नेंट होने से पहले परिवार की मेडिकल हिस्ट्री जानना बेहद ही जरूरी होता है। इससे पता चलता है कि आपके परिवार में जेनेटिक डिसऑर्डर की पृष्ठभूमि तो नहीं है। यदि परिवार में किसी महिला को फर्टिलिटी से संबंधित कोई समस्या आई है तो उससे जानकारी मांगे कि उसने कैसे गर्भधारण किया। इसके साथ ही पिता के परिवार के बारे में भी जानकारी जुटाने की कोशिश करें।

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले सही डायट लें

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि खान-पान सही रहे। डायट में प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और फोलिक एसिड पर्याप्त मात्रा में रहे। फ्रिज में हमेशा फल, नट्स, सब्जियां, हरी पत्तेदार सब्जियां जरूर रखें। इसके अलावा साबुत अनाज और कम फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट भी डायट में शामिल करें। जंक फूड को अवॉयड करें।

और पढ़ें : क्या प्रेग्नेंसी में सपने कर रहे हैं आपको प्रभावित? तो पढ़ें ये आर्टिकल

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले फोलिक एसिड लें

फोलिक एसिड गर्भधारण करने से पहले और बाद में काफी अहम होता है। ज्यादातर जन्मदोष इसकी कमी के चलते होते हैं। न्यूरल डिफेक्ट भी इसी की कमी के चलते होता है।

कई मामलों में भ्रूण में जन्मदोष आपको प्रेग्नेंसी के बारे में पता चलने से पहले ही हो जाते हैं। इसके लिए अपने डॉक्टर से जरूर बात करें। फोलिक एसिड आमतौर पर हरी पत्तेदार सब्जियों और बीन्स में मिलेगा लेकिन, इनसे अतिरिक्त जरूरत की भरपाई नहीं हो सकती।

और पढ़ें : जानिए गर्भावस्था के बाद सेक्स कब करना चाहिए? प्रसव के बाद सेक्स के बारे में पाएं पूरी जानकारी

प्रेग्नेंसी प्लानिंग से पहले वजन मॉनिटर करें

प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने से पहले आपको अपने वजन पर निगाह बनाए रखनी है। कई बार ज्यादा पतली महिलाओं के लिए गर्भधारण करना मुश्किल होता है। अत्यधिक वजन भी डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकता है। इसकी वजह से डिलिवरी के दौरान परेशानियां आ सकतीं हैं। ऐसी स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें और उनसे पूछें कि आपका वजन कितना होना चाहिए।

और पढ़ें : क्या प्रेग्नेंसी के दौरान वजन कम करना सुरक्षित है?

गर्भ कंट्रोल को निकलवा लें

प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने से पहले यदि आपने हिडन बर्थ कंट्रोल जैसे आईयूडी लगवाई है तो ऐसे में सबसे बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर की मदद से इसे निकलवा दें। इन बर्थ कंट्रोल को निकालते वक्त हार्मोंस में भी बदलाव आ सकते हैं। यदि आपको इस दौरान कुछ असामान्य महसूस होता है तो तत्काल अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने से पहले ये तैयारियां आपको हेल्दी प्रेग्नेंसी में मदद कर सकती हैं। इसके साथ ही बेहतर होगा कि अगर आप प्रेग्नेंट होने की जानकारी मिलते ही डॉक्टर या गायनेकॉलोजिस्ट से संपर्क करें और उनकी सलाह पर अमल करें।

ये तो थे प्रेग्नेंसी प्लानिंग करने से पहले किए जाने वाले काम। अब जानिए कि जब आप प्रेग्नेंट हो जाएं, तो शुरुआत में किन बातों का ध्यान रखें।

सामान्यतः गर्भधारण के कम से कम 4 हफ्तों के बाद ही प्रेग्नेंसी का पता चल पाता है, जिसे पता करने के लिए आप मार्केट में मौजूद प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल कर सकती हैं। लेकिन, सबसे जरूरी बात यह है कि गर्भधारण आपके मासिक धर्म के दो सप्ताह बाद होता है। इसलिए, प्रेग्नेंसी वीक 1 के दौरान चिंता की कोई बात नहीं है।

हालांकि, यदि आप अपनी प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही हैं, तो कुछ बातों को आपको ध्यान में रखना चाहिए। जैसे, गर्भधारण की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए आपको इंटरकोर्स की फ्रींक्वेंसी को बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए।

और पढ़ें : Pregnancy 10th Week : प्रेग्नेंसी वीक 10, जानिए लक्षण, शारीरिक बदलाव और सावधानियां

प्रेग्नेंट होने पर इन बातों का ध्यान रखना है जरूरी

  • आपको शराब के सेवन से बचना चाहिए और गर्भाशय में शिशु के विकास के लिए जरूरी प्री-नेटल विटामिन्स के लिए अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।
  • आपकी पिछली माहवारी की शुरुआत को प्रेग्नेंसी वीक 1 माना जाता है।
  • मासिक धर्म की शुरुआत के दो हफ्तों के बाद ओवरी मैच्योर एग रिलीज करती है, जिसे ओव्यूलेशन या ओव्यूलेटरी फेज कहा जाता है। हालांकि, ओव्यूलेशन का समय पिछले मासिक धर्म की अवधि पर निर्भर करता है। लेकिन, आमतौर पर मासिक धर्म की अवधि 28 से 32 दिनों की होती है और माहवारी के 14वें से 16वें दिन के बीच ओव्यूलेशन होता है।
  • रिलीज होने के बाद एग फैलोपियन ट्यूब से होता हुआ आपके गर्भाशय की ओर जाता है। पुरुष साथी के स्पर्म फैलोपियन ट्यूब में ही एग से मिलते हैं और गर्भधारण की प्रक्रिया शुरू करते हैं।
  • गर्भधारण करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें, ताकि वो आपके शरीर की पूरी तरह जांच करके बता सके कि आपका शरीर गर्भधारण करने के लिए स्वस्थ व तैयार है या नहीं। इसके लिए डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट्स को करवाने के लिए कह सकता है।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और बेबी प्लानिंग  से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान चीज खाना चाहिए या नहीं जानिए, गर्भावस्था में चीज के फायदे और नुकसान,चीज के बारे में जानकारी, Cheese during pregnancy in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

मैटरनिटी लीव क्विज के माध्यम से आप मैटरनिटी के जरूरी सवालों का जवाब दे सकते हैं। जानिए मातृत्व अवकाश से संबंधित जरूरी प्रश्न..... maternity leave quiz

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

गर्भावस्था में खाएं सूरजमुखी के बीज और पाएं ढेरों लाभ

सूरजमुखी के बीज के लाभ, सूरजमुखी के बीज को गर्भावस्था में खाना सुरक्षित है या नहीं पाएं इस बारे में पूरी जानकारी, Sunflower Seed Pregnancy Benefits in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

गर्भावस्था में आप अखरोट खा सकती हैं या नहीं ?

गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाने के लाभ , गर्भावस्था के दौरान अखरोट खाना गर्भ में पल रहे शिशु के लिए क्या फायदेमंद है, Benefit of walnut during pregnancy.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma

Recommended for you

अबॉर्शन के बाद फर्टिलिटी (Fertility after Abortion)

अबॉर्शन के बाद कब करें गर्भधारण? कहीं ये सवाल आपके मन में भी तो नहीं!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ February 25, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
ट्विंस प्रेग्नेंसी क्विज, twins

क्विज : क्या जुड़वा बच्चे या ट्विंस होने के कई कारण हो सकते हैं ?

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ October 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी में वैक्सिनेशन क्विज,pregnancy me vaccines

प्रेग्नेंसी में टीकाकरण की क्यों होती है जरूरत ?

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ October 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
बेबी किक,baby kick

क्विज : बच्चा गर्भ में लात (बेबी किक) क्यों मारता है ?

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ October 30, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें