home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Alcohol Addiction: शराब की लत क्या है?

Alcohol Addiction: शराब की लत क्या है?

शराब की लत (Alcohol Addiction) को एल्कोहॉलिज्म के नाम से जाना जाता है। शराब की लत एक बीमारी है, जो किसी व्यक्ति को जीवन भर प्रभावित करती है। हालांकि, जानकारों ने शराब की लत के पीछे जेनेटिक्स, लिंग, नस्ल या सामाजिक आर्थिक हालात जैसे कारकों को इंगित करने की कोशिश की है। जानकारों का मानना है कि यही कारक शराब की लत की बीमारी को प्रेरित करते हैं। लेकिन शराब की लत के पीछे कोई इकलौता कारण नहीं है। मनोवैज्ञानिक, जेनेटिक और व्यवहारिक कारक शराब की लत में योगदान देते हैं।

यह उल्लेख करना बेहद ही जरूरी है कि शराब की लत एक बीमारी है। यह दिमाग और न्यूरोकैमिस्ट्री में बदलाव कर सकती है। इसकी वजह से शराब की लत से पीढ़ित कोई भी व्यक्ति अपने चाल-चलन पर नियंत्रण नहीं कर पाता है।

शराब की लत कई रूप में नजर आती है। शराब की लत की गंभीरता इस बात पर निर्भर करती है कि आप कितनी बार शराब पीते हैं। हालांकि, हर मामले में शराब का सेवन अलग-अलग हो सकता है। कुछ लोग पूरे दिन बहुत शराब पीते हैं। वहीं, कुछ हल्की शराब पीते हैं और कुछ समय के लिए शांत रहते हैं। लत लगने के बावजूद भी किसी को शराब की लत की बीमारी होती है यदि वह पूरी तरह से शराब पर निर्भर रहते हैं। ऐसे लोग एक लंबे वक्त तक शांत नहीं रह पाते हैं।

और पढ़ें: क्या आप बहुत ज्यादा शराब पीते हैं? इस तरह अपने खून में एल्कोहॉल के स्तर की जांच करें

शराब की लत कितनी सामान्य है? (How Common is Alcohol Addiction)

शराब की लत की बीमारी एक सामान्य समस्या है। यह बीमारी किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। शराब पीने के शौक से यह कब लत में तब्दील हो जाए आपको पता भी नहीं चलता। बेहतर होगा कि आप इस समस्या की अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह लें।

एल्कोहॉल एडिक्शन के क्या लक्षण हैं? (symptoms of Alcohol Addiction)

शराब की लत के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • शराब पीने की मात्रा या फ्रीक्वेंसी में इजाफा
  • शराब के उच्च सहनशीलता या नशे के लक्षण न नजर आना
  • अनुचित समय पर शराब पीना जैसे सुबह या चर्च या ऑफिस में शराब पीना
  • शराब वाले स्थानों पर मौजूद होने की इच्छा और जहां शराब न हो वहां न रहने की इच्छा
  • दोस्ती में बदलाव; ऐसे लोगों को दोस्त बनाना जिन्हें यह बीमारी हो
  • करीबियों से दूरियां बनाना
  • शराब को छुपाना या शराब पीते वक्त छुपना
  • प्रतिदिन की दिनचर्या को पूरा करने के लिए शराब पर निर्भर होना
  • आलस, डिप्रेशन या भावनात्मक समस्याओं में इजाफा
  • कानूनी या व्यावसायिक समस्याएं जैसे गिरफ्तारी या नौकरी खो देना

शराब की लत

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

समय के हिसाब से एल्कोहॉल की लत की बीमारी बदतर हो जाती है। इसके शुरुआती लक्षणों को देखना काफी महत्वपूर्ण है। यदि इस बीमारी के लक्षणों की पुष्टि होती है और शुरुआती दौर में इलाज होता है इसके प्रमुख दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है।

यदि आपके किसी जानकार को यह बीमारी है तो उससे एक सहायक अप्रोच में बात करें। उन्हें शर्मिंदा न होने दें या कुसूरवार न महसूस कराएं। इसकी वजह से शराब से पीढ़ित व्यक्ति दूर जा सकता है। साथ ही वह आपकी सहायता लेने से कतरा सकता है। उपरोक्त स्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करना बेहद ही जरूरी होता है।

और पढ़ें: शराब ना पीने से भी हो सकता नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर डिजीज

एल्कोहॉल एडिक्शन का क्या कारण है? (Causes of Alcohol Addiction)

  • शराब मस्तिष्क में आनंद और रिवॉर्ड के केंद्रों को प्रभावित करती है। शराब इन केंद्रों में हेरफेर कर देती है, जिसकी वजह से उस व्यवहार से दोबारा आनंद लेने के लिए हम शराब पीते हैं। जब लोगों को शराब की लत लग जाती है तो उनका मस्तिष्क रासायनिक रूप से दोबारा शराब पीने की इच्छा जाहिर करता है।
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑन एल्कोहॉल अब्यूस एंड एल्कोहॉलिज्म के मुताबिक, कुछ लोग इस बीमारी की चपेट में आसानी से आ जाते हैं, क्योंकि उनके मस्तिष्क पर शराब के प्रभाव का खतरा सबसे ज्यादा रहता है।
  • कुछ विशेष प्रकार की मानसिक समस्याओं वाले लोगों को आसानी से एल्कोहॉल की लत लग जाती है। इन समस्याओं को एक साथ सामने आने वाले डिसऑर्डर्स के रूप में जाना जाता है। यह समस्याएं इस बीमारी से पहले ही मौजूद होती हैं।
  • लंबे वक्त तक शराब पीने से मस्तिष्क में परिवर्तन हो जाता है। यह परिवर्तन इस बीमारी का कारण बनता है। एल्कोहॉल की लत सामान्य फैसला लेने और आत्म नियंत्रण में हस्तक्षेप करती है। यह परिवर्तन लोगों को शराब का प्यासा बना सकता है, जिससे उन्हें लगता है कि शराब पीने के लिए उन्हें किसी भी हद तक जाना चाहिए।
  • नियमित रूप से शराब पीना सोसाइटी का हिस्सा है, एल्कोहॉल की लत इससे संबंधित एक आम समस्या है। वहीं, कुछ युवा अपने माता पिता को देखकर शराब पीते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि शराब पीना सुरक्षित है, इसलिए वो अपने बड़ों को देखकर शराब पीते हैं।

शराब की लत से मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं? What problems can I get from alcohol addiction?

शराब की लत से आपको निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं:

यदि कोई व्यक्ति एल्कोहॉल की लत से पीढ़ित है तो शराब पीते वक्त यह लत उसे खतरनाक स्तर तक ले जा सकती है। ऐसे लोग अन्य लोगों की जान को जोखिम में डाल सकते हैं। सेंटर फोर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, अमेरिका में शराब पीकर गाड़ी चलाने से प्रतिदिन 28 लोगों की जान जाती है। एल्कोहॉल की लत आत्महत्या और अन्य लोगों की जान लेने के खतरे से जुड़ी हुई है। एल्कोहॉल की लत में जोखिमों को देखते हुए यह बेहद ही जरूरी है कि शुरुआती चरण में इसका इलाज किया जाए। हर प्रकार की एल्कोहॉल की लत की बीमारी से बचा या इलाज किया जा सकता है।

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

एल्कोहॉल एडिक्शन का निदान कैसे किया जाता है? (How is alcohol addiction diagnosed?)

शराब की लत का पता निम्नलिखित तरीकों से लगाया जा सकता है:

  • ब्लड टेस्ट के जरिए इस बीमारी का पता चल सकता है। यदि जांच में लाल रक्त कोशिकाओं का आकार बढ़ा हुआ पाया जाता है तो यह लंबे वक्त तक शराब पीने का संकेत हो सकता है।
  • कार्बोहाइड्रेट डेफिसिएंट ट्रांसफेररिन (Carbohydrate-deficient transferrin (CDT)) यह एक ब्लड टेस्ट है, जो भारी मात्रा में पी गई शराब का पता लगाने में मदद करती है।
  • अन्य टेस्ट लिवर के क्षतिग्रस्त होने या पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट का संकेत दे सकते हैं। दोनों ही स्थितियां शराब की पुरानी लत की तरफ इशारा करती हैं।
  • उचित सवालों की एक प्रश्नावली से स्क्रीनिंग करने पर इस बीमारी की सटीकता का आंकलन किया जा सकता है।
  • यदि आप असीमित मात्रा में शराब पीते हैं तो आपको यह समस्या है।
  • यदि आप शराब पीने के बाद अपने आप पर नियंत्रण खो देते हैं तो आपको यह समस्य है।
  • यदि आप अनुचित समय जैसे सुबह या दफ्तर में शराब पीते हैं तो आपको शराब की लत की समस्या है।
  • यदि आपको बार-बार शराब पीने की तलब लगती है तो आप इस लत से पीढ़ित हैं।

उपरोक्त बिंदुओं के अलावा भी कुछ ऐसे व्यावहारिक या मानसिक संकेत हो सकते हैं, जिससे शराब की लत का पता लगाया जा सकता है।

और पढ़ें: क्या स्तनपान के दौरान शराब का सेवन सुरक्षित है?

शराब की लत का इलाज कैसे किया जाता है? How is alcohol addiction treated?

निम्नलिखित तरीकों से शराब की लत का इलाज किया जा सकता है:

रिहैब

एल्कोह़ॉल की लत का इलाज करने का शुरूवाती विकल्प रिहैब है। इसमें किसी पीढ़ित व्यक्ति को रिहैब सेंटर में रखा जाता है। यह प्रक्रिया एक महीने से लेकर एक वर्ष तक चल सकती है। इसमें पीढ़ित व्यक्ति को शराब की लत से लड़ने और भावनात्मक चुनौतियों से लड़ना सिखाया जाता है। वहीं, बाह्य पीढ़ितों को प्रतिदिन सपोर्ट दिया जाता है, जिससे वह घर में बिना शराब के रहना सीखते हैं।

डीटॉक्सिफिकेशन (Detoxification)

डीटॉक्सिफिकेशन से आपकी फिजिकल एल्कोहॉल की लत को तोड़ा जाता है। यह प्रक्रिया ज्यादातर अस्पतालों या थेरेपी ट्रीटमेंट सेंटर में की जाती है। डीटॉक्सिफिकेशन में मुश्किल से एक हफ्ता लगता है। चूंकि फिजिकल विदड्रॉअल के लक्षण काफी नाटकीय हो सकते हैं। आपको निम्नलिखित चीजों को रोकने के लिए दवाइयां दी जा सकती हैं:

  • कंपकंपी
  • मतिभ्रम होना
  • कनफ्यूजन
  • ऐंठन

इलाज के कुछ अन्य विकल्प

  • ड्रग थेरेपी
  • काउंसलिंग
  • खानपान में बदलाव

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में एल्कोहॉल का सेवन नुकसानदायक है या नहीं? जानिए

जीवन शैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे शराब की लत को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

निम्नलिखित उपायों से आप शराब की लत से निजात पा सकते हैं:

  • अश्वगंधा: यह एक औषधि है, जिसका आर्युवेदिक दवाइयों में पारंपरिक इस्तेमाल होता हुआ आ रहा है। यह शराब की लत छुड़ाने और इसे पीने की लालसा को कम करती है। कई अध्ययनों में इसकी प्रभाविकता की पुष्टि हो चुकी है।
  • ध्यान लगाना या माइंडफुल एक्टिविटी: यह एक प्रकार का योग अभ्यास है। इसमें आप अपने मन को स्थिर करते हैं। मानसिक रूप से ध्यान को स्थिर करने में मदद मिलती है। माइंडफुल एक्टिविटी से आप अपने विचारों और अपने आपको जानते हैं। यह आपको खुद पर नियंत्रण करने में मदद करती है।

इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और एल्कोहॉल एडिक्शन से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

 

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Alcohol Use Basics/https://www.cdc.gov/alcohol/fact-sheets.htm/Accessed on 16th March 2021

Alcohol Addiction Causes. https://www.drugrehab.com/addiction/alcohol/ Accessed Jan 24, 2020

Alcohol Addiction. https://www.alcoholrehabguide.org/alcohol/ Accessed Jan 24, 2020

Alcohol’s Effects on the Body/https://www.niaaa.nih.gov/ Accessed on 16th March 2021

Alcohol use disorder/ https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/alcohol-use-disorder/symptoms-causes/syc-20369243/Accessed on 16th March 2021

लेखक की तस्वीर badge
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x