home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

एल्कोहॉल का त्वचा पर क्या असर होता है?

एल्कोहॉल का त्वचा पर क्या असर होता है?

एल्कोहॉल यानी शराब पीना तो आजकल फैशन बन गया है। कोई भी पार्टी, फंक्शन इसके बिना पूरा नहीं होता। कभी-कभार थोड़ी मात्रा में पीने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन जब यह लत बन जाए तो आपको न सिर्फ कई तरह की स्वासथ्य समस्याएं होने लगती है, बल्कि एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin) भी साफ नजर आने लगता है। सूजी हुई आंखे, बरेंग चेहरा और झुर्रियां एल्कोहॉल का त्वचा पर असर कुछ इस तरह नजर आ सकता है।

एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin) होता है ऐसा

एल्कोहॉल लिवर को नुकसान पहुंचाने के साथ ही कई तरह की त्वचा संबंधी परेशानियां भी खड़ी कर देता है। जिसमें से कुछ सामान्य, तो कुछ बेहद गंभीर समस्याएं हो सकती है। इसलिए इन समस्याओं के बारे में आपको जानकारी होना बेहद आवश्यक है। आइये जानते हैं ये समस्याएं कौन सी हैं!

और पढ़ें: Alcohol intoxication: एल्कोहल इनटॉक्सिकेशन क्या है?

डार्क सर्कल : छुपाए ना छुपे

आंखों के नीचे के काले घेरे यकीनन आपकी खूबसूरती को फीका बना देते हैं और एल्कोहॉल के सेवन से डार्क सर्कल की समस्या बढ़ सकती है। भले ही शराब पीने के बाद आपको जल्दी नींद आ जाती है और आप सो जाते हैं, लेकिन यह नींद सुकून भरी नहीं होती और आप रात भर बेचैन रहते हैं। नींद पूरी ना होने के कारण आंखों के नीचे डार्क सर्कल की समस्या हो सकती है। यदि आप चाहते हैं कि एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin) न हो, तो इसका सेवन बंद कर दें या बहुत सीमित कर दें। डार्क सर्कल से निजात पाने के लिए कम से कम 7 घंटे की अच्छी नींद जरूरी है।

आई पफीनेस (आंखों के नीचे सूजन)

एनसीबीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शराब के बहुत अधिक सेवन से चेहरे के ऊपरी हिस्से में उम्र की लकीरे, अंडर आई पफीनेस (eye puffiness) और मिडफेस वॉल्यूम लॉस जैसी समस्या हो सकती है। आपने ध्यान दिया होगा कि रात में शराब पीने के बाद व्यक्ति के पूरे शरीर में सूजन नजर आती है। एल्कोहॉल शरीर को डिहाइड्रेट कर देता है जिससे आंखों के नीचे सूजन की समस्या हो जाती है। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पूरे दिन खूब पानी पीएं।

और पढ़ें: Alcohol Addiction: शराब की लत क्या है?

रोजेशिया (rosacea)

क्या एल्कोहॉल का सेवन करने के बाद आपके चेहरे पर लालिमा छा जाती है, तो आपको रोजेशिया (rosacea) नामक त्वचा संबंधी बीमारी हो सकती है। इस बीमारी में लोगों के चेहरे पर लालिमा छा जाती है। कुछ लोगों में चेहरे पर लाल धब्बे भी दिखने लगते है। यह बहुत ही सामान्य त्वचा की बीमारी है जिसमें कुछ के पूरे चेहरे, तो कुछ लोगों के चेहरे पर धब्बे के साथ लालिमा दिखती है। इस बीमारी की वजह से कुछ लोगों की आंखों में जलन और दर्द की भी समस्या हो सकती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, एल्कोहॉल के अधिक सेवन (alcohol drinking) से चेहरे की रक्तवाहिका बड़ी हो जाती है, जिससे चेहरा लाल हो जाता है।

हाइव्स (Hives)

यह भी त्वचा संबंधी एक समस्या है और एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin) हाइव्स (Hives) के रूप में भी दिख सकता है। इसमें लाल, खुजली वाले बड़े दाने निकल जाते हैं। कुछ लोगों को शराब पीने के बाद यह समस्या दिखने लगती है। यह शरीर के किसी एक हिस्से या पूरे शरीर पर दिख सकता है। यह शराब में मौजूद किसी तत्व के कारण होने वालेएलर्जिक रिएक्शन (allergic reaction) की वजह से हो सकता है या एल्कोहॉल इंटोलरेंस के कारण। हाइव्स कुछ देर में या कुछ दिनों में ठीक हो सकता है।

सेल्यूलाइटिस (Cellulitis)

जो लोग अधिक शराब पीते हैं, उन्हें सेल्यूलाइटिस (Cellulitis) होने का खतरा अधिक होता है। यह एक प्रकार का स्किन इंफेक्शन है, जो पैर के निचले हिस्से को प्रभावित करता है। यह त्वचा में सूजन और लालिमा आ जाती है और छूने पर गर्म महसूस होता है और दर्द भी होता है। सेल्यूलाइटिस बैक्टीरिया के कारण होता है जो आपके शरीर में किसी घाव या कटी त्वचा के जरिए प्रवेश कर सकता है। यह संक्रमण गंभीर होता है और इसके ट्रीटमेंट के लिए एंटीबायोटिक (antibiotics) की जरूरत पड़ती है।

सन सेंसिटिविटी (Sun sensitivity)

कुछ लोगों को धूप से बहुत ज्यादा जलन, फफोले निकलने और दर्द की समस्या होती है। आमतौर पर यह समस्या परिवार की एक पीढ़ी से आगे तक चलती रहती है, लेकिन एल्कोहॉल का सेवन (effects of alcohol on skin) इसे और बढ़ा सकता है और आपकी त्वचा पर आसानी धूप में रहने पर आसानी प्रभावित होने लगती है, खुजली की समस्या हो जाती है और जल्दी ही वह लाल हो जाती है। यदि आपको यह लक्षण दिखते हैं, तो इन्हें कम करने के लिए एल्कोहॉल का सेवन बंद कर दें।

और पढ़ें: Quiz : क्या आप एल्कोहॉल के हैं शिकार?

चेहरे पर एजिंग साइन दिखना (aging)

एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्मोकिंग और एल्कोहॉल का अधिक सेवन करने से चेहरे पर झुर्रियां औ फाइन लाइन्स जल्दी नजर आने लगती है, यानी उम्र से पहले ही बुढ़ापा दिखने लगता है। इससे चेहरे का रंग भी फीका पड़ जाता है। दरअसल, एल्कोहॉल के अधिक सेवन से (alcohol drinking) डिहाइड्रेशन (dehydration) की समस्या हो जाती है और इससे बॉडी डिटॉक्सिफाय नहीं हो पाती। जब शरीर से अपशिष्ट पदार्थ बाहर नहीं निकलते हैं तो उसका असर चेहरे पर भी दिखने लगता है

सोरायसिस (Psoriasis)

बहुत अधिक एल्कोहॉल का सेवन करने वालों को सोरायसिस (Psoriasis) का खतरा भी अधिक होता है। यह एक स्किन संबंधी समस्या है और ऑटो इम्यून डिसऑर्ड है, जिसमें सामान्य से कही अधिक तेजी से स्किन सेल्स बनने लगते हैं और त्वचा पर लाल सतह जैसा उभार आ जाता है। इसमें खुजली होती है और त्वचा रूखी हो जाती है। शराब का सेवन करने वालों पर सोरायसिस के ट्रीटमेंट का भी पूरा असर नहीं होता है या यह उपचार को और मुश्किल बना सकता है, इसलिए शराब का सेवन बंद कर दें।

शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिलते

हालांकि कुछ एल्कोहॉल, जैसे रेड वाइन (Red wine) को स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है, लेकिन किसी भी एल्कोहॉल का अधिक मात्रा में सेवन कभी अच्छा नहीं माना जा सकता। एल्कोहॉल के रूप में आप कैलोरी और शुगर का अधिक सेवन करते हैं, जिससे पोषक तत्वों से भरपूर आहार से वंचित रह जाते हैं और कुपोषण का शिकार हो सकते हैं। ज्यादा शराब पीने वाले ठीक से खाना नहीं खा पाते। जब शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिलते, तो उसका असर चेहरे पर भी दिखने लगता है। एल्कोहॉल में टॉक्सिन की अधिक मात्रा होती है, जो न सिर्फ आपके लिवर पर असर डालता है, बल्कि इम्यूनिटी कमजोर करता है। साथ ही हार्मोनल असंतुलन, कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है और इसका असर इंसुलिन लेवल पर भी पड़ता है और नतीजतन चेहरे पर उम्र से पहले बुढ़ापा नजर आ सकता है।

और पढ़ें: नहीं दिखेगा बढ़ती उम्र का असर, हेल्दी एजिंग के लिए अपनाएं इस तरह की लाइफस्टाइल

ऐसा होता है अलग-अलग तरह के एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin)

त्वचा का रूखापन के घरेलू उपाय/dry skin home remedies
जानिए क्या है,त्वचा का रूखापन के घरेलू उपाय

सभी तरह के एल्कोहॉल स्किन को नुकसान ही पहुंचाते हैं, कुछ मुंहासों की समस्या बढ़ा देते हैं, तो कुछ एजिंग की। इसलिए आपको इन एल्कोहॉल से जुड़ी ये जानकारी भी होनी चाहिए।

क्लियर लिकर (Clear liqueur)

क्लियर लिकर जैसे वोडका आदि का इस्तेमाल मिक्स्ड ड्रिंक्स में किया जाता है। इनमें कैलोरी और कॉन्जेनर्स (congeners) की मात्रा कम होती है। कॉन्जेनर्स एक प्रकार का केमिकल है, जो एल्कोहॉल फर्मेंटेशन के दौरान उत्पन्न होता है। इसकी मात्रा जितनी कम होगी ड्रिंक करने के बाद हैंगओर की भी उतना ही कम होगा। सीमित मात्रा में इसका सेवन किया जा सकता है, लेकिन अधिक पीने से डिहाइड्रेशन और त्वचा में सूजन की समस्या हो सकती है

डार्क लिकर (dark liqueur)

डार्क लिकर में कॉन्जेनर्स की मात्रा अधिक होती है। हालांकि यह एल्कोहॉल का फ्लेवर बढ़ाता है, लेकिन साथ ही हैंगओवर के लक्षण जैसे डिहाइड्रेशन का खतरा भी बढ़ा देता है। यह शरीर का शुगर लेवल और सूजन की समस्या भी बढ़ा सकता है।

मिक्सड ड्रिंक्स (mixed liqueur)

मिक्सड ड्रिंक्स में शराब के साथ ही शुगर सिरप और फ्रूट जूस होता है। यदि आप कम शुगरवाली ड्रिंक भी पीते हैं, तो भी वह शुगर लेवल को बढ़ा सकता है और त्वचा को डिहाइड्रेट कर सकता है।

बीयर (Beer)

बीयर में फेनफ्यूरल नामक कॉन्जेनर्स होता है। यह फर्मेंटेशन प्रोसेसे के दौरान मिलाया जाने वाला यीस्ट इन्हिबिटर है। शराब की तरह ही बीयर भी सूजन और डिहाइड्रेशन की समस्या पैदा कर सकती है।

वाइट वाइन (white wine)

व्हाइट वाइन से रेड वाइन की तरह गंभीर हैंगओवर नही होता है, लेकिन यह शरीर में सूजन और त्वचा के डिहाइड्रेशन के लिए जिम्मेदार हो सकती है। ऐसा इसमें मौजूद टैनिन नामक कॉन्जेनर्स की वजह से होता है।

रेड वाइन (red wine)

इसमें न सिर्फ टैनिन नामक कॉन्जेनर्स अधिक मात्रा में होता है, बल्कि यह आपकी रक्त वाहिकाओं को चौड़ा कर देता है जिससे त्वचा में सूजन आ सकती है।

और पढ़ें: ड्राय स्किन से हैं परेशान, तो आजमाएं कुछ आसान घरेलू उपाय

एल्कोहॉल का त्वचा पर असर (effects of alcohol on skin) कम करने के लिए क्या करें?

यदि आप स्वस्थ और दमकती त्वचा चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि शराब से पूरी तरह तौबा कर लें, लेकिन आपके लिए यदि अचानक ऐसा करना संभव नहीं हो, तो कुछ बातों का ध्यान रख सकते हैं जैसे-

ड्रिंक का चुनाव सावधानी से करें, कुछ ड्रिंक का त्वचा पर गहरा असर होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, यदि आप ड्रिंक करना ही चाहते हैं तो थोड़ी मात्रा में वोडका पी सकते हैं, क्योंकि यह जल्दी और आसानी से शरीर से बाहर निकल जाती है।

रोज पीने की बजाय एक यो दो दिन के अंतराल पर ड्रिंक करने की आदत डालें और इस तरह से और कम करके आप धीरे-धीरे ड्रिंक करना छोड़ सकते हैं।

यदि आप ड्रिंक करने जा रहे हैं तो उससे पहले दिन भर खूब पान पीएं ताकि डिहाइड्रेशन न हो।

तो जिन लोगों को एल्कोहॉल की लत है, उन्हें या तो इसे छोड़ने की कोशिश करनी चाहिए या सीमित मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए, वरना आपकी त्वचा को भी इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। एल्कोहॉल शरीर में विटामिन ए के लेवल को भी कम कर देता है। विटामिन ए शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है जो त्वचा की कोशिकाओं को रिपेयर करने और सेल टर्नओवर में मदद करता है। विटामिन ए के स्तर में कमी का मतलब है, त्वचा का डैमेज और डल होना। तो आप यदि अपनी त्वचा को स्वस्थ, निखरी और सुंदर देखना चाहते हैं तो शराब से तौबा कर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

https://dermnetnz.org/topics/cutaneous-adverse-effects-of-alcohol/

https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20620755/#:~:text=Alcohol%20abuse%20can%20present%20with,%2C%20flushing%2C%20and%20palmar%20erythema.

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6715121/

लेखक की तस्वीर badge
Toshini Rathod द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/01/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x