home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ग्लिमेपिराइड का उपयोग किसलिए किया जाता है?|ग्लिमेपिराइड के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|ग्लिमेपिराइड के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?|कौन सी दवाएं ग्लिमेपिराइड के साथ नहीं ली जा सकती हैं?|डॉक्टर की सलाह
Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ग्लिमेपिराइड का उपयोग किसलिए किया जाता है?

जिन लोगों को टाइप 2 डायबिटीज है उनमें डायट और एक्सरसाइज के साथ ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए आमतौर पर ग्लिमेपिराइड का इस्तेमाल किया जाता है। हाई ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने से किडनी डैमेज, अंधापन, नर्व की समस्या, अंगों की हानि और सेक्शुअल समस्या को रोकने में मदद मिलती है। प्रॉपर तरीके से डायबिटीज कंट्रोल करने से हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है। ग्लिमेपिराइड एक ड्रग के समूह से संबंधित होता है जिसे सल्फोनिलयूरिया कहते हैं। यह शरीर में नैचुरल इंसुलिन को बढ़ाकर ब्लड शुगर लेवल को कम करने का काम करता है।

मैं ग्लिमेपिराइड को कैसे इस्तेमाल करूं?

डॉक्टर के निर्देश के अनुसार रोजाना एक बार नाश्ते के साथ या दिन के मुख्य भोजन के साथ इस दवा को खाएं। इस दवा की खुराक आपकी मेडिकल स्थिति और इलाज के प्रति कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर निर्भर करती है।

इस दवा के ज्यादा फायदे लेने के लिए इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें। याद रखें इस दवा को रोजाना एक ही समय पर इस्तेमाल करें।

साइड इफेक्ट्स के खतरे को कम करने के लिए आपका डॉक्टर इस दवा को कम खुराक से शुरू कर सकता है और फिर धीरे- धीरे इसकी खुराक को बढ़ा सकता है। अपने डॉक्टर के निर्देश को सावधानीपूर्वक फॉलो करें।

अगर आप पहले से ही डायबिटीज की दूसरी दवाइयों (जैसे क्लोरप्रोपामाईड) को ले रहे हैं तो इसे बंद करने और ग्लिमेपिराइड को शुरू करने से पहले डॉक्टर के निर्देशों को फॉलो करें।

कोवेसेवेलम ग्लिमेपिराइड के अवशोषण को कम कर सकता है। अगर आप कोवेसेवेलम ले रहे हैं तो इसे लेने के कम से कम चार घंटे पहले ग्लिमेपिराइड को लें।

अगर आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है या आपकी स्थिति और अधिक खराब (जैसे ब्लड शुगर लेवल का बहुत ज्यादा होना या बहुत कम होना) हो रही है तो इस स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।

और पढ़ें : मधुमेह से बचने के प्राकृतिक उपाय

मैं ग्लिमेपिराइड को कैसे स्टोर करूं?

ग्लिमेपिराइड को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। ग्लिमेपिराइड को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में ग्लिमेपिराइड के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। बिना निर्देश के ग्लिमेपिराइड को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुकी है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

ग्लिमेपिराइड के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आप इस दवा के प्रति एलर्जिक हैं या आपको दूसरी कोई एलर्जी है तो ऐसी स्थिति में ग्लिमेपिराइड लेने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं। इस प्रोडक्ट में कुछ ऐसे इनैक्टिव तत्व होते हैं जो एलर्जिक रिएक्शन या दूसरी समस्याएं उत्पन्न करते हैं। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें।

इस दवा को लेने से पहले अपने मेडिकल हिस्ट्री के बारे में डॉक्टर को बताएं, खासतौर पर अगर आपको ये सारी बीमारियों हो जैसे; लिवर की बीमारी, किडनी की बीमारी, थाइरॉइड की बीमारी, कुछ हार्मोनल समस्याएं (जैसे एड्रिनल/पिट्यूटरी इंसफिशिएंसी, सिंड्रोम ऑफ इनएप्रोप्रियेट सिक्रीशन ऑफ एंटीडाइयूरेटिक हॉर्मोन- एसआईएडीएच), इलेक्ट्रोलाइट का असंतुलन (हाइपोनैट्रीमिया) आदि।

आपको ब्लड शुगर लेवल कम या अधिक होने की वजह से धुंधला दिखाई देना, सिर चकराना या ऊँघना आदि समस्याएं महसूस हो सकती हैं। किसी भी एक्टिविटी को करने के लिए जब तक आप सुनिश्चित ना कर लें कि आप सुरक्षित हैं तब तक आप ना तो ड्राइव करें ना कोई मशीनरी इस्तेमाल करें और ना ही कोई ऐसा काम करें जिसमें सतर्क रहने की जरूरत हो।

इस दवा के इस्तेमाल के दौरान आप कम मात्रा में एल्कोहॉल का सेवन करें क्योंकि इससे ब्लड शुगर लेवल कम होने का खतरा बढ़ सकता है।

जब आपका शरीर तनाव (जोकि बुखार, इंफेक्शन, चोट या सर्जरी की वजह से हो सकता है) में होता है तो इस स्थिति में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। इस स्थिति में अपने डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि इस स्थिति में ट्रीटमेंट प्लान, दवाइयों या ब्लड शुगर परीक्षण में बदलाव की जरूरत है।

इस दवा के इस्तेमाल से आप धूप के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। इस स्थिति में आप धूप में कम जाएं। टैनिंग बूथ और सनलैम्प से दूर रहें। जब भी आप बाहर जाएं तो सनस्क्रीन और धूप से बचने वाले कपड़ों का इस्तेमाल करें। अगर आप धूप से जल जाएं या स्किन पर छाले/लाल निशान पड़ जाएं तो इस स्थिति में अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं।

सर्जरी करवाने से पहले आप उन सभी प्रोडक्ट्स (जिसमें प्रेस्क्रिप्शन ड्रग, नॉन प्रेस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट्स शामिल होते हैं) के बारे में डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं।

बड़े या बुजुर्ग लोग जिनका ब्लड शुगर लेवल कम होता है वो इस दवा के साइड इफेक्ट्स के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान इस दवा का तभी इस्तेमाल करें जब इसकी जरूरत हो। इस दवा के नुकसान और फायदों के बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें।

आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी, डायबिटीज को और अधिक खराब कर सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान अपने ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने के लिए अपने डॉक्टर के साथ चर्चा करें। आपका डॉक्टर प्रेग्नेंसी के दौरान डायबिटीज ट्रीटमेंट (जैसे डायट और दवाइयां जिसमें इंसुलिन शामिल है) आदि में बदलाव कर सकता है।

और पढ़ें : ओमेप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि यह दवा ब्रेस्ट मिल्क में प्रवेश करता है या नहीं। हालांकि इस तरह की दूसरी दवाइयां हैं जो ब्रेस्ट मिल्क में प्रवेश कर जाती हैं। इस दवा के इस्तेमाल के दौरान ब्रेस्टफीडिंग के बारे में नहीं बताया गया है। इस स्थिति में ब्रेस्टफीडिंग कराने से पहले डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ग्लिमेपिराइड का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान, इस दवा का उपयोग केवल तभी किया जाना चाहिए जब स्पष्ट रूप से आवश्यक हो। गर्भावस्था में मधुमेह के कारण परेशानियां आ सकती हैं। आपका डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान इस दवा के लिए इंसुलिन का विकल्प चुन सकता है। यदि ग्लिमेपिराइड का उपयोग किया जाता है, तो ग्लिमेपिराइड के आपके नवजात शिशु में कम रक्त शर्करा के कारण होने के जोखिम की अपेक्षा से कम से कम 2 सप्ताह पहले इसे इंसुलिन में बदल दिया जा सकता है। अपने डॉक्टर से जोखिम और फायदों पर चर्चा करो।

यह अज्ञात है अगर यह दवा स्तन के दूध में गुजरती है। हालांकि, इसी तरह की दवाएं स्तन के दूध में गुजरती हैं। इस दवा का उपयोग करते समय स्तनपान की सिफारिश नहीं की जाती है। स्तनपान कराने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

  • C= थोडा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= इस बारे में मतभेद हैं
  • N= कुछ पता नहीं

ग्लिमेपिराइड के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के इस्तेमाल से मिचली और पेट खराब होने जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। अगर ये साइड इफेक्ट्स ऐसे ही बने रहते हैं या और अधिक खराब स्थिति में पहुंच जाते हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

याद रखें आपके डॉक्टर ने इस दवा को प्रिस्क्राइब किया है क्योंकि वह जानता है कि इस दवा के नुकसान की तुलना में फायदे ज्यादा हैं। ऐसे बहुत से लोग हैं जो इस दवा का इस्तेमाल करते हैं लेकिन उन्हें कोई भी साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं।

अगर आपको ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस हों तो तुरंत डॉक्टर को बताएं जैसे आंखों और स्किन का पीला पड़ना, पेट दर्द, डार्क यूरिन, असामान्य थकान/कमजोरी, आसानी से ब्लीडिंग या चोट लगना, इंफेक्शन (जैसे बुखार, गले मे खराश), मेंटल/मूड में बदलाव, असामान्य/अचानक वजन बढ़ना, दौरे पड़ना।

इस दवा के इस्तेमाल से ब्लड शुगर लेवल कम (हाइपोग्लाइसिमिया) हो सकता है। अगर आप बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं या पर्याप्त मात्रा में कैलोरी नही लेते हैं तो यह समस्या हो सकती है। ब्लड शुगर लेवल कम होने के लक्षण इस प्रकार हैं; अचानक पसीना होना, कांपना, तेज हार्टबीट होना, भूख लगना, धुंधला दिखाई देना, सिर चकराना और हाथों और पैरों में झुनझुनी होना।

ब्लड शुगर लेवल कम होने की स्थिति में अपने साथ ग्लूकोज की टैबलेट या जेल रखना अच्छा होता है। अगर आप इन चीजों को नहीं रखते हैं तो चीनी, शहद, कैंडी आदि खाने से या फ्रूट जूस या नॉन डाइट सोडा पीने से आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। इस प्रोड्क्ट के इस्तेमाल और रिएक्शन के बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं। ब्लड शुगर लेवल को कम होने से रोकने के लिए आप नियमित रूप से भोजन करें, कभी भी भोजन करना ना छोड़ें। अगर आप भोजन छोड़ देते हैं तो इस स्थिति में क्या करना चाहिए? इस बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

हाई ब्लड शुगर लेवल (हाइपरग्लाइसिमिया) के लक्षण जैसे प्यास लगना, ज्यादा यूरिन पास होना , कंफ्यूजन, ऊँघना, फ्लुशिंग, तेजी से सांस चलना, सांसो से फलों की महक आना आदि होते हैं। अगर आपको ये लक्षण महसूस हों तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। आपके दवाई की खुराक को बढ़ाया जा सकता है।

इस दवा के इस्तेमाल से कभी कभी ही गंभीर एलर्जिक रिएक्शन होते हैं। अगर इन गंभीर एलर्जिक रिएक्शन को महसूस करते हैं जैसे चकते पड़ना, खुजली/सूजन (खासतौर पर चेहरे/जीभ/गले में), सिर चकराना, सांस लेने में दिक्कत होना आदि, तो इस स्थिति में मेडिकल सेवाओं की सहायता तुरंत लें।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। यहां पर आपको सारे साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से जरूर संपर्क करें।

और पढ़ें- सिर दर्द ठीक करने के साथ ही गैस में राहत दिला सकता है केसर, जानें 11 फायदे

कौन सी दवाएं ग्लिमेपिराइड के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

ऐसी बहुत सी दवाइयां हैं जो आपके ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित कर सकती हैं। जिससे इसे कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है। दवा को शुरू करने, बंद करने या इसमें बदलाव करने से पहले आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें कि कैसे यह दवा आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकती है। अगर आपको हाई ब्लड शुगर लेवल के लक्षण (साइड इफेक्ट्स वाला भाग देखें) महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर को बताएं। आपका डॉक्टर आपकी डायबिटीज की दवाइयों, एक्सरसाइज प्रोग्राम और डायट में बदलाव या सुधार कर सकता है।

बीटा ब्लॉकर्स दवाइयां (जिसमें मेटोप्रोलोल, प्रॉप्रेनोलोल) मोतियाबिंद में इस्तेमाल होने वाले आई ड्रॉप्स जैसे टिमोलोल, आपके तेज हार्टबीट को रोक सकते हैं जिसे आप आमतौर पर महसूस करते हैं जब आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत कम (हाइपोग्लाइसिमिया) होता है। ब्लड शुगर लेवल कम होने के दूसरे लक्षण जैसे सिर चकराना, भूख लगना या पसीना आना आदि इन दवाइयों से प्रभावित नहीं होते हैं।

अपनी दवाइयों (जैसे कफ और सर्दी-जुकाम के प्रोडक्ट्स) के लेबल को चेक करें क्योंकि इनमें कुछ ऐसे सामग्री होते हैं जो आपके ब्लड शुगर को प्रभावित कर सकते हैं। इन प्रोडक्ट्स को सुरक्षित इस्तेमाल करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से पूछें।

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो ग्लिमेपिराइड उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ ग्लिमेपिराइड लेना सुरक्षित है?

ग्लिमेपिराइड भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। जिससे ड्रग का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में बात करें।

ग्लिमेपिराइड खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

ग्लिमेपिराइड आपके स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार इंटरैक्ट कर सकता है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। इसलिए बेहतर यही होगा कि आप अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

और पढ़ें- Gynaecomastia Surgery : गायनेकोमैस्टिया सर्जरी क्या है?

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

ग्लिमेपिराइड कैसे उपलब्ध है?

ग्लिमेपिराइड निम्नलिखित खुराकों और क्षमता में उपलब्ध है;

  • ओरल टैबलेट: 1mg, 2mg, 4 mg

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आप इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड पर जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप ग्लिमेपिराइड की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Glimepiride Accessed February 8, 2018.

Glimepiride Dosage Accessed February 8, 2018.

Glimepiride, Oral Tablet Accessed on 06/12/2019

Glimepiride 1 mg Tablets Accessed on 06/12/2019

Glimepiride Accessed on 06/12/2019

Amaryl (glimepiride) Accessed on 06/12/2019

What Is Glimepiride (Amaryl)? Accessed on 06/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x