home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Karvol Plus: कारवोल प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन |डोसेज |उपयोग |साइड इफेक्ट्स |सावधानी और चेतावनी|रिएक्शन |स्टोरेज
Karvol Plus: कारवोल प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

कारवोल प्लस कैप्सूल का इस्तेमाल सामान्य तौर पर सर्दी-जुकाम, नाक की नलियों में ब्लॉकेज को ठीक करने, कफ, एयरवे म्यूकस हाइपर सीक्रेशन, कोल्ड सोर, अस्थमा, पीठ दर्द, कंधों और ज्वाइंट में दर्द, रेस्पिरेटरी ट्रैक डिजीज, दर्द और अन्य बीमारियों को ठीक करने के लिए होता है। मेडिकेशन गाइड में अंकित बीमारियों के अलावा भी इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

दवा का नाम और कैटेगरी

कारवोल प्लस कैपसूल को कैमफर, क्लोरोथायमोल, इयूक्लैप्थॉल, मेनथॉल और टेरपिन्योल (Camphor, Chlorothymol, Eucalyptol, Menthol and Terpineol) जैसे एक्टिव इंग्रीडिएट्स से मिलकर तैयार किया जाता है।

ओटीसी (over the counter) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग

यह ओटीसी ड्रग है। इसका इस्तेमाल आप बिना डॉक्टर की सलाह के कर सकते हैं।

विशिष्ट उपयोग

कारवोल प्लस का इस्तेमाल माइनर पेन से निजात पाने के लिए किया जाता है। यह नेजल कंजेशन से जुड़ी दिक्कतों को कम करता है। वहीं कफ को ठीक कर दिमाग तक सिगनल्स को सुचारू रूप से पहुंचाने में मददगार है। सेंसिटिव बैक्टिरिया को मारने में मददगार है।

डोसेज

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) का सामान्य डोज क्या है?

डॉक्टर जितना सुझाए उतनी मात्रा में ही दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) का ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

डॉक्टर ने जितना सुझाया सिर्फ उतनी ही मात्रा में दवा का सेवन करें, उससे तनिक भी ज्यादा मात्रा में इसका इस्तेमाल करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। यदि आप नियमित तौर पर दवा का सेवन करते हैं तो संभावनाएं रहती है कि आप जल्द से जल्द ठीक हो जाएंगे। यदि आप जितना बताया गया उससे ज्यादा मात्रा में दवा का सेवन करते हैं तो संभावनाएं रहती है कि आपको दवा के कारण साइड इफेक्ट्स का सामना कर पड़ सकता है। ऐसे में जरूरी है कि गलती से यदि आप दवा खा लें तो जितना जल्दी संभव हो अपने डॉक्टर को यह बात बताएं और डॉक्टरी सलाह लें।

यदि कोई दूसरा व्यक्ति भी आप ही की तरह लक्षण से जूझ रहा है तो उस स्थिति में भी बिना डॉक्टरी सलाह के उसे दवा का सेवन करने की सलाह नहीं देनी चाहिए। ऐसे में ओवरडोज की संभावनाएं हो सकती है और तबीयत खराब हो सकती है।

वहीं एक्सपायरी कैप्सूल का सेवन न करें। यदि कर लें तो जितना जल्दी हो सके डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। कई मामलों में ऐसे में मेडिकल इमरजेंसी तक की जरूरत पड़ सकती है। आपकी सेहत अच्छी रहे इसलिए ऐसी गलती कभी न दोहराएं। यदि आप क्रॉनिक बीमारी से पीड़ित हैं और हार्ट कंडिशन, एलर्जी या अन्य बीमारी को लेकर लंबे समय से दवा का सेवन कर रहे हैं तो आपको ज्यादा सर्तक रहने की जरूरत है।

कारवोल प्लस में पाए जाने वाले तत्वों पर एक नजर

मेनथोल 55 एमजी, कैमफोर 25 एमजी, टेरफिनिओल 120 एमजी, क्लोरोथायमोल 5 एमजी।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें : Anthrax (inhaled) : इनहेल्ड एंथ्रेक्स क्या है?

उपयोग

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

बच्चों व व्यस्कों को सलाह दी जाती है कि गर्म पानी कर लें और उसमें इस टेबलेट को डालें, ऐसा करने के बाद भांप लें। कोशिश करें इसे पानी में निचोड़ें तब स्किन उसके संपर्क में न आए। वहीं बच्चों के लिए इस दवा के इस्तेमाल की बात करें तो दवा को निचोड़ कर रुमाल में डाल लें और फिर नाक के पास कुछ सेकंड के लिए ले जाकर रखें। ऐसा बार- बार करें ताकि बच्चा सांस ले तो उसके साथ दवा भी अंदर जाए और वह अच्छे से सांस ले सके।

कारवोल प्लस कैप्सूल का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की बीमारियों को ठीक करने, लक्षणों को कम करने और पूर्ण रूप से इलाज करने के लिए किया जाता है। इनमें निम्न बीमारियां शामिल हैं।

  • टोनल में फंगल इंफेक्शन
  • मसा
  • हर्मोरायड्स
  • आस्टियोआर्थराइटिस
  • रेस्पिरेटरी ट्रैक डिजीज
  • हार्ट डिजीज के कुछ लक्षण दिखाई देने पर
  • ईयर ड्रॉप
  • शोल्डर और ज्वाइंट में दर्द
  • अर्थेराइटिस से जुड़े दर्द
  • एयरवे म्यूकस हाइपरसिक्रेशन
  • कोल्ड सोर्स
  • अस्थमा
  • पीठ दर्द
  • सर्दी-जुकाम
  • ब्लॉकेज इन नेजल पैसेजेस
  • कफ
  • पेन इन मसल्स स्ट्रेन व स्प्रेन्स
  • ब्रशिंग
  • ऐंठन
  • दर्द
  • खुजली
  • माउथवाश
  • नानप्यूरूलेंट रयूनोसाइनिसाइटिस
  • ओरल डिस्इंफेक्शन व अन्य बीमारी में इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

और पढ़ें : Ceftriaxone: सेफ्ट्रायक्सोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कारवोल प्लस कैप्सूल्स का सेवन करने से विभिन्न प्रकार के साइड इफेक्ट्स देखे गए हैं। ऐसा दवा में मौजूद इंग्रीडिएट्स के कारण होता है। संभावना रहती है कि कुछ लोगों में दवा के सेवन से साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन ज्यादातर मामलों में साइड इफेक्ट्स नहीं देखने को मिलते हैं। यदि किसी को भी दवा का सेवन करने के बाद इस प्रकार के लक्षण दिखें तो उसे डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए। क्योंकि कुछ साइड इफेक्ट न केवल रेयर हैं बल्कि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकते हैं। खासतौर पर ऐसा तब होता है जब इलाज के बावजूद लक्षण नहीं जाते हैं, दवा के सेवन से जुड़े कुछ साइड इफेक्ट्स पर एक नजर :

शरीर में यदि इस प्रकार की बीमारी से संबंधित लक्षण दिखें तो जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए। ताकि बीमारी को जितना जल्दी संभव हो उसे ठीक किया जा सके।

और पढ़ें : Ondansetron : ओंडैनसैटरोन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानी और चेतावनी

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

दवा का सेवन करने के पूर्व हमें कुछ खास एहतियात बरतना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि कारवोल प्लस दवा का सेवन करने के पहले अपने डॉक्टर को यदि आप पहले से किसी दवा का सेवन करते हैं तो उसकी जानकारी जरूर देनी चाहिए। आमतौर पर कुछ लोग विटामिन्स, हर्बल सप्लिमेंट्स का सेवन करते हैं। वहीं इलाज कराते वक्त डॉक्टर को इसके बारे में नहीं बताते, ऐसा करना आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। जरूरी है कि आप क्या खाते हैं, आपको कहीं कोई बुरी लत तो नहीं, पहले से आप कितनी दवाओं का सेवन कर रहे हैं ऐसी सभी बातें डॉक्टर को बतानी चाहिए। यदि नहीं तो परिणाम घातक हो सकते हैं क्योंकि डोज इन तमाम बातों पर भी निर्भर करता है। दवा के सेवन से जुड़ी चेतावनी पर एक नजर:

  • दवा का सेवन करने के दौरान व पहले शराब का सेवन न करें
  • प्रिस्क्रिप्शन और नॉन प्रिस्क्रिप्शन मेडिसिन सभी की जानकारी डॉक्टर को दें।
  • इसका इस्तेमाल करने के दौरान कैमिकल्स सेफ्टी गोगल्स का इस्तेमाल करना सही रहता है

प्रेग्नेंसी : यदि आप गर्भवती हैं या फिर शिशु को दूध पिलाती हैं तो उस स्थिति में जरूरी है कि दवा का सेवन करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें। इसमें पाए जाने वाले तत्व शरीर में किस प्रकार असर करेंगे इसके बारे में डॉक्टरी सलाह लेना बेहद ही जरूरी हो जाता है।

और पढ़ें : Pyrazinamide : पायराजिनामाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां कारवोल प्लस (Karvol Plus ) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

इस दवा का सेवन करने के दौरान यदि आप कोई अन्य दवा का सेवन करते हैं तो ऐसा करना आपकी सेहत के लिए बुरा हो सकता है क्योंकि ऐसी स्थिति में कारवोल प्लस अपना काम नहीं कर पाएगा। ऐसे में साइड इफेक्ट्स होने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं और दवा असर भी नहीं करती है। जरूरी यही है कि इसके साथ यदि और कोई दूसरी दवा का सेवन करते हैं तो डॉक्टर को उसके बारे में जरूर बताएं। कारवोल प्लस कैप्सूल के अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन करने की संभावनाएं रहती है। जैसे :

  • शराब
  • लोवास्टेटिन (Lovastatin)
  • ओमेप्राजोल (Omeprazole)
  • वारफेरिन (Warfarin)
  • एमिट्रिथाइलीन (Amitriptyline)
  • एंटी डायबिटीज ड्रग्स
  • डिकोलोफिनेक (Diclofenac)
  • डिक्यूमरोल (Dicumarol)
  • फ्रेश क्रेकेजियस बेरीज

कब नहीं करना चाहिए कारवोल प्लस कैप्सूल का सेवन

जब आपको नीचे बताई गई कोई स्वास्थ्य समस्या है तो कारवोल प्लस कैप्सूल का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि दवा के सेवन से हाइपरसेंसिटिविटी के संकेत मिलते हैं। इसलिए जरूरी है कि ऐसी परेशानी हो तो इस दवा का सेवन न ही करें या फिर डॉक्टर की सलाह से ही करें।

  • सिजर्स (Seizures)
  • वैसे बच्चे जिनमें बुखार के लक्षण पूर्व में रहे हो (febrile convulsions)
  • हाइपरेसेंटिटिविटी
  • निओनेट्स (Neonates) नवजात
  • रिनल कैलकुली (Renal calculi) गुर्दे की पथरी

स्टोरेज

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) को कैसे करूं स्टोर?

इस दवा को आप रूम टेम्प्रेचर पर रख सकते हैं, लेकिन कोशिश यही रहनी चाहिए कि इसे सूर्य की रोशनी और हीट से बचाकर रखा जाए। इसे फ्रीज में नहीं रखना है और बच्चों और घर में यदि पालतू जानवर हैं तो उनसे भी इस दवा को बचाकर रखें। जब तक दवा को फ्लश करने की सलाह नहीं दी जाती है तब तक ऐसा न करें। प्रकृति को ध्यान में रखते हुए दवा का निष्पादन करें। ताकि उससे इंसान व प्रकृति को नुकसान न पहुंचे। दवा के निष्पादन को लेकर डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

कारवोल प्लस (Karvol Plus ) किस रूप में उपलब्ध है?

कारवोल प्लस कैप्सूल के रूप में उपलब्ध है। एक पत्ते में करीब 10 कैपसूल्स होते हैं।

नोट- इस दवा को मुंह से जरिए सेवन करने से साथ भांप के जरिए भी लेते हैं। जरूरी है कि सबसे पहले डॉक्टरी सलाह ले लें, जैसा कि डॉक्टर आपको राय दे उसका पालन करें।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाक्टरी सलाह लें। ।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड