home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Levosalbutamol : लेवोसालबूटामॉल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें |सावधानियां एवं चेतावनी |साइड इफेक्ट |इन जरूरी बातों को जानें |डॉक्टर की सलाह
Levosalbutamol : लेवोसालबूटामॉल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें

लेवोसालबूटामॉल (Levosalbutamol) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

  • लेवोसालबूटामॉल का उपयोग सांस संबंधी समस्याओं (जैसे अस्थमा, क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) के इलाज में होता है। यह अस्थमा के दौरान सांसों की घरघराहट को कम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।
  • लेवोसालबूटामॉल दवाओं के समूह ब्रोंकोडाइलेटर से संबंधित ड्रग है। यह सांसो के मार्ग को खोलकर और मांसपेशियों को रिलैक्स करके वायुमार्ग में काम करता है।
  • इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

लेवोसालबूटामॉल का कैसे इस्तेमाल करूं?

इस दवा को शुरू करने से पहले फार्मासिस्ट द्वारा प्रदान की गई रोगी सूचना पत्रक (patient information leaflet) को ध्यान से पढ़ें। इस दवा को एक खास किस्म के मशीन जिसे नेब्युलाइजर कहते हैं, के माध्यम से इस्तेमाल करते हैं जो सॉल्यूशन को बहुत ही महीन धुंध में बदलता है, जिसको आप सांस द्वारा अंदर लेते हैं। अगर आपको इस बारे में कोई सवाल है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

नेब्युलाइजर द्वारा इस्तेमाल करते हुए इस दवा को डॉक्टर के निर्देश के मुताबिक रोजाना तीन बार फेफड़े के अंदर सांस द्वारा लें। प्रत्येक इलाज में लगभग 5 से 15 मिनट का समय लगता है। इस दवा को केवल नेब्युलाइजर के माध्यम से ही इस्तेमाल करें। इस सॉल्यूशन को ना तो निगलें और न ही इसे शरीर में इंजेक्शन के द्वारा लें। नेब्युलाइजर में कोई दूसरी दवा ना मिलाएं।

इस दवा के ज्यादा फायदे लेने के लिए इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें। याद रखें इस दवा को रोजाना एक ही समय पर लें।

इस दवा की खुराक आपके मेडिकल स्थिति, उम्र और इलाज के प्रति आप कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है। बिना डॉक्टर के सहमति के आप इस दवा की खुराक को ना तो बढ़ाएं और ना ही निर्धारित मात्रा से ज्यादा इसका इस्तेमाल करें। जरूरत से ज्यादा इस दवा को इस्तेमाल करने से साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें : अस्थमा क्या है? जानें इसके कारण , लक्षण और इलाज

लेवोसालबूटामॉल को कैसे स्टोर करूं?

लेवोसालबूटामॉल को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। लेवोसालबूटामॉल को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में लेवोसालबूटामॉल के अलग-अलग ब्रांड है जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के लेवोसालबूटामॉल को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है, तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

सावधानियां एवं चेतावनी

लेवोसालबूटामॉल के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को बताएं अगर;

  • आपको इस दवा या इस तरह की दूसरी दवाइयों या आपको किसी दूसरे तरह की एलर्जी हो तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं। इस दवा में कुछ निष्क्रिय सामग्री होते हैं, जिसकी वजह से एलर्जिक रिएक्शन या दूसरी समस्याएं हो सकती हैं।
  • आपको डायबिटीज, हार्ट समस्याएं (जैसे अनियमित हार्ट बीट होना, एंजाइना, हार्ट अटैक), हाई ब्लड प्रेशर, किडनी की बीमारी या दौरे पड़ने की समस्या हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।
  • इस दवा के इस्तेमाल से आपको सुस्ती हो सकती है। इसलिए जब तक आप सुनिश्चित न कर लें कि आप सुरक्षित हैं तब तक न तो ड्राइव करें, ना ही कोई मशीनरी काम करें और ना ही कोई ऐसा काम करें जिसमें सतर्क रहने की जरूरत है।
  • सर्जरी से पहले आप अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को उन सभी प्रोडक्ट्स (जिसमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) के बारे में बताएं।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान आप इस दवा को तभी इस्तेमाल करें जब इसकी जरूरत हो। इस दवा के खतरे और फायदों के बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान लेवोसालबूटामॉल का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

महिलाओं में प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान लेवोसालबूटामॉल के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। लेवोसालबूटामॉल का इस्तेमाल करने से पहले इसके फायदों और नुकसान को लेकर डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : अस्थमा के लिए ज़िम्मेदार हो सकती हैं ये चीजें

साइड इफेक्ट

लेवोसालबूटामॉल के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के इस्तेमाल से आपको नर्वसनेस, सिर चकराना, कांपना, नींद की समस्या, सिर दर्द, मिचली, मुंह सूखना, कफ, नाक का बहना आदि समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपको यह समस्याएं ऐसे ही बनी रहती हैं या फिर और अधिक खराब स्थिति में पहुँच जाती हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

आपका डॉक्टर इस दवा को प्रिस्क्राइब किया है, क्योंकि वह जनता है कि इस दवा के नुकसान की तुलना में इसके फायदे ज्यादा हैं। ज्यादातर लोग इस दवा को इस्तेमाल करते हैं, फिर भी उन्हें कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं।

इस दवा के इस्तेमाल से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है इसलिए नियमित रूप से ब्लड प्रेशर चेक करवाते रहें और अगर यह बढ़ा हुआ है तो डॉक्टर को बताएं।

अगर आपको गंभीर साइड इफेक्ट्स जैसे सीने का दर्द, अनियमित हार्ट बीट, तेजी से सांस चलना आदि महसूस हो तो तुरंत मेडिकल सहायता लें।

इस दवा क इस्तेमाल से कभी कभी एलर्जिक रिएक्शन होते हैं, लेकिन अगर आपको एलर्जिक रिएक्शन के लक्षण जैसे चकत्ते पड़ना, खुजली/सूजन (खासकर चेहरे/जीभ/गले में), सांस लेने में दिक्कत होना आदि महसूस हों तो तुरंत आप मेडिकल सहायता लें।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। हालांकि, आपको यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में नहीं बताया गया है। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर को बताएं।

यह भी पढ़ें : Enteroquinol : एन्टेरोक्विनोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं लेवोसालबूटामॉल के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो लेवोसालबूटामॉल उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इस चीज को रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमे प्रेस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रेस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के न तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

निम्नलिखित दवाओं के साथ लेवोसालबूटामॉल का इंटरैक्शन हो सकता है;

  • बेंड्रोफ्लुमेथियाजाइड
  • कार्वेडिलोल
  • नाडोलोल
  • सोटालोल
  • टिमोलोल

यह भी पढ़ें : Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ लेवोसालबूटामॉल लेना सुरक्षित है?

यह दवा आपके भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है, जिसकी वजह से दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है या आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है। इसलिए भोजन या एल्कोहल के साथ इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सम्पर्क करें।

लेवोसालबूटामॉल इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

लेवोसालबूटामॉल आपकी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। इससे साइड इफेक्ट्स होने का खतरा बढ़ सकता है या फिर आपकी स्थिति और अधिक खराब हो सकती है। इसलिए अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

वयस्कों में लेवोसालबूटामॉल की क्या खुराक होनी चाहिए?

अस्थमा के लिए

इन्हेलेशन ऐरोसॉल

  • 2 इन्हेलेशन (90 mcg) प्रत्येक 4 से 6 घंटे पर
  • 1 इन्हेलेशन (45 mcg) प्रत्येक 4 घंटे पर

इन्हेलेशन सॉल्यूशन

प्रारम्भिक खुराक: दिन में तीन बार नेब्युलाइजर द्वारा 0.63 mg (प्रत्येक 6 से 8 घंटे पर)

गंभीर अस्थमा के लिए या प्रारम्भिक खुराक काम ना करे: दिन में तीन बार 1.25 mg नेब्युलाइजर द्वारा

बच्चों में लेवोसालबूटामॉल की क्या खुराक होनी चाहिए?

अस्थमा के लिए

इन्हेलेशन ऐरोसॉल

चार साल से कम उम्र के लिए: निर्धारित नहीं है

चार साल या उससे ज्यादा उम्र के लिए:

  • 2 इन्हेलेशन (90 mcg) प्रत्येक 4 से 6 घंटे पर
  • 1 इन्हेलेशन (45 mcg) प्रत्येक 4 घंटे पर

इन्हेलेशन सॉल्यूशन

6 साल से कम उम्र के लिए: निर्धारित नहीं है

6 से 11 साल के लिए:

निर्धारित खुराक: दिन में तीन बार 0.31 mg

अधिकतम खुराक: दिन में तीन बार 0.63 mg

12 साल या उससे ज्यादा उम्र के लिए

प्रारंभिक खुराक: दिन में तीन बार 0.63 mg (प्रत्येक 6 से 8 घंटे पर)

गंभीर अस्थमा के लिए या प्रारम्भिक खुराक काम ना करे: दिन में तीन बार 1.25 mg नेब्युलाइजर द्वारा

लेवोसालबूटामॉल कैसे उपलब्ध है?

लेवोसालबूटामॉल निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

  • ऐरोसॉल
  • सॉल्यूशन

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आप अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या फिर अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड पर जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप लेवोसालबूटामॉल की खुराक लेना भूल जाते हैं, तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक न लें।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता है।

और पढ़ें :-

Paracetamol : पैरासिटामोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

पेट की एसिडिटी को कम करने वाली इस दवा से हो सकता है कैंसर

पैंक्रिएटिक कैंसर सेल्स को 90 फीसदी तक खत्म कर सकता है यह मॉलिक्यूल

Breast Cancer Genetic Testing : ब्रेस्ट कैंसर जेनेटिक टेस्टिंग क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड